Author Topic: How To Promote Tourism - उत्तराखंड मे पर्यटन को कैसे बढाया जा सकता है?  (Read 22370 times)

Anil Arya / अनिल आर्य

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 1,547
  • Karma: +26/-0
टॉप 10 डेस्टिनेशन में अपना उत्तराखंड
ग्लोबल स्तर पर ब्रांडिंग करेंगे : सहाय
देहरादून। देश के टॉप टेन टूरिस्ट डेस्टिनेशन में उत्तराखंड का भी चयन किया गया है। इन डेस्टिनेशन की ग्लोबल स्तर पर ब्रांडिंग केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय करेगा। राज्यों में टूरिज्म विकास के संबंध में केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय जल्द ही ब्लू प्रिंट जारी करेगा।
उत्तर-मध्य राज्यों के पर्यटन मंत्रियों के द्वितीय सम्मेलन में यहां आए केंद्रीय पर्यटन मंत्री सुबोध कांत सहाय ने बृहस्पतिवार को प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि देश का घरेलू पर्यटन काफी बेहतर स्थिति में है। लेकिन विदेशी सैलानियों का आधा प्रतिशत ही देश में आ रहा है। इसे बढ़ाने की जरूरत है। मगर यदि एक प्रतिशत तक यह आंकड़ा पहुंचता है तो ठहरने के लिए पांच लाख कमरों की जरूरत होगी। राज्य सरकारों को चाहिए कि पर्यटन विकास के साथ ही होटल उद्योग को भी बढ़ावा दें। सिंगल विंडो सिस्टम में सभी क्लीयरेंस दें। सहाय ने कहा कि होटल्स पर पांच प्रतिशत सर्विस टैक्स बढ़ाया जाना उचित नहीं। इसे वापस लिया जाना चाहिए। होटल महंगे होने पर पर्यटन पर असर पड़ेगा।
एक सवाल के जवाब में सहाय ने कहा कि गंगोत्री से उत्तरकाशी तक इको सेंसिटिव जोन की केंद्र की घोषणा का पर्यटन विकास पर कोई खास असर नहीं पड़ेगा। जरूरी सावधानियां बरतते हुए काम किया जाएगा। उन्होंने कहा कि देश में धार्मिक, हेरिटेज, एडवेंचर, डिजर्ट, स्पोर्ट्स सभी तरह के टूरिज्म सेक्टर हैं, परंतु कम्यूनिकेशन और कनेक्टिविटी की कमी है। इसे विकसित करने के लिए केंद्र राज्यों को हर तरह की मदद देने को तैयार है। उन्होंने कहा कि धार्मिक पर्यटन में हिंदू सर्किट, बौद्ध सर्किट, जैन सर्किट, सिख सर्किट विकसित करने की दिशा में जल्द ही काम शुरू किया जाएगा। उन्होंने हाईस्कूल और इंटर पाठक्रम में हास्पिटैलिटी को शामिल करने की जरूरत बताई।
http://epaper.amarujala.com/svww_index.php

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0

Uttarakhand state has a lot of potential on Tourism sector but it has not been developed, the way it should have.

Presently, Tourist think that the only hill state in Uttarakhand is Nainital and Mussoorie. There are numbers of such places in Uttarakhand which needs to be developed.


एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
I fully agree with the Mr Sahay.

========================

State governments should focus on tourism sector: Sahay

PTI | 07:04 PM,Apr 21,2011
Dehra Dun, Apr 21 (PTI) State governments should focus on developing tourism sector as it does not only generates revenue but also provides employment to a large number of people, Union Tourism Minister Subodh Kant Sahay said today."Tourism not only generates lots of revenue for state governments but also provides employment to a large number of people," he said while addressing a conference of tourism ministers of north-central states at Tehri.Praising Uttarakhand for being one of the hot tourist destinations, the minister said that there are many spots here which can attract tourists in huge numbers."The number of people who visit the Great Wall of China is much more in comparison to those visiting Taj Mahal and therefore there is a need to bridge the gap by further developing Agra," Sahay added.Uttarakhand Chief Minister Ramesh Pokhriyal Nishank said that his government aims to develop the state as a model in the tourism sector.The Centre should not look the state as the one which has a population of one crore because a large number of tourists visit Uttarakhand which takes the number of people present here to more than six crore, he said adding that more than fifty lakh pilgrims come here just for the 'Char Dham Yatra' every year.He also urged the Centre to provide further assistance to the state by looking at its growing population as the state has to provide basic amenities to the pilgrims also.In order to develop tourism as an industry in the state the government has prepared various schemes to attract private investors," Nishank said.Tourism ministers of eight north-central states are participating in the two-day conference being held here.PTI CORR KVS

http://ibnlive.in.com/generalnewsfeed/news/state-governments-should-focus-on-tourism-sector-sahay/656824.html

