Author Topic: Kumaoni-Garwali Words Getting Extinct-कुमाउनी एव गढ़वाली के विलुप्त होते शब्द  (Read 46112 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
 जाल--net,trap जैसे-मकड़ी कि जाला,चिड़ियों को पकड़ने के लिए बहेलिया ने जाल बिछाया था।
 
 

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
जौल--खाने का व्यंजन जैसे--दही जौल ,भटी जौल इत्यादि.।
झ्वाल--झोला,थैला।

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
झोल--सिलाई या बुनाई बराबर से या सफाई से न की गई हो तो उसमें झोल आ जाता है।
झोल--लकड़ी अथवा कोयले इत्यादि जलाने पर दीवारों या छत पर जो कार्बन जमा हो जाता है उसे भी झोल कहते हैं।

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0


"सपाड़ी ह्या तवील"   - To achieve something, or getting success...

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
Jogasingh Kaira
Yesterday at 3:53pm
कुछ एकाक्षरी कुमाउनी शब्द।एक पुरानी पोस्ट (साभार )
अ..1 आ । याँ अ रे । इधर आओ।
2..पीड़ा सूचक । अ मर गया रे !
आ.. आज्ञा सूचक।आ ओ। आ रे।
अँ.. 1.स्वीकृति सूचक । हाँ ।
2. कराहना। अँ!अँ !
3. विस्मय सूचक। अँ आघिल
कै कओ पे। हुंगुर दिण ।
आँ ..पीड़ा सूचक ।
इ.. इज या इजा का संक्षिप्त रूप।
ओ इ आ वे ।
ई.. 1. संबोधन सूचक । ई बाब ।
ई इथां चा धीं य के छू।
2. माँ के लिए प्रयुक्त संबोधन।
ओ ई आ वे।
उ.. वह । उ काँ जांरो ।
ऊ..उ , वू , वह । ऊ को छू ।
ऊं.... वे
ऊँ..उं , वुं ... आऊँ। आता हूँ ।
ऊँs .. अच्छाs तो यह बात है।
ए.. छोटों को पुकारने के लिए
उप्युक्त संबोधन। ए! इधर आ ।
ऐं.. आश्चर्य सूचक अव्यय । ऐं! क्या
कहा ?
ओ..संबोधन कारक । ओ ईजा!
ओ हरी! याँ आ ।
आँ ...आँ कर, मुह खोल तो ।
औं..आँव , औं पडूरौ पेट कटे हैगे।
क...कहो , कह। क रे के कुं छै।
का.. राम का रथ। (संयोजक शब्द)
कां.. कहाँ । कां जै रिन आज ।
कि... क्या । कि क रै ।
कु.... कुआ । कु में पाणि छू।
कुं/कूं...कहूँ । कहैं कूं, के कुं आब।
के...क्या ? के छू तो झोलिन।
कैं..कहीं, कथाँ । कैं जै रिन ।
को.. कौन। को आ हो।
ख... खा, ख पै नतर भुखै रोले।
ख... खव । दैं कर दे, ख खाली छू।
खा.. खा, खाओ। भात खा ओ हो।
खै.. खाया । खाण खै हालो ।
खो.. खोव, खोल , खोजाना, गड्डा
गद्दक खो फाटिगो,
य रससिक गाँठ खो धीं।
वो तो खो गया ।
एक खो खोप थाङ्गौर हैं।
खौं... खाऊँ । मी खौं पै ।
ग ... गाय । ग माता ।
गँ.... गाँव
गं.... गंगा । जो गं नाँ आपण लीजी
गा.. गीत गा। गाना गा । आज्ञा
सूचक शब्द । गाओ ।
गु/गू....मानव मल। छि छि बाटम
गु/गू पड़ी रोछ ।
गै.... गाय, गा (गै हालो)
गो.... गया।कहाँ गो काम छोडबे।
गाय। गो माता ।
गौं... गाँव । य को गौं छू।
घ... घाव , घौ , जख्म
घा... घास
घीं... घ्यूं घी
घौ... घाव
च... पाग के साथ पहना जाने वाला
कुरता ।
चा... देख, खोज, । भीं पन चा ।
चां... चाहना, देखना । घर को चां रो।
चु/चू .चौलाई , चुवा , बिना पेंच के द्वार का चौखट पर जुड़ने का स्थान
चूं ... आवाज न करना। चूं नि करि।
चूँ ... चूना । छत चूँ रही है ।
चै... देखना । कौस चै रो मुख मुखे
चैं... चाहिए । जरा भात आजि चैं।
चौ...खास कुरता । चौ पाग में होली का मजा और ही होता है।
छ... है । याद छ ।
छा.. हो। कां छा हो ।
छाँ.. छाँस
छि ..घृणा का सूचक । छि बदबू औंरे।
