Author Topic: Uttarakhand News - उत्तराखंड समाचार  (Read 178817 times)

सत्यदेव सिंह नेगी

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 771
  • Karma: +5/-0
जागरण प्रतिनिधि, बैजरो: पनास से वीरोंखाल आ रही एक जीप अनियंत्रित हो कर गहरी खाई में जा गिरी। इस दुर्घटना में जीप चालक समेत तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि दो बच्चों समेत 12 लोग घायल हो गए। घायलों में चार की हालत गंभीर होने पर उन्हें बाहर रेफर कर दिया गया है।

जानकारी के अनुसार, प्रखंड वीरोंखाल के अंतर्गत पनास से वीरोंखाल की ओर आ रही जीप संख्या यूए05/2573 वीरोंखाल से करीब दो किमी. पहले डुमैला तल्ला के समीप अनियंत्रित होकर खड्ड में जा गिरी। दुर्घटना में जीप चालक ग्राम पनास निवासी सूरज (30), ग्राम सीली पखोली निवासी अनूप सिंह (50) व ग्राम चंदोली तल्ली निवासी महावीर सिंह (55) की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे में ग्राम सीली-पखोली निवासी जसवंत सिंह, ग्राम पनास निवासी नवीन चंद्र, हरीश चंद्र, गौरी देवी, बंसी लाल, ग्राम डाला गांव निवासी संतोषी देवी व उनका एक वर्षीय पुत्र अक्षित, आनंद लाल, अमित, रजनी देवी और ग्राम चंदोली मल्ली निवासी रजनी देवी, उनका पुत्र गौरव (छह वर्ष) व प्रेम लता घायल हो गए।

घायलों को '108' व अन्य वाहनों से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, वीरोंखाल में लाकर भर्ती किया गया। स्वास्थ्य केंद्र से हरीश चंद्र, गौरी देवी, बंसी लाल व जसवंत सिंह की गंभीर स्थिति को देखते बाहर रेफर कर दिया है।

उधर, दुर्घटना की सूचना मिलते ही उपजिलाधिकारी जीआर बिंदवाल मौके पर पहुंचे। और तीनों मृतकों का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों के सुपुर्द कर दिए।

http://in.jagran.yahoo.com/news/local/uttranchal/4_5_9504841.html

C.S.Mehta

  • Full Member
  • ***
  • Posts: 248
  • Karma: +2/-0
टीम अन्ना के समर्थन में पिथौरागढ़ और धारचूला में धरना , अनशन जारी

पिथौरागढ़/ धारचूला : दिल्ली के जंतर मंतर में जन लोकपाल बिल पारित करने तथा भ्रष्टाचार हटाने को लेकर चल रहे आंदोलन की गूंज भारत तिब्बत और नेपाल सीमा तक उठने लगी है। पिथौरागढ़ सहित धारचूला में आंदोलन के समर्थन में धरना, अनशन शुरु हो चुके हैं।

पिथौरागढ़ के गांधी चौक में दूसरे दिन भी धरना कार्यक्रम जारी रहा। उत्तराखंड सिविल सोसाइटी द्वारा आहूत इस धरने में बोलते हुए वक्ताओं ने कहा कि जब तक देश से भ्रष्टाचार समाप्ति के लिए जनलोकपाल बिल पारित होना जरुरी है। वहीं काला धन वापस लाने के लिए कानूनी पहल शुरु करने की मांग की गई। धरने पर बैठने वालों में व्यापार संघ अध्यक्ष शमशेर सिंह महर घातक, सोसाइटी अध्यक्ष पुष्पा देऊपा, संयोजक गोविन्दा, डीएन भट्ट, गंगा धामी, भारत स्वाभिमान के यूथ अध्यक्ष गणेश, बी अवस्थी, हरीश पंत आदि शामिल थे।

