Author Topic: Exclusive Golden Folk Songs of Uttarakhand- उत्तराखंड के सुनहरे लोक गीत  (Read 11149 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,849
  • Karma: +76/-0
 
Dosto,
 
We will here lyrics of Exclusive Folk Songs of Uttarakhand.
 
ख़ड्डवाल़ो का प्रेम छुडा गीत
       Folk Love Song of Shepherd of Garhwal      गैल क  सुणेद गैलिया  तू मेरु झोलिया जाया कामोठ्या लागौंदु फिडूळी , घर की ठकराणी दिया गैल क  सुणेद गैलिया , हमारी मेरु की टोली देण को मैं दीन्दो पर स्या ठकर्वाण कू होली सत्य धणिया चौरास लांदी , घनु बंगाँण की बेटी सीर तैंकू मथ्यावेण , कमर चांदी की पेटी न खांदु बल तेरी फिडूली सात दोफारी की बासी मै ल़ी लिया लान्सू चौंरी , गाफू - गाफू धरिया मासी गाबू चरली खिरमाखिर भेडूल़ी  चार्ली चून आन्गुदी लोडया लासु चौंरी सूँ कौरी छुटली ऊन तेरु सामल कु सम्लेंदु मेरु लाख्डू कु भारु ओडुला मुई छुई , काणि , कथकू पड़यूँ   त्वे थरु खिड को घनोर  चारि लिया भैर भुज्याल ल़ो आया जिकुड़ी बताया उल्टी , बासली कंड़ूल आया (By B C Kukreti)       Regards,   M S Mehta

हलिया

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 717
  • Karma: +12/-0
तेर खुटी मेर सलाम

तेर खुटी मेर सलाम
मैं मैता जाण दे भागी ।
तेर खुटी मेर सलाम
मैं मैता जाण दे भागी ।|

तू मैता नि जा भागी
तेर खुटी मेर सलाम, तू मैता नि जा भागि ।
चौमासी ढुंग चिफलो, तेर खुटो रडी जालो,
मेरो हियो झुरि जालो, तू मैता नि जा भागि ।
तेर खुटी मेर सलाम, तू मैता नि जा भागि । ।

तेर खुटी मेर सलाम मैं मैता जाण दे भागी
मैं इजु की नराई, मैं मैता जाण दे भागि
मैं बाबू की नराई, मैं मैता जाण दे भागि
मैं मैता जाण दे भागी
तेर खुटी मेर सलाम मैं मैता जाण दे भागी ॥

चौमासी झड बादली, द्यौ पाणीले भीजी जाली,
हाय मैं कै खेदेली सुवा, तू मैता नि जा भागि
चौमासी झड बादली, तू मैता नि जा भागि
तेर खुटी मेर सलाम, तू मैता नि जा भागि । ।

तेर खुटी मेर सलाम मैं मैता जाण दे भागी
मैं दादू की नराई, मैं मैता जाण दे भागि
मैं भुलू की नराई मैं मैता जाण दे भागी
तेर खुटी मेर सलाम मैं मैता जाण दे भागी ॥

तेर खुटी मेर सलाम, तू मैता नि जा भागि
तेर दादू यति बुलूंलो, तो मैता नि जा भागी
तेर भुलू यति बुलूंलो, तो मैता नि जा भागी
तेर खुटी मेर सलाम, तू मैता नि जा भागि
हाय, तेर खुटी मेर सलाम, तू मैता नि जा भागि । ।

मैं मैता जाण दे भागी
तेर खुटी मेर सलाम मैं मैता जाण दे भागी ॥


हलिया

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 717
  • Karma: +12/-0
:: शोभनी होस्यारा ::

अहा सब च्यालों है बेरा, मेरो शोभनी होस्यारा
मेरो शोभनी होस्यारा
अहा सब च्यालों है बेरा, मेरो शोभनी होस्यारा
सब ल्युनि नगदा भागि, मेर शोभनी उधारा
मेर शोभनी उधारा
अहा सब च्यालों है बेरा, मेरो शोभनी होस्यारा
सब ल्युनि नगदा भागि, मेर शोभनी उधारा
मेर शोभनी उधारा
अहा सब च्यालों है बेरा, मेरो शोभनी होस्यारा ॥

ऐ सब च्यालों है बेरा, मेरो शोभनी होस्यारा
सब खानी हो रोट साग
मेर शोभनी शिकारा
अहा सब खानी रोट साग मेर शोभनी शिकारा
मेर शोभनी शिकारा
अहा सब च्यालों है बेरा, मेरो शोभनी होस्यारा ॥

