Author Topic: Analysis of Uttarakhand Assembly Election 2012-चुनाव विश्लेष्ण  (Read 4819 times)


नेताओ ने किया उत्तराखंड वेडागर्क !


हलिया

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 717
  • Karma: +12/-0
उत्तराखण्ड की जनता सब देख रही है. पूरे देश में उत्तराखण्ड के लोगों की इमेज इमानदारी और त्याग की भावना वाले की बनी हुई ठैरी जिसे इन लोगों ने चौराहे पर नंगा कर दिया हुआ यह बात अलग हुई कि इन्हें अपने नंगेपन का बिल्कुल भी मलाल नहीं ठैरा. क्या हालत होगयी ठैरी हो, हर एक नेता चाहे छोटा हो या बडा, मु.मं. बनना चाहता है उससे कम कुछ नहीं. राज्य का बेडागर्क हो, बिकाश के बदले बिनाश हो क्या फर्क पड्ता है झेलेगी तो पहाड की जनता.

मेरे राज्य में बीजेपी और कांग्रेस दोनों राष्ट्रीय पार्टियों ने राज किया, इन दोनों पार्टियों ने हमें मुख्यमंत्रियों के अलावा कुछ भी नहीं दिया। आज भी मेरे क्षेत्र दानपुर (कपकोट-बागेश्वर) के लोग मीलों पैदल चलकर अपने घर पहुँचते हैं। आज यहाँ के गाँव विकास से वंचित हैं। यहाँ की बदहाली के कारण कोई भी सरकारी कर्मचारी चाहे अध्यापक हो, डॉक्टर हो नहीं आना चाहता।

आज जिसे भी हमने अपना प्रतिनिधि चुना या तो वह कुर्सी के लिए दौड़ लगाता रहा या वह स्वार्थी नेताओं की चालबाजी का शिकार हो गया। जिसका प्रत्यक्ष उदाहरण इस विधानसभा चुनावों के बाद आपके सामने है। किसी से हमें विकास की उम्मीद होती है तो केन्द्रीय नेतृत्व हमारी उम्मीदों पर पानी फेर देता है।


 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22