Author Topic: Uttarakhandi Films & Music Albums Lyrics - म्यूजिक एल्बम के गीतो के बोल  (Read 8150 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
म्यारा बाबा मि लागु सौरास
म्यारा बाबा मि लागु सौरास
अपडा मन मा लगे ना गास
अपडा मन मा लगे ना गास
मेरी बेटी बिरणी व्हैगे तू आज
मेरी बेटी बिरणी व्हैगे तू आज
रखी कुटुंब मा तू हमरी लाज
रखी कुटुंब मा तू हमरी लाज
म्यारा बाबा मि लागु सौरास
मेरी बेटी बिरणी व्हैगे तू आज
भै भैणु की रुंदी आ मुखड़ी
आँखि उदास माँ की धक धीयोंदी जिकोडी
भै भैणु की रुंदी आ मुखड़ी
आँखि उदास माँ की धक धीयोंदी जिकोडी
यूँ का बिगेर मि कन क्वै रुलों
इति दूर बाबा पट मोरी जोंलो पट मोरी जोंलो
म्यारा बाबा रखी तू यूँ को ख्याल
म्यारा बाबा रखी तू यूँ को ख्याल
अपडा मन मा लगे ना गास
अपडा मन मा लगे ना गास
म्यारा बाबा मि लागु सौरास
म्यारा बाबा मि लागु सौरास
हे मेरी बेटी तू छे जियु और जान
फर्ज सब्यु से बड़ो हुंदु कन्यादान
हे मेरी बेटी तू छे जियु और जान
फर्ज सब्यु से बड़ो हुंदु कन्यादान
आज पुरु म्यारो सुपनीयो व्हैग्याई
देख गौठयार मा बारात अ ऐग्याई बारात ऐग्याई
तै दगडी रालो म्यारो आशिर्वाद
तै दगडी रालो म्यारो आशिर्वाद
रखी कुटुंब मा तू हमरी लाज
रखी कुटुंब मा तू हमरी लाज
म्यारा बाबा मि लागु सौरास
मेरी बेटी बिरणी व्हैगे तू आज
सैंति पाली डाली लगाई
तोड़ी फूल बिरणो मा दयाई
सैंति पाली डाली लगाई
तोड़ी फूल बिरणो मा दयाई
अफ बी रोई तुम मि बी रुलाई
को रैह हुलो जैन रीत बणाई रीत बणाई
कन कैव्बो खैली कलगे सरि पराण
कन कैव्बो खैली कलगे सरि पराण

अपडा मन मा लगे ना गास
अपडा मन मा लगे ना गास
म्यारा बाबा मि लागु सौरास
म्यारा बाबा मि लागु सौरास
हे मेरी लाड़ी किलै आंसूं बगांदी
म्यारा जिकोड़ मा किलै चिर सी लगान्दी
हे मेरी लाड़ी किलै आंसूं बगांदी
म्यारा जिकोड़ मा किलै चिर सी लगान्दी
तू छे मेरी कुंगली सी पराण
तेरी खुद मा मिल बी बौल्या व्हैजणा बौल्या व्हैजणा
मेरी बेटी छके रुळै गे तू आज
मेरी बेटी छके रुळै गे तू आज
रखी कुटुंब मा तू हमरी लाज
रखी कुटुंब मा तू हमरी लाज
म्यारा बाबा मि लागु सौरास
म्यारा बाबा मि लागु सौरास
रखी कुटुंब मा तू हमरी लाज
रखी कुटुंब मा तू हमरी लाज
मेरी बेटी बिरणी व्हैगे तू आज
मेरी बेटी बिरणी व्हैगे तू आज
रखी कुटुंब मा तू हमरी लाज
रखी कुटुंब मा तू हमरी लाज
मेरी बेटी ...मेरी बेटी ...मेरी बेटी...मेरी बेटी
उत्तराखंडी गीत है
म्यारा बाबा मि लागु सौरास
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
किंगर का झाला घुगुती ..पांगर का डाला घुगुती .

