Author Topic: Uttarakhandi Films & Music Albums Lyrics - म्यूजिक एल्बम के गीतो के बोल  (Read 8185 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
July 30 at 8:34am ·
पुष्पा छोरी पौड़ीखाल की ~ गजेंद्र राणा
पुष्पा छोरी पौड़ीखाल की, लगदी छे तू बड़ा कमाल की
सूत बुनी टांड बे पुष्पा , सूत बुनी टांडा हो -२
पूर फँस बैटिंग बे पुष्पा ,तू छे भारी बांदा हो -२
पुष्पा छोरी …ओये होये होये
पुष्पा छोरी पौड़ीखाल की, हसदी छे तू बड़ा कमाल की
पुष्पा छोरी पौड़ीखाल की, लगदी छे तू बड़ा कमाल की -२
भात पसई मांडा बे पुष्पा,चौल पसई मांडा हो -२
तेरा बाना खैन बे पुष्पा, पटवारीयूं का डांडा हो -२
पुष्पा छोरी …ओये होये होये
पुष्पा छोरी पौड़ीखाल की, हिटदी छे तू बड़ा कमाल की
पुष्पा छोरी पौड़ीखाल की, लगदी छे तू बड़ा कमाल की -२
भूनी जाल चौमा बे पुष्पा,भूनी जाल चौमा हो -२
तेरी मेरी माया की चरचा,ख़ास पटी गौ गौ मा हो -२
पुष्पा छोरी …ओये होये होये
पुष्पा छोरी पौड़ीखाल की, उमर तेरी सत्रह साला की
पुष्पा छोरी पौड़ीखाल की, लगदी छे तू बड़ा कमाल की-२
खाई जाल केयला बे पुष्पा,खाई जाल केयला हो -२
मैं मिलण ऐई जे पुष्पा, जामनी का मेला हो -२
पुष्पा छोरी …ओये होये होये
पुष्पा छोरी पौड़ीखाल की, चोंटी तेरी बड़ा कमाल की
पुष्पा छोरी पौड़ीखाल की, लगदी छे तू बड़ा कमाल की-२
बाखुरी बुराण बे पुष्पा, बाखुरी बुराण हो -२
मरी मीटी जानी बे पुष्पा,मैन त्यारा बाना हो -२
मरी मीटी जोलों बे पुष्पा,मैत त्यारा बाना हो
पुष्पा छोरी …ओये होये होये
मरी मीटी जोलों बे पुष्पा,मैत त्यारा बाना हो
पुष्पा छोरी पौड़ीखाल की, कमरी तेरी बड़ा कमाल की
पुष्पा छोरी पौड़ीखाल की, लगदी छे तू बड़ा कमाल की-२
उत्तराखंडी गीत है
पुष्पा छोरी पौड़ीखाल की, लगदी छे तू बड़ा कमाल की
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
लुकी छुपी डरी डरी की
लुकी छुपी डरी डरी की
मन मा सांसों भरी की
लुकी छुपी डरी डरी की
मन मा सांसों भरी की
त्वै मिलण अयों छो
सौ सिंगार करि की
रूण झुण बरखा की झड़ी मा हाय
सौण भादों की कोयेड़ी मा
ऐजा ऐजा रे गैल्या ऐजा
ऐजा ऐजा रे गैल्या ऐजा
लुकी छुपी डरी डरी की
मन मा सांसों भरी की
लुकी छुपी डरी डरी की
मन मा सांसों भरी की
त्वै मिलण अयों छो
गाद गद्न्या तरी की
रूण झुण बरखा की झड़ी मा हां
सौण भादों की कोयेड़ी मा
ऐजा हे ऐजा हे गैल्या ऐजा
ऐजा हे ऐजा हे गैल्या ऐजा
कुंवारी कुंगली गति मा बरखा धेड़ूँ की मार चा
कुंवारी कुंगली गति मा बरखा धेड़ूँ की मार चा
कनो करी ढकोंण छा ई चदरी की आड़ चा
सजण नि देंद मिलण नि देंद
सजण नि देंद मिलण नि देंद
जल्मों की बैरी बरखा रिसाड चा
ईं बरखा समजै जा
ऐजा ऐजा रे गैल्या ऐजा
ऐजा ऐजा रे गैल्या ऐजा
गली नि जैली बून्द बरखा पाणी का जो पौडला
गली नि जैली बून्द बरखा पाणी का जो पौडला
खिळयूँ खिळयूँ रूप रंग और बी निखारला
नॉनी सी की गत मा मोतियों का बून्द
