Author Topic: Tourism and Hospitality Industry Development & Marketing in Kumaon & Garhwal (  (Read 30690 times)

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,786
  • Karma: +22/-1
गंध चिकित्सा से स्वास्थ्य पर्यटन विकास

Aromatherapy for Medical Tourism Development -1
चिकित्सा सेवा निर्यात रणनीति -71

Medical Service Export Strategy - 71

उत्तराखंड में चिकत्सा पर्यटन  रणनीति - 254

Medical Tourism development Strategies -254

उत्तराखंड पर्यटन प्रबंधन परिकल्पना - 375

Uttarakhand Tourism and Hospitality Management -375

 

आलेख -      विपणन आचार्य   भीष्म कुकरेती

-
मनुष्य विकास के कारण मनुष्य में अन्य जानवरों के गुण पाए जाने से गंध , सुगंध का अति महत्व है।
हमारे पांच इन्द्रियों में सबसे अधिक महत्व गंध का है।  हम जो पढ़ते हैं या देखते हैं वह कुछ दिनों में भूल जाते हैं , जिसे छूते  हैं उसका स्मरण कुछ माह तक होता है जो सुनते हैं कुछ समय तक याद रखा जा सकता है किन्तु जो सूंघते हैं (भोजन स्वाद भी सूंघने से पैदा होता है ) व सबसे अधिक समय तक याद रहता है।  हमारे कम्युनिकेशन में 45 % कार्य सुगंध या गंध का हाथ होता है। हमारी किसी के प्रति चाहत , प्रेम , उदासीनता , घृणा में गंध इन्द्रिय का सर्वाधिक हाथ होता है।
हम अन्य इन्द्रिय प्रबह्व को परिभासित कर सकते हैं किन्तु गंध का विवरण देना नामुमकिन ही सा है।  किड़ाण या खिकराण को परिभाषित करना कठिन है। 
-
     गंध पर्यटन का मुख्यांग है
 सामन्य पर्यटन में सुगंध या  महत्वपूर्ण स्थान है।  भोजन , बगीचों , नदियों के कीचड़ , नदी किनारे , यात्रा माध्यम जैसे बस , कार , सड़क आदि में जब पर्यटक चलता है तो सबसे अधिक कार्य उसकी घ्राणेन्द्रियां  कार्य करती है और अंत में पर्यटक स्थल या पर्यटन माध्यम (परिहवन ) के प्रति छवि बनाने में सबसे अधिक प्रभावकारी गंध ही होती है क्योंकि गंध ही सबसे अधिक भावनाओं को प्रभावित करती है।  पर्यटन में गंध अपनी भूमिका चुपचाप अदा करती रहती है।  फास्ट फ़ूड के ठेले के आस पास मूत्रालय या शौचालय में दृश्य इंद्री या श्रवण या स्पर्श इंद्री उतना प्रभाव नहीं डालती जितना कि घ्राणेन्द्रिय  प्रभावित करती है।  वेडिंग प्वॉन्टस अच्छा या बुरा आकलन या छवि बनाने में भी गंध महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।  बहुत साल पहले मेरे व्यापारी मित्र बद्रीनाथ यात्रा पर जाते थे और मंदिर के नीचे मूत्रालय से आती दुर्गंध का ब्यौरा देते नहीं भूलते थे। 
-
 गंध व गंध निर्माण माध्यम का घाल माल
भारत गंध पर्यटन में विकसित है।  उत्तराखंड में भी गंध पर्यटन विकसित है व उत्तराखंड राज्य ने ऐरोमा पर्यटन को गंभीरता से लिया है।  किन्तु गंध पर्यटन व पुष्प पर्यटन में घालमेल है।  यूरोप में फ़्रांस इत्र /परफ्यूम फैक्ट्रियों के दर्शन को गंध पर्यटन मानता है तो उत्तराखंड बुग्याळों , बगीचों व सुगंध बिखेरने वाले पेड़ पौधों की यात्रा को ऐरोमा टूरिज्म कहता है।  बुल्गारिया गुलाब विक्री को दृश्य व गंध पर्यटन नाम देता है।  बुल्गारिया में गुलाब के बगीचा भ्रमण व गुलाब जल विक्री /खरीदी वास्तव में दृश्य व गंध पर्यटन का मिश्रित रूप है। किन्तु परफ्यूम फैक्ट्री टूर केवल गंध टूर है। 
-
         गंध पर्यटन व गंध चिकित्सा पर्यटन एक दूसरे  के पूरक भी हैं
देखा जाय तो गंध पर्यटन वास्तव में सुगंध चिकित्सा को प्रभावित करता है और इन्हे अलग करना काफी कठिन है।
गंध पर्यटन व गंध चिकित्सा पर्यटन दोनों बड़ी तेजी से विकसित हो रहे हैं और उन्नति के पथ पर हैं।
   फूलों की घाटी टूर पुष्प (दृश्य), गंध टूर है किंतु ठंठोली (मल्ला ढांगू ) में  किसी  जुकाम ग्रसित  पर्यटक द्वारा भुने भट्ट , भुने टांटी का भाप लेना वास्तव में गंध चिकित्सा पर्यटन होगा।  जुकाम या नया रोग में बहुत बार वैद्य या पारम्परिक चिकिस्तक किसी पत्ती , जड़ का रस या गंध नाक में चुआता है तो वह गंध या रस चिकित्सा कहलाया जाएगा।  जब यदि कोई प्रवासी ऊमी (कच्चे गेंहू का भूनना ) बुकाने गाँव जाय तो वह भोजन या गंध पर्यटन कहलाया जायेगा किन्तु वही प्रवासी जब  भट्ट , टांटी आदि बीज भाप लेने गाँव जाय तो व गंध चिकित्सा पर्यटन कहलाया जायेगा।  नागपुर में कोई पर्यटक संतरे लेने जाय तो वह फल टूरिज्म हुआ किन्तु जब संतरे के तेल /गंध से रोग निदान हेतु जाय  तो व गंध चिकित्सा पर्यटन कहलाया जायेगा।

होटलों , दुकानों /मॉल्स में  सुगंधित सुगंध छोड़ी जाती   है यह व्यापर का अंग है जिसमे सुगंध ग्राहकों के भावनाओं से लाभ उठाने हेतु किया जाता है।
प्राकृतिक चिकित्सा में कई जड़ी बूटियों का भाप दिया जाता है यह गंध चिकित्सा प्राकृतिक चिकित्सा पर्यटन का अभिन्न अंग है। 
भनग बीजों को ग्राम कर भाप लेना भी गंध चिकित्सा है और यदि प्रोटान होता है तो ऐसे पर्यटन को गंध चिकित्सा पर्यटन नाम दिया जाता है।
 भूत भगाने मिर्च को जलाकर रोगी को धुंवा सुंघवाना भी गंध चिकित्सा है इसी तरह कई तरह के धुंवा सुंघवाना भी गंध चिकित्सा के प्रकार हैं । 
 
Copyright @Bhishma Kukreti, bjkukreti@gmail .com

Aromatherapy Development for Medical Tourism development in Garhwal , Uttarakhand ;  Aromatherapy Development for Medical Tourism development in Chamoli Garhwal , Uttarakhand;   Aromatherapy Development for Medical Tourism development in  Rudraprayag Garhwal , Uttarakhand;  Aromatherapy Development for Medical Tourism development in   Pauri Garhwal , Uttarakhand;  Aromatherapy Development for Medical Tourism development in   Tehri Garhwal , Uttarakhand;  Aromatherapy Development for Medical Tourism development in  Uttarkashi  Garhwal , Uttarakhand;  Aromatherapy Development for Medical Tourism development in   Dehradun Garhwal , Uttarakhand;  Aromatherapy Development for Medical Tourism development in    Haridwar Garhwal , Uttarakhand;  Aromatherapy Development for Medical Tourism development in  Pithoragarh  Kumaon , Uttarakhand;  Aromatherapy Development for Medical Tourism development in Champawat    Kumaon , Uttarakhand;  Aromatherapy Development for Medical Tourism development in   Almora Kumaon , Uttarakhand;  Aromatherapy Development for Medical Tourism development in Nainital   Kumaon , Uttarakhand;  Aromatherapy Development for Medical Tourism development in  Udham Singh Nagar  Kumaon , Uttarakhand;