धारचूला : राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की मूर्ति का माल्यार्पण करने के बाद अन्ना टीम के आंदोलन के समर्थन में दर्जनों लोगों ने तहसील प्रांगण में धरना शुरु कर दिया है। यहां पर आयोजित सभा में केन्द्र सरकार सहित अन्य राजनैतिक दलों की भूमिका पर संदेह जताया। सभा को गोविन्द राम आर्य, राकेश तिवारी, कल्याण सिंह कुंवर ने संबोधित किया। सभा का संचालन धरमराज भट्ट ने किया। इस मौके पर नंदन धामी, प्रेम सिंह धामी, भीम सिंह कार्की, नारायण दरियाल,दीपक सिंह, भगवान, अशोक नबियाल, इं. केएस कुंवर, शगुन बिष्ट, ओम कापड़ी, बद्री दत्त पैंतोला सहित आदि धरने पर बैठे।


सुधीर चतुर्वेदी

  • Sr. Member
  • ****
  • Posts: 426
  • Karma: +3/-0
Re: Uttarakhand News - उत्तराखंड समाचार
« Reply #82 on: August 01, 2012, 01:30:38 AM »
स्क्रबर में नवजात को फेंक गई अज्ञात महिला
जागरण कार्यालय, लोहाघाट : पाटी विकासखंड के गवाई गाव में सड़क के किनारे नवजात शिशु मिलने से सनसनी फैल गई। जैसे ही यह खबर लोगों को लगी घटना स्थल पर जमावड़ा लग गया। गांव में रहने वाले 23 वर्षीय युवक जीवन भट्ट ने नवजात की परवरिश शुरू कर दी है। वह घटना के दिन ही नवजात को उपचार के लिए लोहाघाट अस्पताल लाया। नवजात शिशु की हालत ठीक बताई जा रही है। माना जा रहा है कोई महिला लोक लाज के भय से नवजात को स्क्रबर में फेंक गई।

सहारनपुर में पेट्रोल पंप में काम करने वाला युवक जीवन इन दिनों घर आया हुआ था। मंगलवार को जब वह गांव को जाने वाली सड़क से गुजर रहा था तो उसे बच्चे की रोने की आवाज सुनाई दी। इस पर उसने बच्चे की ढूंढ़ खोज की तो उसे स्क्रबर में फेंका बच्चा मिला। उसने इसकी जानकारी गांव वालों को दी तथा गोद में उठाकर उसे स्क्रबर से बाहर निकाला। नवजात के खराब स्वास्थ्य को देखते हुए 108 वाहन के जरिए उपचार के लिए लोहाघाट लाया गया। जीवन ने अनर्पा के पटवारी हरीश गहतोड़ी को भी घटना की जानकारी दी

नवजात का उपचार करने वाले चिकित्सक डा.फरीदुज्जफर ने बताया कि नवजात बालिका है तथा उसकी हालत खतरे से बाहर है। बालिका की उम्र 8 दिन बताई गई है। परवरिश करने वाले युवक को उम्मीद है कि कोई न कोई संतानहीन दम्पति बालिका को गोद ले लेगा।



Source : Dainik Jagran

सुधीर चतुर्वेदी

  • Sr. Member
  • ****
  • Posts: 426
  • Karma: +3/-0
लोक संस्कृति के रंग में रंगा बाराहीधाम

जागरण कार्यालय, लोहाघाट : देवीधुरा के अषाड़ी कौतिक में की सांस्कृतिक संध्या में बाहर से आए कलाकारों के अलावा स्थानीय कलाकारों ने लोक संस्कृति पर आधारित रंगारंग कार्यक्रमों से समां बांध दिया। बागेश्वर, लोहाघाट व हल्द्वानी के कलाकारों का जलवा इस कदर छाया कि दर्शक देर रात तक झूमते रहे।

