Author Topic: Folk Songs on Market,Fairs & Jeeja Saali etc - बाजारों, मेलो एव जीजा साली पर गीत  (Read 12252 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0

This is the song by Nain Nath Rawal -



मेरी साली हिम साली,
मेरी संग हिटली!
रामेश्वर (पिथोरागढ़) मेला लागो
ठुमा ठुमा नाचेली ...

गला ग्लोबंद दियोना
हाथ का पूचीया.
रामेश्वर मेला लागो ...
ठुमा ठुमा नाचेली ... .


मेरी साली हिम साली,
मेरी संग हिटली!
रामेश्वर (पिथोरागढ़) मेला लागो
ठुमा ठुमा नाचेली ...

 

Meena Rawat

  • Moderator
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 849
  • Karma: +13/-0




very nice song............. :)




This is the song by Nain Nath Rawal -



मेरी साली हिम साली,
मेरी संग हिटली!
रामेश्वर (पिथोरागढ़) मेला लागो
ठुमा ठुमा नाचेली ...

गला ग्लोबंद दियोना
हाथ का पूचीया.
रामेश्वर मेला लागो ...
ठुमा ठुमा नाचेली ... .


मेरी साली हिम साली,
मेरी संग हिटली!
रामेश्वर (पिथोरागढ़) मेला लागो
ठुमा ठुमा नाचेली ...

 

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0

नरेन्द्र सिंह नेगी जी यह गाना को एक मेले पर बना है! कोई सुंदर सी बाद (सुंदर सी औरत) सजधज कर मेले में जा रही है, उसके सुन्दरता पर याना यह गाना:

ता छुमा -२ छुमा -२
धिंग तालो ..

Kai gaav ki holi सी baand
kanu bhali deekhandi ...

इस लिंक से सुनिए इस गाने को :

http://ishare.rediff.com/music/Garhwali/Ta-Chhuma-Ta-Chhuma/10049255


एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
चल कुथीग जुँला

चल कुथीग चल कुथीग
भूली चल कुथीग जुँला
कुथीग जा के चरखी बैठी ओंला
पीन्गाली पीन्गाली हे..........रे......... सखी
जेलाबी खाई ओंला
कुथीग देख चैहल पैहल
कंण सरर र र कुथीग जांदा ………ये बांद


छम छम छमणता
तेरी नथुली छमणता
गड गड गडगडत
तेरी गीचुडी गडगडत
दड दड दड पडत
तेरी खटुली दड पडत
कुथीग देख चैहल पैहल
कंण सरर र र कुथीग जांदा ………ये बांद


कुथीग देख चैहल पैहल
म्यार मुल्की देख रेल पेल
दो गाती को छु ये खेल
भगवती को चारणु चडण तेल
कुथीग देख चैहल पैहल
कंण सरर र र कुथीग जांदा ………ये बांद



खण खण खण-खणत
चुदी लाल खण-खणत
छाण छाण छाण-छाणत
पायल पैर की छाण-छाणत
कुथीग रोनक लगी जाणद
नौंन बुड्या जावाण खुअली जांदा
कुथीग देख चैहल पैहल
कंण सरर र र कुथीग जांदा ………ये बांद


डोला सफा खूब हीलंदा
पतली कमरी लास्कंद
दिल जावनु का लुछी जांदा
भवंर बनके भार-भारंद
फूलों थै खूब खीचंद
कुथीग देख चैहल पैहल
कंण सरर र र कुथीग जांदा ………ये बांद

चल भूली चल भूली
घरी चली जुँला
अपर टैम मा डेरा पूंछी जुँला
कुथीग की छुयीं
सब थै बतोला
माँ को प्रसाद बांटी देउन्ला
चल भूली चल भूली
घरी चली जुँला
कुथीग देख चैहल पैहल
कंण सरर र र घार जांदा ………ये बांद

बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

Source :
http:// balkrishna_dhyani.blogspot.com
मै पूर्व प्रकाशीत हैं -सर्वाधिकार सुरक्षीत


Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1
नेगी जी की सलान्याँ सयाली और गंगाडया भिन्ना,नेगी और मंजू सुन्द्रियाल की सुरीले स्वरों मैं सयाली जीजा का ये गीत