पौड़ी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ऐरोमाथिरैपी विकास ; उधम सिंह नगर कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ऐरोमाथिरैपी विकास ;  चमोली गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ऐरोमाथिरैपी विकास  ; नैनीताल कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ऐरोमाथिरैपी विकास ;  रुद्रप्रयाग गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ऐरोमाथिरैपी विकास ; अल्मोड़ा कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ऐरोमाथिरैपी विकास  ; टिहरी   गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ऐरोमाथिरैपी विकास ; चम्पावत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ऐरोमाथिरैपी विकास ;  उत्तरकाशी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ऐरोमाथिरैपी विकास ; पिथौरागढ़ कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास;  देहरादून गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ऐरोमाथिरैपी विकास ; रानीखेत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास; हरिद्वार  गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ऐरोमाथिरैपी विकास ; डीडीहाट  कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ऐरोमाथिरैपी विकास ;   नैनीताल  कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ऐरोमाथिरैपी विकास :

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,786
  • Karma: +22/-1
सुगंध चिकित्सा के  लाभ

Benefits of Aromatherapy


चिकित्सा पर्यटन विकास हेतु गंध चिकित्सा विकास -2
Aromatherapy for Medical Tourism Development -2


उत्तराखंड में चिकत्सा पर्यटन  रणनीति - 255

Medical Tourism development Strategies -255

उत्तराखंड पर्यटन प्रबंधन परिकल्पना - 376

Uttarakhand Tourism and Hospitality Management -376

 

आलेख -      विपणन आचार्य   भीष्म कुकरेती

-
सुगंध अथवा गंध चिकित्सा एक वैकल्पिक चिकित्सा है जिसमे व्यापार में दिन प्रतिदिन विकास हो रहा है और बज़ार भविष्यवक्ताओं की भविष्यवाणी है कि 2025 तक यह व्यापर दुगना हो जायेगा।
  गंध चिकित्सा से निम्न मुख्य लाभ हैं जो पर्यटनगामी हैं -
१- तनाव दूर करने में सहायक - सुगंध में वनस्पति टेल मुख्य कारक है और कई वनस्पति टेल तनाव दूर करने में सफल होते हैं।
२- विषाद , उदासी निवारण  - बहुत से तैल  सुगंध उर्जाकारक होते हैं जो दबाब , विषाद व उदासी दूर करने में लाभकारी होते हैं।
३- कई तैल या सुगंध स्मरण शक्ति वृद्धिकारक हैं और बुढ़ापे में लाभकारी होते हैं डिमेंटिया या अल्जिमेर जैसी बीमारियों को भगाने में कामगार सिद्ध होते हैं।  विद्यार्थियों हेतु भी लाभकारी होते हैं।
४- यौवन भावना जागरण या यौवन अनुभव हेतु गंध शरीर में उत्तेजना या ऊर्जा भरने में  कामयाब नुस्खा है। इसीलिए इत्र तेल फुलेल की इतनी बिक्री होती है 
५- कई तेल व तेल सुगंध घाव भरने व घाव छाप भरने में लाभकारी हैं।
६-सरदर्द व अधकपाळी दूर करने में तेल प्रयोग होते हैं।
७-निद्रा नियंत्रण - कई तेल निद्रा नियंत्रण में लाभकारी होते हैं।
८-कई तेल शरीर की प्रतिरोधक शक्ति वृद्धिकारक हैं
९- कई प्रकार के दर्द भगाने में सहायक
१०- भारतीय आयुर्वेद अनुसार कई तेल या सुगंध पाचन शक्ति वृद्धिकारक होते हैं इसीलिए भारत में प्राचीन काल से ही मसालों के उपयोग पर बल दिया गया है।


Copyright @Bhishma Kukreti, bjkukreti@gmail .com

Benefits of Aromatherapy, Medical Tourism development in Garhwal , Uttarakhand ;  Benefits of Aromatherapy, Medical Tourism development in Chamoli Garhwal , Uttarakhand;   Benefits of Aromatherapy, Medical Tourism development in  Rudraprayag Garhwal , Uttarakhand;  Benefits of Aromatherapy, Medical Tourism development in   Pauri Garhwal , Uttarakhand;  Benefits of Aromatherapy, Medical Tourism development in   Tehri Garhwal , Uttarakhand;  Benefits of Aromatherapy, Medical Tourism development in  Uttarkashi  Garhwal , Uttarakhand;  Benefits of Aromatherapy, Medical Tourism development in   Dehradun Garhwal , Uttarakhand;  Benefits of Aromatherapy, Medical Tourism development in    Haridwar Garhwal , Uttarakhand;  Benefits of Aromatherapy, Medical Tourism development in  Pithoragarh  Kumaon , Uttarakhand;  Benefits of Aromatherapy, Medical Tourism development in Champawat    Kumaon , Uttarakhand;  Benefits of Aromatherapy, Medical Tourism development in   Almora Kumaon , Uttarakhand;  Benefits of Aromatherapy, Medical Tourism development in Nainital   Kumaon , Uttarakhand;  Benefits of Aromatherapy, Medical Tourism development in  Udham Singh Nagar  Kumaon , Uttarakhand;

पौड़ी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास और सुगंध चिकित्सा से लाभ  ; उधम सिंह नगर कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास और सुगंध चिकित्सा से लाभ  ;  चमोली गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास और सुगंध चिकित्सा से लाभ   ; नैनीताल कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास और सुगंध चिकित्सा से लाभ  ;  रुद्रप्रयाग गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास और सुगंध चिकित्सा से लाभ  ; अल्मोड़ा कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास और सुगंध चिकित्सा से लाभ   ; टिहरी   गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास और सुगंध चिकित्सा से लाभ  ; चम्पावत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास और सुगंध चिकित्सा से लाभ  ;  उत्तरकाशी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास और सुगंध चिकित्सा से लाभ  ; पिथौरागढ़ कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास और सुगंध चिकित्सा से लाभ ;  देहरादून गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास और सुगंध चिकित्सा से लाभ  ; रानीखेत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास और सुगंध चिकित्सा से लाभ ; हरिद्वार  गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास और सुगंध चिकित्सा से लाभ  ; डीडीहाट  कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास और सुगंध चिकित्सा से लाभ  ;   नैनीताल  कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास और सुगंध चिकित्सा से लाभ  :

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,786
  • Karma: +22/-1


सुगंध चिकित्सा बाजार का उज्वल भविष्य   ! 
Bright Future of Aromatherapy Market

चिकित्सा पर्यटन विकास हेतु गंध चिकित्सा विकास -3
Aromatherapy for Medical Tourism Development -3


उत्तराखंड में चिकत्सा पर्यटन  रणनीति - 256

Medical Tourism development Strategies -256 

उत्तराखंड पर्यटन प्रबंधन परिकल्पना - 377

Uttarakhand Tourism and Hospitality Management -377 

 