शिखर हिमालय जन सांस्कृतिक समिति कपकोट बागेश्वर के कलाकार प्रदीप कुमार, राम सिंह फत्र्याल, जीवन नाथ, गोबिंद कुमार, राखी फत्र्याल, चंचला, भावना बोरा, आशा, प्रियंका, गंगा ने दल नायक किशोर कांछा के नेतृत्व में कुमाऊंनी, गढ़वाली, पंजाबी, नेपाली, झोड़ा, चांचरी, छपेली आदि कार्यक्रम प्रस्तुत कर दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया। इस टीम द्वारा दी गई बागनाथ की प्रस्तुति पर जमकर तालियां बजीं। लोक सांस्कृतिक कला दर्पण लोहाघाट के कलाकारों ने भी लोक संस्कृति पर आधारित कार्यक्रमों से दर्शकों की वाहवाही लूटी। मां बाराही लोक सांस्कृतिक कला मंच हल्द्वानी के कलाकारों ने दल नायक गिरीश बर्गली के दिशा निर्देशन में अपने फन का जलवा बिखेरा। देर रात तक दर्शक कला संस्कृति के रंग में झूमते रहे। सांस्कृतिक कार्यक्रमों का उद्घाटन मुख्य अतिथि जिपं सदस्य पुष्पा लगमड़िया ने किया।

::::::::: इनसेट

तिल रखने को नहीं थी जगह

लोहाघाट : देवीधुरा अषाड़ी कौतिक के दौरान मां ब्रज बाराही मंदिर में दर्शनों के लिए भारी संख्या में पहुंच रहे श्रद्धालुओं के कारण मंदिर परिसर में तिल रखने को जगह नहीं थी। सुबह से लेकर सायं तक पूजा पाठ का सिलसिला चल रहा है। मंगलवार की प्रात: मां बाराही संस्कृत महाविद्यालय के छात्रों व आचार्यो द्वारा प्रधानाचार्य भुवन जोशी के निर्देशन में वेद पाठ व दुर्गा सप्तशती पाठ कर वातावरण को भक्तिमय बना दिया।

--------------

हल्द्वानी ने उद्घाटन मैच जीता

लोहाघाट : देवीधुरा मेले के दौरान अषाड़ी चल वैजयंती बालीबाल प्रतियोगिता का उद्घाटन मैच हल्द्वानी व नानकमत्ता के बीच खेला गया। मुख्य अतिथि डिप्टी सीएमओ आरके जोशी ने प्रतियोगिता का शुभारंभ किया। पहले मुकाबले में हल्द्वानी ने नानकमत्ता को पराजित किया। संचालन में संस्कृत महाविद्यालय प्राचार्य भुवन जोशी, मेला कमेटी के अध्यक्ष लाल सिंह चम्याल, कोषाध्यक्ष कीर्ति बल्लभ जोशी आदि ने सहयोग किया।

-----------------

शिविर का लोगों ने उठाया लाभ

लोहाघाट : देवीधुरा में आयोजित बहुद्देश्यीय शिविर में समाज कल्याण विभाग द्वारा एक-एक व्यक्ति की विधवा व विकलांग पेंशन स्वीकृत करने के साथ पांच को वृद्धावस्था पेंशन का लाभ दिया गया। सात बालिकाओं को गौरा देवी कन्याधन योजना की धनराशि प्रदान की गई। विभाग की ओर से वृद्धावस्था व विकलांग पेंशन के 43 आवेदन पत्र बांटे गए। शिविर में समाज कल्याण अधिकारी पीसी जोशी, डिप्टी सीएमओ डा.आरके जोशी ने चार विकलांगों को प्रमाण पत्र जारी किए। इस मौके पर बीडीओ जेएस महेला, बीएस घस्याल, विपिन चंद्र, मोहन गिरी, मदन सुतेड़ी, राजेंद्र मौजूद थे।