नॉनी सी की गत मा मोतियों का बून्द
थो खै निथर जाल तैरो कया बिगाडला
आंखियूँ की तिस बुझै जा
ऐजा रे गैल्या ऐजा
ऐजा ऐजा रे गैल्या ऐजा
इकुली बिंदुली सुरमा लाल पौडर बगेगे
इकुली बिंदुली सुरमा लाल पौडर बगेगे
सज धज बिगाड़ी सियूंदी फुंदी रूझैगे
सौत सी निर्भगी ऐ हुली कख भटी
सौत सी निर्भगी ऐ हुली कख भटी
तन तरसे गे जान सुखै गे
ईं बरखा समजै जा
ऐजा रे गैल्या ऐजा
ऐजा ऐजा रे गैल्या ऐजा
बरखा त निर्दोष च पर दोष क्वी जरूर चा
बरखा त निर्दोष च पर दोष क्वी जरूर चा
सच पूछ दी मैमा तेरी ज्वानी को कसूर चा
रत्नाली आंखीं घनघोर माया
रत्नाली आंखीं घनघोर माया
ज्वानी का ना समातन
मन चकाचूर चा
मन की बात बिंगे जा
ऐजा रे गैल्या ऐजा
ऐजा ऐजा रे गैल्या ऐजा
ऐजा ऐजा रे गैल्या ऐजा
ऐजा ऐजा रे गैल्या ऐजा
ऐजा ऐजा रे गैल्या ऐजा
ऐजा ऐजा रे गैल्या ऐजा
उत्तराखंडी गीत है
लुकी छुपी डरी डरी की
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

Raje Singh Karakoti

  • Sr. Member
  • ****
  • Posts: 477
  • Karma: +5/-0
बहुत बढ़िया मेहता जी


एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
ओ मेरा बाजु रंगा रंग दे बेचारी रंगा लेली मोला मेरा बाजु रंगा
ओ मेरा बाजु रंगा रंग दे बेचारी रंगा लेली मोला मेरा बाजु रंगा
ओ मेरा बाजु रंगा रंग दे बेचारी रंगा लेली मोला मेरा बाजु रंगा
ओ मेरा बाजु रंगा रंग दे बेचारी रंगा लेली मोला मेरा बाजु रंगा
मैला ताल हियू बरख्यो तैला ताल हिलो
मैला ताल हियू बरख्यो तैला ताल हिलो
बोल बोल मेरी सुवा को रंगा रंगीलो
बोल बोल मेरी सुवा को रंगा रंगीलो
ओ मेरा बाजु रंगा रंग दे बेचारी को रंगा रंगीलो ओ मेरा बाजु रंगा
बुणीता पलंग सुवा बुणीता पलंगा
बुणीता पलंग सुवा बुणीता पलंगा
रंग मा को रंग सुवा ज्वाणी को रंगा
रंग मा को रंग सुवा ज्वाणी को रंगा
ओ मेरा बाजु रंगा रंग दे बेचारी ज्वाणी को रंगा ओ मेरा बाजु रंगा
धारी मा की जून सुवा धार मा की जूना
धारी मा की जून सुवा धार मा की जूना
कै बगी को जैली सुवा इनि माया मुना
कै बगी को जैली सुवा इनि माया मुना
ओ मेरा बाजु रंगा हाँ मेरा बाजु रंगा रंग दे बेचारी इनि माया मुना ओ मेरा बाजु रंगा
घोटी जाळी भंग सुवा घोटी जाळी भंगा
घोटी जाळी भंग सुवा घोटी जाळी भंगा
ज्वाणी को दगडु रैंद दोई दिना ही संगा
ज्वाणी को दगडु रैंद दोई दिना ही संगा
ओ मेरा बाजु रंगा रंग दे बेचारी रंगा लेली मोला मेरा बाजु रंगा
ओ मेरा बाजु रंगा रंग दे बेचारी रंगा लेली मोला मेरा बाजु रंगा
ओ मेरा बाजु रंगा रंग दे बेचारी रंगा लेली मोला मेरा बाजु रंगा
ओ मेरा बाजु रंगा रंग दे बेचारी रंगा लेली मोला मेरा बाजु रंगा
ओ मेरा बाजु रंगा रंग दे बेचारी रंगा लेली मोला मेरा बाजु रंगा
ओ मेरा बाजु रंगा
उत्तराखंडी गीत है
ओ मेरा बाजु रंगा रंग दे बेचारी रंगा लेली मोला मेरा बाजु रंगा
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