आलेख -      विपणन आचार्य   भीष्म कुकरेती

-
 अरोमाथैरेपी से चिकित्सा लाभ जन जाग्रति के कारण सुगंध चिकित्सा बाजार दिन प्रतिदिन प्रगति कर रहा है साथ साथ में ऐरोमाथिरैपी में प्रयोग होने वाले उपकरणों का बजार भी प्रगति पथ पर है।
 पी ऐंड ऐस रिसर्च संस्थान की एक रिपोर्ट अनुसार जागतिक ऐरोमाथिरैपी बाजार सन 2017 में US$ 1. 7 बिलियन्स का था और ग्रैंड व्यू रिसर्च कम्पनी अनुसार यह मार्किट  बढ़कर 2025 में US $ 2 . 35 बिलियन्स तक पंहुच जायेगा।
सुगंध चिकित्सा प्रगति के मुख्य चालक या कारण -
उपभोक्ताओं की आय वृद्धि व विभिन्न माध्यमों के प्रवेश से प्राकृतिक चिकित्सा प्रति जन जागरण
2016 में प्राकृतिक चिकित्सा के प्रति जान जागरण के कारण सुगंध चिकित्सा में संतुलित नहीं अच्छी प्रगति हुयी
इसी तरह सुगंध  चिकित्सा उपकरण बिक्री में भी अच्छी खासी प्रगति हुयी
तनाव व दबाब दूर करने हेतु  प्राकृतिक तैल चिकित्सा की भागीदारी सबसे अधिक रही और भविष्य में भी तनाव दूर करने , आराम प्राप्ति हेतु प्राकृतिक तैल /सुगंध का उपयोग बढ़ेगा।
त्वचा (क्रीम्स आदि ) व केश  सुरक्षा हेतु भी तैल या सुगंध चिकित्सा वृद्धि कारक है और भविष्य उज्वल है।
बाल /चिल्ड्रन चिकित्सा व गर्भवती महिला चिकित्सा में प्राकृतिक चिकित्सा वृद्धि भी तैल चिकित्सा वृद्धि कारक है
इसी तरह सामन्य स्पा या आयुर्वेद स्पाओँ में प्राकृतिक तैल से मालिश के महत्व ने ऐरोमाथिरैपी बजार बढ़ाया
प्रत्येक भौगोलिक क्षेत्र में बाबा रामदेव जैसे विपणनकर्ताओं के बजार में आने से भी ऐरोमाथिरैपी को बल मिला है। जब कोलगेट सरीखे आयुर्वेद व परम्परा विरोधी ब्रैंड को हर्बल टूथ पेस्ट में उतरना पड़े तो समझ लीजिये प्राकृतिक चिकित्सा में क्रान्ति आने के अवसर बढ़ गए हैं। 
आयुर्वेद औषधि उपयोग वृद्धि - बहुत सी औषधियों में तैल अवयव होने के कारण भी बजार बढ़ा है।
प्राकृतिक केश तैल उपयोग में रचनाधर्मिता के आने से भी प्राकृतिक केश तैल बजार बढ़ा है
भारत जैसे देश में मसलों में तैल उपयोग वृद्धि भी एक कारण है क्योंकि भारत उप महाद्वीप में मसालों की छवि  औषधि रूप में प्राचीन काल से ही है यह छवि अन्य क्षेत्रों में भी फ़ैल रही है।



Copyright @Bhishma Kukreti, bjkukreti@gmail .com

Future Trends of Aromatherapy for Medical Tourism development in Garhwal , Uttarakhand ;  Future Trends of Aromatherapy for Medical Tourism development in Chamoli Garhwal , Uttarakhand;   Future Trends of Aromatherapy for Medical Tourism development in  Rudraprayag Garhwal , Uttarakhand;  Future Trends of Aromatherapy for Medical Tourism development in   Pauri Garhwal , Uttarakhand;  Future Trends of Aromatherapy for Medical Tourism development in   Tehri Garhwal , Uttarakhand;  Future Trends of Aromatherapy for Medical Tourism development in  Uttarkashi  Garhwal , Uttarakhand;  Future Trends of Aromatherapy for Medical Tourism development in   Dehradun Garhwal , Uttarakhand;  Future Trends of Aromatherapy for Medical Tourism development in    Haridwar Garhwal , Uttarakhand;  Future Trends of Aromatherapy for Medical Tourism development in  Pithoragarh  Kumaon , Uttarakhand;  Future Trends of Aromatherapy for Medical Tourism development in Champawat    Kumaon , Uttarakhand;  Future Trends of Aromatherapy for Medical Tourism development in   Almora Kumaon , Uttarakhand;  Future Trends of Aromatherapy for Medical Tourism development in Nainital   Kumaon , Uttarakhand;  Future Trends of Aromatherapy for Medical Tourism development in  Udham Singh Nagar  Kumaon , Uttarakhand;

पौड़ी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु  ऐरोमाथिरैपी बाजार भविष्य ; उधम सिंह नगर कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु  ऐरोमाथिरैपी बाजार भविष्य ;  चमोली गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु  ऐरोमाथिरैपी बाजार भविष्य  ; नैनीताल कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु  ऐरोमाथिरैपी बाजार भविष्य ;  रुद्रप्रयाग गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु  ऐरोमाथिरैपी बाजार भविष्य ; अल्मोड़ा कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु  ऐरोमाथिरैपी बाजार भविष्य  ; टिहरी   गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु  ऐरोमाथिरैपी बाजार भविष्य ; चम्पावत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु  ऐरोमाथिरैपी बाजार भविष्य ;  उत्तरकाशी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु  ऐरोमाथिरैपी बाजार भविष्य ; पिथौरागढ़ कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास;  देहरादून गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु  ऐरोमाथिरैपी बाजार भविष्य ; रानीखेत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास; हरिद्वार  गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु  ऐरोमाथिरैपी बाजार भविष्य ; डीडीहाट  कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु  ऐरोमाथिरैपी बाजार भविष्य ;   नैनीताल  कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु  ऐरोमाथिरैपी बाजार भविष्य :

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,786
  • Karma: +22/-1
गंध चिकित्सा की मुख्य विधियां

Methods for Aromatherapy Application
चिकित्सा पर्यटन विकास हेतु गंध चिकित्सा विकास -4
Aromatherapy for Medical Tourism Development -4


उत्तराखंड में चिकत्सा पर्यटन  रणनीति - 257

Medical Tourism development Strategies -257 

उत्तराखंड पर्यटन प्रबंधन परिकल्पना - 378

Uttarakhand Tourism and Hospitality Management -378 

 

आलेख -      विपणन आचार्य   भीष्म कुकरेती

-
गंध चिकित्सा की मुख्य निम्न विधियां हैं -
        इत्र
तेल को या तो अल्कोहोल , पानी में मिलाकर या कमरे में फैलाकर प्रयोग होता है या कपड़ों में लगाकर
  रुमाल या टिस्यू पेपर
तेल को रुमाल या टिस्यू परपर पर लगाकर
भाप
तेल या गंध उत्पादन करने वाले वस्तु को गरम  पानी या गरम कोयले में रखा जाता है जैसे भट्ट , बसिंगा बीज आदि
तेल मालिस
तेल व अन्य औषधि से मालिस करना
 जलयुक्त गंध चिकित्सा विधियां
जल में तेल मिलाकर स्नान
जल स्रोत्र में तेल मिलाकर स्नान
तेलयुक्त जल में हस्त स्नान /सिकाई
तेलयुक्त जल में पद स्नान /सिकाई
 कमरा  माध्यम में
कोठरी में तेल या तेल अवयव बीज , जड़, पत्ती, डंठल , तना     आदि धुंआ ,दिवळ छिल जलाकर। मछरों को भगाने हेतु कड़ी पत्ता या डैन्कण , नीम पत्ती  जलाकर धुंवा , गुपळ -उपले जलाकर कीड़े या , शाहू /सौलू , बाग़ , सांप , चूहे भगाना भी गंध चिकित्सा ही है
हवन विधि द्वारा
अगरबत्ती , धूपबत्ती जैसे जलाकर
स्प्रे मारकर
मोमबत्ती या दिए के तेल में गंध अवयव रखकर
बल्ब में तेल लगाकर
फैन के ऊपर तेलयुक्त रुमाल  रखकर
रेडियेटर , कूलर व एयर कंडीशनर  फ़टका मार कर गंध प्रसार
 



Copyright @Bhishma Kukreti, bjkukreti@gmail .com

Methods for Aromatherapy, Medical Tourism development in Garhwal , Uttarakhand ;  Methods for Aromatherapy, Medical Tourism development in Chamoli Garhwal , Uttarakhand;   Methods for Aromatherapy, Medical Tourism development in  Rudraprayag Garhwal , Uttarakhand;  Methods for Aromatherapy, Medical Tourism development in   Pauri Garhwal , Uttarakhand;  Methods for Aromatherapy, Medical Tourism development in   Tehri Garhwal , Uttarakhand;  Methods for Aromatherapy, Medical Tourism development in  Uttarkashi  Garhwal , Uttarakhand;  Methods for Aromatherapy, Medical Tourism development in   Dehradun Garhwal , Uttarakhand;  Methods for Aromatherapy, Medical Tourism development in    Haridwar Garhwal , Uttarakhand;  Methods for Aromatherapy, Medical Tourism development in  Pithoragarh  Kumaon , Uttarakhand;  Methods for Aromatherapy, Medical Tourism development in Champawat    Kumaon , Uttarakhand;  Methods for Aromatherapy, Medical Tourism development in   Almora Kumaon , Uttarakhand;  Methods for Aromatherapy, Medical Tourism development in Nainital   Kumaon , Uttarakhand;  Methods for Aromatherapy, Medical Tourism development in  Udham Singh Nagar  Kumaon , Uttarakhand;