किंगर का झाला घुगुती ..पांगर का डाला घुगुती .
ले घुर घुरान्दी घुगुती ..ले फुर उड़ान्दि घुगुती
..
{किंगर का झाला घुगुती ..पांगर का डाला घुगुती .
ले घुर घुरान्दी घुगुती ..ले फुर उड़ान्दि घुगुती
..}
ले टक लगान्दी घुगुती ..के रेंदी
बिगांदी घुगुती ..
के देश की होली घुगुती ..के देश बे आई
घुगुती ..
किंगर का झाला......होए होए ..
किंगर का झाला घुघूती ..पांगर का डाला घुघूती ..
ले घुर घुरन्दी घुघूती ..ले फुर उड़ान्दि घुगुती
..
{किंगर का झाला घुगुती ..पांगर का डाला घुगुती .
ले घुर घुरान्दी घुगुती ..ले फुर उड़ान्दि घुगुती
..}
तू मालु झाले की घुगुती ..
तू केसों रंग की घुगुती ..तू कब बसदी
घुगुती..
तू कन बसानी घुगुती ...-
तू मालु झाले की ..........होए होए ..
तू मालु झाले की . घुगुती ..
तू मालु रंग की घुगुती ..तू कब बसदी
घुगुती..
तू कन बसानी घुगुती ...-
-------------- -----------
तू मालु झाले की घुगुती ..तू केसों रंग की
घुगुती ..
तू कब बसदी घुगुती..तू कन बसानी
घुगुती ...
तू मालु झाले की...होए होए ..
तू मालु झाले की घुगुती ..तू मालु रंग की
घुगुती ..
बल चैत बैशाख घुगुती ..तू घुर घुरांदी घुगुती
..
{किंगर का झाला घुघूती ..पंगर का डाला घुघूती ..
ले घुर घुरन्दी घुघूती ..ले फुर उरांदी
घुगुती ..}
त्वेन तौल नी जाण घुगुती ..अखोड खिसायु
घुगुती ..
वो बारह मैनों की घुगुती ..एगे ऋतू बोडी
की घुघूती ..
तेल तोल नी जान घुगुती ..अखोड खिसायु
घुगुती ..
वो बारह मैनों की घुगुती ..एगे ऋतू बोडी
की घुघूती ..
धारु मा फूली गे..होए ..होए ..
धारु मा फूली गे घुगुती ..धर वालू बुरांस घुघूती
..
पतालू फूली गे घुगुती ..फूल सेतु सेल्बाड़ी
घुगुती ..
{किंगर का झाला घुघूती ..पंगर का डाला घुघूती ..
ले घुर घुरन्दी घुघूती ..ले फुर उरांदी
घुगुती ..}

ले घुर घुरन्दी घुघूती ..ले फुर उरांदी
घुगुती .
तू खोंन न खाय घुघूती जिवारड ना जायं घुघूती
बल पत्ता का तौला घुघूती तक़दीर बोतियूं च घुघूती
तू खोंन न  खाय घुघूती जिवारड ना जायं घुघूती
बल पत्ता का तौला घुघूती तक़दीर बोतियूं च घुघूती
मेरु सदु बन्दुक्या  ..होए ..होए ।
मेरु सदु बन्दुक्या घुघूती ते मारदलु घुघूती
तू एक अवन्ति घुघूती सरब बनलु घुघूती

किंगर का झाला घुघूती ..पंगर का डाला घुघूती ..
ले घुर घुरन्दी घुघूती ..ले फुर उरांदी
घुगुती ..}

तू खोंन न  खाय घुघूती भंंगलौद ना जाय घुघूती ..
तेन फेन फंसॉलू  घुघती  ते फांस लगलू घुघूती

तू खोंन न  खाय घुघूती भंंगलौद ना जाय घुघूती ..
तेन फेन फंसॉलू  घुघती  ते फांस लगलू घुघूती

तेरी खुटिया जली  ..होए ..होए ।
तेरी खुटिया जली घुघूती तेर संकि सुकेली घुघूती
ते मारदलु घुघूती ते अजब बनलु घुघूती

किंगर का झाला घुघूती ..पंगर का डाला घुघूती ..
ले घुर घुरन्दी घुघूती ..ले फुर उरांदी
घुगुती ..}.
किंगर का झाला घुघूती ..पंगर का डाला घुघूती ..
ले घुर घुरन्दी घुघूती ..ले फुर उरांदी
घुगुती ..}

