Linked Events

  • फूलदेई: March 14, 2010

Author Topic: Phool Deyi: Folk Festival Of Uttarakhand - फूल देई: एक लोक त्यौहार  (Read 61894 times)

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1
वन के एकांत मैं घास काटते ,लकडी बीनते ,पुष्पित वन्लाताओं के बीच उनके कंठ से ये खुदेड़ गेट मुखरित होते है !

डांडू फूले फ्लोंलडी

गाडू बासे म्यौलडी

मैनू आयो चैत को !

हरी हवी डांडी फुलू की !

मैं खुद लगीं भूलू की !!

कभी मैत मी जांदू नी

बाबा मैं बुलोंदा नी !!


अर्थात पहाडियों आर फ्यूंली के फूल खिल रहे हैं,अदि घाटियों मैं म्यौलडी बोलने लगी है चैत का महिना आ गया है पर्वत श्रेणियां हरी भरी हो गयी है !उन्हें देखकर मुझे अपने छोटे भाइयों की याद आने लगी है ! क्योकि मैं कभी माईके जा नहीं सकी,और न मेरे पिता ही  मुझको बुलाने आ सके !

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1
विवाहिताएं फूल संक्रांति के दिन ही दिशा भेंट मांगने वाले अपने मैती ओजियों की प्रतीक्षा भी करने लगाती हैं !

कब मेरा मैती औजी दिशा भेंट आला
कब मेरा गौं-गालों की राजिखुशी ल्याला

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1
औजी दिशाओं (विवाहित बेटियाँ)की ससुराल जाकर उन्हें उनके माइके की कुशल सुनाते है !अगर दिशा को पुत्र प्राप्त हुवा तो उसे अपने हाथों से सिले हुए वेस्त्र भेंट करते हैं !

बड़ी आत्मीयता से दिशा अपने मैती औजी को दिशा भेंट देकर आशुरु पूरित नेत्रों से विदा करती है !और औजी दिशाओं की कुशल उसके मैतियों तक पहुंचा देता है !

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1
फूल संक्रान्ति : चैत के प्रथम दिन यानि 1 गते (मार्च मध्य में) को बच्चे फूल लेकर गांव के घरों में जाते है। घरों में चावल, गुड़, आदि देने की परम्परा है। बच्चों के द्वारा लाए गए चावलों से विभिन्न पकवान बनाए जाते हैं। इसे फूल संक्रान्ति कहते हैं।

पंकज सिंह महर

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 7,401
  • Karma: +83/-0
इस साल दिनांक १४ मार्च, २०१० को फूल संक्रान्ति मनाई जायेगी, सभी को इस पर्व की अग्रिम शुभकामनायें।[

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0

Phool Dei Chamma Dei,
Deni Dwar Bhari Bhakar,
Tumar Dei me, Baar-2 Namaskar.
Sapariwar Phool Dei Ki Shubhkamnaye!


Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1
फूल संक्रान्ति : चैत के प्रथम दिन यानि 1 गते (मार्च मध्य में) को बच्चे फूल लेकर गांव के घरों में जाते है। घरों में चावल, गुड़, आदि देने की परम्परा है। बच्चों के द्वारा लाए गए चावलों से विभिन्न पकवान बनाए जाते हैं। इसे फूल संक्रान्ति कहते हैं।

हेम पन्त

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 4,326
  • Karma: +44/-1
एक प्रवासी उत्तराखण्डी के दिल में कुछ यों बसती है फुलदेई पर्व की स्मृति..


एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
Happy full dayee to all friends.

एक प्रवासी उत्तराखण्डी के दिल में कुछ यों बसती है फुलदेई पर्व की स्मृति..



मनोज भौर्याल

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 87
  • Karma: +3/-0
Happy Phool Deyi: Folk Festival Of Uttarakhand - फूल देई: एक लोक त्यौहार

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22