पौड़ी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास ; उधम सिंह नगर कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास ;  चमोली गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास  ; नैनीताल कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास ;  रुद्रप्रयाग गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास ; अल्मोड़ा कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास  ; टिहरी   गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास ; चम्पावत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास ;  उत्तरकाशी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास ; पिथौरागढ़ कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास;  देहरादून गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास ; रानीखेत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास; हरिद्वार  गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास ; डीडीहाट  कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास ;   नैनीताल  कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास :

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,786
  • Karma: +22/-1
100 नवोन्मेष (Innovations )जिन्होंने पर्यटन की शक्ल व आकार बदला   

100 Innovations those Changed the Shape and Size of Tourism

चिकित्सा पर्यटन विकास हेतु गंध चिकित्सा विकास -5
Aromatherapy for Medical Tourism Development -5


उत्तराखंड में चिकत्सा पर्यटन  रणनीति - 258

Medical Tourism development Strategies -258 

उत्तराखंड पर्यटन प्रबंधन परिकल्पना - 379

Uttarakhand Tourism and Hospitality Management -379 

 

आलेख -      विपणन आचार्य   भीष्म कुकरेती

-
साउथ डेनमार्क यूनिवर्सिटी के Anne -Mette Hjalager ने फंडामेंटल्स ऑफ़ टूरिज्म रिसर्च के 2015 के एक अंक में 100 नव अनशनों का ब्यौरा दिया जिन्होंने टूरिज्म की शक्ल व आकार ही बदल डाला।  वास्तव में ये इन्नोवेशन टूरिज्म विकास के लिए नहीं हुए थे किन्तु टूरिज्म उद्यम ने इन्हे आत्मसात कर टूरिज्म उद्यम में भरी परिवर्तन किये।  इन इनोवेशन्स का ब्यौरा इस प्रकार हाउ और आज भी टूरिज्म विकास हेतु कामयाब कारक हैं-

संख्या --इन्नोवेशन   -----सन -------टिप्पणी 
१- --पासपोर्ट  ------------१४१४
२- टैक्सी कैब ------------------१६४०
३- बैरोमीटर ----१६४३
४- म्यूजियम -----१६८३
५- थर्मामीटर  --१७१४
६- ट्रैवलर्स चेक १७७२
७- बैटरी १८००
८-लाइफ बेल्ट १८०४
९- आसन  लाइनर १८१८
१० - कुनीन १८२० कुनीन ने उत्तराखंड यात्रा व व्यापर में क्रान्ति ला दी थी
११- बस -१८२०
१२ -रेलवे -१८२५
१३- नेशनल पार्क १८३२
१४ -स्लीपिंग कार १८३७
१५- इंडुअर स्वीमिंग पूल १८३७
१६-साइकल १८३९ 
१७-टेलीग्राफ -1844
१८- नेशनल वेदर सर्विस -१८४७
१९- स्कीइंग तकनीक १८५०
२० -एलिवेटर -१८५४
२१- लगेज -१८५४
२२- ट्रैवल इन्सुरेंस -१८५४
२३-मेडिकल इमरजेंसी सर्विस -१८६५
२४- सुएज कैनाल -१९६९
२५- गली में बिजली - १८७३
२६- ऑटोमोबाइल्स -१८७५
२७- टेलीफोन -१८७७
२८- रेस्टॉरेंट कार १८८०
२९- ग्लास फाइबर -१८९३
३० डिस्काउंट कूपन्स -१८९५
३१- एस्कलेटर्स -१८९६
३२ जिपलीन -१९००
३३- मिसाइल गाइड -१९००
३४- ग्लाइडिंग -१९००
३५- एयर कंडीशनर -१९०२
३६-कारवां -१९०७
३७- पैसेंजर एयर क्राफ्ट्स -१९१४
३८-स्नो मोबाइल -१९१४
३९- इंस्टांट फ़ूड -१९१६
४०-एयर ट्रैफिक असोसिएसन -१९१९
४१- हाइवे -१९२२
४२ सनग्लासेज -१९२९
४३ एयर होस्टेस -१९३०
४४- पेड हॉलीडेज १९३६
४५- शॉपिंग कार्ट १९३६
४६- क्रेडिट कार्ड -१९९३८
४७- एयर बेड १९४०
४८ -सनस्क्रीन -१९४४
४९- विउआक /टेम्पोरेरी कैम्प कपड़ा
५०- कम्प्यूटर रिजर्वेसन -१९४६
५१- माइक्रोओवन - १९४७
५२- इलेक्ट्रिक साउना  स्टोव -१९५०
५३- मिनी बस -१९५०
५४ -इम्यूनाइजेशन प्रोग्रैम १९५०
५५- स्नो कैनन -१९५०
५६- बैक  पैक १९५१
५७- कैटल ग्रिल १९५२
५८- सोलर सेल -१९५४
५९- शॉपिंग मॉल १९५६
६० कार्बन फायबर -१९५८
६१ -०- ऑरोमेटिक ट्यलर मशीन -१९५९
६२-ऑटोमेटिक डुअर १९६०
६३- फेमिली डॉम टेंट -१९६०
६४-ड्राई  स्की सलोप १९६०
६५ -रिक्रिसिएसनल ड्रग्स -१९६०
६६- इंस्टेंट पॉकेट कैमरा -१९६३
६७-इनफ्लैटेबल लाइफ राफ्ट १९६३
६८- स्नो बोर्डिंग १९६५
६९-बारकोड -१९६६
७० पूल क्लीनिंग रोबोट -१९६७
७१- कम्प्यूटर टैबलेट -१९६८
७२ सेंत तक्नोलोजी -१९७०
७३ -ल्वॉयलटी प्रोग्रैम -१९७२
७४ -लोनली प्लैनेट -१९७२
७५-रेडिओ फ्रीक्वेंसी िडेंटिफिकेसन -१९७३
७६-सॉस वाइड -१९७४
७७- मिनी बार -१९७४
७८- गोरे  टेक्स -१९७६
७९- एयर लाइन डिरेगुलेशन -१९७८
८०- कैम  कोर्डर -१९८३
८१- मोबाइल फोन १९८३
८२ -रॉलिंग लगेज -१९८७
८३-WWW -१९८९
८४-उपभोक्ता सुरक्षा -१९९०
८५- ऑनलाइन मैप्स -१९९३
८६-ई -टिकटिंग -१९९४
८७-QR कोड १९९४
८८ -सीजन अग्रीमेंट १९९५
८९- सोशल मीडिया १९९७
९० ब्लॉगिंग १९९७
९१- वियाग्रा -१९९८
९२- यूरो -१९९९
९३-औगमेंटेड रियलिटी -१९९९
९४-जीपीएस -२०००
९५-जेनिटिक्ली मोडिफाइड गोल्फ क्लब -२००३
९६-माइक्रो ब्लॉगिंग २००६
९७- बॉडी स्कैनिंग २००७
९८- आर्टिफीसियल वेदर २००८
९९- अवतार -२०१२
१०० -इंटरनेट में बहुत से आविष्कार 
१०१ लेजर शो आदि
 Copyright @Bhishma Kukreti, bjkukreti@gmail .com