--------

प्रशासनिक अव्यवस्था का बोलबाला

लोहाघाट : मेले के दौरान विद्युत विभाग सुचारू विद्युतापूर्ति करने में नाकाम साबित हो रहा है। बिजली गुल रहने के कारण मेले की व्यवस्थाओं में बुरा प्रभाव पड़ने से लोगों में आक्रोश है। जल संस्थान द्वारा भी पर्याप्त पानी की सप्लाई नहीं की जा रही है। सड़क मार्ग भी एकदम दुरूस्त नहीं हो पाए हैं। मंदिर कमेटी ने विभागों से व्यवस्थाएं चाक चौबंद करने की मांग की है।

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,048
  • Karma: +59/-1
Re: Uttarakhand News - उत्तराखंड समाचार
« Reply #84 on: October 17, 2012, 05:39:29 AM »
टाटा मोटर्स के लिए लिखित परीक्षा में 21 अभ्यर्थी सफल
=================================


जाका,चम्पावत : उत्तराखंड मुक्त विवि के तत्वावधान में रोजगार उन्मुख तकनीकी प्रशिक्षण के तहत टाटा मोटर्स पंतनगर के लिए भर्ती मेले का आयोजन किया गया। इंटर उत्तीर्ण 22 अभ्यर्थियों ने लिखित परीक्षा में हिस्सा लिया। जिसमें 21 के लिखित में उत्तीर्ण होने पर 18 अक्टूबर को पंतनगर में साक्षात्कार के लिए बुलाया गया है।

जिला सेवा योजन अधिकारी वाइएस रावत ने बताया कि साक्षात्कार में सफल अभ्यर्थियों को प्रशिक्षण व रोजगार का अवसर मिल सकेगा। विदित हो वर्तमान में प्रदेश सरकार द्वारा उद्योगों में प्रदेश के युवाओं को रोजगार को लेकर पहल की जा रही है। इसके तहत अब उद्योग भी भर्ती मेला के लिए पहाड़ की ओर रुख करने लगे हैं। इधर मंगलवार को उत्तराखंड मुक्त विवि द्वारा टाटा मोटर्स पंतनगर के लिए अभ्यर्थियों की लिखित परीक्षा ली। इसमें इंटर उत्तीर्ण 22 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी।


http://in.jagran.yahoo.com/news/local/uttranchal/4_5_9763368.html

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0


 जाब्यू, अल्मोड़ा/रानीखेत/बागेश्वर : मौसम के करवट बदलते ही अल्मोड़ा व बागेश्वर जिले में कई चोटियों पर जमकर हिमपात हुआ है। कई स्थानों पर बारिश हुई है। तापमान गिरने से कड़ाके की ठंड शुरू हो चली है, जिससे आम जनजीवन बुरी तरह प्रभावित रहा।
 अल्मोड़ा जिले के विकासखंड भैंसियाछाना व जागेश्वर समेत जनपद की कई ऊंची पहाड़ियां शुक्रवार को हुए हिमपात से सफेद चादर में तब्दील हो गई। प्रात:सात बजे से शुरू हुई बर्फवारी देर सांय तक जारी थी। क्षेत्र के कई इलाके शाम तक बर्फ की ढाई फिट मोटी चादर से ढक गए। शुक्रवार तड़के जागेश्वर, पनुवानौला, वृद्ध जागेश्वर, झांकरसैम आदि चोटियों में मौसम का पहला हिमापात हुआ। अपरान्ह एक बजे के आसपास बिंसर, विमलकोट, कटघरा, गिवाईथल, शौकियाथल, आरतोला व सोमेश्वर के पिनाथ, लमगड़ा, जैंतकोट व गणानाथ की पहाडि़यों पर हिमपात शुरू हो गया, जो देर शाम तक जारी रहा।  बर्फवारी के कारण पनुवानौला- वृद्ध- जागेश्वर मार्ग लगभग सात घंटे से बंद चल रहा है। इस मार्ग पर दर्जनों सवारी बसें और बारातों से लौट रहे निजी वाहन फंसे ैं। बर्फवारी के कारण पूरे जनपद में कड़ाके की ठंड पड़ रही है और जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। इधर द्वाराहाट के भटकोट पाडुखोली, दूनागिरि, कूकूछीना की पहाडि़यां भी बर्फ से ढक गई हैं। सल्ट के मानिला में भी हल्की बर्फवारी होने की सूचना है।
 :::::इंसेट:::::::
 पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने के कारण पर्वतीय इलाकों में जमकर बर्फवारी हुई है। पर्वतीय इलाकों में बर्फवारी और वर्षा होने की संभावनाबनी हुई है। अगले 24 घंटों में पर्वतीय जनपदों के उच्च इलाकों में फिर बर्फवारी हो सकती है।
 आनंद शर्मा, निदेशक मौसम विभाग, देहरादून

