Author Topic: शेर दा अनपढ -उत्तराखंड के प्रसिद्ध कवि-SHER DA ANPAD-FAMOUS POET OF UTTARAKHAND  (Read 83472 times)

हलिया

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 717
  • Karma: +12/-0
शेरदा की एक कविता के अंश:  

 पार्भति को मैतुडा देश:, मेरो मुलुक कतुक प्यारा,
  डान काना में जुन हंसछ:, पर्वतों में चरनि तारा.
                हौसिया छ्न डाना पर्वत
                हौसिया छ्न भरौ क भाडा
                मन में बसौ मेरो मुलुक,
                आंख में रिटौ "मेरो पहाड."
     ख्वरा मुकुट ह्यूं चमकौ, खुट चमकौ गंगा धारा
    पार्भति को मैतुडा देश:, मेरो मुलुक कतुक प्यारा .
               धुरा जंगल, बांज पतेलि,
               फ़ल काफ़ल क्या झुलि रूनि.
               धन हिसालू, धन किल्मोडी,
               फ़ूल बुरांज फ़ुली रूनि.
   हरिया स्यारि मन खै जाछ: हौस लगुनी स्यर सिन्गारा
  पार्भति को मैतुडा देश:, मेरो मुलुक कतुक प्यारा .

         
         

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
शेरदा की एक कविता के अंश:  

 पार्भति को मैतुडा देश:, मेरो मुलुक कतुक प्यारा,
  डान काना में जुन हंसछ:, पर्वतों में चरनि तारा.
                हौसिया छ्न डाना पर्वत
                हौसिया छ्न भरौ क भाडा
                मन में बसौ मेरो मुलुक,
                आंख में रिटौ "मेरो पहाड."
     ख्वरा मुकुट ह्यूं चमकौ, खुट चमकौ गंगा धारा
    पार्भति को मैतुडा देश:, मेरो मुलुक कतुक प्यारा .
               धुरा जंगल, बांज पतेलि,
               फ़ल काफ़ल क्या झुलि रूनि.
               धन हिसालू, धन किल्मोडी,
               फ़ूल बुरांज फ़ुली रूनि.
   हरिया स्यारि मन खै जाछ: हौस लगुनी स्यर सिन्गारा
  पार्भति को मैतुडा देश:, मेरो मुलुक कतुक प्यारा .

         
         

Raju Da,

Great information. It is really enjoyable. (1 karma to you)

Waise Shera Da ka pura name. Sher Singh Bisht hai.


हलिया

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 717
  • Karma: +12/-0
  (1 karma to you)

Waise Shera Da ka pura name. Sher Singh Bisht hai.

भल करौ महाराज आफ़ुले.

पंकज सिंह महर

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 7,401
  • Karma: +83/-0
शेरदा की एक कविता के अंश:  

 पार्भति को मैतुडा देश:, मेरो मुलुक कतुक प्यारा,
  डान काना में जुन हंसछ:, पर्वतों में चरनि तारा.
                हौसिया छ्न डाना पर्वत
                हौसिया छ्न भरौ क भाडा
                मन में बसौ मेरो मुलुक,
                आंख में रिटौ "मेरो पहाड."
     ख्वरा मुकुट ह्यूं चमकौ, खुट चमकौ गंगा धारा
    पार्भति को मैतुडा देश:, मेरो मुलुक कतुक प्यारा .
               धुरा जंगल, बांज पतेलि,
               फ़ल काफ़ल क्या झुलि रूनि.
               धन हिसालू, धन किल्मोडी,
               फ़ूल बुरांज फ़ुली रूनि.
   हरिया स्यारि मन खै जाछ: हौस लगुनी स्यर सिन्गारा
  पार्भति को मैतुडा देश:, मेरो मुलुक कतुक प्यारा .

         
         

राजु दा +१ तुमु कें, उसी तुमर पुर नाम कि छः? अपन परिचय दिया दाज्यू http://www.merapahad.com/forum/index.php/topic,2.0.html

vklohani

  • Newbie
  • *
  • Posts: 4
  • Karma: +0/-0
dajyu logo,

sherdaki ek kavita chhi " bhekvaki sikaur jaisi chyapandi ko chhai tu"

agar aap logon ke paas hai to please upload kar dena.

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0

Lohani Ji,

Namaskar,

Sure, we would try to put this poem on forum .

thanx for visting us.


dajyu logo,

sherdaki ek kavita chhi " bhekvaki sikaur jaisi chyapandi ko chhai tu"

agar aap logon ke paas hai to please upload kar dena.

हलिया

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 717
  • Karma: +12/-0
[quote author=पंकज सिंह महर l   

राजु दा +१ तुमु कें, उसी तुमर पुर नाम कि छः? अपन परिचय दिया दाज्यू http://www.merapahad.com/forum/index.php/topic,2.0.html
[/quote]

भायौ कोप कुछीं भल, नाम में के धरि राखौ - काम देखौ.  उसिकै गोरु, बाकारन क दागडा ग्वाला पनि ऊन-जान में असली नाम लेकै भुलि जसो गयूं.  गौं का सयाना "रजुवा" कुनी और नाना-तिना कुनी "राजुदा" ततुकै याद रैगौ महाराज. तैले काम चलै ल्हिया हो.  परिचय पैली दी राखौ पै आजि दी दिनूं डबल ज के लागनई. ;D
http://www.merapahad.com/forum/index.php/topic,2.120.html

हपुरा बजानि धुरा, बानर रुख्यारो
मन मेरो हौसिया छियो, करम दुख्यारो.

महर ज्यू भल है रया महाराज,


Risky Pathak

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 2,502
  • Karma: +51/-0
One Of best By Sher da....
अघिल जमान देखोल, यस  होल  धाव
बुड घागेरी लागल, बुदी  लग्याल  सुराव

Risky Pathak

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 2,502
  • Karma: +51/-0
आम कूणे सुन नाती, बुब  के गे थिर!!!!!
च्योल बाबुक शांख थामल, जुव खातिर!!!!
मे बाबू दुश्मन होल, उडेरी च्योल!!!!!
सैणीक  इशारों पे उ, कदु जे नाचोल!!!!!

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22