100 Innovations Transformed Tourism , Medical  Tourism development in Garhwal , Uttarakhand ;  100 Innovations Transformed Tourism , Medical  Tourism development in Chamoli Garhwal , Uttarakhand;   100 Innovations Transformed Tourism , Medical  Tourism development in  Rudraprayag Garhwal , Uttarakhand;  100 Innovations Transformed Tourism , Medical  Tourism development in   Pauri Garhwal , Uttarakhand;  100 Innovations Transformed Tourism , Medical  Tourism development in   Tehri Garhwal , Uttarakhand;  100 Innovations Transformed Tourism , Medical  Tourism development in  Uttarkashi  Garhwal , Uttarakhand;  100 Innovations Transformed Tourism , Medical  Tourism development in   Dehradun Garhwal , Uttarakhand;  100 Innovations Transformed Tourism , Medical  Tourism development in    Haridwar Garhwal , Uttarakhand;  100 Innovations Transformed Tourism , Medical  Tourism development in  Pithoragarh  Kumaon , Uttarakhand;  100 Innovations Transformed Tourism , Medical  Tourism development in Champawat    Kumaon , Uttarakhand;  100 Innovations Transformed Tourism , Medical  Tourism development in   Almora Kumaon , Uttarakhand;  100 Innovations Transformed Tourism , Medical  Tourism development in Nainital   Kumaon , Uttarakhand;  100 Innovations Transformed Tourism , Medical  Tourism development in  Udham Singh Nagar  Kumaon , Uttarakhand;

पौड़ी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु इन्नोवेशन और इन्नोवेशन का प्रयोग ; उधम सिंह नगर कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु इन्नोवेशन और इन्नोवेशन का प्रयोग ;  चमोली गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु इन्नोवेशन और इन्नोवेशन का प्रयोग  ; नैनीताल कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु इन्नोवेशन और इन्नोवेशन का प्रयोग ;  रुद्रप्रयाग गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु इन्नोवेशन और इन्नोवेशन का प्रयोग ; अल्मोड़ा कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु इन्नोवेशन और इन्नोवेशन का प्रयोग  ; टिहरी   गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु इन्नोवेशन और इन्नोवेशन का प्रयोग ; चम्पावत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु इन्नोवेशन और इन्नोवेशन का प्रयोग ;  उत्तरकाशी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु इन्नोवेशन और इन्नोवेशन का प्रयोग ; पिथौरागढ़ कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास;  देहरादून गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु इन्नोवेशन और इन्नोवेशन का प्रयोग ; रानीखेत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास; हरिद्वार  गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु इन्नोवेशन और इन्नोवेशन का प्रयोग ; डीडीहाट  कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु इन्नोवेशन और इन्नोवेशन का प्रयोग ;   नैनीताल  कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु इन्नोवेशन और इन्नोवेशन का प्रयोग :

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,786
  • Karma: +22/-1
उत्तराखंड राज्य सुगंध पर्यटन प्रति सचेत है

Projects for Aroma Tourism in Uttarakhand
चिकित्सा पर्यटन विकास हेतु गंध चिकित्सा विकास -6
Aromatherapy for Medical Tourism Development -6


उत्तराखंड में चिकत्सा पर्यटन  रणनीति - 259

Medical Tourism development Strategies -259 

उत्तराखंड पर्यटन प्रबंधन परिकल्पना - 380

Uttarakhand Tourism and Hospitality Management -380 

 

आलेख -      विपणन आचार्य   भीष्म कुकरेती

-

     सुगंध पर्यटन प्रकृति पर्यटन या इको टूरिज्म का अभिन्न अंग है।  उत्तराखंड राज्य ने सुगंध पर्यटन के महत्व को समझा और सुगंध पर्यटन विकास हेतु विशेष कदम उठाये हैं जो भविष्य में काफी लाभदायी साबित होंगे।  उत्तराखंड राज्य ने सुगंध पर्यटन को केरल के मसाला पर्यटन जैसे विकास योजनाएं निर्मित की हैं। 

 उत्तराखंड में सुगंध पर्यटन विकास में निम्न कारक महत्वपूर्ण है -

* उत्तराखंड में १७९ विशेष व सुगंध पादप प्रजाति हैं जो सुगंध पर्यटन विकास के लिए अहम् हैं

* दालचीनी पादप विशेष महत्वपूर्ण पादप है

*उत्तराखंड का सुगंध तेल बज़ार में  2002 से 2017 तक 27 % विकास हुआ

* उत्तराखंड में 109 सुगंध स्थल हैं जो पर्यटक  गामी  हैं

* उत्तराखंड में 178 जगह डिस्टलरी हैं जो सुगंधित तेल निथारन करते हैं

*चिकित्सा व सपा हेतु 600 तन तेल उत्पाद होता है और 1800 कृषक इस क्षेत्र में कार्यरत हैं

 उत्तराखंड राज्य ने निम्न चार स्थलों कोसुगंध केंद्रित  ऐरोमा टूरिस्ट स्थल हेतु योजना बनाई हैं-



१- परसाड़ी -चमोली गढ़वाल

२- भुजीघाट नैनीताल

३- गवाड़ी -पौड़ी  गढ़वाल

४- पीड़ा पौड़ी  गढ़वाल

५- बिहारी गढ़ हरिद्वार



  प्राइवेट पब्लिक भागीदारी तर्ज पर उपरोक्त स्थलों को सुगंध पर्यटक स्थल विकसित करने की योजनाएं हैं और निवेशकों हेतु कई इन्सेन्टिव्ज का प्रवधान है।  जैसे होटल, एडवेंचर टूरिज्म सुविधा  व अन्य सुविधाएं जुटाने हेतु इन्सेन्टिव्ज आदि आदि

इसके अतिरिक्त निम्न इंसेटिव्ज भी दिए जा रहे हैं -

१- सुगंधित पादप उत्पादन हेतु 50 % सब्सिडी

२- डिस्टलरीज हेतु पहाड़ों में 75 % व मैदान में 50 % सब्सिडी

३- 50 पादपों व तैलों पर एमएसपी याने मिनिमम स्पोर्ट प्राइस

(राज्य द्वारा इन्वेस्टमेंट मेले हेतु तैयार की गए ब्रौचर  आधार पर )



Copyright @Bhishma Kukreti, bjkukreti@gmail .com



Medical Tourism Development by Aroma Tourism in Garhwal , Uttarakhand ;  Medical Tourism Development by Aroma Tourism in Chamoli Garhwal , Uttarakhand;   Medical Tourism Development by Aroma Tourism in  Rudraprayag Garhwal , Uttarakhand;  Medical Tourism Development by Aroma Tourism in   Pauri Garhwal , Uttarakhand;  Medical Tourism Development by Aroma Tourism in   Tehri Garhwal , Uttarakhand;  Medical Tourism Development by Aroma Tourism in  Uttarkashi  Garhwal , Uttarakhand;  Medical Tourism Development by Aroma Tourism in   Dehradun Garhwal , Uttarakhand;  Medical Tourism Development by Aroma Tourism in    Haridwar Garhwal , Uttarakhand;  Medical Tourism Development by Aroma Tourism in  Pithoragarh  Kumaon , Uttarakhand;  Medical Tourism Development by Aroma Tourism in Champawat    Kumaon , Uttarakhand;  Medical Tourism Development by Aroma Tourism in   Almora Kumaon , Uttarakhand;  Medical Tourism Development by Aroma Tourism in Nainital   Kumaon , Uttarakhand;  Medical Tourism Development by Aroma Tourism in  Udham Singh Nagar  Kumaon , Uttarakhand;




पौड़ी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास में सुगंध पर्यटन का महत्व   ; उधम सिंह नगर कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास में सुगंध पर्यटन का महत्व   ;  चमोली गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास में सुगंध पर्यटन का महत्व    ; नैनीताल कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास में सुगंध पर्यटन का महत्व   ;  रुद्रप्रयाग गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास में सुगंध पर्यटन का महत्व   ; अल्मोड़ा कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास में सुगंध पर्यटन का महत्व    ; टिहरी   गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास में सुगंध पर्यटन का महत्व   ; चम्पावत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास में सुगंध पर्यटन का महत्व   ;  उत्तरकाशी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास में सुगंध पर्यटन का महत्व   ; पिथौरागढ़ कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास में सुगंध पर्यटन का महत्व  ;  देहरादून गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास में सुगंध पर्यटन का महत्व   ; रानीखेत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास में सुगंध पर्यटन का महत्व  ; हरिद्वार  गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास में सुगंध पर्यटन का महत्व   ; डीडीहाट  कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास में सुगंध पर्यटन का महत्व   ;   नैनीताल  कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास में सुगंध पर्यटन का महत्व   :


Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,786
  • Karma: +22/-1
बुल्गारिया गुलाब मेले से  सुगंध पर्यटन विकास 
Bulgarian Rose Festival 
चिकित्सा पर्यटन विकास हेतु गंध चिकित्सा विकास -7
Aromatherapy for Medical Tourism Development -7


