Author Topic: Some Exclusive Kumaoni Folk Songs- कुछ प्रसिद्ध कुमाऊंनी लोकगीतों का संग्रह  (Read 14133 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
भागुली -भीमा प्रेम लोकगीत
(एक प्रेम लोकगीत )

Garhwali , Kumaoni Love Folk Song )

( आभार डा नन्द किशोर हटवाल , उत्तराखंड हिमालय के चांचड़ी गीत व नृत्य )

इंटरनेट प्रस्तुति - भीष्म कुकरेती

रहट की तान भागुली , भागुली गाज्यों मांग।
मै झूठी नै लानी भीमा , भिमुवा ऊंचा डान।
ढोल की कसण भागुली , ढोल की कसण।
नाची लियो , हंसी लियो , द्वी दिणो बचण।
आहा द्वी दिणो बचण भीमू , भिमुवा ऊंचा डान।
रहट की तान भागुली , भागुली गाज्यों मांग।
दो तारों की तार भागुली , दो तारों की तार।
बीच गंगा छोड़ि गैछे ,नै वार नै पार।
नै वार नै पार , भिमुवा ऊंचा डान।
रहट की तान भागुली , भागुली गाज्यों मांग।
मादुरी को कन भगुली , मादुरी को कन।
द्वी नाली बंदूक जसी जोड़ो टूटो झन।
जोड़ो टूटो झन भीमू , भिमुवा ऊंचा डान।
रहट की तान भागुली , भागुली गाज्यों मांग।
*डान =डांडा
मादुरी= झंगोरा

Garhwali , Kumaoni Love Folk Songs, Community Love Poems,Love , Prem Lok Geet

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
प्रयाग पाण्डे

झन दिया बौज्यू छाना बिलौरी
लागनी बिलौरी का घामा ।
छाना बिलौरी का घामा हो बौज्यू
छाना बिलौरी का घामा ।
हाथै कि कुटली हाथै में रौली -
तल्ला बिलौरी का घामा ।
छाना बिलौरी का घामा हो बौज्यू
छाना बिलौरी का घामा ।
हाथै कि दातुलि हाथै में रौली
तल्ला बिलौरी का घामा ।
झन दिया बौज्यू छाना बिलौरी
लागनी बिलौरी का घामा ।
नाखै कि नथुली नाखै में रौली
तल्ला बिलौरी का घामा ।
छाना बिलौरी का घामा हो बौज्यू
छाना बिलौरी का घामा ।
झन दिया बौज्यू छाना बिलौरी
लागनी बिलौरी का घामा ॥

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
तेरि सूरत देखि रजुवा निन् नैं औंनी -- प्रेम श्रृंगार लोकनृत्य गीत

(Garhwali , Kumaoni Love Folk Song )
( आभार डा नन्द किशोर हटवाल ,उत्तराखंड हिमालय के चांचड़ी गीत व नृत्य )

इंटरनेट प्रस्तुति - भीष्म कुकरेती

ओ तेरि सूरत देखि रजुवा , निन् नि औंनी एक झलक।
ओ मेरि कमला तेरि बलाया , बनवासा बिजुलि चमक।
ओ आसमानी जहाज उड़ो , निन् नैं औंनी एक झलक।
ओ रंगूनै डाकै कु रजुवा बनवासा बिजुलि चमक।
ओ पंछि हुनू उड़ि औंनू ,निन् नैं औंनी एक झलक।
ओ मै बिना पांखैकू कमला , बनवासा बिजुलि चमक।
ओ ऊन खोली बाटो लायो ,निन् नैं औंनी एक झलक।
ओ भैंसि की थोरिल कमला ,बनवासा बिजुलि चमक।
ओ क्या दुःख दैबले दिया ,निन् नैं औंनी एक झलक।
ओ क्या मेरी खोरील कमला , नवासा बिजुलि चमक।

Garhwali , Kumaoni Folk Songs, Community Poems,

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
हर्षु मामा तंद्या ये तितांदा..
हर्षु मामा तंद्या ये तितांदा..