ऐ सब च्यालों है बेरा, मेरो शोभनी होस्यारा
सब चरूनी गोरू भैंसा, मेर शोभनी बकारा
अहा सब चरूनी गोरू भैंसा, मेर शोभनी बकारा
अहा सब च्यालों है बेरा, मेरो शोभनी होस्यारा ॥



हलिया

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 717
  • Karma: +12/-0
::  फूल फुलौ बुरुसी उडाना  ::

फूल फुलौ बुरुसी उडाना
म्यार आंखा सुवा डबडबाना ।

दुख सुख कैथैनी मैं कुनू
त्यार बाटा घाटा देखी रुनू
मैं निस्वासी गयुं चानै चाना
म्यार आंखा सुवा डबडबाना ॥

फूल फुलौ बुरुसी उडाना
म्यार आंखा सुवा डबडबाना ।

भूख न्हैती नीन ले हराणी
तेरि माया लै खायी पराणी
झुरि गै छ भागी मेरी जाना
म्यार आंखा सुवा डबडबाना ॥

फूल फुलौ बुरुसी उडाना
म्यार आंखा सुवा डबडबाना ।

निर्मोही कथै रम गये
ऋतु ऐगै फेरि तू नि ऐ ये
हिया कूंछ न्है जा रे पराणा
म्यार आंखा सुवा डबडबाना ॥

हलिया

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 717
  • Karma: +12/-0
‘घुगुति चडि तेरि माया ले’

हो घू  घू घू घू घूघुति चडि
तेरि माया ले
यो खाई पराणी मेरी घुघुती चडि तेरो माया ले..
जोड:   डन काना उडि उडि जंगल गजायो, 
      फुली गैछा दैणा बैणा, मेरो भायौ नि आयो
हो घुघुति चडि तेरो माया ले यो खाई पराणी मेरी
हो घुघुति चडि तेरो माया ले
हो घू घू घू
जोड:  तेर बात मै लै सुणी, तु सिती मैं भुखो
      भाई आयो भितौली ल्यायो, त्वीलैउ नि देखो
हो घुघुति चडि तेरो माया ले यो खाई पराणी मेरी
हो घुघुति चडि तेरो माया ले
हो घू घू घू
जोड:   उडि उडि दूर दूर घुर घुरा घुरैछीं
       बाटुई लगूंछी आग भुर भुरा भुरैंछी
हो घुघुति चडि तेरो माया ले यो खाई पराणी मेरी
हो घुघुति चडि तेरो माया ले
हो घू घू घू
जोड:   निगलै कि माणी, घुघुती, निगलै कि माणी
       दुखिया पराणी तेरी उदासिली बाणी
हो घुघुति चडि तेरो माया ले यो खाई पराणी मेरी
हो घुघुति चडि तेरो माया ले
हो घू घू घू

हलिया

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 717
  • Karma: +12/-0
त्वै बुढै की लम्बी दाढी

महिला:  त्वै बुढै की लम्बी दाढी, त्वे बुढै मैं रुनी ना
पुरुष:        सांचि सांचि बतै दे छोरि, त्वे छोरि मैं छोडु ना

महिला:     त्वे बुढै का फुटिया आंखा,  त्वे बुढै मैं रुनी ना
पुरुष :       फुटि आंखा चशम लगूलो, तब ले छोरि छोडु ना
         सांचि सांचि बतै दे छोरि, त्वे छोरि मैं छोडु ना

महिला:     त्वै बुढै का लम्बा खुटा, त्वे बुढै मैं रुनी ना
पुरुष :      लम्बा खुटा कटई ल्यूंलो, तब ले छोरि छोडु ना
         सांचि सांचि बतै दे छोरि, त्वे छोरि मैं छोडु ना

महिला:      त्वै बुढै को कुबड पुठो,  त्वे बुढै मैं रुनी ना
पुरुष :      कुबड पुठ में घन चलूं लो, तब ले छोरि छोडु ना
          सांचि सांचि बतै दे छोरि, त्वे छोरि मैं छोडु ना

महिला:       त्वे बुढै मैं रुनी ना
पुरुष:         त्वे छोरि मैं छोडु ना ॥

हलिया

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 717
  • Karma: +12/-0
घुर घुघुति घूर घूरा[/size]

घुर घुघुति घूर घूर घूर घूरा
तेरो घुराण खै गो मेरो पराणा
स्वामी मेरा दूर दूर दूर दूरा
बाटो देखि देखि मेरा आंख पटाणा
घुर घुघुती घूर ... ...