satinder

  • Newbie
  • *
  • Posts: 24
  • Karma: +1/-0
Re: Uttarakhand News - उत्तराखंड समाचार
« Reply #86 on: February 24, 2013, 02:43:25 PM »
kripya february march 2013 ke mausam ki news bhi update karen

विनोद सिंह गढ़िया

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 1,676
  • Karma: +21/-0
[justify]नंदा देवी राजजात का होगा लाइव प्रसारण

ऐतिहासिक नंदा देवी राजजात को अब घर बैठे भी देखा जा सकता है। 280 किलोमीटर की इस धार्मिक यात्रा का लाइव प्रसारण करने की तैयारी हो रही है। इसके लिए 18 पड़ावों पर ओबी वैन तैनात होगी। इस संबंध में इसरो के वैज्ञानिकों और प्रदेश के अधिकारियों के बीच मंगलवार को वार्ता हुई।
सचिवालय में मुख्य सचिव आलोक जैन की अध्यक्षता में हुई बैठक में यूसैके के निदेशक एमएम किमोठी ने बताया कि इसरो की मदद से नंदा देवी राज जात का लाइव प्रसारण होगा। वहीं विधानसभा में उपसभापति एके मैखुरी की अध्यक्षता में हुई बैठक में पूरी कार्ययोजना का प्रस्तुतिकरण किया गया। इसरो के वरिष्ठ वैज्ञानिक डा. वीरेंद्र कुमार और यूसैक के साथ हुई बैठक के बाद मैखुरी ने बताया कि नंदा देवी राजजात के लिए अलग से 15 करोड़ रुपये और मिलेंगे।


साभार : अमर उजाला
[/justify]

Rajen

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 1,345
  • Karma: +26/-0
इसरो अगस्त में करेगा नंदा देवी राज जात यात्रा का सीधा प्रसारण
0
भाषा | Apr 3, 2013, 07.49PM IST

देहरादून।। विदेशों में रह रहे श्रद्धालु भी टेलिविजन पर नंदा देवी राज जात यात्रा का सीधा प्रसारण देख सकेंगे। उत्तराखंड सरकार ने इसरो को इससे जुड़े राइट्स दे दिए हैं।

राज्य के साइंस ऐंड टेक्नॉलजी मंत्री एस.एस. नेगी ने बताया कि उत्तराखंड के गठन के बाद पहली बार आयोजित होने जा रही उन्नीस दिन तक चलने वाली यह यात्रा अगस्त में होगी। इसरो इसका सीधा प्रसारण करेगा । नेगी ने इसरो अधिकारियों से मुलाकात के बाद कहा कि उत्तराखंड स्पेस ऐप्लिकेशन सेंटर की तरफ से भेजे गए प्रस्ताव पर इसरो ने सीधे प्रसारण के मैनेजमेंट के लिए एक टीम भी बना दी है।

इस यात्रा को हिमालय के कुंभ के रूप में भी जाना जाता है। यह गढ़वाल हिमालय क्षेत्र में हर बारहवें साल आयोजित होती है। नेगी ने कहा कि सीधे प्रसारण के लिए यात्रा से संबंधित चमोली मार्ग पर इसरो उपग्रह टर्मिनल लगाएगा।


http://navbharattimes.indiatimes.com/other-cities/dehradoon/isro-to-telecast-nanda-devi-yatra-live/articleshow/19364077.cms