छीं.. है या हैं । वूँ वें छीं ।
छी...था थे .. उ कां छी ।
छु/छू..... है । उ काँ छू । को छू।
छे ...... क्षय रोग । छे बाकरी ।
छै...... 6,
छैं........ हैं या छन ।
छौ...... छल , .. भुत चिपकाना ।
हो या है। ... को छौ हो।
छौं....सूतक नातक, छौं है रे ब्व्वारी। छौं लागी रे आम मरि रे ।
ज....जौ
जा.....जाओ
जां. जाताहै
जाँ... जहाँ जिस जगह ।
जी... मन, चित, आदर सूचक,
हाँ सहमती सूचक
जु/जू ...हल जोतने का जुवा
द्युत, जुवा, जुआ
जूँ /जूं ........ मोछ सिर के जुंवे
जे... जो जोकुछ, जैसा। जे कछा पे।
जै.... १ एक फूल । २ एक जौ जसी खर पतवार। ३ जै हो ।
जैं .. जाती है। ऊ स्कूल जैं ।
जौ...आनाज जौ।
जौं....१ आज्ञा सूचक ..जाऊं
२ हाथ जोड़ना (जौं हाथ)
झो.. झोव माछक झो।
टें..... मृत्य
टो s टोप पड़ना, अचानक नीद आ जाना।
ठां ...एक दम शानदार ।
ठि/ठी..... अड्डा , रेडी आदि पर काम करने की जगह ।
ठौ .... ठौर जगह ।
डै..... डइ ढेला ।गुड़े डै ।
ढा....दहा जलन
त...... तो , यह, वह स्तिथि या अस्था के लिए प्रयुक्त ।
त... तवा तला
ताँ.... तहां
तु /तू ... तुम य तू
तै......तह (लगाना) , तैक क कड़हाई
तो .. तब , फिर वह
तौ...तवा ताला ।
थ .. मेले का स्थान ,
थु...घृणा सूचक , धिक्कारना
थू....थूकना
द् / द विस्मय बोधक उपेक्षा या दयनीय अवस्था दर्शाने वाले वाक्यों में प्रयुक्त अव्यय । , द आब के हूँ । द पै । द काँ देखियनि आब ।
दा....दाद, ददा अग्रज ।
दि.....दिया देना दीपक
दी...दीदी
दु./ दू....बिल उड्यार सुरंग छेद
दे..देना
दै ... दही
दैss...बिस्मय बोधक उपेक्षा, करुना, दया, दुःख दर्शाने वाले वाक्यों में
वाक्य के शरु में लागने वाला अव्यय।
दैं........आनाज की मड़ाई
दो....... द्वी दे
दौ..... पशुचारा, पत्थरीली चट्टान .
दं.......दंग रहना., दंगाफिसाद
धs... धौ या चरम तृप्ति ।
धूं/धुँ ..... धुवाँ
धैं ..... तो, पै ।आग्रह करनेमें प्रयुक्त अव्यय । आओ धैं ।
धैं ..धैं लागण । झगड़ना
धो... मुश्किल से, कठिनाई, धोना
धौ.. पूर्ण तृप्ति , अघाने की स्तिथि
मन भरजाना ।
धं धं धक्के खाते हुए चलना ।
न .. नाम
नँ .... नैं नहीं निशेधात्मक अव्यय
ना.... नहीं
नु.... नाम नया
नैं....... नहीं
नै....... नयि नारूकै नयि।
नौं.... नयाँ नाम
नौ ९ का अंक
प./पौ.. प्याऊ , पौ , पावभर
शिवालय में प (जल) भरना
पा...पाना मिलना
पि ....पीना पीओ
पु......पुवे , घसक पु
पूss...शंख ध्वनि
पे... पिने का आदेश। पीओ।
पैंs.... रुदन सूचक
पै... फिर, होई, बाद में , हामी भरना। होई पै। पै के कण हय ।
पै के करो । तसे हो पै ।
पौ....प पाँव पाव भर प्याऊ
शिवाला में जल भरना
प्रातकाल का समय..पौ फटना ।
बा... हल चलाना,
पिता सूचक ..ओ बा।
बिं/बीं ...बीज , दाना ।
बु/बू .... बदबू बुबू
बुं........बोना
बै........ हल चलाना , बै खां छ ।
बौं....... बायाँ, तैरना
भ / भौ ... बच्चा, भाव, ह/ हौ
दर , कीमत, रेट
भीं/भीं ...भूमि निचे धरती
हिस्सा भाग (शिकारक भीं हालन)
भै...... भाई हय है हुआ
भो .......कल आनेवाला समय
भौं ....भौंए ।
मs .......घर शहद
माँ मा...माता
मि ..... मैं
मुं/मूं.... मूली
में.....प्रत्यय जाणमें खाण में
मै,,... इज माता
मैं ....मैं
मो,... घर एक मो
मौ.... शहद एक परिवार
य ...यह ये
यू .... कुत्ते को बुलाने के लिए प्रयुक्त
शब्द
र./रौ... रह रुक नदी का गहरा पानी
वाला भाग रौ ।
रु/रू.... रुई
रौं.. रौए बारीक बाल