म्यारा पहाड़ा की नारी माँ भैणी बेटी ब्वारी
म्यारा पहाड़ा की नारी माँ भैणी बेटी ब्वारी
म्यारा पहाड़ा की नारी माँ भैणी बेटी ब्वारी
काम धाणी मा लगी रंदी न काम धाणी मा
काम धाणी मा लगी रंदी न कबी ना हिमत हारी
म्यारा पहाड़ा की नारी माँ भैणी बेटी ब्वारी
म्यारा पहाड़ा की नारी माँ भैणी बेटी ब्वारी
सुबेर भटिक ब्यौखुनी तक काम धाणी मा रैंदी सब
खैरी हुली विपदा यूँ को सब जिकोडी मा सैंदी टप
सुबेर भटिक ब्यौखुनी तक काम धाणी मा रैंदी सब
खैरी हुली विपदा यूँ को सब जिकोडी मा सैंदी टप
म्यारा पहाड़ा की नारी माँ भैणी बेटी ब्वारी
म्यारा पहाड़ा की नारी माँ भैणी बेटी ब्वारी
कूटदी पिसदि चुल्हू भी फुकदी घास लकडो को बणों बणों रिटदी
खेती पाती गोर भैंसी नोना बालोँ का खयाल बी राखदी
कूटदी पिसदि चुल्हू भी फुकदी घास लकडो को बणों बणों रिटदी
खेती पाती गोर भैंसी नोना बालोँ का खयाल बी राखदी
म्यारा पहाड़ा की नारी माँ भैणी बेटी ब्वारी
म्यारा पहाड़ा की नारी माँ भैणी बेटी ब्वारी
हियुन्द हो रूडी हो चौमास बारा मैनो नि सैंदी साँस
चौबीस घड़ी कामकाज यूँ की रखी चा पहाड़ा की लाज
हियुन्द हो रूडी हो चौमास बारा मैनो नि सैंदी साँस
चौबीस घड़ी कामकाज यूँ की रखी पहाड़ा की लाज
म्यारा पहाड़ा की नारी माँ भैणी बेटी ब्वारी
म्यारा पहाड़ा की नारी माँ भैणी बेटी ब्वारी
काम धाणी मा लगी रंदी न काम धाणी मा
काम धाणी मा लगी रंदी न कबी ना हिमत हारी
म्यारा पहाड़ा की नारी माँ भैणी बेटी ब्वारी
म्यारा पहाड़ा की नारी माँ भैणी बेटी ब्वारी
म्यारा पहाड़ा की नारी माँ भैणी बेटी ब्वारी
म्यारा पहाड़ा की नारी माँ भैणी बेटी ब्वारी
म्यारा पहाड़ा की नारी माँ भैणी बेटी ब्वारी
उत्तराखंडी गीत है
म्यारा पहाड़ा की नारी माँ भैणी बेटी ब्वारी
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
पिंगली साड़ी मा
मन लगी गे मेरो पिंगली साड़ी मा
मन लगी गे मेरो पिंगली साड़ी मा
हाँ मैं नि आन्दू राजू तेरी गाड़ी मा
मैं नि आन्दू राजू तेरी गाड़ी मा
लाल बिलोज भलो सजोंणु पिंगली साड़ी मा
लाल बिलोज भलो सजोंणु पिंगली साड़ी मा
आ बैठ अनिता मेरी गाड़ी मा
आ बैठ अनिता मेरी गाड़ी मा
त्वै दगड ओंलो त लोग छुईं लगाला
होंसिया उमर वाळा मिथे ई चिढाला
त्वै दगड ओंलो त लोग छुईं लगाला
होंसिया उमर वाळा मिथे ई चिढाला
ई दुनिया डोर मिथे भारी चा
ई दुनिया डोर मिथे भारी चा
हे मैं नि आन्दू राजू तेरी गाड़ी मा
मैं नि आन्दू राजू तेरी गाड़ी मा
अग्ने की सीट मा त्वै थे ई बिठोंलों
अपरा दिल की मीठी मीठी छुईं बाता लगोंदो
अग्ने की सीट मा त्वै थे ई बिठोंलों
अपरा दिल की मीठी मीठी छुईं बाता लगोंदो
मन लगी गे मेरु भी तेरी पिंगली साड़ी मा
मन लगी गे मेरु भी तेरी पिंगली साड़ी मा
आ बैठ अनिता मेरी गाड़ी मा
आ बैठ अनिता मेरी गाड़ी मा
तेरो कया भरोसो कुजैनी कख लिजैलो
दारू पैकी अपरी तू गाड़ी चलैलो
तेरो कया भरोसो कुजैनी कख लिजैलो
दारू पैकी अपरी तू गाड़ी चलैलो
