Mera Pahad > MeraPahad/Apna Uttarakhand: An introduction - मेरा पहाड़/अपना उत्तराखण्ड : एक परिचय

Apna Uttarakhand: Uttarakhand Encyclopedia - अपना उत्तराखण्ड

<< < (5/6) > >>

kdeep25:
Bahoot accha laga is commudity se jud kar

हेम पन्त:
नेगी जी के दो और गाने www.apnauttarakhand.com पर

इखि ई पिरथिमा ए ही जलम मां, देखि त छै च कख देखि होलि
सुपिन्यु ह्वे होलु, कि बैम रे होलु

www.apnauttarakhand.com/ikhi-ee-prithima-ikhi-jalam-ma-love-song-n-s-negi
---
साँस छिन आस-औलाद तुमारि, हमारि डाळि झम्म

www.apnauttarakhand.com/sans-chhan-aas-aulad-hamari-narendra-singh-negi/

पंकज सिंह महर:
अपना उत्तराखंड में एक नया लेख पढ़ें
बोला भै-बन्धु तुमथें कनु उत्तराखण्ड चयेणुं च उत्तराखण्ड राज्य प्राप्ति के लिये उत्तराखण्ड के लोगों ने लगभग 50 साल तक संघर्ष किया और एक बड़े अहिंसक आन्दोलन के फलस्वरूप अलग राज्य का निर्माण हुआ। पृथक राज्य निर्माण की मांग पीछे लोगों की यह अपेक्षाएं थी कि अपना राज्य और अपना शासन होगा तो दुश्वारियां कुछ कम होंगी और सामान्य जनता की इच्छानुसार एक आदर्श राज्य की स्थापना होगी। पृथक राज्य बनाने के उद्देश्य को लेकर लड़ रहे समाज में हर तबके की अपनी-अपनी प्राथमिकतायें और अपेक्षायें थीं। उसी दौर में नेगी जी ने यह गाना लिखा, इस गाने में नरेन्द्र सिंह नेगी जी ने उत्तराखण्ड की महिलाओं, बुजुर्गो और बच्चों, आदि समाज के हर तबके से यह सवाल पूछा है कि तुम्हें कैसा उत्तराखण्ड चाहिये?
पूरा लेख आडियो सहित

सत्यदेव सिंह नेगी:
दर्द नासूर बना दिया नेताओं ने पर्वतीय राज्य और राजधानी मैंदान में

Harish Rawat:
बहुत  सुन्दर .... साईट है

Navigation

[0] Message Index

[#] Next page

[*] Previous page

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22 
Go to full version