{हर्षु मामा तंद्या ये तितांदा..
हर्षु मामा तंद्या ये तितांदा..}

हर्षु मामा राना कन ल्योनी ..
हर्षु मामा ..सिरमौरया बांद..
सभी गुणों माँ हरी भरी हो जो ..
मुखडी जनि गैनो मा की चाँद ...

हर्षु मामा राना कन ल्योनी .रे..
हर्षु मामा ..सिरमौरया बांद..

हर्षु मामा घोटी जालो रेठो ..
हर्षु मामा घोटी जालो रेठो ..

{हर्षु मामा घोटी जालो रेठो ..
हर्षु मामा घोटी जालो रेठो ..}

हर्षु मामा ब्योला यन खुजे दे ..
हर्षु मामा घर जवें जो बेठो ..

{
हर्षु मामा ब्योला यन खुजे दे ..
हर्षु मामा घर जवें जो बेठो ..}

दिन मा करो मेरी सेवा पाणी ..
रात माँ वो वाडा जेक बेठो ...

{
दिन मा करो मेरी सेवा पाणी ..
रात माँ वो वाडा जेक बेठो ...}

हर्षु मामा ब्योला यन खुजे दे ..रे .
हर्षु मामा घर जावे जो बेठो ..

हर्षु मामा दुरेटा की ग्वाली ..
हर्षु मामा दुरेटा की ग्वाली ..
हर्षु मामा ..कु छ ये जबोडय...
हर्षु मामा ...हर्षु मामा घर्जवें वाली ..

हर्षु मामा ..क्या छ कारोबार..
पुछदे मामा कती छ मुयाली ..
हर्षु मामा ..क्या छ कारोबार..रे
पुछदे मामा कती छ मुयाली ..

हर्षु मामा दूध भरी पारी ..
हर्षु मामा दूध भरी पारी ..
{हर्षु मामा दूध भरी पारी ..
हर्षु मामा दूध भरी पारी ..}

मेरा बाबा का सिउ का बगीचा ..
दूर दूर ते सटी ग्यु की सारी ..
{मेरा बाबा का सिउ का बगीचा ..
दूर दूर ते सटी ग्यु की सारी ..}

मेरा भेजी का आलु का फर्म ..
बिज़नेस तिमाटर कु भारो ...
{मेरा भेजी का आलु का फर्म ..
बिज़नेस टीमाटर कु भारी ...}

मेरा भेजी का आलु का फर्म ..रे
बिज़नेस टीमाटर कु भारी ..

हर्षु मामा ..काटी जालो धोलो ..
हर्षु मामा ..काटी जालो धोलो ..
हर्षु मामा ..काटी जालो धोलो ..
हर्षु मामा ..काटी जालो धोलो ..

हर्षु मामा मेरी हां करे दे ...
इए बांद को घर जवें रोलु ...
हर्षु मामा मेरी हां करे दे ...
इए बांद को घर जवें रोलु ...

दिन करोलू इकी सेवा पानी ..
रात लिक वोडा भीतर सोलू ..
दिन करोलू इकी सेवा पानी ..
रात लिक वोडा भीतर सोलू ..

दिन करोलू इकी सेवा पानी ..रे
रात लिक वोडा भीतर सोलू ..

हर्षु मामा गोजाला की गोज ..
हर्षु मामा गोजाला की गोज ..
{हर्षु मामा गोजाला की गोज ..
हर्षु मामा गोजाला की गोज ..}

हर्षु मामा मेरा सिरमौर ..
हर्षु मामा थोला मेला की मोज ..
{हर्षु मामा मेरा सिरमौर ..
हर्षु मामा थोला मेला की मोज ..}

त्यावारो मा नाचना की रित ..
बहर भीतर सभी धरयु की मोज ..

{त्यावारो मा नाचना की रित ..
बहर भीतर सभी धरयु की मोज ..ञ

त्यावारो मा नाचना की रित ..रे
बहर भीतर सभी धरयु की मोज ..