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
By Jogasingh Kaira

कुमाउनी में प्रचलित कुछ शब्द जिन में ' ड़' अक्षर का प्रयोग होता है ।
ड़..??
अड़.,अड़ा ,अड़े,अड़ोस
अड़ियल, अड़चन, अड़ंगा
अड़सठ अड़तालीस अड़
अढ़तीस अड़प्यच अड़ाते
अड़ाना अड़ाता अड़ाने अड़ाल
अढ़ाइ अड़ाण अड़ाट अड़ाएंगे
अड़मोड़ि अड़ि अड़ियल अड़ोस
आड़ आड़ी आड़ू आड़े
उड़ उड़ूँ उड़ेल उड़ण उड़ूण
उखाड़ उपाड़ (उपाण) उखाड़ने उखेड़ उखड़ी
अकड़ अकड़ा ऊड़ ऊड़ना
अगड़म अघड़ अत्याड़ अछौड़ ओड़कर अरड़ अरड़ी अरड़पट्ट
ओड़ औड़ एड़ी एड़ियाँ एकड़
ओड़ल उजाड़ उज्याड़ ऊधाड़ उधाड़ उघाड़ उड़भाड़ उड़भ्यास
उमड़ उमड़ी उमड़ण ओड़ ओढ़
कड़ा कड़वा कड़वी कड़े कड़ी
कड़ि कड़ुवा कड़ुवाहट कड़ुपट्ट
कड़कड़ कड़कण कड़कड़ाट कड़क कड़कताइ कड़ैक ककड़ी
कड़की कड़कड़ी
खड़क खड़कना खड़ा खड़ी खड़ि खड़िया खड़कूंण खड़्यौण खड़िक खाड़ (खाण) खड़खडा़ट खड़बड़ाट खाड़ी खड़िबड़ि, खड़बड़ी
गड़ गाड़ गड़गड़ गड़बड़ गड़बड़झाला गड़गड़ाट (गणगणाट)
गाड़ गाड़ी गुड़ गुड़िया गिड़गिड़ाना गरूड़ गूढ़ गूड़ गुड़ (गुण)
गड़कूंण गिनजाड़ गोड़
गोड़िया गोड़ो गोड़ण
गोड़े

