Author Topic: Live Chat with Emerging Folk Singer Rajnikant Semwal- 23 July 2010 – 3pm  (Read 37952 times)

kdeep25

  • Newbie
  • *
  • Posts: 6
  • Karma: +0/-0
namaskaar semwal ji

Rajanikant Semwal

  • Newbie
  • *
  • Posts: 41
  • Karma: +2/-0

जिस हिसाब और जिस तरह की विडियो संस्कृति अभी फिलहाल उत्तराखंड में चल रही है...एक के बाद एक नया गायक..एक नई सीडी...कैसे बनाये रख पायेंगे अपने को इस दौड़ में... ???

mai kisi race ka hissa banne nahi aaya hoo, mai uttarakhand ke folk par kam karne aaya hoo. mera sapna hai ki uttarakhndi folk international label par pahunce.

kdeep25

  • Newbie
  • *
  • Posts: 6
  • Karma: +0/-0
sem wal ji aapne tiukuli mama cd nikali ek cd is thrah bhee nikalo jismay pop ka mix na ho

Rajanikant Semwal

  • Newbie
  • *
  • Posts: 41
  • Karma: +2/-0

रजनीकांत जी,

कोई एसा गानa आपने बनाया हो जिसमे लोगो को उत्तराखंड के देव में आने ले लिए लोगो का आह्वान हो!

मैंने बहुत से एनी bhashao के लोक गीतों में सुना जैसे राजस्थान में "आओ रे मारों राजस्थान:" एसा एक गीत जी जरूरत है जिसमे लोगो को उत्तराखंड घूमने के आह्वान हो ?

ye mere dimag mai hai, lyric bante rahte hai, koshish karunga ki aisa kuch bana pau.

bblindia

  • Newbie
  • *
  • Posts: 14
  • Karma: +0/-0
semwal ji
 
I am expecting when ever you find time then you will reply to my questions......!!!
 
 
I will wait......!!!
 
 
All the very best wishes....!!!
 
bblindia@gmail.com

vedbhadola

  • Newbie
  • *
  • Posts: 5
  • Karma: +0/-0
उत्तराखंड के ज्यादातर गायक नेगी जी की छाया से बाहर नहीं निकल पा रहे...ऐसा क्यों है... ??? मेरा कहने का अर्थ है कि नरेंदर भाई के पास अपनी मौलिकता है, कोई क्यों उसका अनुसरण करे... ???

Rajanikant Semwal

  • Newbie
  • *
  • Posts: 41
  • Karma: +2/-0

 
Semwal ji welcome to world of uttarakhandi music.......!!!
 
I am bharat bhushan lekhwar, belongs to tehri garhwal, ..presently in delhi....and knows your one of the friend
Mr Nirmesh singh......
 
I am one of the big fan of our uttarakahndi song/music..specially based on dhol damao and masak baju...!!!
 
I like your song and  picturisation very much " o sathi re......."
 
 
 1. Aap dhol damo aur masak baje ka bhavishya kya dekhtai hai.....
    aap iska upyog, apnai songs mai kis taraha se samilit kar saktai hai....
 
    if you want,then  how you will contibute to promote .....

dhol-damu ke sanrakshan ki aavsyakta hai, iske liye yah bhi jaruri hai ise ab likhit rup mai bhi saheja jaye.

Rajanikant Semwal

  • Newbie
  • *
  • Posts: 41
  • Karma: +2/-0
सेमवाल जी नमस्कार,

"टिकुलिया मामा" आपकी अल्ल्बम आई है......आपको शुभकामनायें........सुना है आप उत्तराखंडी संगीत को ऊँचाइयाँ प्रदान करने को प्रयासरत है....और उभरते हुए गायक हैं....उत्तराखंडी संगीत पर क्या अनोखा प्रोयोग करना चाहते हैं आप. क्या भविष्य देखते हैं पहाड़ी संगीत का.  नरेंदर सिंह नेगी की तरह आप गढ़वाली गीत गाकर पहाड़ को क्या सन्देश देंगे ?


jyara ji namste,

abhi to hamne uttarakhandi music mai ek experiment kiya hai, isme abhi bahut kuch kiya jana baki hai, jo ise international look dega.

pahad to khud sabko sandesh deta hai, jhuko mat, attractive lago aur dur se sabko dikho, uncai par, aise hi uttarakhadi folk bhi hai, jiski ham sadhna kar rahe hai.

सत्यदेव सिंह नेगी

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 771
  • Karma: +5/-0
सेमवाल जी आपका नॉएडा या दिल्ली में कोंई स्टेज शो हो ता बता दीजिये की कब है निकट भविष्य में

Rajanikant Semwal

  • Newbie
  • *
  • Posts: 41
  • Karma: +2/-0
आपकी कैसेट का एक गाना “मेरी शुनीता” मुझे बहुत अच्छा लगा. यह गाना पहले भी अनिल बिष्ट जी की एक एलबम में आ चुका है. क्या यह एक पारम्परिक गाना है? या फिर आपने उनके गाने को ही एक नये अन्दाज में पेश किया है.

yah ek paramparik gana hai jo ki jaunpur-rawai se hai. maine is gane ko iske mool rup mai gaya hai.

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22