ऊनि जीमो गाडी ऊनि तू अनाड़ी
ऊनि जीमो गाडी ऊनि तू अनाड़ी
हे मैं नि आन्दू राजू तेरी गाड़ी मा
मैं नि आन्दू राजू तेरी गाड़ी मा
ई दुनिया की झूठी-मुठी छूईओं मा नि जादी
तेरु छो मि तेरु रोलूं अपरू मि बणादी
ई दुनिया की झूठी-मुठी छूईओं मा नि जादी
तेरु छो मि तेरु रोलूं अपरू मि बणादी
काळो तीळ पियारो लगणो गोरी गलोड़ी मा
काळो तीळ पियारो लगणो गोरी गलोड़ी मा
आ बैठ अनिता मेरी गाड़ी मा
आ बैठ अनिता मेरी गाड़ी मा
मन लगी गे मेरो पिंगली साड़ी मा
मन लगी गे मेरो पिंगली साड़ी मा
हाँ मैं नि आन्दू राजू तेरी गाड़ी मा
मैं नि आन्दू राजू तेरी गाड़ी मा
लाल बिलोज भलो सजोंणु पिंगली साड़ी मा
लाल बिलोज भलो सजोंणु पिंगली साड़ी मा
आ बैठ अनिता मेरी गाड़ी मा
आ बैठ अनिता मेरी गाड़ी मा
हाँ मैं नि आन्दू राजू तेरी गाड़ी मा
आ बैठ अनिता मेरी गाड़ी मा
हाँ मैं नि आन्दू राजू तेरी गाड़ी मा
आ बैठ अनिता मेरी गाड़ी मा
उत्तराखंडी गीत है
हाँ मैं नि आन्दू राजू तेरी गाड़ी मा
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
कंठों सी सूरज आई जुन सी जुन्याळी
कंठों सी सूरज आई जुन सी जुन्याळी
मेरा पहाड़ी मुल्क आई बांद एक देश वाली
बांद एक देश वाली आई
घसेरियों गीत गवा पंधेरियों गीत गवा
घसेरियों गीत गवा पंधेरियों गीत गवा
........... हो हो ........... हो हो
मुंडमा गगर डगर पंधेरी
हिट सरा सरी सरा सरी हिट सरा सरी घर जोंला
........... हो हो (हिट सरा सरी) .... ३
........... हो हो ........... हो हो
डंडियों बढे बजवा डालियों फूल माळा ल्यावा
डालियों फूल माळा ल्यावा
बोग्यालों बी छापी छोण रौलियों हत खुथीयूँ ध्यवा
रौलियों हत खुथीयूँ ध्यवा
चैत सी चैतवली आई भादों सी हैराली
मेरा पहाड़ी मुल्क आई बांद एक देश वाली
बांद एक देश वाली आई
घसेरियों गीत गवा पंधेरियों गीत गवा
घसेरियों गीत गवा पंधेरियों गीत गवा
लाण पैरणु सगौर गात ज्वनि छका छोर
गात ज्वनि छका छोर
मस्त मयाळु मिजाज मन माया घनाघोर
मन माया घनाघोर
ह्लकन्दी धौंपेली आई आँखि सुरमेयाली
मेरा पहाड़ी मुल्क आई बांद एक देश वाली
बांद एक देश वाली आई
घसेरियों गीत गवा पंधेरियों गीत गवा
घसेरियों गीत गवा पंधेरियों गीत गवा
दंतोडि चमक्दा मोती मुखड़ी दिवा सी ज्योति
मुखड़ी दिवा सी ज्योति
हत खुथी गाँछयालि गोरी गोरी गोंदक्याली घाती
गोरी गोंदक्याली घाती
घियुवै सी कमूली आई दूध सी परेली
मेरा पहाड़ी मुल्क आई बांद एक देश वाली
बांद एक देश वाली आई
घसेरियों गीत गवा पंधेरियों गीत गवा
घसेरियों गीत गवा पंधेरियों गीत गवा
........... हो हो ........... हो हो
हिट बी टपर दगड़्या क सर
हिट सरा सरी सरा सरी हिट सरा सरी घर जोंला
........... हो हो (हिट सरा सरी) ४ .... हाँ
उत्तराखंडी गीत है
कंठों सी सूरज आई जुन सी जुन्याळी
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
तिले धारू बोला औ सिंयां जी तू दगोडी का
तिले धारू बोला औ सिंयां जी तू दगोडी का
