Author Topic: Delicious Recepies Of Uttarakhand - उत्तराखंड के पकवान  (Read 133423 times)

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 17,751
  • Karma: +22/-1
 
  आकर्षक भोजन रेसिपी लिखणो  आधारभूत   टिप्स
-
भीष्म कुकरेती
-
  फेसबुक आण से हम मादे  भौत सा रचनाधर्मियों तैं बड़ो माध्यम मिल गे।  अभिव्यक्ति कु सागर मिल गे . इनि  गृहणियों तैं  भोजन पकाणो ब्यूंत , विधि रेसिपी साझा करी  प्रसिद्धि पाणो एक बड़ो माध्यम बि  मिल गे। 
  भौत  सा मित्रोंन पूछ बल आकर्षक रेसिपी /पाक विधि लिखणो  उपाय बि  सुजावो।  तो मेरी बिठलर दगड्याण्युं  आदेश पर लिखणु  छौं बल कन रेसिपी /पाक विधि लिखण -
  १- अपण  दर्शक /पाठकों तै  जाणों -  सबसे  पैल  यु  जणन आवश्यक च तुमर दर्शक (यूट्यूब ) अर  पाठक (फेसबुक आदि ) कु छन ,  च व भाषा क्या च।  यूंको आकर्षण केमा  होलु। 
 २-  विवरणात्मक  भोजन पाक विधि  आकर्षक ,   आकर्षक आवश्यक च -  शीर्षक आकर्षक हूण  चयेंद अर  विवरणात्मक हूण  चयेंद जन - तरला दलाल द्वारा भरवां आलू  टिक्की  चाट या तरला दलाल द्वारा आलू गोभी पंजाबी रेसिपी। 
३-  रेसिपी म एक द्वी वाक्य शुरुवात म ल्याखो  कि किले  या भोजन पाक विधि आवश्यक च पढ़ण  या दिखण जनकि  - करेला एक स्वास्थ्यवर्धक भोजन च तो करेला पकाणो विधि आण जरूरी बि च। -
 ४- फ़ूड प्रोसेसिंग समय /भोजन प्रसंसकरण समय - प्रोसेसिंग (कटण -छंटण -सुधारण , छूक्यल उतारण आदि ) कु  समय लिखण से पाठकों तै सुविधा हूंद।  ।
५ - पकाणो समय - पकाण म कथगा  समय लगल भी सुविधाजनक च।  कुछ भोजन म कुकिंग समय व बेकिंग समय व सळाणो (चिलिंग ) समय क महत्व हूंद तो बताण  आवश्यक च।  माइक्रोवं म पकाण  हो तो समय , तापमान आदि सुचना दीण  चयेंद। 
६- कथगा मनिखों कुण  च - मात्रा से पता चलद  कि  कथगा मनिखों कुण  भोजन ह्वे सकद
७-  अ  से ह क्रम  म भोज्य पदार्थों की सूची - आलू , खरबूजा बीज , गुड़ , चुकंदर , जीरा , प्याज , हल्दी क्रम  म सामन कु  नाम द्याओ
८ - मात्रा   अर  संख्या ल्याखो - सामग्री समिण  मात्रा ग्राम व लहसून या तेल १ चमच जन  सूचना  दीण  से पाठक निश्चिंत रौंद।
९-  उपकरणों  अर  आकार की सूची दीण  लाभकारी च  अर  विशेष  उपकरण की सूची अवश्य -  सामन्य उपकरणों नाम दीण  क अलावा विशेष उपकरण जन इडली मेकर , स्टीमर , माइक्रोवं , एयर फ्रायर आदि क सूचना लाभकारी व प्रभावकारी हूंद।  चकली मेकर , जनकि  जलेबी  बणानो  कपड़ा , छलनी आदि की भी सूचना लाभकारी हूंद। 
१०-  भण्डारीकरण  की सूचना - कुछ भोजन तै वै  बगत ही नि  खाये जांद बल्कण म बाद म उपभोग हूंद जन मिठै , अचार , बिस्किट , सॉसेज , मसला आदि को  बाद म  उपभोग  तो  भण्डारीकरण की उचित सूचना आवश्यक हूंद कि  स्टोरिंग सही हो। 
११- कब तक खाण  की सूचना - भौत सा भोजन कु  उपभोग समय बताण  भी आवश्यक हूंद तो सूचना दे दीण  चयेंद।
१२- पोषक तत्वों की सूची - जख तक हो पोषक तत्वों की सूचना दीण  से उपभोक्ता तै लाभ हूंद। 
१३- आकर्षक स्टाइल दार फोटो - फोटो खिंचण  से पैल  आकर्षक कनो फोटो होली की कल्पना आवश्यक च अर  वे हिसाबेँ ही फोटो खैंचण  चयेंद। 
एक उदाहरण
आयुर्वेदिक झंग्वर क पौष्टिक सुपाच्य छंछिया /पळ्यो
झंग्वर  उत्तराखनडौ  सैकड़ों साल बिटेन  एक पारम्परिक स्वादिस्ट व सुपाच्य आनाज राय अर  झंग्वरौ छंछिया बि  आदि काल से इ प्रचलित च। 
सामान -
उपकरण - लोखरै कड़ै , कांसी या स्टीलौ पलटा  या डाडू
भोजन सामग्री (५ मनिखों कुण )  -
झंग्वरक चौंळ  - २०० ग्राम
छांच - एक लीटर (बिंडी खट्टी न हो तो बेहतर )
लूण  अर  मसाला - स्वादानुसार
  आयुर्वेदिक झंग्वर क पौष्टिक सुपाच्य छंछिया /पळ्यो  पकाणो  ब्यूंत /विधि
 कड़ै म पाणी उबाळो , उबलण म झंग्वरक  चौंळ  , लूण , मसल  डाळो    अर  १० मिनट  तक पकण  द्यावो। अब छांच  डाळो अर थड़कण  तक लगभग ८ मिनट तक थड़कण  द्यावो।
कांसी या स्टीलक थाळी म प्रोसो पीतळ  या ताम्बा थाळी म नि धरण व परोसण।
 बिन लूण मसाला क बि  बणद  अर  गुड़  डाळो  त  मिठ पळयो बि।
 स्वाद - हळको  खट्टो पर स्वादिष्ट  व सुपाच्य
ऋतू - सबि  ऋतुओं म किन्तु पहाड़ों म आज बि  रात नि खाये जांद।
 पोषक तत्व - औषधि गुण  वळ  च अर कब्ज आदि म भलो