उत्तराखंड में चिकत्सा पर्यटन  रणनीति - 260

Medical Tourism development Strategies -260 

उत्तराखंड पर्यटन प्रबंधन परिकल्पना - 381

Uttarakhand Tourism and Hospitality Management -381

 

आलेख -      विपणन आचार्य   भीष्म कुकरेती

-

   बुल्गैरिअ अपनी प्राचीन संस्कृति हेतु ही नहीं अपितु गुलाब तेल हेतु जग प्रसिद्ध है।  बुल्गारिया का सर्वोत्तम तेल उत्पादक गुलाब प्रजाति 'दमास्क रोज ' ने बुल्गारिया की अप्रतिम ख्याति प्रदान की है।  दुनिया भर के अधिकतर देस बुल्गारिया का गुलाब अतर आयात करते हैं। 

   बुल्गारिया में दमास्क रोज या गुलाब कजानलाक घाटी क्षेत्र में सत्तरहवीं सदी से उगाया जाता है।  रोजा दमासिना प्रजाति सीरिया/ ईरान से लाया गया था और कजानलाक घाटी का हो गया है।  कजानलाक घाटी दो बालत्क पर्वत श्रेणियों मध्य घिरे होने से गुलाब शीत  से बच जाते हैं व जून में वर्षा होने से    क्षेत्र को जल मिलता है।  गुलाब हतु यह क्षेत्र सर्वश्रेष्ठ भौगोलिक क्षेत्र है।  बुल्गारिया का गुलाब अतर निर्माण में डबल डिस्टिलेशन विधि  सत्तरहवीं सदी (1680 ) में शुरू हुआ और कजानलाक का गुलाब अतर तब से से ही जग प्रसिद्ध होने लगा था।  इस घाटी में प्रत्येक मवासा /परिवार  गुलाब अतर व्यापार से जुड़ा है गुलाब इस घाटी की जिंदगी है। 

 गुलाब पंखुड़ियों का निकालने का कार्य मध्य मई और जून से शुरू होता है। पंखुड़ियां हाथ से सुबह सुबह 4 बजे से 10 बजे तक ही निकाली जाती हैं व तब डिस्टलरी भेज दी जाती है।  रोज रिसर्च संस्थान पौध प्रबंध करता है। 

  पंखुड़ियां निकालने से पहले जून के प्रथम सप्ताह में इस घाटी में सन 1903 से प्रति वर्ष रोज फेस्टिवल का आयोजन होता है। 

गुलाब मेले में कई पर्यटन आकर्षक कार्य क्रम शामिल होते हैं और सारे कार्यक्रम सारे विश्व के पर्यटकों को बुल्गारिया आने को विवस करते हैं।  अतर व्यापारी तो सत्तरहवीं सदी से ही बुगारिया पर्यटन करते ही रहते हैं। 



गुलाब मेले के कुछ आकर्षण हैं -

गुलाब पंखुड़ी निकालने के पूजा /कर्मकांड कार्यक्रम

गुलाब खेतों का भ्रमण

गुलाब अतर डिस्टलरी भ्रमण

हर गाँव में किसानों का गीत संगीत युक्त प्रोसेसन

लोक संगीत के के कई कार्यक्रम

घाटी के स्थानीय कुटीर उद्यम वस्तुओं की प्रदर्शनी

कला प्रदर्शनियां

वाइन टेस्टिंग प्रदर्शनी

रोज क्वीन  प्रतियोगिता

रोज म्यूजियम दर्शन

5000 वर्ष प्राचीन ऐतिहासिक स्थल दर्शन

स्थानीय सांस्कृतिक व भोजन पर्यटन के कई कार्यक्रम

  बुल्गारिया का रोज फेस्टिवल से बुल्गारिया में पर्यटन को विकसित करने का ही नहीं दुनिया में बुल्गारियाई गुलाब अतर की प्रसिद्धि कायम रखने का सर्वोत्तम माध्यम है। 



गुलाब अन्वेषण पर विचार चर्चा

Copyright @Bhishma Kukreti, bjkukreti@gmail .com



Bulgarian Rose Festival example for Medical Tourism development in Garhwal , Uttarakhand ;  Bulgarian Rose Festival example for Medical Tourism development in Chamoli Garhwal , Uttarakhand;   Bulgarian Rose Festival example for Medical Tourism development in  Rudraprayag Garhwal , Uttarakhand;  Bulgarian Rose Festival example for Medical Tourism development in   Pauri Garhwal , Uttarakhand;  Bulgarian Rose Festival example for Medical Tourism development in   Tehri Garhwal , Uttarakhand;  Bulgarian Rose Festival example for Medical Tourism development in  Uttarkashi  Garhwal , Uttarakhand;  Bulgarian Rose Festival example for Medical Tourism development in   Dehradun Garhwal , Uttarakhand;  Bulgarian Rose Festival example for Medical Tourism development in    Haridwar Garhwal , Uttarakhand;  Bulgarian Rose Festival example for Medical Tourism development in  Pithoragarh  Kumaon , Uttarakhand;  Bulgarian Rose Festival example for Medical Tourism development in Champawat    Kumaon , Uttarakhand;  Bulgarian Rose Festival example for Medical Tourism development in   Almora Kumaon , Uttarakhand;  Bulgarian Rose Festival example for Medical Tourism development in Nainital   Kumaon , Uttarakhand;  Bulgarian Rose Festival example for Medical Tourism development in  Udham Singh Nagar  Kumaon , Uttarakhand;



पौड़ी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु बुल्गारिया का गुलाब मेला उदाहरण ; उधम सिंह नगर कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु बुल्गारिया का गुलाब मेला उदाहरण ;  चमोली गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु बुल्गारिया का गुलाब मेला उदाहरण  ; नैनीताल कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु बुल्गारिया का गुलाब मेला उदाहरण ;  रुद्रप्रयाग गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु बुल्गारिया का गुलाब मेला उदाहरण ; अल्मोड़ा कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु बुल्गारिया का गुलाब मेला उदाहरण  ; टिहरी   गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु बुल्गारिया का गुलाब मेला उदाहरण ; चम्पावत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु बुल्गारिया का गुलाब मेला उदाहरण ;  उत्तरकाशी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु बुल्गारिया का गुलाब मेला उदाहरण ; पिथौरागढ़ कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास;  देहरादून गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु बुल्गारिया का गुलाब मेला उदाहरण ; रानीखेत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास; हरिद्वार  गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु बुल्गारिया का गुलाब मेला उदाहरण ; डीडीहाट  कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु बुल्गारिया का गुलाब मेला उदाहरण ;   नैनीताल  कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु बुल्गारिया का गुलाब मेला उदाहरण :

 

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,786
  • Karma: +22/-1
फ्रांस का ग्रास /ग्रासो : सुगंध पर्यटन का श्रेष्ठ उदाहरण

Grasse: Excellent Example of Aroma Tourism
चिकित्सा पर्यटन विकास हेतु गंध चिकित्सा विकास -8
Aromatherapy for Medical Tourism Development -8


उत्तराखंड में चिकत्सा पर्यटन  रणनीति - 261

Medical Tourism development Strategies -261 

उत्तराखंड पर्यटन प्रबंधन परिकल्पना - 382

Uttarakhand Tourism and Hospitality Management -382

 

आलेख -      विपणन आचार्य   भीष्म कुकरेती

-

 फ़्रांस में ग्रास /ग्रासो  एक सर्वश्रेष्ठ उदाहरण है कि किस तरह एक शहर या क्षेत्र किसी देस को प्रसिद्धि दिला सकता है और उद्यम व पर्यटन कैसे एक दुसरे के पूरक व भागिदार हो सकते हैं। 

  Grasse , ग्रास /ग्रासो फ़्रांस आज दुनिया में सुगंध परफ्यूम राजधानी है।  यहां की जलवायु  सुगंधित पादप उत्पादन  हेतु बहुत लाभकारी  है।  ग्रास अठरावीं सदी से ही परफ्यूम कैपिटल से मशहूर है। ग्रास की पर्फ्यूमरियां  सुगंधित  पदार्थ फैक्ट्रियां सुगंधित पदार्थ निर्यातक ही नहीं अपितु पर्यटनगामी भी हिन्।  दुनिया भर के आयात कर्ता व पर्यटक ग्रास आते हैं।

