Author Topic: Collection of Uttarakhand Bhajans - उत्तराखंड के भजनों के संग्रह  (Read 36654 times)



एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
JAI BADRI KEDAR NATH... FAMOUS BHAJAN OF UTTARAKHAND
« Reply #32 on: March 01, 2008, 01:17:55 PM »

JAI BADRI KEDAR NATH... FAMOUS BHAJAN OF UTTARAKHAND FROM GHAR JWAI MOVIE.



http://www.esnips.com/doc/82347298-2b7e-41e9-8f99-5de7a617538d/Jai-Badri-Kedarnath



पंकज सिंह महर

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 7,401
  • Karma: +83/-0
मेरे मत में creative uttarakhand के माध्यम से सभी उत्तराखण्डी भजनों को एकत्रित कर एक संग्रहित MP3 बना ली जाय। ताकि आने वाली पीढ़ी को भी इनसे परिचित कराया जा सके।

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0

Mahar Ji,

Goswami Ji ev Negi Ji ne apne lok Gano mai bahut se bhajan gaye hai.. Jinhe compil karne ki Jarurt hai..

Jaise Goswami Ji ka yah bhajan ..

  1) Bham Bham Bhole.. -2

 2)  Namami Bind Vashani..

 3)  Mai to Ayon Tumari Sharana.

मेरे मत में creative uttarakhand के माध्यम से सभी उत्तराखण्डी भजनों को एकत्रित कर एक संग्रहित MP3 बना ली जाय। ताकि आने वाली पीढ़ी को भी इनसे परिचित कराया जा सके।

हेम पन्त

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 4,326
  • Karma: +44/-1
Pankaj Da aapka vichar bahut sundar hai... Main is baare mein aur members se bhi baat karunga...

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0


नेगी जी के सुर सागर का एक और नायब मोती (from Manoj Joshi)

रिधि को सुमिरो शिधि को सुमिरो ,सुमिरो किशन कनायी .
अर सुमिरो गुरु अविनाशी को सुमरो शारदा माई,
सुन ले रे बेटा गोपीचंद जी बात सुनो चित लाई
सदा अमर या धरती नि रेंणी बज्र पडे टूटी जाई
अमर नि रेंदा चन्द्र सूरज छुचा  ग्रहण लगे छुप जाई ,
रिधि को सुमिरो शिधि को सुमिरो .........
माता रोये जनम-२ को बहना रोये छे: मासा ,
तिरिया रोये डेड घड़ी को अग्ने करे फ़िर बसा .....
रिधि को सुमिरो शिधि को सुमिरो ,सुमिरो किशन कनायी

Mukesh Joshi

  • Moderator
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 789
  • Karma: +18/-1
प्रीतम जी एक जागर.
ॐ नमो  गुरु को आदेश ....
दिन का सूरज रात की चंद्रमा तुमको आदेश .
अठारा करवा छतीस गोट कलिंका तुम को आदेश .
नव नागो नव नर्सिंगों ,कंगुरा का जोगियों  तुम को आदेश
देखदो भगवान् शिव की बारह वर्ष भगती कदो
वेद मुखो बरमा आ ......

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22