Copyright @ Bhishma Kukreti 2021
  गढ़वाली भोजन पाक विधि रेसिपी लिखने की सलाह , कुमाउँनी भोजन की रेसिपी /पाक विधि लिखने की सलाह , हरिद्वार भोजन की रेसिपी /पाक विधि लिखने की सलाह , मारछा भोजन रेसिपी लिखने की सलाह ,  आकर्षक भोजन रेसिपी लिखणो  आधारभूत   टिप्स  , रेसिपी कैसे लिखी जाती है टिप्स


Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 17,751
  • Karma: +22/-1
दालों से भरवां परोठा पकाने की विधि /रेसिपी

Maya/Madhu Bahuguna की रसोई से----

सामग्री------
दाल---हरड़, चणा, मसूरी, मूँग (वन त एक दाली क भी बणै
स्कदान) कबि कबि दाल बच जांदी त फेंकण से बढ़िया
भरयाँ स्वाल या पराँठा बणै जै स्कदां।
तेल या घी, ---- जु बि आप पसन्द करदन।
हरु धनिया, हरी मर्च, प्याज, नमक, ल्यासन, आदु अपुर स्वादानुसार।
बणी दाल तैं खुली कड़ाई मा आंच मा धरीक जतगा पाणी च पुरु सूखाण।
ठंडी हूण पर बारीक कट्यूं प्याज, हरु धनिया, मर्च सब मिलै क
मस्यट तैयार कैर लीन। आटू---- लूंण, अजवैण मिलैक गूँदी क तैयार कन। बस अब चाहो त खुलू तेल मा तल सकदा या फिर तवा मा पराँठा बणै स्कदां।
इमली की खट्टी-मिट्ठी चटणी, (इमली पैली भिगे दीण, फिर गूदा तै हाथों न मसली क निचोड़ लीण कालू लूण, भुन्यू जीरु, जरा सी काली मर्च, गुड़ या चिन्नी मिलै दीण बस चटणी तैयार।)
मक्खन सफेद या अमूल, दही अचार----- जू भी आप पसन्द करदन वां की दगड़ खै स्कदां।


Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 17,751
  • Karma: +22/-1


तरबूज  कैंडी पाक विधि रेसिपी 

--- उषा बिज्ल्वाण
-
तरबूज के छिलकों को आम तौर पर फेंक दिया जाता है जबकि इसके छिलकों कई पोषक तत्व छुपे रहते हाँ .
तरबूज  कैंडी बनाने  की सामग्री -
तरबूज के छिलके 200 ग्राम ,
चीनी दो कप
थोड़ा सा खाद्य रंग । ,
उपकरण –
चाकू
 पैन
पलटा
food Processing प्रसंस्करण  विधी-तरबूज के छिलकों का लाल और हरा भाग निकाल दें बारीक बारीक काट लें
पाक विधि - अब एक पैन में एक ग्लास पानी उबाल लें कलर डालें अब कटे हुए तरबूज के छिलके डाल दे पारदर्शी होने तक पकाएं अब एक पैन में दो कप चीनी और एक कप पानी डालकर एक तार की चाशनी बना लें तरबूज के उबले छिलकौं को किसी छलनी मे निकाल दें ताकि उसका पानी निकल जाए पानी सूख जाने के बाद इनको चाशनी में 10 मिनट पकाएं लीजिये तैयार है तरबूज कैंडी
सर्वाधिकार @ उषा बिजल्वाण


Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 17,751
  • Karma: +22/-1
उत्तराखंडी पारम्परिक  आयुर्वेदिक    पनीर , शिमला मिर्च, प्याज  आलू की   पकाने की पाक विधि [/b]
-
  Recipe of Ayurvedic Traditional Recipe of Poteto , Onion , Pepper and Paneer Vegetable
 पहाड़ी भोजन  अर्थात  आयुर्वेदिक   भोजन   !
उत्तराखंड के   आयुर्वेदीय  पारपम्परिक भोजन व्यंजन विधि /पाक विधि/ पाक कला  श्रृंखला  भाग - २३
Recipe of Ayurvedic Traditional Food of Garhwal, Kumaon (Uttarakhand)part- 23
-
संकलन -  सरोज शर्मा (सहारनपुर )
-
  आयुर्वेदिक  शिमला मिर्च , पनीर व आलू की मिश्रित सब्जी  आज भारत में एक पारम्परिक सब्जी मानी जाती है।  आएं देखें कैसे पकाई जाती है -
 सामग्री -
आलू - ३ -४ कटे
पनीर - ३ ४ क्यूब
प्याज - छोटे ३ -४  छोटे कटेप्याज
शिमला मिर्च - मोटी कटी २, ३
टमाटर - दो छोटे या एक बड़ा कटा
तेल
घी
दूध - बहुत कम या मलाई
धनिया पत्ते
एक कटी हरी मिर्च - वैकल्पिक
 पिसे हल्दी व मसाले -  अपने स्वाद अनुसार
पिसे गरम मसले - स्वादानुसार
नमक - स्वादानुसार
जीरा - आधा चमच
हींग - चुटकी भर
 भोजन  प्रंसस्करण विधि , Food Processing - सभी सब्जियों को धोकर उपरोक्त विधि अनुसार काट लें।
  आयुर्वेदिक    पनीर , शिमला मिर्च, प्याज  आलू की   पकाने की पाक विधि   -
पहले पनीर को घी में  भूरा  भूनकर अलग रख दें।
 अब कढ़ाई चूल्हे में कढ़ाई रख तेल गरम कीजिये।  फिर जीरा का छौंका लगाएं।  हींग डालें व अब सभी सब्जियां माय पनीर को  तलें।
 फिर इस मिश्रण में मसाले डालें  , ह नमक डालें व कुछ देर ढक दें व सब्जियों के अपने पानी में पकने दें , कुछ देर बाद थोड़ा पानी व दूध  या मलाई डालकर  १०  मिनट के लिए पकाएं।  आलू को छूकर देखें यदि  आलू पक गया हो तो  गरम मसले व  धनिया पत्ते से गार्निश करें। 
आयुर्वेदिक आलू , प्याज , शिमला मिर्च , पनीर मिश्रित सब्जी तैयार है।  बाजरे , कोदे  या गेंहू की रोटियों संग खाएं



-
Copyright @ Saroj  Sharma  Saharanpur  , 2021
उत्तरखंड की   आयुर्वैदिक पारम्परिक भोजन  पका कला , Recipe for Ayurvedic  Traditional Cuisine of   Uttarakhand  , गढ़वाल की आयुर्वेदिक   पारम्परिक पाक कला, कुमाऊं की  आयुर्वेदीय पारम्परिक भोजन  पाक कला निरंतर ; उत्तराखंडी पारम्परिक  आयुर्वेदिक    पनीर , शिमला मिर्च आलू की   पकाने की पाक विधि ,   Recipe of Ayurvedic Traditional Recipe of Poteto , Pepper and Paneer Vegetable


Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 17,751
  • Karma: +22/-1

गुजराती खांडवी पकाने की विधि
-
सुमिता प्रवीण
-   


( उत्तराखंड टूरिस्ट प्लेस छू ये लिजी वां अब सब तरीको को भोजन सीखण को ज़रूरी है ग्यो छ।
गुजराती खांडवी)
सामग्री -
एक कप बेसन,
एक कप मठ्ठा,
 एक कप पाणि (माप ले)
1 चम्मच हल्द
नमक स्वादानुसार
बघार लिजी
( तेल, राई,सफेद तिल, करी पत्ता, हरीं धणि, हरीं मिर्च, नारियलक कद्दूकस करभे)
खांडवी  पाक विधि
एक कप बेसन, एक कप मठ्ठा, एक कप पाणि (माप ले)वी में हल्द, नमक डाल भेर एक दगड़ ब्लेंडरेल खूप घ्वेट लिया।
एक कढ़े में डाल भेर हल्की आंच में हलाते रवो। हलाते रवो जब तक गाढ़ न है जवो। गुठयाल नी पड़न चैनी ये लिजी डाडुल चलाते रवो। अब या तो थाई उल्ट कर भेर या फिर प्लेटफार्म के एकदम साफ कर भेर वी में एक डाढ़ घोल डाल भेर तुरन्त वी ढाढ़ ले उकें लम्ब- लम्ब फैला दिया जस चित्र में देखना छा। थोड़ देर ठंड हई बाद विकें एक तरफ बिटी गोल गोल मोड़ते हुए एक तरफ कर दियो। अब विकें चाकू ले काट भेर टुकुड़ कर लियो। अब बघार लिजी तेल गरम करो। वी में राई, तिल, हरीं मिर्च, करी पत्ता डाल भेर खांडवी ऊपर भरभरा दियो। अब हरीं धणि हौर नारियल कद्दूकस कर भेर परिसी दयो।
नोट :- कसे पत्त चलूँ कि घोल तैयार है ग्यो? एक चम्मच घोल उल्टी थाई में डाल भेर फैलाया। ठण्ड हुन बाद एक तरफ बिटी रोल करया अगर रोल हुन लाग रौ तो समझ्या घोल तैयार छू रोल बन्युने लिजी।
सर्वाधिकार @ सुमिता  प्रवीण


Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 17,751
  • Karma: +22/-1

कोदे (मंडुआ , रागी)के आटे की इडली बनाने की विधि
-
सोहन मेहरा
-
सामग्री

100 ग्राम कोदे का आटा!
50 ग्राम ओटस या फिर सूजी!
1 पैकेट ईनो!
100 ग्राम दही!

विधि -

सर्वप्रथम कोदे का आटा और ओटस को दही के साथ मिलाकर गाढ़ा ( थिक) आधे घंटे के लिए छोड़ दें ध्यान रहे कि पतला ना हो रोटी के आटे से थोड़ा नरम हो!उसमे स्वादानुसार नमक और दरद्री मूँगफली मिला दें और सरसों दाना और कड़ी पत्ते का तड़का लगा दें!आधे घंटे बाद उसमें Eno डाल दें! Eno डालने के बाद इडली सांचे में हल्का सा तेल लगा दें!और 5 मिनट के अंदर मिश्रण को सांचे में डाल दें! और पानी उबलने के बाद 15 से 20 मिनट तक धीमी आंच पर रहने दें!अगर मिश्रण पतला होगा तो वो खराब हो जाएगा इसलिए मिश्रण में दही इतना ही डाले कि थिक रहे!
चने की चटनी 
भुने हुए चने में अदरक हरी मिर्ची बारीक काट कर डाल दें और मिक्सी में पीस लें फिर दही स्वादानुसार नमक मिर्च नींबु डाले और फिर मिक्सी में घुमा दें!
उसके बाद सरसों दाना और कड़ी पत्ते का तड़का लगा दें!
हेल्दी और विटामिन उक्त नाश्ता बिल्कुल गरमागरम
 सर्वाधिकार @ सोहन मेहरा

