Author Topic: Idioms Of Uttarakhand - उत्तराखण्डी (कुमाऊँनी एवं गढ़वाली) मुहावरे  (Read 101672 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0

 

 

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
 

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0

पंकज सिंह महर

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 7,401
  • Karma: +83/-0
जय हो मेहता जी तुमरी.....
सबसे पहले तो creative uttarakhand को बधाई कि, इस पुस्तक का प्रकाशन किया, बहुत-बहुत साधुवाद.....
कुछ मुझे भी याद आ रहा है.
"नयी-नयी गोरु के नौ पुल घास"  नयी-नयी गाय को ज्यादा घास देना अर्थात : नयी चीज को ज्यादा तरजीह देना
"कुकुरे घरो ले कपास" अर्थात चीज की इज्जत न होना
........शेष याद आने पर

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0

Mahar Ji,

Thanx.. ek mukhe bhi yaad aa raha hai.

नानी खोरी ठुली न हुनी

इसका मतलब ..  छोटा आदमी बड़ा नही होता




जय हो मेहता जी तुमरी.....
सबसे पहले तो creative uttarakhand को बधाई कि, इस पुस्तक का प्रकाशन किया, बहुत-बहुत साधुवाद.....
कुछ मुझे भी याद आ रहा है.
"नयी-नयी गोरु के नौ पुल घास"  नयी-नयी गाय को ज्यादा घास देना अर्थात : नयी चीज को ज्यादा तरजीह देना
"कुकुरे घरो ले कपास" अर्थात चीज की इज्जत न होना
........शेष याद आने पर


Rajen

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 1,345
  • Karma: +26/-0
"न खान्या ब्वरि का नौ पतका"
(जो बहू ससुराल में नहीं रहना चाह्ती वह नौ बहाने बनाती है)
अथवा
काम न करने के नौ बहाने.

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0

हलिया

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 717
  • Karma: +12/-0
मेहता जी, गजब कर रहे ठैरे हो महाराज आप तो।  इन मुहावरों से तो हमारी भाषा में काफ़ी खुबसूरती आ जाने वाली ठैरी।

bharat motwani

  • Newbie
  • *
  • Posts: 18
  • Karma: +0/-0
da bhaut parasahan ho gaya tha ma up ma aaka n aap ki is site na tho mera jivan hi badal diya

bharat motwani

  • Newbie
  • *
  • Posts: 18
  • Karma: +0/-0
mehat ji mujhe bhi sikao kuch phadi tho nahi ho per unka beech ma rha ho 17 sal

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22