तिले धारू बोला बरेणा चूडा कथोडे की
तिले धारू बोला बरेणा चूडा कथोडे की
मन लागू भैना तेरी नऊ सुरया बांसुरी मा
मन लागू भैना तेरी नऊ सुरया बांसुरी मा
नऊ सुरया बांसुरी तेरी मोहनी मुरुली मा मन लागू
मन लागू स्याळी तेरी रौंतेली मुखड़ी मा
मन लागू स्याळी तेरी रौंतेली मुखड़ी मा
रौंतेली मुखड़ी तेरी मयाळी जिकोडी मा मन लागू
तिले धारू बोला औ सिंयां जी तू दगोडी का
तिले धारू बोला बरेणा चूडा कथोडे की
शरम्याली आँखी तेरी भौं कुछ बिगान्दी स्याळी
भौं कुछ बिगान्दी
शरम्याली आँखी तेरी भौं कुछ बिगान्दी स्याळी
भौं कुछ बिगान्दी
झण कनि माया तेरी खेंचि खेंचि लांदी भैना
खेंचि खेंचि लांदी
रूप को रसिया देख मिजाज हौंसिया देख
रूप को रसिया देख मिजाज हौंसिया देख
जोड़ी को सोंजोड़्या देखी आज मैन त्वै मा मन लागू
मन लागू स्याळी तेरी रौंतेली मुखड़ी मा
रौंतेली मुखड़ी तेरी मयाळी जिकोडी मा मन लागू
तिले धारू बोला औ सिंयां जी तू दगोडी का
तिले धारू बोला बरेणा चूडा कथोडे की
त्वै देखिक सूरज चाँद कौणुऊँ लुकोदा भैना
कौणुऊँ लुकोदा
त्वै देखिक सूरज चाँद कौणुऊँ लुकोदा भैना
कौणुऊँ लुकोदा
त्वै देखिक तेरा मुल्क फूल नि खिल्दा स्याळी
फूल नि खिल्दा
बुरांस को रंग देखि फ्योंली सी उमंग देखि
बुरांस को रंग देखि फ्योंली सी उमंग देखि
बारामासी रितू बसंत देखि मैन त्वै मा मन लागू
मन लागू भैना तेरी नऊ सुरया बांसुरी मा
नऊ सुरया बांसुरी तेरी मोहनी मुरुली मा मन लागू
तिले धारू बोला बरेणा चूडा कथोडे की
तिले धारू बोला औ सिंयां जी तू दगोडी का
भूली ग्यून बदोंडीयु बाटा तेरा कथुड़ ऐकि स्याळी
तेरा कथुड़ ऐकि
भूली ग्यून बदोंडीयु बाटा तेरा कथुड़ ऐकि स्याळी
तेरा कथुड़ ऐकि
ऐंथ बखेड़ा देख्यां त्वै जनों नि देखि भैना
त्वै जनों नि देखि
ज्वानि को ऊमाळ देखि मालो मा खुमाळ देखि
ज्वानि को ऊमाळ देखि मालो मा खुमाळ देखि
आज स्वीणा सच हुँदा देखि मैना त्वै मा मन लागू
मन लागू स्याळी तेरी रौंतेली मुखड़ी मा
रौंतेली मुखड़ी तेरी मयाळी जिकोडी मा मन लागू
तिले धारू बोला औ सिंयां जी तू दगोडी का
तिले धारू बोला बरेणा चूडा कथोडे की
तिले धारू बोला बरेणा चूडा कथोडे की
तिले धारू बोला औ सिंयां जी तू दगोडी का
तिले धारू बोला बरेणा चूडा कथोडे की
तिले धारू बोला औ सिंयां जी तू दगोडी का
उत्तराखंडी गीत है
तिले धारू बोला औ सिंयां जी तू दगोडी का
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
कबी शिला पाखों रिटो कबी तैला घाम
कबी शिला पाखों रिटो कबी तैला घाम
कबी शिला पाखों रिटो कबी तैला घाम
घास निच डालि माँजी ये लो लाडा डांड
कबी शिला पाखों रिटो कबी तैला घाम
मैता की हैरयाळी डंडी धार मा देखेंदा
मैता की हैरयाळी डंडी धार मा देखेंदा
टपराणु रैंदु मांजी आंसू नि थमेंदा
कबी शिला पाखों रिटो कबी तैला घाम
सासु की डैरा को घासो भेलो भेलो जान्दो
सासु की डैरा को घासो भेलो भेलो जान्दो
रुमुक व्हैजांदी मांजी दगड़ो नि रंदो