उदेखिया मन मांजी मनसुब लागा
जाणि कस दान करा दुख्यारी या भागा
झुर झिकुडी झूर झूर झूर झुरा
तेरो झुराण खै गो मेरो पराणा
घुर घुघुती घूर ... ...

एकारी एकारी सुदै तेरो घत्यूणा
गव बुजि औंछ मेरो आंख लै भरीणा
उडि जा कति फूर फूर फूर फूरा
धो जै बोत्युण हैगो मन बज्यूणा
घुर घुघुती घूर ... ...

चुड फुडी अण कसो रौयार बौरार
नै मन लागन कति उचाट उचाट
सोर पडा सूर सूर सूर सूरा
उडिजा उनरि दिसि करिये उल्हाणा
घुर घुघुती घूर ... ...
[/size]

हलिया

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 717
  • Karma: +12/-0
पराणी झुरि गे .



पराणी झुरि गे
घुघुति घुरि गे
पराणी झुरि गे
नै बास घुघुती तू नै बास च्यापणी
नै चमका मेरो मन नि कर निखाणी
सुध बुध उडिगे
पराणी झुरि गे
आंसु लीजा खेडि दियै उनरि बाखई
नै आग भुराण कभै नि लागी बाटुई
फाम कपोरिगे
पराणी झुरि गे
उडि जा उनरि दिसि वां बांस धैं ट्वाला
कै दिये रिंगोई घूई कतुक बचुला
उमरा पुरी गे
पराणी झुरि गे
कावा का जै दिन भागी मैल त पुरूणा
उचाट लगूंछ घू घू कै तेरो घुरूणा
कलेजु कोरिगे
पराणी झुरि गे .

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,849
  • Karma: +76/-0
हालिया दाजू... बहुत ही सुंदर गानों के बोल आप प्रतुत कर रहे है !

ये उत्तराखंड के अमर लोक गीत है !

पराणी झुरि गे .



पराणी झुरि गे
घुघुति घुरि गे
पराणी झुरि गे
नै बास घुघुती तू नै बास च्यापणी
नै चमका मेरो मन नि कर निखाणी
सुध बुध उडिगे
पराणी झुरि गे
आंसु लीजा खेडि दियै उनरि बाखई
नै आग भुराण कभै नि लागी बाटुई
फाम कपोरिगे
पराणी झुरि गे
उडि जा उनरि दिसि वां बांस धैं ट्वाला
कै दिये रिंगोई घूई कतुक बचुला
उमरा पुरी गे
पराणी झुरि गे
कावा का जै दिन भागी मैल त पुरूणा
उचाट लगूंछ घू घू कै तेरो घुरूणा
कलेजु कोरिगे
पराणी झुरि गे .

हलिया

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 717
  • Karma: +12/-0
कौतिक जानू भिना

साली :        हिटो कौतिक जानू भिना
          कौतिक जानू भिना कौतिक जानू
          हिटो कौतिक जानू  ।

जीजा :        फाटिया मेरि यो पैजामा
           हो मेरि यो पैजामा, ना बाबा मेरि ना,
                  मैं तो कौतिक नी जानू |
 
 साली :       हिटो कौतिक जानू भिना
           घाघारि पिछौडी आंगडी सिला ले,
                  कान का कनफूला नथुली गढा ले,
                  मिठाई ‘ओ भिना, मिठाई मैं तो भली मानूं
          मैं तो भली मानूं, कौतिक जानू
          हिटो कौतिक जानू 
          हिटो कौतिक जानू  ।

जीजा :    आंग न्हैती धिंगाडा, फाटिया फतोई
        छार फोकिया हाला, मैं के बतूं सरूई,
               कैतीक, हो सरू, कौतीक मैं त कसी जानू,
                हो मैं त कैसी जानू
         ना बाबा मेरि ना, मैं तो कौतिक नी जानू ॥

साली :      रोज भीना तुम, झुठि जै बुलांछा,
                 गांठि में कटक, लागैं कै डरांछा
          धमेलि, हो भिना धमेलि बिना मैं नि मानूं
          हां भिना मैं नि मानू, मैं तो कौतिक नी जानू
          हिटो कौतिक जानू भिना
          कौतिक जानू भिना कौतिक जानू
          हिटो कौतिक जानू  ।।

जीजा :        ढिपु नै प्टक, ताव जेब छू फाटिया,
                   धौ धिनाई पट्ट, छू करज लदीया,
                  फाटिया मेरि यो पैजामा
           हो मेरि यो पैजामा, ना बाबा मेरि ना,
                   मैं तो कौतिक नी जानू  ॥

साली :         हिटो कौतिक जानू भीना
 जीजा :        फाटिया मेरि यो पैजामा


                ** ** **