ग्रास आल्प्स पहाड़ियों मध्य बसा छोटा क्षेत्र है।

 ग्रास की कहानी उद्यम कहानी

ग्रास सोलहवीं सदी में चमड़ा उद्यम हेतु प्रसिद्ध क्षेत्र था।  चमड़ा  कमाई कार्य में दुर्गंध होना लाजमी है तो उद्यमियों ने इस क्षेत्र में सुगंध छोड़ने वाले पौधों को चमड़ा  कमाई के दुर्गंध हटाने हेतु इतर बनाना शुरू किया।  एक ओर चमड़े के कारखाने व साथ साथ क्षेत्रीय पादपों से सुगंधित तेल उत्पादन का उद्यम फलने फूलने लगे।  धीरे धीरे चमड़ा  उद्यम के स्थान पर सुगंध तेल प्रसिद्ध होने लगा और उद्योगपतियों ने चमड़ा उद्योग छोड़  इतर उद्यम अपनाना शुरू किया और अंत में चमड़ा उद्यम बंद ही हो गए।  ग्रास क्षेत्र के फूल विशेष सुगंध देते है जिससे ग्रास का इतर  प्रसिद्ध हो गया ।  अठारवीं सदी से ही ग्रास इतर राजधानी बन गया। धीरे धीरे इतर निर्माताओं ने अन्वेषण से उच्च गुणवत्ता के इतर बनाना शुरू किया जो मंहगा भी था। 

    ग्रास को टूरिस्ट स्थल बनाने की कहानी

1970 में प्रसिद्ध इतर ब्रैंड के संस्थापक यूजीन फ़क्स के नाती कला प्रेमी जीन्स फ्रैंकोइस कोस्टा ने इतर इतिहास संबंधी वस्तुओं का म्यूजियम खोला और बाद में ग्रास के क्राफ्ट्स व सांस्कृतिक पहचान वाली वस्तुओं जैसे साबुन , मोमबत्ती , डैकोरेटिव वस्तु आदि का म्यूजियम खोले।  इससे व्यवसायिक स्तर पर इतर पर्यटन की शुरुवात हुयी।

 जीन्स की अगली पीढ़ी ने भी सांस्कृतिक वस्तु व इतर इतिहास वस्तु प्रदर्शनी को आगे बढ़ाया।  देखादेखी ग्रास क्षेत्र में इस तरह के म्यूजियम /स्टोर्स खुलने लगे।

 फ्रागोनार्ड म्यूजियम

यूजीन परिवार द्वारा स्थापित फ्रागोनार्ड म्यूजियम में इतर का 3000 वर्ष पुराने इतर इतिहास से लेकर आधुनिक इतर निर्माण का इतिहास दिखाया जाता है।  साथ साथ में पर्यटक अपने हिसाब से अपने लिए इतर भी निर्मित कर सकते हैं।

ग्रास का इतिहास भी पर्यटक आकर्षण केंद्र है।

प्रत्येक परफ्यूम फैक्ट्री पर्यटकों को फैक्ट्री दिखाती हैं।

  ग्रास में अंततर्राष्ट्रीय स्तर के होटल , परिहवन सुविधाएँ उपलब्ध हैं

 अगस्त में लगने वाला सुगंध मेला याने परफ्यूम फेस्टिवल भी पर्यटकन मध्य प्रसिद्ध है

 



     





-

Copyright @Bhishma Kukreti, bjkukreti@gmail .com



Grasse : Best example of Aroma Tourism, Medical  Tourism development in Garhwal , Uttarakhand ;  Grasse : Best example of Aroma Tourism, Medical  Tourism development in Chamoli Garhwal , Uttarakhand;   Grasse : Best example of Aroma Tourism, Medical  Tourism development in  Rudraprayag Garhwal , Uttarakhand;  Grasse : Best example of Aroma Tourism, Medical  Tourism development in   Pauri Garhwal , Uttarakhand;  Grasse : Best example of Aroma Tourism, Medical  Tourism development in   Tehri Garhwal , Uttarakhand;  Grasse : Best example of Aroma Tourism, Medical  Tourism development in  Uttarkashi  Garhwal , Uttarakhand;  Grasse : Best example of Aroma Tourism, Medical  Tourism development in   Dehradun Garhwal , Uttarakhand;  Grasse : Best example of Aroma Tourism, Medical  Tourism development in    Haridwar Garhwal , Uttarakhand;  Grasse : Best example of Aroma Tourism, Medical  Tourism development in  Pithoragarh  Kumaon , Uttarakhand;  Grasse : Best example of Aroma Tourism, Medical  Tourism development in Champawat    Kumaon , Uttarakhand;  Grasse : Best example of Aroma Tourism, Medical  Tourism development in   Almora Kumaon , Uttarakhand;  Grasse : Best example of Aroma Tourism, Medical  Tourism development in Nainital   Kumaon , Uttarakhand;  Grasse : Best example of Aroma Tourism, Medical  Tourism development in  Udham Singh Nagar  Kumaon , Uttarakhand;




पौड़ी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ग्रास या ग्रासो का उदाहरण ; उधम सिंह नगर कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ग्रास या ग्रासो का उदाहरण ;  चमोली गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ग्रास या ग्रासो का उदाहरण  ; नैनीताल कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ग्रास या ग्रासो का उदाहरण ;  रुद्रप्रयाग गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ग्रास या ग्रासो का उदाहरण ; अल्मोड़ा कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ग्रास या ग्रासो का उदाहरण  ; टिहरी   गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ग्रास या ग्रासो का उदाहरण ; चम्पावत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ग्रास या ग्रासो का उदाहरण ;  उत्तरकाशी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ग्रास या ग्रासो का उदाहरण ; पिथौरागढ़ कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास;  देहरादून गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ग्रास या ग्रासो का उदाहरण ; रानीखेत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास; हरिद्वार  गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ग्रास या ग्रासो का उदाहरण ; डीडीहाट  कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ग्रास या ग्रासो का उदाहरण ;   नैनीताल  कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु ग्रास या ग्रासो का उदाहरण :

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,786
  • Karma: +22/-1
 सुगंधित औषध पादप उत्पादन हेतु विशेषज्ञों की राय व रणनीति प्रतिपादन

Suggestions by Specialists /  Intellectuals on Aromatic and Medicinal Plants of Uttarakhand

चिकित्सा पर्यटन विकास हेतु गंध चिकित्सा विकास -9
Aromatherapy for Medical Tourism Development -9


उत्तराखंड में चिकत्सा पर्यटन  रणनीति - 262

Medical Tourism development Strategies -262 

उत्तराखंड पर्यटन प्रबंधन परिकल्पना - 383

Uttarakhand Tourism and Hospitality Management -383

 

आलेख -      विपणन आचार्य   भीष्म कुकरेती     

-

उत्तराखंड राज्य विज्ञान व तकनीक परिषद ने विज्ञानं धाम झझरा देहरादून में आठवीं राज्य विज्ञान व तकनीक कॉंग्रेस सेसन में  26 दिसंबर 2013 में विशेषज्ञों  की एक बैठक बुलाई थी जिसमे उत्तराखंड सुगंधित औषधि पादप पर गहन चर्चा हुए।  चर्चा में गढ़वाल विश्वविद्यालय के भूतपूर्व कुलपति डा पुरोहित व अन्य अति विशिष्ठ विशेषज्ञों ने भाग लिया और उस चर्चा का प्रकाशन भी किया (विजय कुमार ढौंडियाल IAS मुख्य समापदक, मंजू सुन्दरियाल सम्पादक  )

निम्न सुझाव इन विशेषज्ञों ने  दिए -

----उत्तराखंड राज्य हेतु सुझाव -

१-अधिक  ध्यान केंद्रित रूप में समग्र /इंटीग्रेटेड रूप से औषधि व सुगंधित पादपं में अन्वेषण हो

२- राज्य सरकार को सुगंधित औषधि पादप अन्वेषण मो प्राथमिकता देने की अति आवश्यकता है

