Author Topic: MeraPahad.com Supports Anna Hajare - मेरा पहाड का अन्ना हजारे को समर्थन  (Read 20724 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0

Anubhav Upadhyay ji in Anna's movement.




एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
पहाड़ पर पहुंचकर छा गए अन्ना

Uttar Kashi | अंतिम अपडेट 16 मई 2013 5:30 AM IST पर
उत्तरकाशी। भ्रष्टाचार विरोधी मुहिम को चरम पर पहुंचाकर आम आदमी को सड़कों पर उतार देने वाले अन्ना हजार पहाड़ पहुंचकर छा गए। उत्तरकाशी जिले में जहां पर उनकी सभाएं हुईं, वहां लोगों की भीड़ उमड़ी। लोगों में अन्ना को देखने और उन्हें सुनने का क्रेज साफ दिखाई दिया। अपनी चिर परिचित शैली में अन्ना ने सरकारों को निशाने पर लिया। कहा-डेढ़ साल तक भारत के हर कोने में घूमकर लोकतंत्र बचाने के लिए छह करोड़ सैनिक तैयार करेंगे। साथ ही दूसरी आजादी के लिए संघर्ष करेंगे।
जनतंत्र यात्रा लेकर यहां पहुंचे अन्ना ने रामलीला मैदान में जनसभा केा संबोधित करते हुए कहा कि ग्राम सभा असलियत में विधानसभा और लोकसभा की जननी है। ग्राम सभा को जल, जंगल व जमीन का अधिकार दिए बिना देश में लोकतंत्र व समृद्धि नहीं आ सकती। संविधान की भावना के विपरीत विभिन्न राजनीतिक समूहों ने विधानसभा व संसद पर कब्जा कर रखा है। वे जनता के लिए नहीं सोचते। अन्ना ने कहा कि वे तीस सालों से जनता के हितों की लड़ाई लड़ रहे हैं। उन्हें रामदेव बाबा की तरह जहाज में बिठाकर घर छोड़ने का षड़यंत्र तत्कालीन गृहमंत्री पी.चिदंबरम ने रचा। आज जन लोकपाल बिल लाया होता तो गृहमंत्री जेल में होते। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में दस साल के आंदोलन और 12 दिन की भूख हड़ताल के कारण आरटीआई कानून बना। देश में यह बाद में लागू हुआ।
इनसेट---
माल खाए मदारी, नाच करे बंदर
अन्ना ने अपने भाषण में कई मर्तबा चुटकी भी ली। भारत में किसानों की स्थिति पर उन्होंने कहा कि माल खाए मदारी और नाच करे बंदर। भारत सरकार विदेशी कंपनियों को भारत बुलाकर चांदी काट रही है। यदि जनता गुंडा, भ्रष्ट, बेईमान आतंक तथा पैसा व शराब के बूते चुनाव जीतने वालों के बजाय चरित्रवान उम्मीदवारों को चुने तो ऐसी संसद उनके 25 सूत्री मांगपत्र को लागू करेगी। सही अर्थों में देश में लोकशाही व खुशहाली का राज आएगा।



नौगांव में देर रात तक जुटे रहे लोग
नौगांव/बड़कोट। प्रख्यात समाजसेवी अन्ना हजारे के इंतजार में यहां लोग मंगलवार रात तक डटे रहे। अन्ना की सभा शाम पांच बजे तय थी, मगर उनकी जनतंत्र यात्रा देर रात पौने दस बजे पहुंची। इसके बावजूद हजारों ग्रामीण वहीं डटे रहे। उन्होंने अन्ना हजारे के पहुंचने पर जोरदार नारों के साथ स्वागत किया। बुधवार की सुबह अन्ना ने बड़कोट में जनसभा को संबोधित किया। नौगांव में अन्ना हजारे ने अपने वाहन पर बने मंच से जनता को संबोधित किया। अपने आधा घंटे के भाषण में उन्होंने भ्रष्टाचार, महंगाई हटाने, जन लोकपाल लाने तथा व्यवस्था परिवर्तन पर जोर दिया। अन्ना ने जनता से आगामी लोकसभा चुनाव में भ्रष्ट, बेईमान व दागी व्यक्ति को अपना वोट न देने की अपील की। इस मौके पर व्यापार मंडल अध्यक्ष शशिमोहन राणा ने अन्ना को ऊन से बनी टोपी भेंट की। इस पर अन्ना ने कहा कि टोपियां तो उन्होंने आजतक बहुत पहनीं, लेकिन शुद्ध ऊन से बनी टोपी पहली बार पहनी। मंगलवार रात बड़कोट में रात्रि विश्राम के बाद अन्ना हजारे ने बुधवार सुबह यहां राइंका मैदान में जनसभा को संबोधित किया। उन्हें सुनने के लिए हजारों की भीड़ यहां जुटी।

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22