हर्षु मामा मै पसंद एय गे ..
हर्षु मामा सिरमौर्य बांद ...

हर्षु मामा मै भी खूब लेगे ..
हर्षु मामा यो छबीलो ज्वान ..

हर्षु मामा मै पसंद एय गे ..
हर्षु मामा सिरमौर्य बांद ...

हर्षु मामा मै भी खूब लेगे ..
हर्षु मामा यो छबीलो ज्वान ..

हर्षु मामा मै पसंद एय गे ..
हर्षु मामा सिरमौर्य बांद ...

हर्षु मामा मै भी खूब लेगे ..
हर्षु मामा यो छबीलो ज्वान ..

कण लगा जी जरूर बतवा जी
हर्षु मामा तंद्या ये तितांदा..
उत्तराखंडी गीत
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
उत्तराखंड मनोरंजन
बालकृष्ण डी ध्यानी
-देवभूमि बद्री-केदारनाथ
अब भोळ भेंट हुली जी

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
टक टका टक कमला बडुळि लगा ये

टक..... टक.....टक

टक टका टक कमला बडुळि लगा ये
परदेशा मुल्क मै घर बोला ये ……२

जब आली दगडा परदेश घुमोलो
माया की डाले मा घर -बार भानोलो …२
टक टका टक कमला बटुली लगा ये

अकेली ना सोचे दगडो भानोलो …२
कमला परदेश मा साथ घुमोलो…२
टक टका टक कमला बटुली लगा ये
परदेशा मुल्क मै घर बोला ये

चिठ्ठी दिए जडूड मै आश लै रो लो…२
तेरी फोटो देखी बे मै रात कटूलो…२
टक टका टक कमला बटुली लगा ये
परदेशा मुलक मै घर बुलाये ।

महण दिन हेगे न चिठ्ठी पतर…२
कैसी माया दी ये मेरी डियूटी बोडरा…२
टक टका टक कमला बटुली लगा ये
परदेशा मुलक मै घर बुलाये ।

कण लगा जी जरूर बतवा जी
परदेशा मुलक मै घर बुलाये
उत्तराखंडी गीत
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
उत्तराखंड मनोरंजन
बालकृष्ण डी ध्यानी
-देवभूमि बद्री-केदारनाथ
अब भोळ भेंट हुली जी —

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
सुरमा सरेला

दुई गति बैशाख सुरमा मेरा मुलुक मेला. --२
मेरा मुलुक मेला एजई ईईई ...
मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ईईई .. --२

कोरस : मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ईईई ... --२

कोरस :हो हो हो अ हो हो हो हो हो अ हो हो

चिलामी को पिच सुरमा चिलामी को पिच. --२
भंडी दीनो बटी क सुरमा तेरी खुद लगी च.

कोरस:तेरी खुद लगी च सुरमा तेरी खुद लगी च

उखी चरखी रिथैए , सुरमा,उखी खताएइ मिठाई , सुरमा
उखी मंदिर मा जुला , सुरमा,उखी पूजा पिठायी एजई ईईई ....

मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ईईई ... --२

वोका पेराई नयी सुरमा ,वोका पेराई नयी सुरमा
वोका पेराई नयी सुरमा ,वोका परायी नयी
भंडी दीनो बटी तू सुरमा सुप्नेयोमा न एयी
सुप्नेयोमा न एयी सुरमा सुप्नेयोमा न ए यी
उखी लगोलो बाज़ार सुरमा उखी मुल्योला हार सुरमा
उखी छुयु की बार सुरमा उखी होलू करार एजई

मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ..
मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ..

देहि जमाई ठेकी सुरमा दही जमाई ठेकी -२
भंडी दिनों बाटिक सुरमा तेरी मुखडी नि देखि ..
कोरस:तेरी मुखडी नि देखि ..सुरमा
मुखडी नि देखि ..

उखी डालों का छेला सुरमा उखी रंषा झुमेला मेला सुरमा
उखी डेलू सुराक सुरमा सम्लोना रूमेला एजई ..

मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ..
मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ..

कासु काटी घास सुरमा, कासों कासु घास... २
भंडी दिनों बिछोड सुरमा बलि जवनि को नास
कोरस: बलि जवनि को नास सुरमा बलि जवनि को नास
मेरी दिल ये दुलारी सुरमा सारी दुनिया से नयारी सुरमा
मेरा मन के पियारी सुरमा सौ बचन न हारी एजई ६

मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ..
मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ..

दुई गति बेसाक सुरमा मेरा मुलुक मेला ..
दुई गति बेसाक सुरमा मेरा मुलुक मेला ..
मेरा मुलुक मेला एजई ईईई ...
मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ईईई ..
मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ईईई ।

मेरी सुर्मा सरेला सुरमा एजई ईईई ..

उत्तराखंडी गीत
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
उत्तराखंड मनोरंजन
बालकृष्ण डी ध्यानी
-देवभूमि बद्री-केदारनाथ
अब भोळ भेंट हुली जी —

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
सुरमा सरेला

दुई गति बैशाख सुरमा मेरा मुलुक मेला. --२
मेरा मुलुक मेला एजई ईईई ...
मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ईईई .. --२

कोरस : मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ईईई ... --२

कोरस :हो हो हो अ हो हो हो हो हो अ हो हो

चिलामी को पिच सुरमा चिलामी को पिच. --२
भंडी दीनो बटी क सुरमा तेरी खुद लगी च.

कोरस:तेरी खुद लगी च सुरमा तेरी खुद लगी च

उखी चरखी रिथैए , सुरमा,उखी खताएइ मिठाई , सुरमा
उखी मंदिर मा जुला , सुरमा,उखी पूजा पिठायी एजई ईईई ....

मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ईईई ... --२

वोका पेराई नयी सुरमा ,वोका पेराई नयी सुरमा
वोका पेराई नयी सुरमा ,वोका परायी नयी
भंडी दीनो बटी तू सुरमा सुप्नेयोमा न एयी
सुप्नेयोमा न एयी सुरमा सुप्नेयोमा न ए यी
उखी लगोलो बाज़ार सुरमा उखी मुल्योला हार सुरमा
उखी छुयु की बार सुरमा उखी होलू करार एजई

मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ..
मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ..

देहि जमाई ठेकी सुरमा दही जमाई ठेकी -२
भंडी दिनों बाटिक सुरमा तेरी मुखडी नि देखि ..
कोरस:तेरी मुखडी नि देखि ..सुरमा
मुखडी नि देखि ..

उखी डालों का छेला सुरमा उखी रंषा झुमेला मेला सुरमा
उखी डेलू सुराक सुरमा सम्लोना रूमेला एजई ..

मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ..
मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ..

कासु काटी घास सुरमा, कासों कासु घास... २
भंडी दिनों बिछोड सुरमा बलि जवनि को नास
कोरस: बलि जवनि को नास सुरमा बलि जवनि को नास
मेरी दिल ये दुलारी सुरमा सारी दुनिया से नयारी सुरमा
मेरा मन के पियारी सुरमा सौ बचन न हारी एजई ६

मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ..
मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ..

दुई गति बेसाक सुरमा मेरा मुलुक मेला ..
दुई गति बेसाक सुरमा मेरा मुलुक मेला ..
मेरा मुलुक मेला एजई ईईई ...
मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ईईई ..
मेरी सुरमा सरेला सुरमा एजई ईईई ।

मेरी सुर्मा सरेला सुरमा एजई ईईई ..

