Author Topic: Admiral D K Joshi,Chief of Naval Staff from Almora Uttarakhand-एडमिरल डी के जोशी  (Read 2965 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0

Dosto,

we are posting here information about Admiral Devendra Kumar Joshi, who became Chief of Naval Staff on 31 August 2012.  Admiral D K Joshi born in Almora Uttarakhand on04 July 1954. He is the first person Devbhoomi who has assumed highest post in Navy from Uttarakhand.   

Awards
  • Param Vishist Seva Medal
  • Ati Vishist Seva Medal, ADC,
  • Yudh Seva Medal,
  • Nausena Medal,
  • Vishisht Seva Medal
Admiral Joshi is a graduate of the Naval War College, USA, the College of Naval Warfare, Mumbai, and the National Defence College, New Delhi.
M S Mehta

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
Personal life

He is married to Mrs Chitra Joshi and the couple has two daughters. Military careerJoshi has served in a variety of Command, Staff and Instructional appointments. His Sea Commands include guided missile corvette INS Kuthar, guided missile destroyer INS Ranvir and the aircraft carrier INS Viraat, during which he was awarded Nausena Medal, Vishist Seva Medal and Yudh Seva Medal respectively. He subsequently commanded the Eastern Fleet, wherein he was awarded Ati Vishist Seva Medal (AVSM).After his elevation to Flag rank, the Joshi served in the Integrated Headquarters in all nodal Branches. In the Personnel Branch as the Assistant Chief of Personnel (Human Resource Development), in Warship Production and Acquisition as the Assistant Controller of the Aircraft Carrier Programme (ACCP), and thereafter in the Operations Branch both as Assistant Chief of Naval Staff (Information Warfare and Operations) and as the Deputy Chief of Naval Staff.Before taking over as the FOC-in-C Western Naval Command, he contributed towards inter-service integration, first as the Commander-in-Chief of the Andaman and Nicobar Command, the only tri-service integrated Command.

 He was awarded the Param Vishist Seva Medal (PVSM) during this time. Later, he served as the Chief of Integrated Defence Staff to Chairman, Chiefs of Staff Committee (CISC).
Joshi was also the Defence Advisor in the Indian High Commission at Singapore from 1996 to 1999.[1]

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0

Admiral Joshi was given a warm welcome when he reached Ranikhet. Navy also organized health camp and other welfare camps there. Here is the news - 06 Nov 2012.

नौ सेना के कैंप की तैयारी तेज, प्रभारी पहुंचेरानीखेत : आगामी आठ से गोविन्द सिंह माहरा राजकीय चिकित्सालय में लगने वाले नौ सेना के नि:शुल्क चिकित्सा शिविर की तैयारी को निदेशक स्वास्थ्य सेवाएं नेवी एवं शिविर प्रभारी सर्जन (कैप्टन) संदीप भंडारी पहुंच चुके हैं। वे शिविर के लिए आवश्यक तैयारियों जुटे हैं।
 कैप्टन संदीप भंडारी ने रानीखेत पहुंच कर तहसील व अस्पताल प्रशासन से शिविर की तैयारी के सिलसिले में वार्ता की और अस्पताल में इंतजाम देखा। प्रेसवार्ता में कैप्टन भंडारी ने बताया कि प्रतिवर्ष चार दिसंबर को नौ सेना दिवस मनाया जाता है। इससे पूर्व नौ सेना के सामुदायिक कार्यक्रम के तहत उत्तर भारत में मुफ्त मेडिकल कैंप लगाती है, इसके लिए इस बार रानीखेत को चुना गया है।
 नेवी के स्वास्थ्य निदेशक कैप्टन संदीप भंडारी ने बताया कि 15 चिकित्सा विशेषज्ञ मुम्बई तथा तीन चिकित्सा विशेषज्ञ दिल्ली से आएंगे। इनमें हृदय रोग, कैंसर, ईएनटी, मधुमेह समेत नेत्र, दंत, त्वचा, बाल रोग, स्त्री रोग, रेडियालाजी, न्यूरो आदि के चिकित्सा विशेषज्ञ शामिल हैं। रोगियों की लैब में जांच की व्यवस्था की जा रही है। मुफ्त सोनोग्राफी व दवा वितरण भी होगा। शिविर का लाभ उठाने वाले मरीजों का पंजीकरण उसी दिन सुबह नौ बजे से होगा। शिविर के लिए जरूरत के अनुसार नौ सेना द्वारा ही चिकित्सा मशीनें लाई जा रही हैं। उन्होंने बताया कि शिविर का उद्देश्य जरूरतमंदों को चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने के साथ लोगों की नौ सेना से करीबी बढ़ाने व नौ सेना की गतिविधियों से रूबरू कराना भी है।
 प्रेसवार्ता में एसडीएम पंकज उपाध्याय, सीएमएस डा.डीएस नेई, वरिष्ठ चिकित्सक डा.केके पांडे भी मौजूद थे।
 :::::::::::::बाक्स::::::::::
 नौ सेनाध्यक्ष करेंगे शुभारंभ
 नौ सेना के स्वास्थ्य शिविर का शुभारंभ आठ नवम्बर को पूर्वाह्न 11 बजे नौ सेनाध्यक्ष एडमिरल डीके जोशी करेंगे। इस मौके पर नौ सेना के महानिदेशक स्वास्थ्य सेवाएं सर्जन एसी आनंद समेत कई अधिकारी व डीएम अक्षत गुप्ता हाजिर होंगे।
 आज पहुंचेगा सामान व स्टाफ
 -नौ सेना शिविर के लिए स्टाफ व साजो सामान आज मंगलवार की शाम तक रानीखेत पहुंचेगा और एक दिन पूर्व अस्पताल में डाक्टर्स चैम्बर तैयार हो जाएंगे। अस्पताल में सफाई व चैम्बरों को खाली करने का काम शुरू हो गया।
 यह रहेंगे आकर्षण
 नौ सेना के शिविर में फोक डांस, प्रदर्शनी व एनसीसी कैडेटों का प्रदर्शन भी आकर्षण रहेगी। शिविर प्रभारी कैप्टन संदीप भंडारी ने बताया कि फोक डांस के लिए कलाकारों की टीम अल्मोड़ा से आएगी और प्रदर्शनी में स्वास्थ्य जागरूकता संबंधी साहित्य व पोस्टर लगेंगे। जबकि एनसीसी कैडेटों की टुकड़ी नैनीताल से आकर नौ सेना के जहाजों व अन्य गतिविधियों की प्रस्तुति देगी। ताकि लोग नौ सेना से रूबरू हो सकें।(Dainik Jagran).


एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
Naval Career.

 एडमिरल Joshi 38 वर्षो के कार्यकाल में वरिष्ठ नौसेना अधिकारी ने कई कमांड स्तर की जिम्मेदारियां संभाली हैं। मुंबई स्थित नौसेना की पश्चिमी कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडर इन चीफ का पद संभालने के पहले वाइस एडमिरल जोशी नौसेना के डिप्टी चीफ, अंडमान व निकोबार स्थित रणनीतिक कमान के कमांडर इन चीफ व इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ के प्रमुख जैसी अनेक जिम्मेदारियां संभाल चुके हैं।
एडमिरल जोशी अप्रैल 1974 में नौसेना की एग्जिक्यूटिव शाखा के कमीशन प्राप्त अधिकारी हैं और प्रक्षेपास्त्र प्रणाली के खासे जानकार हैं। अपनी नौसैनिक सेना में वे गाइडेड मिसाइल लड़ाकू जलपोत कुठार, विध्वंसक युद्धपोत रणवीर और विमानवाहक पोत विराट की भी कमान संभाल चुके हैं। उनके सीने पर अतिविशिष्ट, परम विशिष्ट व युद्ध सेवा पदक जैसे तमगे हैं। अमेरिकी नौसेना युद्ध कॉलेज और राष्ट्रीय डिफेंस कॉलेज से प्रशिक्षित एडमिरल जोशी 1996-99 के बीच सिंगापुर स्थित भारतीय दूतावास में रक्षा सलाहकार की भी जिम्मेदारी निभा चुके हैं।

 पूर्व सेनाध्यक्ष जनरल बीपी जोशी के बाद उत्ताराखंड सूबे से सैन्य प्रमुख के पद पर पहुंचने वाले वे दूसरे अधिकारी हैं। उनकी पत्नी चित्रा जोशी एक प्रसिद्ध चित्रकार हैं।

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
After late Gen Bipin Chandra Jojshi, Chief of Army Staff, another defense Chief from Uttarakhand soil Vice Admiral DK Joshi whoBorn on July 04, 1954, Vice Admiral Joshi had his schooling from Almora and Nainital where his father Hira Ballabh Joshi served as Chief Conservator of Forests. His mother is Mrs Hansa Joshi. His parents live in Dehradun (Uttarakhand). His family hails from village Laxmipur (Baramandal) in District Almora, Uttarakhand. Joshi studied from Hindi medium schools in the begging.When he was studying in his 10th standard at Government School at Nainital, he decided to join army.While he was doing his graduation from Hansraj College (Delhi University), he was selected for National Defence Academy.
 
 DK Joshi is the eldest child of his father. His younger brother is an Engineer in Atlanta (USA). His sister Deepa is married to an Doctor.DK Joshi is married to Chitra and the couple has two daughters.
 

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22