गढ़वाली गीत
अनुवाद किया है गढ़वाली भाषा को बढ़वा देने के लिये

बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ
मेरा ब्लोग्स
http:// balkrishna_dhyani.blogspot.com

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
August 7 at 6:22am
जा जा बेटी नगणि बाजार दैजा दीयूल रुपयों हजार

जा जा बेटी नगणि बाजार दैजा दीयूल रुपयों हजार
ना ना बाबा मै नि जांदू नि जांदू बाबा नगणि बाजार

जा जा बेटी नगणि बाजार दैजा दीयूल रुपयों हजार
ना ना बाबा मै नि जांदू नि जांदू बाबा नगणि बाजार

जा जा बेटी नगणि बाजार त्वै जा दीयूल नगणि बाजार
जा जा बेटी नगणि बाजार त्वै जा दीयूल नगणि बाजार

तख जो बाबा क्या खाणु खांदा तख जो बाबा क्या लाणू लांदा
तख जो बाबा क्या खाणु खांदा तख जो बाबा क्या लाणू लांदा

खांदा बेटी फाफरा पोळीलांदा बेटी ऊना की चोळी
खांदा बेटी फाफरा पोळी लांदा बेटी ऊना की चोळी

तख्त बाबा कतै नि जांदू ना ना बाबा जुगै नि जांदू
तख्त बाबा कतै नि जांदू ना ना बाबा जुगै नि जांदू

जा जा बेटी उंदा गंगाडु त्वै जा दीयूल उंदा गंगाडु
जा जा बेटी उंदा गंगाडु त्वै जा दीयूल उंदा गंगाडु

तख जो बाबा क्या खाणु खांदा तख जो बाबा क्या लाणू लांदा
तख जो बाबा क्या खाणु खांदा तख जो बाबा क्या लाणू लांदा

खांदा बेटी झंगोरू जाणु लांदा बेटी पछनडू लाणू
खांदा बेटी झंगोरू जाणु लांदा बेटी पछनडू लाणू

तख्त बाबा कतै नि जांदू ना ना बाबा जुगै नि जांदू
तख्त बाबा कतै नि जांदू ना ना बाबा जुगै नि जांदू

जा जा बेटी फन्डेसा लाणा त्वै जा दीयूल फन्डेसा लाणा
जा जा बेटी फन्डेसा लाणा त्वै जा दीयूल फन्डेसा लाणा

तख जो बाबा क्या खाणु खांदा तख जो बाबा क्या लाणू लांदा
तख जो बाबा क्या खाणु खांदा तख जो बाबा क्या लाणू लांदा

लांदा बेटी मडुआ साडी खांदा बेटी कोदा को बाड़ी
लांदा बेटी मडुआ साडी खांदा बेटी कोदा को बाड़ी

तख्त बाबा कतै नि जांदू ना ना बाबा जुगै नि जांदू
तख्त बाबा कतै नि जांदू ना ना बाबा जुगै नि जांदू

तख्त बाबा कतै नि जांदू ना ना बाबा जुगै नि जांदू
जा जा बेटी नगणि बाजार त्वै जा दीयूल नगणि बाजार

तख्त बाबा कतै नि जांदू ना ना बाबा जुगै नि जांदू
जा जा बेटी उंदा गंगाडु त्वै जा दीयूल उंदा गंगाडु

तख्त बाबा कतै नि जांदू ना ना बाबा जुगै नि जांदू
जा जा बेटी फन्डेसा लाणा त्वै जा दीयूल फन्डेसा लाणा

