Author Topic: Organizations - उत्तराखंड के सभी संगठनों को आत्म मूल्यांकन की जरूरत !  (Read 8863 times)

lpsemwal

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 56
  • Karma: +2/-0
Pahli bar es post ko pada. Ye kuchh hakikat hai, Atm mulayankan ke bjay ham doosron ka critic mulay mapne lag gaye, Uttrakhand me jadatar yahi hota hai.
Bura lage to maf karna bhai, maein 15 salon se mulayankan ke liye logon ko kahta aa raha hoon, apne bahut Aalochak khade kar diye.

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0

यह बात बिलकुल सही है सेमवाल जी, लोगो को अपना खुद का मूल्याकन करना चाहिए! मेरा कल किसी सदस्य से बात हुयी थी, मैंने बताया की मेरापहाड़ टीम द्वाराहाट अल्मोड़ा में गयी हुयी है जहाँ पर हमारे इस ग्रुप के कुछ कार्यक्रम है!

उनका जवाब था, क्या उत्तराखंड इससे बदल जायेगा!  फिर मैंने उस मित्र से पुछा आपका अपना कितना योगदान है उत्तराखंड के सामाजिक कार्यो के लिए, तो उनके पास कोई जवाब नहीं था!

यानी लोग अपना मूल्याकन नहीं करते अगर कोई काम कर रहा है उसकी बेकार की चर्चा जरुर करते है!


 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22