उत्तराखंडी गीत
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
उत्तराखंड मनोरंजन
बालकृष्ण डी ध्यानी
-देवभूमि बद्री-केदारनाथ
अब भोळ भेंट हुली जी —

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
 धार मां कु गेणुं पार देख ऐ गे

धार मां कु गेणुं पार देख ऐ गे…. ग्वैर चली गेनी तू याखुली रे गे…
ओ ए लछि घोर रुमुक पोड़ि गे-ओए लछि घोर रुमुक पोड़ि गे..
धार मा कु गेणु पार देख ऐ गे, ग्वैर चली गेनी तू याखुली रे गे..
ओए लछि घोर रुमुक पोड़ि गे-ओए लछि घोर रुमुक पोड़ि गे

जागि जा रे ग्यैल्या- मि ना छोड़ी जै, जागि जा रे ग्यैल्या- मि ना छोड़ी जै…

सेरा बोण हेरी गौरु नि मिलीनि, हाथ खुट्युं म्यारा कांडा बैठी गे नि.. २
कख जू खुज्योलू रात पोड़ी गे, जागी जा रे ग्येल्या- मि ना छोड़ी जै…
ओ ए लछि घोर रुमुक पोड़ि गे-ओए लछि घोर रुमुक पोड़ि गे..

दगड़ा का छोरो न गोरु चरेनी, तिन डाल्यूं मां भमोरा बुखैनी.. २
गोरु नि देखि नि छेलु बैठीं रे, ओए लछि घोर रुमुक पोड़ि गे…
जागी जा रे ग्येल्या- मि ना छोड़ी जै, जागी जा रे ग्येल्या- मि ना छोड़ी जै…

गौरु नि मिलला मिन घोर नी आंण, सेसुरियों तै मुख कनु के दिखाण.. २
जा तू जा रे ग्येल्या मी तैं छोड़ी दे, लछि मोरी ग्याई डेरा बोली दे.. .
ओ ए लछि घोर रुमुक पोड़ि गे-ओए लछि घोर रुमुक पोड़ि गे…

ना रो लछि त्यारा गौरु चलि गे नी, ग्वैरू छोरों न डेरा हके ऐ नी.. २
तू त खेलूँ मा मौरन बैठी गे,ओए लछि घोर रुमुक पोड़ि गे…

जागी जा रे ग्येल्या- मि ना छोड़ी जै.
ओ ए लछि घोर रुमुक पोड़ि गे…
जागी जा रे ग्येल्या- मि ना छोड़ी जै.
ओ ए लछि घोर रुमुक पोड़ि गे…
धार मां कु गेणुं पार देख ऐ गे

.....कण लाग जी आप थे जरूर बतवा जी
उत्तराखंडी गीत अनुवाद किया है उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
उत्तराखंड मनोरंजन अनुवाद किया है उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
बालकृष्ण डी ध्यानी
-देवभूमि बद्री-केदारनाथ

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
ए संज्या झुकि गेछ भगवान , नीलकंठ हिवाला |
ए संज्या झुकि गेछ हो रामा, अगास रे पताला|
ए संज्या झुकि गेछ भगवाना ,नौ खंडा धरति मांझा|
नौ खंडा धरति हो रामा , तीन हो रे लोका |
के संज्या झुकि गेछ भगवाना ,के संज्या झुकि गेछ |
के संज्या झुकि गेछ रामा ,कृष्ण ज्यु की द्वारिका |
हो के संज्या झुकि गेछ हो रामा , यो रंगीली वेराटा|
के संज्या झुकि गेछ भगवाना , यो पंचवटी मांझा |
के संज्या झुकि गेछ हो रामा ,रामाज्यु की अजुध्या |
के संज्या झुकि गेछ भगवाना , कौरवुं को बंगला |
के संज्या झुकि गेछ हो रामा ,यो गेली समुन्दरा|
के संज्या झुकि गेछ भगवाना ,पंचचुली का धुरा |
के संज्या झुकि गेछ हो रामा ,हारीहरा हरिद्वारा|
के संज्या झुकि गेछ भगवाना ,सप्ता रे सिन्धु ,पंचा रे नंदा |
ए संज्या झुकि गेछ हो रामा ,सुनै की लंका धामा ||
(कुमांऊँ का लोक साहित्य से )