तख्त बाबा कतै नि जांदू ना ना बाबा जुगै नि जांदू

उत्तराखंडी गीत है
जा जा बेटी नगणि बाजार दैजा दीयूल रुपयों हजार
गायक नरेंद्र सिंग नेगी जी
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
घुघुती उडी जा उडी जा घुघुती
घुघुती नेह जा नेह जा घुघुती
ने.....ह जा
उडी जा उडी जा घुघुती उडी जा
नेह जा नेह जा घुघुती नेह जा
नेह जा मेरा घर नेह जा मेरा घर
नेह जा मेरा घर नेह जा मेरा घर
याद मैके भौत औणु ...............
याद मैके भौत औणु मेरु गौं मेरु घर
मेरु गौं मेरु घर मेरु गौं मेरु घर
मेरु गौं मेरु घर
घुघुती उडी जा उडी जा घुघुती
घुघुती नेह जा नेह जा घुघुती
ने.....ह नेह जा ,ने.....ह जा
ईजा ते कैये रत ग्याला याद तेरी ओंछी
भैणी मैके भौते तू बाडुली लागोंछी
सुणु सुणु हथ मेरु राखी कब बांधेली
सुणु सुणु हथ मेरु राखी कब बांधेली
जाणी कब तुम दगडी भेंट मेरी हुली
घुघुती उडी जा उडी जा घुघुती
घुघुती नेह जा नेह जा घुघुती
ने.....ह नेह जा ,ने.....ह जा
मेरी ईजा का खुठीयू में तू शीश नवै ऐई
उनु की चरण धूलि म्यारा लिजी ली ऐ
भैणी मेरी प्यारी प्यारी विंथे कैये दी ऐ
भैणी मेरी प्यारी प्यारी विंथे कैये दी ऐ
ऐसीके रोज मै बाडुली लगोंणी रै ऐ
घुघुती उडी जा उडी जा घुघुती
घुघुती नेह जा नेह जा घुघुती
ने.....ह नेह जा ,ने.....ह जा
कसो मै अभागी चेलो कसो अभागी भाई
हो घुघुती में लागि ईजा भैणी की नरवाई
त्यारा जसा पंखा हुणु उडी बेर जाणु
त्यारा जसा पंखा हुणु उडी बेर जाणु
खुबै जी भर बेर उनु मै देख्णु
घुघुती उडी जा उडी जा घुघुती
घुघुती नेह जा नेह जा घुघुती
ने.....ह जा ,ने.....ह जा
ने.....ह जा ,ने.....ह जा
ने.....ह जा ,ने.....ह जा
उत्तराखंडी गीत है
घुघुती उडी जा उडी जा घुघुती
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
August 13 at 5:32am ·
तेरी माया
तेरी माया जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
तेरी माया जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
तेरी छुईं बातों को छन्द भलो लग्दो पियार
तेरा संग मा अ रस रसिगे
तेरी माया जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
तेरी छुईं बातों को
छन्द भलो लग्दो पियार
तेरा संग मा अ रस रसिगे
तेरी माया जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
सरी धणी को धांण मेरु त्वै मा पराण
सच्ची मूल मूल तेरी हंसी मा हंसीगे
सरी धणी को धांण मेरु त्वै मा पराण
सच्ची मूल मूल तेरी हैंसी मा हैंसीगे
तेरी माया जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
सच्ची भलो भलो सी भाग हमरु माया को धागु
सच्चा बंधन की डोर मा सजीगे
सच्ची भलो भलो सी भाग हमरु माया को धागु
सच्चा बंधन की डोर मा सजीगे
तेरी माया जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
सुपनिया त्यारा ही देख्दु त्वै बिना रै नि सक्दु
बरखा माया की रिमझिम बरसीगे
सुपनिया त्यारा ही देख्दु त्वै बिना रै नि सक्दु
बरखा माया की रिमझिम बरसीगे
तेरी माया जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
तेरी छुईं बातों को
