Author Topic: Ceremonial Songs Of Uttarakhand - फ़ाग/मंगल गीत/संस्कार गीत/शकुन आखर  (Read 39541 times)

हलिया

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 717
  • Karma: +12/-0
फ़ाग/मंगल गीत/संस्कार गीत/शकुन आखर-CEREMONY SONGS OF UTTARAKHAND

साथियो,
     हिन्दू मान्यताओं के अनुसार हमारे जीवन में सोलह संस्कार होते हैं, जीवन के विभिन्न संस्कारों से संबंधित गीत हमारे उत्तराखण्डी समाज में भरे पड़े हैं। जन्म से लेकर विवाह तक  नामकरण, छठी, ब्रतबंद, गणेश वंदना आदि गीत हमारे समाज में सुने जाते हैं। ये गीत बिना किसी वाद्य की संगत के महिलाओं द्वारा गाये जाते हैं, प्रायः धुनें ताल रहित होती हैं। इन गीतों का किसी भी मांगलिक कार्यों में बहुत महत्व होता है, महिलाओं की टोली को विशेष रुप से इन मांगलिक कार्यों में फ़ाग गाने के लिये बुलाया जाता है। इस टोपिक के अन्तर्गत हम कोशिश करेंगे, इनको अपनी स्मृति के आधार पर लिपिबद्ध करने की......।
            कुछ मंगल गीत निम्न लिंक पर भी उपलब्ध हैं।


http://www.esnips.com/doc/3d31e8d4-c080-4598-a108-7d9897687c72/Faag

हलिया

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 717
  • Karma: +12/-0
Re: फ़ाग
« Reply #1 on: January 10, 2008, 03:28:54 PM »
फ़ाग अथवा मंगल गीत:

हमारे यहां कोई भी शुभ कार्य हो, फ़ाग गाना अनिवार्य है। शादी - ब्याह हो, जनेऊ संस्कार हो, नामकरण अथवा पूजा हर अवसर पर फ़ाग गाये जाते हैं और हर अवसर के लिये फ़ाग के बोल अलग-२ होते हैं।  फ़ाग महिलाओं द्वारा कोरस में गाये जाते है।  फ़गारियौं (फ़ाग गाने वाली महिलायें) का समाज में खूब सम्मान होता है।  पंडित जी के मंत्रोच्चार के साथ-२ फ़ाग की ध्वनि कर्णप्रिय लगती है।  आजकल यह प्रथा धीरे-२ कम होती जा रही है।  आधुनिक युग में फ़ाग क स्थान अब फ़िल्मी गीत लेने लगे हैं जो कि बहुत ही दुखद बात है। 
चूंकि फ़ाग गाने वाली सभी महिलायें अपने-२ कार्यौं में ब्यस्त थी, मैने अपने गांव के बूबू जी (उम्र लगभग ८२-८३ वर्ष) से बिशेष आग्रह किया और उन से फ़ाग के बोल सुने जो आप के लिये उपर प्रस्तुत किये हैं।  इसे सुनकर कृपया आपनी प्रतिक्रिया जरूर दें और किसी के पास फ़ाग के बोल/रिकार्डिग हो तो महाराज जरूर शेयर करें।
धन्यबाद महाराह।  जै हो आप सबकी।

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,893
  • Karma: +76/-0
Re: फ़ाग
« Reply #2 on: January 10, 2008, 03:43:54 PM »

Halia Dada..

Very good information.

I think Fag is also related to Holi some here....

फ़ाग अथवा मंगल गीत:

हमारे यहां कोई भी शुभ कार्य हो, फ़ाग गाना अनिवार्य है। शादी - ब्याह हो, जनेऊ संस्कार हो, नामकरण अथवा पूजा हर अवसर पर फ़ाग गाये जाते हैं और हर अवसर के लिये फ़ाग के बोल अलग-२ होते हैं।  फ़ाग महिलाओं द्वारा कोरस में गाये जाते है।  फ़गारियौं (फ़ाग गाने वाली महिलायें) का समाज में खूब सम्मान होता है।  पंडित जी के मंत्रोच्चार के साथ-२ फ़ाग की ध्वनि कर्णप्रिय लगती है।  आजकल यह प्रथा धीरे-२ कम होती जा रही है।  आधुनिक युग में फ़ाग क स्थान अब फ़िल्मी गीत लेने लगे हैं जो कि बहुत ही दुखद बात है। 
चूंकि फ़ाग गाने वाली सभी महिलायें अपने-२ कार्यौं में ब्यस्त थी, मैने अपने गांव के बूबू जी (उम्र लगभग ८२-८३ वर्ष) से बिशेष आग्रह किया और उन से फ़ाग के बोल सुने जो आप के लिये उपर प्रस्तुत किये हैं।  इसे सुनकर कृपया आपनी प्रतिक्रिया जरूर दें और किसी के पास फ़ाग के बोल/रिकार्डिग हो तो महाराज जरूर शेयर करें।
धन्यबाद महाराह।  जै हो आप सबकी।


हलिया

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 717
  • Karma: +12/-0
Re: फ़ाग
« Reply #3 on: January 11, 2008, 03:43:51 PM »
होलि को फ़ाग शायद अलग हुंचा कि? ???

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,893
  • Karma: +76/-0
Re: फ़ाग
« Reply #4 on: January 11, 2008, 03:55:45 PM »

Dajew.

Generally fag word is used wioth Holi..

Lekin hamaar wah mangal geet dage le fag used hunchh sayad.

MSM


होलि को फ़ाग शायद अलग हुंचा कि? ???

पंकज सिंह महर

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 7,401
  • Karma: +83/-0
Re: फ़ाग
« Reply #5 on: January 23, 2008, 12:54:43 PM »
फ़ाग, इसे शगुन आखर भी कहा जाता है, यह उत्तराखण्ड की प्राचीन सांस्कृतिक परन्तु अब विलुप्त होती धरोहर है। फ़ाग को संस्कार गीत भी कहा जाता है, किसी भी मांगलिक कार्य की शुरुआत फ़ाग से ही होती है, बुजुर्ग महिलायें एक विशेष लय के साथ इसे गाती हैं।
निम्न लिंक से सुनें गणपति जी की अर्चना

http://www.beatofindia.com/forms/shakunakhar.htm

पंकज सिंह महर

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 7,401
  • Karma: +83/-0
Re: फ़ाग
« Reply #6 on: January 23, 2008, 12:59:10 PM »
इन संस्कार गीतों की कई पुस्तकें और कैसेट बाजार में उपलब्ध हैं।  एक और लिंक

http://www.beatofindia.com/arists/rcb.htm

राजेश जोशी/rajesh.joshee

  • Sr. Member
  • ****
  • Posts: 406
  • Karma: +10/-0
Pankaj ji Narendra Singh Negi ke Mangal geet Haldi Hath album se prastut hain.  Neeche ke link par jakar sune:
http://bedupako.wetpaint.com/page/NSN3
Asha aap logon ko pasand ayenge

राजेश जोशी/rajesh.joshee

  • Sr. Member
  • ****
  • Posts: 406
  • Karma: +10/-0
दोस्तो,
मैं गोपाल बाबु गोस्वामी जी के गए शादी के कुछ गीतों का एक कलेक्शन आपके की सेवा में प्रस्तुत करता हूँ
आशा है आपको पसंद आयेगा
कृपया नीचे के दो लिंक्स पर जाएं
विवाह गीत पार्ट १
http://www.esnips.com/doc/4e5f84c3-164e-431d-b9fa-8a4f5acefe30/Vivah-Geet-part-
विवाह गीत पार्ट २
http://www.esnips.com/doc/eaac433a-f651-4956-9ef6-8709363da32a/Vivah-Geet-part-
आप सभी को सपरिवार होली की ढेरसारी रंगभरी शुभकामनाएं
 

हेम पन्त

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 4,326
  • Karma: +44/-1
राजेश जी आपके कारण गोस्वामी जी के कई दुर्लभ गाने सुनने को मिल जाते हैं....मैने सभी गाने डाउनलोड किये हैं.. बहुत-2 धन्यवाद...

लेकिन आफिस में गाने सुन पाना संभव नही है... हिमांशु ने esnips से गाने लोड करने का तरीका सुझाया है... कल उसको अपना कर ये गाने भी डाउनलोड करुंगा

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22