बाटू च सम्यार गंगाडया भिन्ना सर,बाटू च सम्यार गंगाडया भिन्ना सर
केक आयूं होलू मेरा मुलुक सर,मेलु न त्युहार गंगाडया भिन्ना सर!!
         न्यूतू न रैबार गंगाडया भिन्ना सर, न्यूतू न रैबार गंगाडया भिन्ना सर

गयुं वाडु बयेंगे सलान्य सयाली सर,गयुं वाडु बयेंगे सलान्य सयाली सर !
बिनसिरी का सेणु मा देखिक तोई मैं सी रहेगी सलान्याँ सयाली सर !!
                मैं सी रहेगी सलान्याँ सयाली स,मैं सी रहेगी सलान्याँ सयाली सर
               भारी खुद लेगे सलान्याँ सयाली सर,भारी खुद लेगे सलान्याँ सयाली सर
             लिपि चुलखांदी लिपि चुलखांदी गंगाडया भिन्ना सर
   लिपि चुलखांदी गंगाडया भिन्ना सर, लिपि चुलखांदी गंगाडया भिन्ना सर !
क्या च तेरा मन क्या सोची क आई,क्या बोलान चांदी गंगाडया भिन्ना सर !!
            क्या च तेरा मन क्या सोची क आई,क्या बोलान चांदी गंगाडया भिन्ना सर
             क्या बोलान चांदी गंगाडया भिन्ना सर,क्या बोलान चांदी गंगाडया भिन्ना सर

नाच न चडाकी,नाच न चडाकी ,नाच न चडाकी
नाच न चडाकी सलान्याँ सयाली सर,नाच न चडाकी सलान्याँ सयाली सर !
तवे मा मन माया लगौणु  आयूं छौ,सांसु नि कै साकी सलान्याँ सयाली सर !!
           तवे मा मन माया लगौणु  आयूं छौ,सांसु नि कै साकी सलान्याँ सयाली सर
           सांसु नि कै साकी सलान्याँ सयाली सर

मैत की नराई,मैत की नराई भै मैत की नराई
मैत की नराई, गंगाडया भिन्ना सर,मैत की नराई, गंगाडया भिन्ना सर !
माया कु नाखरू रोग लग्युं तवे,मैमू  नि सराई गंगाडया भिन्ना सर !!
      माया कु नाखरू रोग लग्युं तवे,मैमू  नि सराई गंगाडया भिन्ना सर
     मैमू  नि सराई गंगाडया भिन्ना सर
    डाला कट्या गेल,डाला कट्या गेल भै डाला कट्या गेल
डाला कट्या गेल,डाला कट्या गेल भै डाला कट्या गेल सलान्याँ सयाली सर !
त्यारा खातिर ज्युणु मरुनु होयुं च,त्वेकू होयुं खेलर सलान्याँ सयाली सर !!
  त्यारा खातिर ज्युणु मरुनु होयुं च,त्वेकू होयुं खेल सलान्याँ सयाली सर
त्वेकू होयुं खेल सलान्याँ सयाली सर
  जोगटों कु जोग   जोगटों कु जोग भै   जोगटों कु जोग
  जोगटों कु जोग,  जोगटों कु जोग गंगाडया भिन्ना सर !
धार प्व़ार गौं मेरु ऐ न जई सर,क्या बोलाला लोग गंगाडया भिन्ना सर !!
    धार प्व़ार गौं मेरु ऐ न जई सर,क्या बोलाला लोग गंगाडया भिन्ना सर
  ,क्या बोलाला लोग गंगाडया भिन्ना सर
       ताछिला की ताछ,ताछिला की ताछ भै ताछिला की ताछ
ताछिला की ताछ भै ताछिला की ताछ सलान्याँ सयाली सर !
लोगु की क्या लांदी अफडी बताऊ,त्यारा मन क्या छ सलान्याँ सयाली सर !!
   लोगु की क्या लांदी अफडी बताऊ,त्यारा मन क्या छ सलान्याँ सयाली सर
   त्यारा मन क्या छ सलान्याँ सयाली सर,त्यारा मन क्या छ सलान्याँ सयाली सर
त्यारा मन क्या छ सलान्याँ सयाली सर