छन्द भलो लग्दो पियार
तेरा संग मा अ रस रसिगे
तेरी माया जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
तेरी माया जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
जियु मा बसिगे
उत्तराखंडी गीत है
तेरी माया जियु मा बसिगे
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
August 12 at 7:42am ·
त्यारा ख्यालों की दुनिया मा डूबीयूँ रोऊं मि
जन्मदिन की भौत भौत सुब कामना श्री नरेंद्र सिंह नेगी जी
त्यारा ख्यालों की दुनिया मा डूबीयूँ रोऊं मि
त्वै थे ख्याल आई त लटुली फूली गैनी
लटुली फूली गैनी
त्यारा ख्यालों की दुनिया मा डूबीयूँ रोऊं मि
त्वै थे ख्याल आई त लटुली फूली गैनी
लटुली फूली गैनी
रुझ दा भिझ दा तरी पर ऐनी सौंण भादों
रुझ दा भिझ दा तरी पर ऐनी सौंण भादों
मिन बोली लठ्या लूँ विं खोजी ल्याळो
दडमन असधरियोँ न मुखड़ी छल्याणु रोऊं मि
आंसू उबेनी त लटुली फूली गैनी
लटुली फूली गैनी
त्यारा ख्यालों की दुनिया मा डूबीयूँ रोऊं मि
त्वै थे ख्याल आई त लटुली फूली गैनी
लटुली फूली गैनी
कोँपू दू कोँपू दू थर थर फिर हियुन्द आई
कोँपू दू कोँपू दू थर थर फिर हियुन्द आई
त्यारा बाठों हियुं बी मैं मा ढोली ग्याई
टप टप पठळीयूँ को हियुं सी गल्नु रोऊं मि
मौल्यार आई त लटुली फूली गैनी
लटुली फूली गैनी
हैंस दू खेल दू खिल खिल बसन्त आई
हैंस दू खेल दू खिल खिल बसन्त आई
मेरी सुनि देलियों मा फूल ढोली ग्याई
मूल मूल हैंस्दा फूलों मा तै खोज्णु रोऊं मि
खोजी खाजी आली त लटुली फूली गैनी
लटुली फूली गैनी
त्यारा ख्यालों की दुनिया मा डूबीयूँ रोऊं मि
त्वै थे ख्याल आई त लटुली फूली गैनी
लटुली फूली गैनी
अंगार सी बरखी नि घाम रूडी बुडी
अंगार सी बरखी नि घाम रूडी बुडी
छमोटोल पाणी पै की बी सैली नि पौडी
झपन्याळी लटल्यों को छैल लौक्याणु रोऊं मि
हाथ पौछिन त लटुली फूली गैनी
लटुली फूली गैनी
त्यारा ख्यालों की दुनिया मा डूबीयूँ रोऊं मि
त्वै थे ख्याल आई त लटुली फूली गैनी
लटुली फूली गैनी
लटुली फूली गैनी लटुली फूली गैनी
लटुली फूली गैनी लटुली फूली गैनी
उत्तराखंडी गीत है
त्यारा ख्यालों की दुनिया मा डूबीयूँ रोऊं मि
गायक श्री नरेंद्र सिंह नेगी जी
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
August 11 at 5:31am ·
अप्डी तों शरम्याली आंखियुं ...
देखण दया जरा इना त देखा ...
हो ...देखण दया जरा इना त देखा ...
तुमरी समणि शर्म च आणि
हम थे भारी शर्म च आणि
पैली तुम जरा ऊना त देखा
कब तके शर्माणि लुकनी राली ब्योली
कबित आलो बसंत कबित हैंसली फ्योंली
रूखा डंडा व्है जाला हैरा
जर सी तुम यूँ जना त देखा
तुमरी समणि शर्म च आणि
पैली तुम जरा ऊना त देखा
शर्म बी तुमरी चा आंखियुं मा बी तुमि
जिकोडी मा तुमरी माया कुटी कुटी खुनि
भैर भित्र तुमारी मूरत
क्याजी करा अब कनाज देखा
हो ...क्याजी करा कनाज देखा
अप्डी तों शरम्याली आंखियुं ...
देखण दया जरा इना त देखा ...
छोड़ा देखणा छिन लोक हाथ यानो ना खींचा
हमरा गौं मा रिवाज शर्माणु को निचा
दूर डांडीयूँ का पार लेहि जा मा हंसणी
चला उडी जोंला दोई का दोई पंछी बणी
