Author Topic: Marriages Customs Of Uttarakhand - उत्तराखंड के वैवाहिक रीति रिवाज  (Read 87094 times)


पंडिज्यू/Pandit Jyu

  • Full Member
  • ***
  • Posts: 111
  • Karma: +2/-0

यदि वर कन्या की कुंडली मांगलिक/पाप ग्रह के कारण नहीं मिल पा रही, इसी स्थिति में कन्या का पहले विवाह कलश के साथ होता है और फिर वर के साथ





पंडिज्यू/Pandit Jyu

  • Full Member
  • ***
  • Posts: 111
  • Karma: +2/-0

कन्या के हाथ में बंधा हुआ कंकड़




पंडिज्यू/Pandit Jyu

  • Full Member
  • ***
  • Posts: 111
  • Karma: +2/-0

कन्या और कलश का विवाह| यहा कलश को विष्णु सम रूपी समझा जाता है| कन्या का विवाह पहले भगवान् विष्णु के साथ किया जाता है |





पंडिज्यू/Pandit Jyu

  • Full Member
  • ***
  • Posts: 111
  • Karma: +2/-0

कन्यादान - गडुवे की धार





पंडिज्यू/Pandit Jyu

  • Full Member
  • ***
  • Posts: 111
  • Karma: +2/-0

कन्यादान - गडुवे की धार






 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22