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
जा बाडूली सुवा मा रयेबार पुन्च्ये ओऊ .
जा बाडूली सुवा मा रयेबार पुन्च्ये ओऊ .
त्यु  बिगर बडू बुरु मनेंदु बतए ओऊ.
फोजी की नूकरी ओडर सख्त.
सरिल कुमानी जांदू ब्येखुनी बगत.
२ रोटी कोदा की ख्येन प्य्यज पीराड्य
हे पापिनि तेरी याद छा कोई रुलोऊडया.
 घर ओउलू मेरी प्य्यारी हवाए जहाज मा.
सी भी दिन अल्ला रौलू बयठोऊ छाज मा.
पहली छुट्टी घर अयून ता सुवा बीमार.
 दुश्री छुट्टी मा सोवा दिनु की हिर्वल.
जू रिबन भेजी मैं बिष्टर बन्ध मा.
सु रिबन भालू सज्लू दिनेश का मुंड मा.
अपड़ी सुवा का मेरी साडी लिज्याँ रए.
 यानि मरी नि होंड़ निखाडया मैत जाए रए.
कुड पिछाडी चंपा डाली च्येलोऊ कतए न.
जये दगडी फेरा फिरी व्येकू पतये न .
दिनेश का दए दादा नाती खिलौन्दा.
मेरोऊ छोर काखी डोर होलू सोची खुदेंदा.
मेरा कोशी खोली गाड़ी ओंदी होलू ओलार
दिनु मा देख्दा होला मेरी अनवार.
जा बाडूली सुवा मा रयेबार पुन्च्ये ओऊ .
त्यु  बिगर बडू बुरु मनेंदु बतए ओऊ.

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0

Narendra Singh Negi Ji' song

भेना रे बजर्या भेना रे भेना
भेना रे बजर्या भेना रे भेना
 
 
भेना रे बजर्या भेना रे भेना
हौन्सिया मिजज्या भेना रे भेना
मेरा चुडा बुखना चाखी जा चुडा बुखना
भेना रे बिलैती भेना रे भेना
टॉप टइ वोला भेना रे भेना
मेरा रोट अरसा खैकी जा रोट अरसा
सिली झौल मा भुज्याँ मेरा चुडा
गैरी उर्खेली कुत्यां मेरा चुडा
सिली झौल मा भुज्याँ मेरा चुडा
गैरी उर्खेली कुत्यां मेरा चुडा
स्याल्युं का हता का नै नवांन
सम्लोंया चुडा बुखना चाखी जा
रे भेना चाखी जा
 
स्याली हे गँवाणया स्याली हे स्याली
तों चुडा अर्सों त्वी बुखा त्वी चबा
सैर बाजारू का रौण वोला हम
चौमिन पिज्जा खाण वोला हम
हो हो चौमिन पिज्जा हाँ हाँ बाई चौमिन पिज्जा(ch..)
सैर बाजारू का रौण वोला हम
चौमिन पिज्जा खाण वोला हम
कोदा झंगोरा मुलुकै स्याली
बुखना बुखंदी जा बुखंदी जा
रोट चबा हे स्याली त्वी चबा
भेना रे बिलैती भेना रे भेना
टॉप टइ वोला भेना रे भेना
मेरा रोट अरसा खैकी जा रोट अरसा
रोट अरसा खैकी जा रोट अरसा(ch..)
पिठु कूटयूँ भालू ताक लगायुं
रडा का तैल कु तैकु चडायूँ
पिठु कूटयूँ भालू ताक लगायुं
रडा का तैल कु तैकु चडायूँ
चल्माला अरसा खसखसा रोट
त्याकू तै बंध्यु हाँ बन्द्युन
ली भी जा रे भेना खै भी जा
 
स्याली हे गँवाणया स्याली हे स्याली
स्याली मेरी गँवाणया स्याली
तों चुडा अर्सों त्वी बुखा त्वी चबा
से से चुडा बे चुडा से से बुखना चुडा-2 (ch..)
भंगजीर तिल अखोड रालायाँ
जीरी बासमती सटयूँ का चुडा
 
बर्गर पेस्ट्री खान गिज्याँ छां
कैन बुखँ स्यु कटगडा चुडा
दाना बुड्यों का बसाका नि छन
दांत चएंदा चबाण कु चुडा
चल्माला अरसा सवादी रोट
भेना नि मिलदा खर्ची नोट
 
ब्रेड बटर ही खांदा हमेशा
कैन खाने स्यु रोट अरसा
आदा कु स्वाद बांदर क्या जणू
गोणी क्या जाना क्या होंदा अरसा
 