....पंछी बणी ....पंछी बणी
डलियों का टूक बणोला घोल
सुख ही सुख हुलु जाना बी देखा
हो..... सुख ही सुख हुलु जना बी देखा
हो अ हो हो ............
उत्तराखंडी गीत है
अप्डी तों शरम्याली आंखियुं ...
गायक सुरेश वाडकर
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
August 6 at 4:45am ·
या जिकोडी की ऐका दुनिया लोकों
या मिथे तुम गप रैन दयाव
मि पीड़ा थे ख़ुशी कन कै कैदयु
जै कैना छन ऊँ थे कैन दयावा
या जिकोडी की ऐका दुनिया लोकों
ये फूल धरा मा कनो फूली
ये फूल धरा मा कनो फूली
माळी की नजरि मा माया निच
हैंस्दा हैंस्दा क्या क्या देख लिनि
अब बगण छन नेडू बगण दयावा
या जिकोडी की ऐका दुनिया लोकों
एक सुपनिया ख़ुशी का देखि नि
एक सुपनिया ख़ुशी का देखि नि
देखि छ्या कबी त बिसरी गियूँ
मानी छया तुमन कुछ दे ना स्की
जो दियुं छया तुमन वैथे त सैण देयु
या जिकोडी की ऐका दुनिया लोकों
क्या पीड़ा कैको को क्वी लेंण हुलू
क्या पीड़ा कैको को क्वी लेंण हुलू
इतगा त कैमा बी पीड़ा निच
बगण छन नेडू त औरि बगा
बल इन घास रैणु छ्या त रैंण दयावा
या जिकोडी की ऐका दुनिया लोकों
या मिथे तुम चुप रैन दयाव
मि पीड़ा थे ख़ुशी कन कै कैदयु
जै कैना छन उन थे कैन दयावा
या जिकोडी की ऐका दुनिया लोकों
एक हिंदी गीत है
या जिकोडी की ऐका दुनिया लोकों
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
August 5 at 2:54am ·
हे जौन्याळी रात मंगसिर मैनो
हे जौन्याळी रात मंगसिर मैनो
झिलमिल गैणों की खंडो खेन्दु झम
हे ...... अ झम
जौन्याळी रात मंगसिर मैनो
झिलमिल गैणों की खंडो खेन्दु झम
जौन्याळी ऋतू मा जाडा को मैनो
गीत लगे की ना चलों चलियुं झम
जौन्याळी ऋतू मा जाडा को मैनो
गीत लगे की ना चलों चलियुं झम
हो .... अ छम
गोंदक्यालि हातियों मा चूड़ी बजे छम छम
गोंदक्यालि हातियों मा चूड़ी बजे छम छम
छोरा तेरी बांसुली का घुंघुर बजे छम छम
छोरा तेरी बांसुली का घुंघुर बजे छम छम
झम
हे जौन्याळी रात मंगसिर मैनो
झिलमिल गैणों की खंडो खेन्दु झम
सोनारों की सोन देयी ऐजा नोनि गैल मा
सोनारों की सोन देयी ऐजा नोनि गैल मा
स्याणो का सोन खाल दिल मा तेरा बोल क्या
स्याणो का सोन खाल दिल मा तेरा बोल क्या
नरगी की तू ठंडो पाणी पिजा नोनि छा म क्या
नरगी की तू ठंडो पाणी पिजा नोनि छा म क्या
मै ने पीणी मै न पीणी मैं नि आंदो गैल मा
मै ने पीणी मै न पीणी मैं नि आंदो गैल मा
हे जौन्याळी रात मंगसिर मैनो
झिलमिल गैणों की खंडो खेन्दु झम
हे आ झम
गोंदक्यालि हातियों मा चूड़ी बजे छम छम
गोंदक्यालि हातियों मा चूड़ी बजे छम छम
छोरा तेरी बांसुली का घुंघुर बजे छम छम
छोरा तेरी बांसुली का घुंघुर बजे छम छम
हे जौन्याळी रात मंगसिर मैनो
झिलमिल गैणों की खंडो खेन्दु झम
म्यारा गौं को सैणो बाटो ऐजा नोनि परया गौं
म्यारा गौं को सैणो बाटो ऐजा नोनि परया गौं
परया गौं मि क्या करलु बोल मिथे क्या धरयुं
परया गौं मि क्या करलु बोल मिथे क्या धरयुं
सोना चांदी को बणालो पुरो बतलो परया गौं
सोना चांदी को बणालो पुरो बतलो परया गौं
तेर कूड़ा कैका बाण मि नि आंदो परया गौं
