Author Topic: नाटककार दिनेश बिजल्वाण का उत्तराखण्ड की पॄष्टभूमि पर आधारित नाटक "पंडेरा"  (Read 24893 times)


Rajen

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 1,345
  • Karma: +26/-0
Books/plays  written by Shri Dinesh Bijalwan:

1.  Tillu Rauteli
2.  Rukma Rumello
3.  Paltner Chander Singh
4.  Neeli Chatri (co-writer-Suwarn Rawat)
5. Kaiku Bauo Kaiky Khyo (co-writer : Mohan Singh Bisht)
6. Pandera

Rajen

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 1,345
  • Karma: +26/-0
Re: ACTOR DINESH BIJALWAN
« Reply #22 on: June 23, 2008, 03:40:05 PM »
A scene from a play "ARDHGRAMESHWAR":

On Stage:  Dinesh Bijalwan, Brij Mohan Sharma, Prayant Dhasmana & Shushil:


Rajen

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 1,345
  • Karma: +26/-0
Dinesh acting in "Banji Gauri" - (Written by Uma Kant Baluni, Directed by Mitra Nand Kukreti) On Statge from left - Syam Singh, Dinesh Kothiyal, Girish Bist & Dinesh Bijalwan:

 

पंकज सिंह महर

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 7,401
  • Karma: +83/-0
भई, हमारे दिनेश जी तो बड़े खतरनाक कलाकार ठैरे भल हो महाराज, राजु दा धन्यवाद आपको इस विभूति से फोरम को परिचित कराने के लिये।

Anubhav / अनुभव उपाध्याय

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 2,865
  • Karma: +27/-0

Rajen

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 1,345
  • Karma: +26/-0
अरे महाराज पंकज ज्यू, दिनेश जी कलाकार तो खतरनाक नहीं हैं लेकिन हां स्टुडेंट लाइफ़ में ’फ़ाइटर’ जरूर खतरनाक थे (महाराज कुंगफ़ू में काली पेटी वाले वो क्या कहते हैं ब्लेक बैल्ट)।  सिंगल हड्डी क्या देख रहे हो, महाराज गजब की फ़ुर्ती ठैरी हो।  मैं तो भुक्तभोगी ठैरा। 8)

भई, हमारे दिनेश जी तो बड़े खतरनाक कलाकार ठैरे भल हो महाराज, राजु दा धन्यवाद आपको इस विभूति से फोरम को परिचित कराने के लिये।

Dinesh Bijalwan

  • Moderator
  • Sr. Member
  • *****
  • Posts: 305
  • Karma: +13/-0
राजन दा  मेरे से खतरनाक तो आप है जो मुझसे सीधे साधे को खतरनाक घोसित कर दिया /

Anubhav / अनुभव उपाध्याय

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 2,865
  • Karma: +27/-0
Dinesh ji aur jaankaari dijiye apne Kala safar ka yahan par. Nae kalakaaron ko aap kya shiksha dena chahenge?

राजन दा  मेरे से खतरनाक तो आप है जो मुझसे सीधे साधे को खतरनाक घोसित कर दिया /

Dinesh Bijalwan

  • Moderator
  • Sr. Member
  • *****
  • Posts: 305
  • Karma: +13/-0
मेरी रंगमंच यात्रा "दि हाईहिलर्स ग्रुप" के साथ आरम्भ हुई , इस ग्रुप की स्थापना १९८१ मे सुरेस नौटियाल (पत्रकार) ने की थी , वह पर्वतीय कलाकेन्द्र  की  ट्क्कर की संस्था  बनाना चाहते थे जिसमे कोइ भी  पहाडी शामिल हो सके  जो पहाडी  कल्चर को  बढावा देना चाह्ता हो /
 ग्रुप का औपचारिक गठन १८-३-८४ को हुआ / इसके पहले सद्स्यओं मे सुरेश , मोहन राणा ( कवि) , हरपाल ने़गी,  बलवन्त सिंह रावत , कैलाश सेम्वाल , देवेन्दर खन्डुरी , चन्द्रशेखर कोट्नाला, सज्जन सिन्ह रावत, उमाकान्त बलूनी, खीम सिंह रावत, रेबत राम डोभाल. यशपाल रावत, मुकेश शर्मा,  हरीश उनियाल,  शामिल थे/
जारी/-

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22