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 17,751
  • Karma: +22/-1


अरसा पकाने की पाकविधि

Recipe for cooking Arsa a Sweet
-
प्रतिबिम्ब बड़थ्वाल
-

अरसे उत्तराखंड का सबसे प्रिय व्यंजन है जो हर खुशी के मौके पर बनया जाता है और कलेवे के रूप में दिया बाँटा जाता है
~अरसा~
सामग्री
- 200 ग्राम चावल
- गुड़
- 300 मिलीलीटर सरसों तेल
- पानी आवश्यकता अनुसार
बनाने की विधि
-3 घंटे के लिए पानी में चावल भिगो दें.
-3 घंटे के बाद चावल से पानी निकाले और चावल को मलमल के बाँध कर रखे जिससे पूरा पानी निकल जाए
- इन चावलों को पाउडर रूप में पीस ले
- गुड को पानी में उबाले जब तक पानी बिलकुल कम न हो जाए [ गाढ़ी चाशनी ] .
- एक ही तरीके से गुड़ सिरप और चावल मिला कर गूंथ ले जैसे आटा गूंथा जाता है
- एक कड़ाई में तेल गर्म कीजिये. मिश्रण के छोटे छोटे गोले बना कर [ जिस तरह पूरी या रोटी] .
- गर्म तेल में उन्हें तले और गरम परोसें
=========================
Ingredients
-200 gm Rice
- Jaggery
-300 ml Mustard oil to deep fry
- Water as required.
Method
-Soak the rice in water for 3 hours.
-After 3 hours, drain the water from the rice and tie the rice in a muslin cloth so that the rice is dried up.
-Grind rice into fine powder.
-Make thick syrup of jaggery by boiling the jaggery in water until it gets thick.
-Mix jaggery syrup and rice in the same manner as are adopted while preparing dough.
-Heat oil in a pan. Make balls out of the mixture and roll them into the shapes of puris or dough nuts.
-Deep-fry them in hot oil and serve hot.


Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 17,751
  • Karma: +22/-1
अरसा पकानो विधि
-
सुमिता प्रवीण

-

अरसा शुभ लगन बार में बणाई जाण वाल उत्तराखंड को खास व स्वादिष्ट व्यंजन छू।
सामग्री
200 ग्राम चावों
गुड़ ( अंदाज़ल -कम ,जादा)
सरसों तेल (तलणे लीजि)
पाण
विधि-
चावों कें 3 घण्ट लिजी पाण में भिजा दियो। वी बाद चावों कें चोख्ख सूती खतड़ में बांध भेर राखो जब तक
उमें बिटी सप्प पाण नी निथर जवो। वी बाद चावों कें पावडर जस पिस ल्यो। अब गुड़क चाशनी बणा ल्यो। अब चावों कें गुड़क चाशनी दगड़ मिस ल्यो हौर भली कें ओल ल्यो जसिक ग्यू पिसी ओलनी।अब भला- भला गोल लगड़न क चार तल ल्यो। स्वादिष्ट अरसा अब तात - तात परस दिया।
सर्वाधिकार @सुमीता  प्रवीण (मुंबई )

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 17,751
  • Karma: +22/-1


उत्तराखंडी पारम्परिक  आयुर्वेदिक चटपटी   भिंडी  मसाला  की पाक विधि


  Recipe of Ayurvedic Traditional Recipe of Okra Masaala
 पहाड़ी भोजन  अर्थात  आयुर्वेदिक   भोजन   !
उत्तराखंड के   आयुर्वेदीय  पारपम्परिक भोजन व्यंजन विधि /पाक विधि/ पाक कला  श्रृंखला  भाग - २४
Recipe of Ayurvedic Traditional Food of Garhwal, Kumaon (Uttarakhand)part- २४
-
संकलन -  उषा बिजल्वाण
-


भिंडी की सब्जी मां आयुर्वेदिक गुण ता छा ही पर बणौणम भी सरल छ । त आज मैन बणाई अपणा सगवाड़ा की भिंडी की भुजी।