त्यारा कूड़ा कैका बाण मि नि आंदो परया गौं
जौन्याळी रात मंगसिर मैनो
झिलमिल गैणों की खंडो खेन्दु झम
हे .... छम
तेरी खुटी मा चांदी की पैजी बजे छम छम
तेरी खुटी मा चांदी की पैजी बजे छम छम
छोरा तेरी हुड़की बजे डम डामा डम डम
छोरा तेरी हुड़की बजे डम डामा डम डम
झम
हे जौन्याळी रात मंगसिर मैनो
झिलमिल गैणों की खंडो खेन्दु झम
सैरो ह्युंद गे सुणा देई तैन बोल्यों मी माणी झम
सैरो ह्युंद गे सुणा देई तैन बोल्यों मी माणी झम
मि जमाना देखि रैगी मैन किलै नि जाणी झम
मि जमाना देखि रैगी मैन किलै नि जाणी झम
मै बारात लेकि ओंलो जागी रे ब्योली बणी
मै बारात लेकि ओंलो जागी रे ब्योली बणी
वर बणीकी ऐजे गैल्या रोलों जगियूं त्वै खणी
वर बणीकी ऐजे गैल्या रोलों जगियूं त्वै खणी
हे जौन्याळी रात मंगसिर मैनो
झिलमिल गैणों की खंडो खेन्दु झम
हे झम
गोंदक्यालि हातियों मा चूड़ी बजे छम छम
गोंदक्यालि हातियों मा चूड़ी बजे छम छम
छोरा तेरी बांसुली का घुंघुर बजे छम छम
छोरा तेरी बांसुली का घुंघुर बजे छम छम
गोंदक्यालि हातियों मा चूड़ी बजे छम छम
गोंदक्यालि हातियों मा चूड़ी बजे छम छम
छोरा तेरी बांसुली का घुंघुर बजे छम छम
छोरा तेरी बांसुली का घुंघुर बजे छम छम
जौन्याळी रात मंगसिर मैनो
झिलमिल गैणों की खंडो खेन्दु झम
उत्तराखंडी गीत है
जौन्याळी रात मंगसिर मैनो
गायक उदित नारयण जी
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
घास कटिक प्यारी छैला ऐ
घास कटिक प्यारी छैला ऐ
रुम्क व्हैगे घार एजादी
घास कटिक प्यारी छैला ऐ
रुम्क व्हैगे घार एजादी
दुदी का नौना की हिंगर गड़ीं चा ऐ
रुम्क व्हैगे घार एजादी
घास कटिक प्यारी छैला ऐ
घास का बाना कै बेल गैई
बौड़ी की घार किलै नि ऐई
घास का बाना कै बेल गैई
बौड़ी की घार किलै नि ऐई
वै बेल लौली मि बी बथै जा ऐ
रुम्क व्हैगे घार एजादी
घास कटिक प्यारी छैला ऐ
ऊंचा डंडा बी अछेई गैना
लोगों की ब्वारी घर बौड़ी ऐना
ऊंचा डंडा बी अछेई गैना
लोगों की ब्वारी घर बौड़ी ऐना
त्वै बिना घर मयारू सुनु हुँयूँ चा ऐ
रुम्क व्हैगे घार एजादी
घास कटिक प्यारी छैला ऐ
ऊनि बसग्याली घासे गढोली
कुछी छोरी त्वै मा गरी हुंई हुली
ऊनि बसग्याली घासे गढोली
कुछी छोरी त्वै मा गरी हुंई हुली
अफ ऐ अयुं छो मि मा दे जा ऐ
रुम्क व्हैगे घार एजादी
घास कटिक प्यारी छैला ऐ
त्यारा मैता का पौणा अंयां छिन
बांच दे सबी धे लगणा छिन
त्यारा मैता का पौणा अंयां छिन
बांच दे सबी धै लगणा छिन
एक बेर हां बोली मन थे बौथे जा ऐ
रुम्क व्हैगे घार एजादी
घास कटिक प्यारी छैला ऐ
बरखणा आंसूं सौंण भादों सी
आंखि भरी छन पाणी की रौं सी
बरखणा आंसूं सौंण भादों सी
आंखि भरी छन पाणी की रौंसी
यूँ आंसूं तू ई ऐकि पूंजी जादि ऐ
रुम्क व्हैगे घार एजादी
दुदी का नोना की पिंगल गडी चा ऐ
रुम्क व्हैगे घार एजादी
घास कटिक प्यारी छैला ऐ
रुम्क व्हैगे घार एजादी
रुम्क व्हैगे घार एजादी
रुम्क व्हैगे घार एजादी

उत्तराखंडी गीत है
रुम्क व्हैगे घार एजादी
गीत जीत सिंग नेगी जी
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22