Author Topic: Live Chat with Uttarakhand Music Icon Narendra Singh Negi Ji -2:30 pm, 23 Oct 09  (Read 38811 times)

Narendra Singh Negi

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 52
  • Karma: +2/-0
We are also hoping that something like this will take place in future
namaskar negi ji

bhut khushi hai ki aap se baat karne ka muaka mill raha hai . Negi ji mein aap se ek question karna chata hu ki kya khabi uttrakhandi channel dekne ko milga. agar aap es disha mein kuch soch rahe hai toh hai toh mein bi aap ke saath hu.

regards
mohan singh rawat

mohanrawat.2009

  • Newbie
  • *
  • Posts: 3
  • Karma: +0/-0
negi ji iam sorry but hope aur karne mein bhut distance hota hai

Manoj Sharma

  • Newbie
  • *
  • Posts: 28
  • Karma: +1/-0
नेगी जी नमस्कार,

क्या आप कभी राजनीती मै आना चाहते हैं,

Narendra Singh Negi

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 52
  • Karma: +2/-0
THANKS Haliya Dada
आदरणीय नेगी जी, आपका बहुत बहुत धन्यबाद ठैरा जो कि आपने अपने ब्यस्त कार्यक्रम से समय निकल कर हम लोगों से बात चीत करने आये.  हम लोग आपके गाए गानों के ही नहीं आपके मृदुल स्वभाव के भी कायल हुए |  आशा करते हैं कि हमारे पहाड़ की संस्कृति को आप इसी तरह आगे बढाते रहेंगे और नई पीडी को प्रेरणा भी देते रहेंगे.

एक बार फिर थैंक यु ठैरा.

आपका हालिया
पिथोरागढ़ के एक गाँव से.


CA. Saroj A. Joshi

  • Newbie
  • *
  • Posts: 40
  • Karma: +3/-0
negi ji namaskar !

Jagga

  • Newbie
  • *
  • Posts: 49
  • Karma: +2/-0
नेगी जी पैलाग ,
नेगी जी को  कांडपाल जग्गा का चरण स्पर्श पैलाग . नेगी जी आप से एक बात पूछनी है आप जो गड्वाली गीत लिखते हो उस मैं जो आप पहाडी सभ्यता को दर्शाते हो वो आप की कल्पना है या रियल है य बताओ , मैंने आप की बहुत गीत सुने है आप पहाड़ की सभ्यता को जनहित मैं पहुचने का बहुत अच्छा काम कर रहे हो . आप से मेरा एक निवेदन है की आप एक पहाड़ के लिए यशा लोग गीत गाओ जिश मैं हमारा पहाड़ को आपनी रीती रिवाज की याद आ जाये नेगी जी .
हेल्लो हाय छोड़ दो , नमस्कार पैलाग पर जोर दो
इस सभ्यता को लाओ नेगी जी आप पहाड़ मैं

पैलाग जग्गा कांडपाल और म्यर पहाड़ की और से आपुड कई



Narendra Singh Negi

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 52
  • Karma: +2/-0
The singer, writer and director are responsible for making vulgar musical VCDs. But, I also think that music lovers should encourage good/decent products. Which I think is missing. If you can encourage good singers, involved in cultural preservation of hill folk, the people making vulgar VCDs will automatically get discouraged and will phase out from the market.
Negi ji namaskar, aapaka bahut bahut swagat hai mera pahad forum main,
Sir ajkal bazarikaran ke is yug main Uttarakhandi Folk  foohad hota ja raha hai bazar main uplabdh CD main hamare cultur ka majak udaya ja raha hai, furki bandh, Murder case jaise naam wali cd aa rahi hain,
  Aap Uttarakhand ke Sangeet Samrat hain , mera sawal hai - foohadpan waale geet aur sangeet par kaise ankush lagaya ja sakta hai, margdarshan kijiye.
Dhanyabaad
Dayal Pandey

Jagga

  • Newbie
  • *
  • Posts: 49
  • Karma: +2/-0
नेगी जी पैलाग ,
नेगी जी को  कांडपाल जग्गा का चरण स्पर्श पैलाग . नेगी जी आप से एक बात पूछनी है आप जो गड्वाली गीत लिखते हो उस मैं जो आप पहाडी सभ्यता को दर्शाते हो वो आप की कल्पना है या रियल है य बताओ , मैंने आप की बहुत गीत सुने है आप पहाड़ की सभ्यता को जनहित मैं पहुचने का बहुत अच्छा काम कर रहे हो . आप से मेरा एक निवेदन है की आप एक पहाड़ के लिए यशा लोग गीत गाओ जिश मैं हमारा पहाड़ को आपनी रीती रिवाज की याद आ जाये नेगी जी .
हेल्लो हाय छोड़ दो , नमस्कार पैलाग पर जोर दो
इस सभ्यता को लाओ नेगी जी आप पहाड़ मैं

पैलाग जग्गा कांडपाल और म्यर पहाड़ की और से आपुड कई



एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
Negi JI,

In merapahad portal, we have a detailed discussion on Virasat incident which took place 2006. It is said that Virasat cancelled your show at 11th hour. There was a lot uproar after that incident and Vikrast had apologized to you.  

It has come to know that Virast is organizing another programm in Nov 2009, what is message for them or what to u want to say for Uttarkhandi Folk Music point of view?

Narendra Singh Negi

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 52
  • Karma: +2/-0

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22