३- औषध पादप उत्पादन में क्वालिटी योजना की भारी आवश्यकता

४- सुगंध औषधि पादप आधारित उद्यमों का त्वरित विकास

५-उन उद्यमों को प्राथमिकता देना जो उन फूलों से उद्यम लगाएं जिन फूलों की अनदेखी की गयी है जैसे बुरांश ,

६- औषधि पादपों हेतु मेगा मार्केट व मैगा केंद्र निर्माण याने अंतर्राष्ट्रीय बज़ार निर्माण करना

७- राज्य में ग्रेडिंग , छंटाई व पैकिंग की व्यवस्था

८- राज्य में क्षेत्रीय लैबोरेट्रीज स्थापना

९- वन व कृषि उत्पाद में सामजस्य , राज्य वन व पंचायत वनों में औषध उत्पादन की व्यवस्था

१०- जागरण कार्यक्रम

११- आयुर्वेद औषधि में क्लिनिकल स्टैंडर्डाइजेशन की पराम् आवश्यकता

१२- कम खपत या निम्न श्रेणी पादपों को महत्व देना

१३- औषध पापड़ उत्पादन को पर्यटन उद्यम के साथ जोड़ना -

-हाई  ऐल्टीच्यूड हर्बल गार्डन निर्माण

-पर्यटक स्थलों में औषधि पादपों की प्रदर्शनियां

-औषधि पादप टूर विकास

(UPCOST की aromatic -plants वेब साइट से साभार (बिना आज्ञा के )









Copyright @Bhishma Kukreti, bjkukreti@gmail .com



Strategies for Aromatic Medicinal  Plants for  Medical Tourism development in Garhwal , Uttarakhand ;  Strategies for Aromatic Medicinal  Plants for  Medical Tourism development in Chamoli Garhwal , Uttarakhand;   Strategies for Aromatic Medicinal  Plants for  Medical Tourism development in  Rudraprayag Garhwal , Uttarakhand;  Strategies for Aromatic Medicinal  Plants for  Medical Tourism development in   Pauri Garhwal , Uttarakhand;  Strategies for Aromatic Medicinal  Plants for  Medical Tourism development in   Tehri Garhwal , Uttarakhand;  Strategies for Aromatic Medicinal  Plants for  Medical Tourism development in  Uttarkashi  Garhwal , Uttarakhand;  Strategies for Aromatic Medicinal  Plants for  Medical Tourism development in   Dehradun Garhwal , Uttarakhand;  Strategies for Aromatic Medicinal  Plants for  Medical Tourism development in    Haridwar Garhwal , Uttarakhand;  Strategies for Aromatic Medicinal  Plants for  Medical Tourism development in  Pithoragarh  Kumaon , Uttarakhand;  Strategies for Aromatic Medicinal  Plants for  Medical Tourism development in Champawat    Kumaon , Uttarakhand;  Strategies for Aromatic Medicinal  Plants for  Medical Tourism development in   Almora Kumaon , Uttarakhand;  Strategies for Aromatic Medicinal  Plants for  Medical Tourism development in Nainital   Kumaon , Uttarakhand;  Strategies for Aromatic Medicinal  Plants for  Medical Tourism development in  Udham Singh Nagar  Kumaon , Uttarakhand;



पौड़ी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु विशेषज्ञों की राय ; उधम सिंह नगर कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु विशेषज्ञों की राय ;  चमोली गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु विशेषज्ञों की राय  ; नैनीताल कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु विशेषज्ञों की राय ;  रुद्रप्रयाग गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु विशेषज्ञों की राय ; अल्मोड़ा कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु विशेषज्ञों की राय  ; टिहरी   गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु विशेषज्ञों की राय ; चम्पावत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु विशेषज्ञों की राय ;  उत्तरकाशी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु विशेषज्ञों की राय ; पिथौरागढ़ कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास;  देहरादून गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु विशेषज्ञों की राय ; रानीखेत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास; हरिद्वार  गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु विशेषज्ञों की राय ; डीडीहाट  कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु विशेषज्ञों की राय ;   नैनीताल  कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु विशेषज्ञों की राय :


Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,786
  • Karma: +22/-1
सुगंध चिकित्सा पर्यटन विकास में प्रवासियों की व चकबंदी की  अहम भूमिका

Participation Migrated Uttarakhandis and Chakbandi are  must for Aromatherapy Tourism development
चिकित्सा पर्यटन विकास हेतु गंध चिकित्सा विकास -10
Aromatherapy for Medical Tourism Development -10


उत्तराखंड में चिकत्सा पर्यटन  रणनीति - 263

Medical Tourism development Strategies -263 

उत्तराखंड पर्यटन प्रबंधन परिकल्पना - 384

Uttarakhand Tourism and Hospitality Management -384

 

आलेख -      विपणन आचार्य   भीष्म कुकरेती     

 

-

   सुगंध चिकित्सा पर्यटन विकास हेतु सुगंधित औषध पादप उत्पादन आवश्यक है।  90 % भूमि प्रवासियों की मिलकियत है अतः यदि सुगंधित औषध पादप की कृषि करनी है तो प्रवासियों की भागीदारी आवश्यक है।  यह भी एक कटु सत्य है कि अब प्रवासियों का  घर  बौड़ाइ मुश्किल ही है।  एकमात्र विकल्प है कि सुगंधित औषधि पादप या औषधि पादपों की कृषि हेतु प्रवासी अपनी भूमि अधा -त्याड़ में खेती करने दें (कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग )
कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग हेतु भी बांज पड़े खेतों को सुधारना कठिन हो चला है तो यह तभी संभव है जब कॉन्ट्रैक्टर को बड़े प्लॉट भूमि कृषि हेतु उपलब्ध हो।  यह भी तभी संभव है जब पहाड़ों में चकबंदी हो।
 बिना प्रवासियों की भागीदारी व चकबंदी के औषध पादप कृषि का सपना भी नहीं देखा जा सकता और उसके लिए चकबंदी ही एकमात्र विकल्प है। 
चकबंदी व कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग  अध्यायों में गहन चर्चा हो चुकी है। 


Copyright @Bhishma Kukreti, bjkukreti@gmail .com



Participations of Migrated Uttarakhandis , Medical Tourism development in Garhwal , Uttarakhand ;  Participations of Migrated Uttarakhandis , Medical Tourism development in Chamoli Garhwal , Uttarakhand;   Participations of Migrated Uttarakhandis , Medical Tourism development in  Rudraprayag Garhwal , Uttarakhand;  Participations of Migrated Uttarakhandis , Medical Tourism development in   Pauri Garhwal , Uttarakhand;  Participations of Migrated Uttarakhandis , Medical Tourism development in   Tehri Garhwal , Uttarakhand;  Participations of Migrated Uttarakhandis , Medical Tourism development in  Uttarkashi  Garhwal , Uttarakhand;  Participations of Migrated Uttarakhandis , Medical Tourism development in   Dehradun Garhwal , Uttarakhand;  Participation of Migrated Uttarakhandis , Medical Tourism development in    Haridwar Garhwal , Uttarakhand;  Participations of Migrated Uttarakhandis , Medical Tourism development in  Pithoragarh  Kumaon , Uttarakhand;  Participations of Migrated Uttarakhandis , Medical Tourism development in Champawat    Kumaon , Uttarakhand;  Participations of Migrated Uttarakhandis , Medical Tourism development in   Almora Kumaon , Uttarakhand;  Participations of Migrated Uttarakhandis , Medical Tourism development in Nainital   Kumaon , Uttarakhand;  Participations of Migrated Uttarakhandis , Medical Tourism development in  Udham Singh Nagar  Kumaon , Uttarakhand;



पौड़ी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास ; उधम सिंह नगर कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास ;  चमोली गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास  ; नैनीताल कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास ;  रुद्रप्रयाग गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास ; अल्मोड़ा कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास  ; टिहरी   गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास ; चम्पावत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास ;  उत्तरकाशी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास ; पिथौरागढ़ कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास;  देहरादून गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास ; रानीखेत कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास; हरिद्वार  गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास ; डीडीहाट  कुमाऊं  मेडिकल टूरिज्म विकास ;   नैनीताल  कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास :


 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22