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0

उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
1 hr ·
वो भाना रंगीली भाना,वो भाना रंगीली
वो भाना रंगीली भाना,वो भाना रंगीली
भाना वो रंगीली भाना वो भाना रंगीली
वो भाना रंगीली भाना,वो भाना रंगीली
भाना वो रंगीली भाना बल वो भाना रंगीली
वो भीना रंगीलो भीना मोहना रंगीलो
मोहना रंगीलो भीना वो भीना रंगीलो
वो भीना रंगीलो भीना मोहना रंगीलो
वो भीना रंगीलो भीना बल मोहना रंगीलो
वो भाना रंगीली भाना,वो भाना रंगीली
वो भीना रंगीलो भीना मोहना रंगीलो
कोरस
वो भाना रंगीली भाना,वो भाना रंगीली
मोहना रंगीलो भीना वो भीना रंगीलो
हिमालय की थंडी हवा कुलैई की छया
कै दुन्या बत्वों हे भाना तेरी मेरी माया
हिमालय की थंडी हवा कुलैई की छया
कै दुन्या बत्वों हे भाना तेरी मेरी माया
कै दुन्या बत्वों हे भाना तेरी मेरी माया ... २
वो भाना रंगीली भाना,वो भाना रंगीली
भाना वो रंगीली भाना वो भाना रंगीली
पाणी को मसिक भीना पाणी को मासिक
तू भलुण भूल जैई मि भुलु कसिक
पाणी को मसिक भीना पाणी को मासिक
तू भलुण भूल जैई मि भुलु कसिक
तू भलुण भूल जैई मि भुलु कसिक ... २
वो भीना रंगीलो भीना मोहना रंगीलो
मोहना रंगीलो भीना वो भीना रंगीलो
कोरस
वो भाना रंगीली भाना,वो भाना रंगीली
मोहना रंगीलो भीना वो भीना रंगीलो
जिकुड़ीम बसीचा तेरी साची प्रीत माणी
येथे जों की ऊथे जों सोचों रात ब्याणी
जिकुड़ीम बसीचा तेरी साची प्रीत माणी
येथे जों की ऊथे जों सोचों रात ब्याणी
तुप्ते के जा बैठी जा तू मिरी सिराणी .. २
वो भाना रंगीली भाना,वो भाना रंगीली
भाना वो रंगीली भाना बल वो भाना रंगीली
धार मा गुल्ल बांज पोथल्युं को बांस
सुप्निया ना दिखो ना भीना लगी रैली आस
धार मा गुल्ल बांज पोथल्युं को बांस
सुप्निया ना दिखो ना भीना लगी रैली आस
झूठी तेरी माया मोहना कया तेरो विस्वास ...२
वो भीना रंगीलो भीना मोहना रंगीलो
मोहना रंगीलो भीना वो भीना रंगीलो
कोरस
वो भाना रंगीली भाना,वो भाना रंगीली
मोहना रंगीलो भीना वो भीना रंगीलो
ब्याखोनी को घाम हुलु घरमे की तूण
फुर फुर्र घिन्दुड़ी बणी ऐ जैई मिलण
ब्याखोनी को घाम हुलु घरमे की तूण
फुर फुर्र घिन्दुड़ी बणी ऐ जैई मिलण
सुपनियु मा इसई दी जैई समूण .. २
वो भाना रंगीली भाना,वो भाना रंगीली
भाना वो रंगीली भाना बल वो भाना रंगीली
घास कटी सौली मौली दतुड़ी रोखे मा
बाँसुरी बजै दे भीना डलियों का टुखे मा
मयादरा त्वै मिलण ओलों अद बटे मा ... २
वो भीना रंगीलो भीना मोहना रंगीलो
मोहना रंगीलो भीना वो भीना रंगीलो
कोरस
वो भाना रंगीली भाना,वो भाना रंगीली
मोहना रंगीलो भीना वो भीना रंगीलो
वो भाना रंगीली भाना,वो भाना रंगीली
मोहना रंगीलो भीना वो भीना रंगीलो
वो भाना रंगीली भाना,वो भाना रंगीली
उत्तराखंडी गीत है
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
अनुवाद किया है उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22