विनोद सिंह गढ़िया

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 1,676
  • Karma: +21/-0
धारी देवी मंदिर के विस्थापन पर रोक

[justify]केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय ने शुक्रवार को श्रीनगर स्थित धारी देवी मंदिर के विस्थापन पर रोक लगा दी है। यह रोक तब तक जारी रहेगी जब तक इस बाबत इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट में लंबित मामले का फैसला नहीं आ जाता। उल्लेखनीय है कि 13 मई को धारी देवी के अपलिफ्टिंग (विस्थापन) की योजना थी। इसका संतजगत और स्थानीय लोगों में भारी विरोध था।
मंत्रालय के निदेशक बीबी बर्मन ने 10 मई को धारी देवी के मौजूदा स्थान से विस्थापन पर रोक संबंधी आदेश जारी करते हुए इसकी प्रति उत्तराखंड वन एवं पर्यावरण मंत्रालय के मुख्य सचिव, पौड़ी गढ़वाल के कलक्टर, उत्तराखंड के पर्यावरण एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सदस्य सचिव के साथ ही लखनऊ में पर्यावरण एवं वन मंत्रालय सेंट्रल जोन के क्षेत्रीय अधिकारी को भेजी है। उधर, प्रमुख सचिव वन एवं पर्यावरण उत्तराखंड, एस रामा स्वामी ने कहा कि अभी उन्हें केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय का आदेश नहीं मिला है। मिलने के बाद ही वह इस बाबत कुछ कहने की स्थिति में होंगे।
केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय ने अपने आदेश में मंदिर की पवित्रता और स्थानीय आस्था के संरक्षण पर जोर देते हुए इस बाबत स्थानीय विरोध के साथ ही भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के प्रयासों का भी उल्लेख किया है। मंत्रालय ने उल्लेख किया है कि संसद में प्रमुख विपक्षी पार्टी भाजपा के नेताओं लालकृष्ण आडवाणी, अरुण जेटली, नितिन गडकरी, रमेश पोखरियाल निशंक, भगत सिंह कोश्यारी, सुषमा स्वराज और उमा भारती द्वारा अपलिफ्टिंग के विरोध में लिखा था। इनमें से एक राष्ट्रीय नेता ने अपलिफ्टिंग के विरोध में जलसमाधि की भी चेतावनी दी थी।

किस चरण से गुजरा और किस स्थिति में है मामला

नैनीताल हाईकोर्ट ने अनुज जोशी बनाम एएचपीसीएल (अलकनंदा हाईड्रो पावर कारपोरेशन लिमिटेड) के मामले की सुनवाई करते हुए 3 नवंबर 2011 को निर्माता कंपनी को जनसुनवाई के आदेश दिए थे। इसमें अपलिफ्टिंग की बाबत स्थानीय लोगों की आपत्तियों को सुना जाना था। इस आदेश के खिलाफ एएचपीसीएल ने सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका (एसएलपी) दायर की। इस पर 30 जनवरी, 2012 को सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के जनसुनवाई संबंधी आदेश पर रोक लगाते हुए श्रीनगर जलविद्युत परियोजना में निर्माण जारी रखने के आदेश दिए थे। इसके बाद केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय ने जुलाई, 2012 में एक शपथपत्र दाखिल किया जिसमें यह कहा गया कि सुप्रीम कोर्ट का यह आदेश मंत्रालय का पक्ष बिना सुने पारित किया गया था। साथ ही मंत्रालय की ओर से पर्यावरण संरक्षण अधिनियम 1986 की धारा पांच के तहत दिए गए निर्देशों को कोर्ट के संज्ञान में भी नहीं लाया गया था। पर्यावरण मंत्रालय का यह भी कहना था कि एएचपीसीएल द्वारा धारी देवी मंदिर के विस्थापन का संशोधित प्लान उसके विचाराधीन है।

[/justify]

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22