 चार लोगोँ का वास्ता। 
 समय- ९० मिनट।
सामग्री- आधा किलो ताजी धुली भिडीं  थुड़ा  बड़ी १/२ इंच पौण  इंच लम्बी कटीं
 ,एक प्याज़ बड़ु बारीक कट्यूं,
एक हरी मिर्च बारीक कटीं ,
आधा चम्मच धनिया पाउडर,
आधा चम्मच हल्दी पाउडर ,
नमक स्वादानुसार,
आधा चम्मच जीरा पाउडर,
थोड़ी सी कश्मीरी लाल मिर्च,
आधा चम्मच साबुत जीरा,
आधा चम्मच सौंफ,
एक चुटकी हींग
 थोड़ा सा हरु धनिया,
दुई बडा़ चम्मच तेल
आयुर्वेदिक भिंडी सब्जी पकने की पाक विधी-
गैस में कढ़ाई रखकर, तेल गरम करें  उसमें जीरा और सौंफ डालें जब चटकने लगे तो हींग डालें
अब कटा हुआ प्याज कटी हुई हरी मिर्च डाल दे थोड़ी देर पकाने के बाद कटी हुई भिंडी डाल दें जब भिंडी आधी  पक जाए तब उसमें धनिया पाउडर हल्दी पाउडर नमक जीरा पाउडर और कश्मीरी लाल मिर्च डालें दे थोड़ी देर बहुत धीमी आंच में  पकाने के बाद, जब भिंडी नरम पड़  जाय तो गैस ऑफ कर दें ।  ध्यान दें  की भिंडी अधिक न पक  (no overcooking  ) जाय।    पकी भिंडी और किसी बाल में निकाल कर ऊपर से धनिया से गार्निश करके गरम गरम सर्व करें।  आयुर्वेदिक बाजरा , कोदा ,मकई ,  गेंहू , ओगल की रोटियों के साथ खाएं। 

-
Copyright @ उषा बिजल्वाण  , 2021
उत्तरखंड की   आयुर्वैदिक पारम्परिक भोजन  पका कला , Recipe for Ayurvedic  Traditional Cuisine of   Uttarakhand  , गढ़वाल की आयुर्वेदिक   पारम्परिक पाक कला, कुमाऊं की  आयुर्वेदीय पारम्परिक भोजन  पाक कला निरंतर ;  भिंडी मसाला रेसिपी , भिंडी मसाला पकाने की विधि , आयुर्वेदिक भिंडी सब्जी पाक विधि


Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 17,751
  • Karma: +22/-1

उत्तराखंड में टूरिस्ट लिजी तैयार पनीर विद सौते वेजिटेबल्स
-
  पारम्परिक  आयुर्वेदिक  पनीर विद  सौते विजिटबल्स  पकाने की पाक विधि

  Recipe of Ayurvedic Traditional Recipe of Paneer with Saute Vegetables
 आयुर्वेदीय  पारपम्परिक भोजन व्यंजन विधि /पाक विधि/ पाक कला  श्रृंखला  भाग - २५
Recipe of Ayurvedic Traditional Food fo  Garhwal, Kumaon (Uttarakhand)part- 25
-
संकलन - सुमिता प्रवीण 
-
उत्तराखंड में टूरिस्ट लिजी तैयार पनीर विद सौते वेजिटेबल्स
-
चार जणने लिजी
सामाग्री
पनीर 200 ग्राम
फ्रेंचबीन्स 100 ग्राम
शिमला मिर्च ( हरीं, पिंगई, लाल जे उपलब्ध हवो)
ब्रोकली एक
गाजर 200 ग्राम।
प्याज़ एक ठुल
मशरूम हौर अन्य जे ले सब्जी उपलब्ध हवो।। सबुन कें क्यूब आकारक काट ल्यो किलेकि सुंदर दिखीन चैनी टुकुड़ एक बराबर।
मसाल( हल्द, लूंण, 4 चम्मच दै, अदरक लसणक पेस्ट,कसूरी मेथी) सब साग व पनीर दगड़ हल्क हाथेल मिस ल्यो हौर 4 घण्ट लिजी मेरीनेट करणे लिजी छोड़ दिया। अब नॉनस्टिक में रिफाइंड ऑइल डाल भेर सेंक ल्यो।जादा तेल झन खितया। हल्क हाथेल उल्टी पल्टी करते रया। प्लेट में सजाभेर मथोल बिटी काय मिर्च बुरका दियो। सॉस दगड़ परसिया।

-
Copyright @ Sumita Pravin, Mumbai 2021
उत्तरखंड पर्यटन विकास  हेतु   आयुर्वैदिक पारम्परिक भोजन  पका कला , Recipe for Ayurvedic  Traditional Cuisine  for   Uttarakhand Tourism   , गढ़वाल पर्यटन हेतु आयुर्वेदिक   पारम्परिक पाक कला, कुमाऊं पर्यटन विकास हेतु   आयुर्वेदीय पारम्परिक भोजन  पाक कला निरंतर ; पारम्परिक  आयुर्वेदिक  पनीर विद  सौते विजिटबल्स  पकाने की पाक विधि


 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22