Author Topic: VOCABULARY OF KUMAONI-GARHWALI WORDS-कुमाऊंनी-गढ़वाली शब्द भण्डार  (Read 119168 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
७ - लौद - (पेट ) - बाबाहो दस रवाट खै हाली तौ लौद नि भरीणै आजि ..
८- जंगाड़ या जांगौड़ - (पैर का धुटने से उपर का हिस्सा ) - जरा जंगाड़ में मालिस करि दी यार .. खाई खाई हैगे .

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
९- घुन - (घुटना ) - जरा लासण दिओ हो खड़क दा घुनन पीड़ छ .. लासणक तेल चुपड़ू ..

१०- फिनार - ( यैक वाक्य प्रयोग तुम करि खाया ) .

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
११- गणु ( धुटने से एड़ी के बीच का भाग - त्यार गणु टोड़ि द्यूल .. सरासर हिट ..

१२- नड़क्याठ - ( एड़ी ) - नड़क्याठ ओसै गो .. पत्त नै क्यालि चटका ..

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
१३- अनाड़ पिताड़ - ( आंत ) - बाबाजी वाल योग करौ .. पेटाक अनाड़ पिताड़ समेरी गे हो .
१४- भांट ( पीठ सीने की हड़्डियां ) - हंसन हंसन भांट पटै गेइन हो .

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
१५- जिबड़ - ( जीभ ) - कसु चटु जिबड़ हैगो त्योर . डाम धर तमैं .
१५-मिरी - ( मसूड़े )- ब्वारिकि दंतपाटि तो भली छ पर मिरि काल छन .
च्यूनि - ( ढोडी )- चेला तौ च्यूनि में बोकियेकि जसि दाड़ि किलै छाड़ि राखी .. कस फैशन भै तौ

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
शरीर के अंग और उनके वाक्य प्रयोग - (kumoani)

१- बरमान - ( मस्तिष्क )- रनकारा त्योर बरमान फोड़ि द्यूल फिर करलै ओच्छ्याट .
२-कपाव ( माथा ) - कपाव में एक आंगु पिठ्या लगै लिओ ..
३-गिज या थोव (होंठ ) - त्यार मी गिज थेचि द्यूल अण्ट सन्ट बुलाले .. या त्यार थोव भड्यै द्यूल

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
 पाखुड़ - ( बांह ) - जसै ब्या करौ तो स्यैणीक पाखुड़ पकड़ बेर दिल्ली लिजानै रौ ..

 कुहुन - ( हाथ का घुटना ) - गोरु कैं दूध लगूण लाग्यू तो गोरुलि कुहुन में लात मार दे .. हाथ हलकाईणै नै लागि रय बज्यूण .

 बुरमुठ्ठी आंगूं - अंगूठा ) - जरा यो कागज में बुरमुठ्ठी च्यापि दिओ .. दसकत करण नि उन अगर तो .

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
 लौद - (पेट ) - बाबाहो दस रवाट खै हाली तौ लौद नि भरीणै आजि ..

जंगाड़ या जांगौड़ - (पैर का धुटने से उपर का हिस्सा ) - जरा जंगाड़ में मालिस करि दी यार .. खाई खाई हैगे .

घुन - (घुटना ) - जरा लासण दिओ हो खड़क दा घुनन पीड़ छ .. लासणक तेल चुपड़ू ..

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
फिनार - ( यैक वाक्य प्रयोग तुम करि खाया ) .

गणु ( धुटने से एड़ी के बीच का भाग - त्यार गणु टोड़ि द्यूल .. सरासर हिट ..

 नड़क्याठ - ( एड़ी ) - नड़क्याठ ओसै गो .. पत्त नै क्यालि चटका ..
 
अनाड़ पिताड़ - ( आंत ) - बाबाजी वाल योग करौ .. पेटाक अनाड़ पिताड़ समेरी गे हो

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
 भांट ( पीठ सीने की हड़्डियां ) - हंसन हंसन भांट पटै गेइन हो .

 जिबड़ - ( जीभ ) - कसु चटु जिबड़ हैगो त्योर . डाम धर तमैं .

मिरी - ( मसूड़े )- ब्वारिकि दंतपाटि तो भली छ पर मिरि काल छन .

च्यूनि - ( ढोडी )- चेला तौ च्यूनि में बोकियेकि जसि दाड़ि किलै छाड़ि राखी

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22