कबी शिला पाखों रिटो कबी तैला घाम
घास निच डालि माँजी ये लो लाडा डांड
कबी शिला पाखों रिटो कबी तैला घाम
ना कखो बसद यख ना घुघुती घूर घूर
ना कखो बसद यख ना घुघुती घूर घूर
कैमा दियुं रैबार मांजी चखुला बी दूर दूर
कबी शिला पाखों रिटो कबी तैला घाम
रूखा डंडा सुखा छोरा छैल निच पाणी
रूखा डंडा सुखा छोरा छैल निच पाणी
ये लोला मुल्क मांजी बेटी नि बियाणी
कबी शिला पाखों रिटो कबी तैला घाम
घास निच डालि माँजी ये लो लाडा डांड
कबी शिला पाखों रिटो कबी तैला घाम
उत्तराखंडी गीत है
कबी शिला पाखों रिटो कबी तैला घाम
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
मेरु मैत पाणी समाणु छा
गौं मुल्क पाणी मा समाणु छा
मेरु मैत पाणी समाणु छा
गौं मुल्क पाणी मा समाणु छा
धारा मंगरा पाणी का ऐ डूबी जाला
जोड्या संजोड्या दगड़्या बी छोड़ी जाला
धारा मंगरा पाणी का ऐ डूबी जाला
जोड्या संजोड्या दगड़्या बी छोड़ी जाला
हो हो हो अ हो हो अ हो हो हो अ हो हो अ
दादी की कथों की ग्वै वा चुलखांदी
चोर सिपै खिली थौ जख चुलभांडी
राज लुका छिपी पिठा पंच गारा
राज लुका छिपी पिठा पंच गारा
मेरु बचपन पाणी मा समाणु छा
मेरु बचपन पाणी मा समाणु छा
माँ की ममता दिनी दीन बाबा को लाडा
जा धरती सदानी निप छुटि गे आज
माँ की ममता दिनी दीन बाबा को लाडा
जा धरती सदानी निप छुटि गे आज
आ आ आ ....................
ब्यो बारतियों मा मांगल लगै छा कबी
जों मोरियों लुकि गाळी दे छे कबी
ब्यो बारतियों मा मांगल लगै छा कबी
जों मोरियों लुकि गाळी दे छे कबी
पौणी खाई पंगत मा बैठिक
पौणी खाई पंगत मा बैठिक
शियु चौक पाणी मा समाणु छा
शियु चौक पाणी मा समाणु छा
बण बाजूबंद घसेरीयूँ डलियों को गेल्यू
रोळा बोळा छुटि तेरु आमो डाली छैलु
औ औ औ ....................
जियूँ दुकनियूँ मा लता मौले छे कबी
स्वाग सिंधुर बिंदुली सजै छे कबी
जियूँ दुकनियूँ मा लता मौले छे कबी
स्वाग सिंधुर बिंदुली सजै छे कबी
ठन्डे पेंदा सिंघुरी खांदा था
ठन्डे पेंदा सिंघुरी खांदा था
शियु टिहरी बाजार समाणु छा
शियु टिहरी बाजार समाणु छा
पंडो चौपदी जो रुदू छो जख मंडाण
छतरा मठ मंदिर अलोक व्हैजाण
आ आ आ .............
जन्मीयूँ गव्या लगे हिटणु सीखी जख
आई ज्वानी फेराय फेरा डोला उठी जख
जन्मीयूँ गव्या लगे हिटणु सीखी जख
आई ज्वानी फेरय फेरा डोला उठी जख
गोमटी उर्बरी डीन्डयलो गौठयारो शियु
गोमटी उर्बरी डीन्डयलो गौठयारो शियु
बाटो घाटो पाणी मा समाणु छा
बाटो घाटो पाणी मा समाणु छा
दर म्याळ मन की मयाळो समान
मेरो रौंत्यालो मुल्क कथा व्हैगे आज
दर म्याळ मन की मयाळो समान
मेरो रौंत्यालो मुल्क कथा व्हैगे आज
मेरु मैत पाणी समणु चा
मेरु मैत पाणी समणु चा
गौं मुल्क पाणी मा समाणु छा
गौं मुल्क हाँ हाँ ह ह
उत्तराखंडी गीत है
मेरु मैत पाणी समणु चा
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये
चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22