Author Topic: Uttarakhand Video Albums - गढ़वाली और कुमाउनी विडियो एल्बम और कलाकारों फोटो  (Read 84995 times)


Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1






Sunil Bhatt

  • Newbie
  • *
  • Posts: 2
  • Karma: +0/-0
nice to know that, you are promoting garwali culture, i am also doing same as i also like my state Uttarakhand..
you can check my blog on http://goo.gl/6yNgj

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,522
  • Karma: +22/-1
उत्तराखंड फिल्म असोसिएसन


                                              भीष्म कुकरेती     


   सन १९ ८ ३ में प्रथम जग्वाळ फिल्म  प्रदर्शित होने के बाद गढ़वाली -कुमाउनी फ़िल्में बनने का सिलसिला शुरू हुआ। फिर फिल्मों के रचनाधर्मियों को संगठित कर काम करने की भी आवश्यकता महसूस हुयी। इसी आवश्यकता पूर्ति हेतु सन २००१ में देहरादून में उत्तराखंड फिल्म असोसिएसन की नींव पड़ी जिसके अध्यक्ष श्री एस . पी . एस नेगी को बनाया गया. श्री एस . पी . एस नेगी ही वर्तमान अध्यक्ष हैं। इस संगठन में निर्माता, निर्देशक, लेखक कलाकार, गीतकार, स्म्गीत्कार, सम्पादक व अन्य तक्नीसियन हैं। 

 उत्तराखंड फिल्म असोसिएसन  देहरादून के कई उद्दयेश हैं

सर्वप्रथम उद्देश्य उत्तराखंड फिल्म उद्यम का सुचारू रूप से विकसित करना है

फिल्म विकास सम्बन्धी सृजान्त्म्क कार्यों को सम्पादन करना फिल्म उद्यम विकास को संबल देने हेतु सृजान्त्म्क कार्यों का सम्पादन

अन्तराष्ट्रीय व राष्ट्रीय फिल्म-कर्मियों व रंगकर्मियों की संगोष्ठी करना जिससे आवश्यक सुचना व ज्ञान का प्रभाव हो सके और उत्तराखंडी फिल्म उद्यम की बातें अन्तराष्ट्रीय मंचो पर हो सके

उत्तराखंड फिल्म असोसिएसन यह बात जानता है कि क्षेत्रीय फ़िल्में उत्तराखंड पर्यटन को विकसित करने में सहायक होंगी और इसी मुड़े को मद्दे नजर रख असोसिएसन राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय फिल्म निर्माताओं-निर्देशकों  के साथ सूचना आदान प्रदान कर उन्हें उत्तराखंड में फिल्म निर्माण के लिए प्रेरित करता है . राष्ट्रीय अथवा अन्तराष्ट्रीय फिल्मो की शूटिंग उत्तराखंड में होने से स्थानीय कलाकारों व तकनिसियनो को काम ही नही मिलता अपितु नई तकनीक का भी ज्ञान व अनुभव मिलता है।

   उत्तराखंड फिल्म असोसिएसन   उत्कृष्ट कार्य करने के लिए निर्देशकों, कलाकारों, लेखकों, संगीतकारों  व तकनीसियनो को समय समय पर सम्मान करता है और उन्हें प्रेरित भी करता है।

 उत्तराखंड फिल्म असोसिएसन   अपना सांस्कृतिक दल देस विदेस भेजता है जिससे सांस्कृतिक व तकनीकी ज्ञान का आदान प्रदान किया जा सके व उत्तराखंड संस्कृति का प्रचार प्रसार भी किया जा सके।

 उत्तराखंड फिल्म असोसिएसन  समय समय पर असहाय व अस्वस्थ फिल्म रचनाधर्मियों व तकनीसियनो की सहायता भी करता है।

समय समय पर उत्तराखंड फिल्म असोसिएसन   उत्तराखंड फिल्मों की समस्यायों से सरकार व अधिकारियों को अवगत कराता रहा है।

उत्तराखंड फिल्म असोसिएसन  वर्तमान पधाधिकारी -

श्री हेमंत कोचर- संरक्षक

श्री बलराज नेगी संयोजक व संरक्षक

 श्री एस . पी . एस नेगी - अध्यक्ष

श्री गोविन्द राणा -उपाध्यक्ष

श्री राजेन्द्र सिंह रावत -महासचिव

श्री मदन डुकलाण -कोषाध्यक्ष

श्री मणि भारती -सांस्कृतिक सचिव

श्री हेमंत बुटोला -सह सांस्कृतिक सचिव

श्री जॆ. एस. थापा -प्रचार -प्रसार सचिव


[ यह लेख उत्तराखंड फिल्म असोसिएसन  के कोषाध्यक्ष श्री मदन डुकलाण से बातचीत पर आधारित है)



 Copyright@ Bhishma Kukreti 1/3/2012 

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22