दीपक पनेरू

  • Sr. Member
  • ****
  • Posts: 281
  • Karma: +8/-0
फिल्म :- लूट लो उत्तराखंड
 हीरो :- रमेश पोखरियाल
 हिरोइन :- बीना महाराना
 विलेन :- प्रकाश पन्त, गोविन्द बिष्ट (दुष्ट)
 लेखन :- मदन कौशिक
 विशेष सहयोग :- भगत सिंह कोश्यारी
 हास्य पुट :- एम० एस० कंडारी, बलवंत भौर्याल
 सहयोगी कलाकार :- बी. सी. खंडूरी
 कोरियोग्राफी :- त्रिवेन्द्र सिंह रावत, आशा नौटियाल
 एक्शन :- सुरेन्द्र जीना, अरविन्द पाण्डेय
 संगीत :- विजय बर्थवाल
 प्रस्तुत द्वारा :- उत्तराखंड गरीब शिक्षित कॉर्पोरेसन लिमिटेड एवं बेरोजगार संगठन
 
 ऐसे में नहीं बचाया जा सकता है उत्तराखंड का पर्यटन और उत्तराखंड .........
 
 

Anil Arya / अनिल आर्य

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 1,547
  • Karma: +26/-0
अरे @all सर जी मैंने समाचार चिपका के गलती तो नहीं कर दी कोई .. हा हा हा !!!

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0

बहुत अच्छा दीपक भाई एक दम सटीक बैठता है ..

फिल्म :- लूट लो उत्तराखंड
 हीरो :- रमेश पोखरियाल
 हिरोइन :- बीना महाराना
 विलेन :- प्रकाश पन्त, गोविन्द बिष्ट (दुष्ट)
 लेखन :- मदन कौशिक
 विशेष सहयोग :- भगत सिंह कोश्यारी
 हास्य पुट :- एम० एस० कंडारी, बलवंत भौर्याल
 सहयोगी कलाकार :- बी. सी. खंडूरी
 कोरियोग्राफी :- त्रिवेन्द्र सिंह रावत, आशा नौटियाल
 एक्शन :- सुरेन्द्र जीना, अरविन्द पाण्डेय
 संगीत :- विजय बर्थवाल
 प्रस्तुत द्वारा :- उत्तराखंड गरीब शिक्षित कॉर्पोरेसन लिमिटेड एवं बेरोजगार संगठन
 
 ऐसे में नहीं बचाया जा सकता है उत्तराखंड का पर्यटन और उत्तराखंड .........
 
 

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1
फिल्म :- लूट लो उत्तराखंड
 हीरो :- रमेश पोखरियाल
 हिरोइन :- बीना महाराना
 विलेन :- प्रकाश पन्त, गोविन्द बिष्ट (दुष्ट)
 लेखन :- मदन कौशिक
 विशेष सहयोग :- भगत सिंह कोश्यारी
 हास्य पुट :- एम० एस० कंडारी, बलवंत भौर्याल
 सहयोगी कलाकार :- बी. सी. खंडूरी
 कोरियोग्राफी :- त्रिवेन्द्र सिंह रावत, आशा नौटियाल
 एक्शन :- सुरेन्द्र जीना, अरविन्द पाण्डेय
 संगीत :- विजय बर्थवाल
 प्रस्तुत द्वारा :- उत्तराखंड गरीब शिक्षित कॉर्पोरेसन लिमिटेड एवं बेरोजगार संगठन
 
 ऐसे में नहीं बचाया जा सकता है उत्तराखंड का पर्यटन और उत्तराखंड .........
 
 

हाहाह बिलकुल सही लिखा है आपने एक दम बढ़िया झकास

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
Uttarakhand has huge scope of tourism but there many tourist destination which are still not in reach of tourist due to poor development. This is area which can generate employment and reviews for the Govt as well.