बहुत चकडेत न बना स्याल्यु
लिजौला उडैकी हम सब कुंवारा
बहुत दिख्याँ उडॉन वाला
काखी ग्वाड नि दयां गोरु का ओबरा
 
छोड़ क्या धैर्युं ये पहाड़ मा स्याली
चल घुमौलू तवे देश अपडा
परदेश जैकी जू देश भूलिगे
हम नि आंदा यन भेना दगडा

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
गढ्वाली गीत- हे गम्फु बोडा तू भी नाच.. !
स्यु मुखुडू तन सुजायु, तथ्गा उदंकार क्यो च,
हे गम्फु बोडा तू भी नाच, तेरा नौनाकू ब्यो च !
स्यु मुखुडू तन...........
द्वी-चार ठुम्का तू भी लगौ, यी हमारु ध्यो च,
हे गम्फु बोडा तू भी नाच, तेरा नौनाकू ब्यो च !
स्यु मुखुडू तन...........................................!!


ढम-ढमा-ढम ढोल बाज्या, बैण्ड बाजा, मैक,
बग्छ्ट बण्यां छन पौंणा, तोम्डियों घड्कैक !
एक-आदा तोम्डी तू भी फोड़, मन मा सस्यो च,
हे गम्फु बोडा तू भी नाच, तेरा नौनाकू ब्यो च !
स्यु मुखुडू तन……..................................!!


इथ्गा ना टरकौऊ अब तु, तौं हाथु जोडीक,
तन फ़ुन्डैं-फ़ुन्डैं न सर्क, तै गिच्चा मोडीक !
गुदाडी बोडी खुश ह्वै जाली, वीं तै यी कल्यों च,
हे गम्फु बोडा तू भी नाच, तेरा नौनाकू ब्यो च !
स्यु मुखुडू तन……..................................!!
,
कीसा तैंई तन ना दबौ,दिल ना तोड पौणौं कू
करकरा कल्दार निकाल, मुण्डु मा भिरौंण कू !
आजै च बग्वाल बोडा,चाट्ण  फ़्योर प्ल्यों च,
हे गम्फु बोडा तू भी नाच, तेरा नौनाकू ब्यो च !
स्यु मुखुडू तन……..................................!!


नाचा हे लठ्यालों सब्बी, छोडा छ्वीं-बचाणीं,
बुडेन्दी दां फ़जितु न करा, छोडा खैंचा-ताणी !
बिना नाच्या ही बोडा परैंत, छुटुणु अस्यो च,
हे गम्फु बोडा तू भी नाच, तेरा नौनाकू ब्यो च !
स्यु मुखुडू तन……..................................!!


हिन्दी सार : गम्फु नाम के ताऊ से गीत में यह आग्रह किया  जा रहा है तुमने अपना मुह ऐसा क्यों फुला रखा है, तुम्हारे लड़के की शादी हो रही है, अत : तुम भी नाचो !

http://gurugodiyal-pcg.blogspot.com/

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
Chhapeli Nritygeet: A Garhwali-Kumauni Folk Dance song of Young Lovers 
                                                                 Bhishma Kukreti
(Garhwali Folk Dance Songs, Kumauni Folk Dance Songs, Himalayan Folk dance Songs)
           Chhapeli is very popular dance song of Kumaun-Garhwal border region. The dance song is very popular among young generation. In this dance, a young female and young male take part. The song subject may be of relation between two lovers, jeeja-Sali, Bhauj-Devar, mother-son, song and father, brother –sister or so. Now, mostly, the songs pertaining Chhapeli are of active love between male and female lovers.
  The dance is performed at any time depending upon the time and situation of the dancers. The Badi Badan dance and sing this dance song at various times and places.
 The dance does not have any particular sequence and the dance sequence depend s on the capacity of dancers and the dance they know better. However, the dance is ful of drama and dancers have to act as per the song subject.
 The following song is a love dance song and relation between a most beautiful girl (though poor) and rich brother in law. The song creates splendid images of love and love rapture.
                   छपेली नृत्य गीत : गढवाल कुमाओं का एक प्रसिद्ध नृत्य गीत शैली
                            मदुली च बांद , हिराहिर मदुली
 