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
By Vinod Pant

कुमाउनी में कुछ शब्द आब लुप्तप्राय हैगेई -

१- लुकर ( दुसर ) - तसिके लुकरा क गाड में घास किलै काटडछी .
२- तिहति ( बाहरी ) - यो तो तेर माम् भै क्वें तिहति ज कि छ

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
Vinod Pant 
 
कुमाउनी में कुछ शब्द आब लुप्तप्राय हैगेई -
१- लुकर ( दुसर ) - तसिके लुकरा क गाड में घास किलै काटडछी .
२- तिहति ( बाहरी ) - यो तो तेर माम् भै क्वें तिहति ज कि छ
३- लखमार - तौ लखमार ( कैंची ) कैकि छ .
४- सांण - जरा लखमार में सांण ( धार ) लगै दिओ .
५- आंण- तकैं जरा यां आण ( ला दे ) दे .
६- बेद - यो लाकडक एक एक बेदाक ( बालिश्त ) चार टुकुड करि दे
७- च्यूरि ( रिंगै लागण ,जोर से सिर घूमना ) - भूखैलि च्यूरि छुटि गे फटाफट रोट दिओ .
८- तरोड - ढील हुण लागि रै तरोड ( जल्दी ) करो .

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
बी एन जुयाल जुयाल
August 12 at 9:39pm
अधिकतर कुमाऊँनी शब्द संस्कृतक अपभ्रंश छन, कुछ उदाहरण प्रस्तुत करनयूं, कोष्टक में संस्कृतक शब्द छन:
उज्ज (ऊर्जा), लूण (लवण), बिख (विष), शुकिल (शुक्ल),
मिनुक (मण्डूक), मुंगर (मुद्गर), भान (भाण्ड), दीर्घै (दीर्घायु),
पिंऔ (पिंग), तित (तिक्त), गोठ (गोष्ठ), उमर (उदुंबर),
कुखुड़ (कुक्कुट), आमिल (अम्ल), सिआंण (सिहाण),
अनाड़ि (अनार्य), घिण (घृणा), नौल (नवल), उतरैणि
(उत्तरायण), पैट (प्रविष्टे), पटांगण (प्रांगण), औंखत
(औषधि), डीठ (दृष्टि), कुकूर (कुक्कुर), मशाण (स्मसान),
बिशै (विशाय), सुप (सूर्प), इनण (ईंधन), बिखोति
(बिषुवती), लंगण (लंघन), पीड़ (पीड़ा) - आदि आदि ।

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
Vinod Pant
 
कुमाऊनी में चाड प्वाथ पशु पक्षीनाक नाम -
गाय - गोरु
युवा गाय - कल्हौड
गाय का बच्चा ( फीमेल ) - बाछ
गाय का बछडा ( मेल ) - बहड.
बैल - बल्द
भैस का बच्चा - थोर
भैस का बच्चा ( मेल ) - काट् या कट्टी
बिल्ली - बिराव या बिराल या बिराऊ
बिल्ला - ढडू
बिल्ली का बच्चा - बिराउ पोथ
कुत्ता - कुकुर
कुत्ते का पिल्ला - पोथ . ढोट्टी
लोमणी - स्याव
चूंहा - मुस्
छिपकली - छिपौड
जंगली बिल्ला - बनढाड
छूछुन्दर - चुनुर
मच्छर - मांछर
फाख्ता - घुघुत
तोता - सू या सुवा ... ( शायद इसीलिये प्रेमिका को सुवा बोला जाता है )
कौवा - कौव्
मैना - सिटौव
गौरैय्या - घिनौडि
खरगोश - सौंस्
तीतर - तितुर
बकरी - बाकौर
नर बकरी -हिल्वाण
भालू - भाल्
मधुमक्खी - मौन
ततैया - झिमौड
भिरड.- पट्या

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22