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
उत्तराखंड में हो सुविधाएं तो क्यों जाएं स्विटजरलैंड
  Story Update : Friday, May 25, 2012     1:30 AM 
     

  [/t][/t]   देहरादून। उत्तराखंड में लोकेशंस कमाल की है, कुदरत ने इस बला की खूबसूरती से नवाजा है। जरूरत इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास और सुविधाओं की हैं। अगर यह हो सका तो फिल्मों-सीरियलों की शूटिंग के लिए स्विट्जरलैंड जैसी जगहों पर नहीं जाना पड़ेगा। बृहस्पतिवार को अमर उजाला कार्यालय पहुंची फिल्म अभिनेत्री हिमानी शिवपुरी (देवकी भौजाई) ने राज्य में फिल्म की दशा और दिशा पर चिंता जताई।
मोहंड से ही आने लगती है माटी की खुशबू
हिमानी ने कहा कि अपने राज्य की बात ही अलग है। जब भी घर आती हूं तो मोहंड के पास से ही माटी की एक अलग ही खुशबू आने लगती है। पांच साल बाद मसूरी स्थित अपने घर आई हिमानी ने मां के साथ ज्यादातर समय बिताया। पिता की किताबें और आर्टिकल देखीं।

अपने ही घर में बेगानी
हिमानी इस बात से भी नाराज थी कि भले आज वह देश सहित विदेशों में भी जानी जाती हैं, वहीं अपने ही राज्य में उन्हें सम्मान नहीं मिल पाया है। राज्य सरकार के स्तर से यहां होने वाले किसी भी आयोजन में उन्हें नहीं बुलाया जाता है।

एक बार ‘रामपुर तिराहा कांड’ लोगों को झकझोरेगा
हिमानी शिवपुरी अपने पिता की कहानी को लेकर प्रोजेक्ट तैयार कर रही हैं। जिसके लिए एनएसडी (नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा) से बात की है। हिमानी ने बताया कि इस कहानी के जरिए ‘रामपुर तिराहा कांड’ फिर लोगों को झकझोरेगा । यह बेसिकली एक लव-स्टोरी होगी।

‘देवकी भौजाई’ दिल से
फेवरेट रोल :  हम राही सीरियल का देवकी भौजाई का किरदार
भविष्य में किसका किरदार निभाना चाहेंगी:   ऐसा कुछ नहीं सोचा, ऐसा किरदार निभाना चाहूंगी जिसमें ज्यादा से ज्यादा एक्टिंग का मौका मिले
आने वाली फिल्में : हाय रब्बा मैं की करां ? लव यू सोणिए, मुन्ना मांगे मेम साब

मेरे घर और रिश्तेदारी में सभी पढ़ते हैं अमर उजाला
अमर उजाला कार्यालय पहुंचकर हिमानी ने यहां का काम-काज का तरीका देखा। उन्होंने कहा कि अमर उजाला आना मेरे लिए काफी खुशी भरा है क्योंकि मेरे घर सहित रिश्तेदारी में सभी लोग अमर उजाला ही पढ़ते हैं। यही एक ऐसा अखबार है जिसमें सभी खबरें होती हैं।



Source -Amar Ujala

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1
ऐसे हाल रहे तो बढ़ गया पर्यटन
==============


साल साल से तैयार हो रहे चकराता-त्यूणी मोटर मार्ग का आज तक डामरीकरण कार्य पूरा नहीं हो पाया। उबड़ खाबड़ रोड के कारण लोगों का सफर करना मुश्किल हो रहा है। मार्ग से जुड़े गांवों के लोगों ने मुख्य अभियंता स्तर एक को शिकायती पत्र भेजकर कार्य शीघ्र पूरा कराने की मांग की है।

 लोनिवि चकराता खंड ने वर्ष 2009 में चकराता-त्यूणी मोटर मार्ग के 33 किलोमीटर भाग पर पेंटिंग कार्य हेतु 4.48 करोड़ रुपये स्वीकृत कर कार्य की जिम्मेदारी देव कंस्ट्रक्शन कंपनी को दी थी।

घटिया निर्माण को लेकर शुरुआती दौर में ही विवाद होते रहे। चार साल बाद भी कंपनी डामरीकरण कार्य पूरा नहीं करा पाईी। ढ़ाई करोड़ रुपये खर्च होने के बाद भी किलोमीटर 15 पर की गई पेंटिंग उखड़नी शुरू हो गई है।

 मार्ग से जुड़े स्थानीय ग्रामीण महावीर सिंह, भगत सिंह, श्याम सिंह, संतराम, केशर सिंह, जालम सिंह, धर्म सिंह, जोतीराम आदि का कहना है कि आजकल यात्रा सीजन चल रहा है।

 बड़ी संख्या में श्रद्धालु महासू देवता के दर्शन को हनोल मंदिर जाते हैं। जगह जगह रोड़ी व पत्थर के ढेर के कारण दुर्घटना की आशंका बनी रहती है



Dainik Jagran

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22