स्याळी : बाखरो को सांको बल बाखरो को सांको
           मि बांद बणयूँ  छौं मिन क्या कन यांको
           रे जीजा मैनेजर  ल़े जीजा , मिन क्या कन यांको
             मदुली हिराहिर , मदुली च बांद
जीजा : चखुली को बीट बल चखुली को बीट अ
          मेरी मोटर मा बैठ मदुली अगनाई का सीट अ
         मदुली हिराहिर  मदुली अगनाई का सीट
स्याळी: घोटी जाली हींग , घोटी जाली हींग अ
           मिन कनकैक बैठण रे जीजा मै उठद  रींग अ
           रे जीजा मैनेजर मै उठद  रींग अ
हौर सब्बी गान्दन : मदुली च बांद मदुली हिराहिर मदुली
जीजा : घिंड्वा को बीट बल घिंडुडी को बीट अ
          नी उठदी रींग मदुली अगनाई क सीट अ
          मदुली हिराहिर अगनाई क सीट
और सबी गान्दन : मदुली च बांद मदुली हिराहिर मदुली
स्याळी: बामण की पोथी  बल बामण की पोथी  अ
          मिन कनकैक आण रे जीजा फटीं च धोती
          रे जीजा मैनेजर ल़े जीजा , मेरी फटीं च धोती अ
जीजा : खेंडि जालो बाड़ी बल खेंडि जालो बाड़ी
           धोती तू फटण दे मी मंगौल़ू  साड़ी
           मदुली हिराहिर मदुली मी मंगौल़ू  साड़ी
हौर सबी गान्दन : मदुली च बांद मदुली हिराहिर मदुली
           बीडी को बंडल बीडी को बंडल अ
          साड़ी त तू लिली मीम नीन सैंडल
          रे जीजा मैनेजर ल़े जीजा मीम नीन सैडल अ
जीजा : ग्युं बूतिन मुट्ठीन ग्युं बूतिन मुट्ठीन
          तू अगनाई चल रुंवाली खुटींन
         मदुली हिराहिर रुंवाली खुटींन
        मदुली हिराहिर बिगरैली खुटींन
हौर सबी गान्दन : मदुली च बांद मदुली हिराहिर मदुली
                         मदुली हिराहिर मदुली मदुली च बांद मदुली     

मोहन जोशी

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 72
  • Karma: +2/-0

भोत बढ़िया गीत पोस्ट करीं हो आफु लोगुली पुराण जमन क नजीबाबाद स्टेशन याद आ गे


प्रहलाद सिंह महरा का यह गाना जो डीडीहाट पर बना है !

डीडीहाट की मेरी पारु प्राणी
अरे  डीडीहाट की मेरी पारु प्राणी
तू किले आयी मदकोट बाजार

महिला :

बरमा घाट मेरा राजू प्राण
बरमा घाट मेरा राजू प्राण
मै कसकी औंछी त्वीके क्या-२
मै कसकी औंछी त्वीके क्या-२


डीडीहाट की मेरी पारु प्राणी
अरे  डीडीहाट की मेरी पारु प्राणी

त्यार बाट चाना आँख पाटा गेयी
दिन डली गे, घाम बुडी गे ....2
फिर तू नी आयी
तवील झूटी के लगाई
किले करो करार ...२
तू किले आयी मदकोट बाजार

महिला

मै कसकी औंछी त्वीके क्या-२

पुरुष :
तू किले आयी मदकोट बाजार

महिला :
डीडीहाट बाजार में अंधेर हैई गे
बरखा की बौछार हे रे बर्फ पड़ी रे
गाडी चली ने .रोड खुली नी
मै कसकी औंछी त्वीके क्या-२
मै कसकी औंछी त्वीके क्या-२

पुरुष :

तेरी याद में रात में नीद नी आयी
तेरी याद में रात में नीद नी आयी ...२..
जियूंन तकी-२ तार गाणि मैली रात बीताई ..2
भयो मूड ख़राब, मीले पीदे शराब
भयो मूड ख़राब, मीले पीदे शराब
 
तू किले आयी मदकोट बाजार

महिला
मै कसकी औंछी त्वीके क्या-२

पुरुष :

डीडीहाट की मेरी पारु प्राणी
अरे  डीडीहाट की मेरी पारु प्राणी
तू किले आयी मदकोट बाजार

महिला
मै कसकी औंछी त्वीके क्या-२

http://ishare.rediff.com/music/romantic/tu-kilei-ni-aayee/10060620





 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22