Author Topic: Uttarakhandi Films & Music Albums Lyrics - म्यूजिक एल्बम के गीतो के बोल  (Read 7764 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
सुपति लाई पीठि .. २
मैकू तँई आईं भुला तेरी बौजी की चिट्ठी
जरा पढ़ी के सुनें दे ...हाँ तेरी बौऊ की चिट्ठी
जरा पढ़ी के सुनें दे
कपड़ो का नाप ...२
ब्वारी मेरी पढ़ी लिखी
मैं अंगूंठाया छाप...जरा पढ़ी के सुनें दे
हाँ मैं अंगूंठाया छाप....जरा पढ़ी के सुनें दे
किन्गोड़ों का कांडा ...२
सरि जिंदगी मंजिले भुला
होटलों मां भांडा ..जरा पढ़ी के सुनें दे
हाँ होटलों मां भांडा ...जरा पढ़ी के सुनें दे
आसमानी जून ...२
ब्वै बबो मेरा घर मां छिन
ब्वारी देहरदून ..जरा पढ़ी के सुनें दे
हाँ ब्वारी देहरदून ..जरा पढ़ी के सुनें दे
कपड़ों को मैल...२
ब्वारी का हात धरियों .
ब्वारी का हातों मां रैन्दु..
सैमसंग मोबाईल...जरा पढ़ी के सुनें दे
हाँ सैमसंग को मोबाईल...जरा पढ़ी के सुनें दे
आयुं काटी साया ... २
परसि थई बोनी स्या बल
ईमो पर आया ...जरा पढ़ी के सुनें दे
बल ईमो पर आया ...जरा पढ़ी के सुनें दे
आलू काटी दाणू .. २
फेसबुक वाट्सअप क्या हून्दो ... २
मै कुछ ना जानू ...जरा पढ़ी के सुनें दे
हाँ मै कतै ना जानू ...जरा पढ़ी के सुनें दे
सजी धजी पैटी ... २
सर्या देहरादून स्या घूमदी ... २
स्कूटी मां बैठी ...जरा पढ़ी के सुनें दे
हाँ स्कूटी मां बैठी ...जरा पढ़ी के सुनें दे
शिबजी को त्रिशूल ... २
धर्मपुर चौक घुमणि
धर्मपुर चौक भटी रिषमन का पुल...जरा पढ़ी के सुनें दे
तैं ..रिषमन का पुल......जरा पढ़ी के सुनें दे
मौलू तोड़ी दाणी ... २
किस्मत मां क्या होलु भुला
किस्मत मां मेरु क्या होलु
क्या जणे को जाणी......जरा पढ़ी के सुनें दे
ऐ क्या जणे को जाणी......जरा पढ़ी के सुनें दे
सुपति लाई पीठि ..
मैकू तँई आईं भुला तेरी बौजी की चिट्ठी
तो पढ़ी के सुनें दे
जरा पढ़ी के सुनें दे ... ३
सुपति लाई पीठि
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ
http://balkrishna-dhyani.blogspot.in/search/
http://www.merapahadforum.com/

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
एक सुरीली आवज जगदीश बकरोला जी
सड़की तीर को छे घसेरी
सड़की तीर को छे घसेरी ...कया छे तेरु नाम बे
सड़की तीर को छे घसेरी ...कया छे तेरु नाम
खैली जाला आम बे लौंडा ...खैली जाला आम
सड़की तीर मि छोऊ बे लौंडा ... २.....कया पड़िगे काम रे
सड़की तीर मि छोऊ बे लौंडा.... कया पड़िगे काम
लेकी जाली पाती। ..पाती बे नौनी....लेकी जाली पाती
लेकी जाली पाती बे नौनी .....लेकी जाली पाती
जंगल को मि चौकीदार ... २ ...तू घास ना काटी बे
जंगल को मि चोकीदारा ... २ ...तू घास ना काटी
कया पड़िगे काम .....कया छे तेरु नाम कया पड़िगे का ..म
सड़की तीर को छे घसेरी
एक सुरीली आवज जगदीश बकरोला जी
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ
http://balkrishna-dhyani.blogspot.in/search

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
दारू नि प्येंदु.... मि हे राम राम..
दारू नि प्येंदु.... मि हे राम राम...
रम्म रम्म रम्म रम्म --- २
शिकार नि खांदु..... सिरी-श्री......
नेता समाज सुधारक छौंऊं... भज गोबिन्दम भजो हरि ...
कोरस ( भज गोबिन्दम भजो हरि.... हे प्रभु अब तू ही रक्षा करी....) ..२
तुमरैं गुठ्यारो गोर छऊं मि ...२ ... भोट डऴयाँ जरा देख चरी ...
कोरस (भोट डऴयाँ जरा देख चरी .......) ..२
जातिकु थातीकु भित्राकु भैराकु... "ख " अर "ब " कू ख्याल करी
दारू कछमोळी तुमुनै हि खाण २ -- तुमरी जीत च जीत मेरी...
भज गोबिन्दम भज हरि....
कोरस ( भज गोबिन्दम भजो हरि.... हे प्रभु अब तू ही रक्षा करी....) ..२
फिकर नि कर हे दरिद्र नारेंण... २ लोन मंजूर करौलु त्यरु ...
कोरस (लोन मंजूर करौलु त्यरु कर्ज मंजूर करौलु त्यरु .......) ..२
तेरि ग़रीबि कि गवैई दयोलु... ऐंसू भि हौऴ लगैदे म्यरु
गंठखुलै देजा करजा ल्हीजा - २ आँखा बूजी अंगोठ धरी...
भज गोबिन्दम भज हरि....
कोरस ( भज गोबिन्दम भजो हरि.... हे प्रभु अब तू ही रक्षा करी....) ..२
बाब अर दादा भि नेता छा मेरा... २ मी भी छौं औलाद भि राली....
कोरस (मी भी छौं औलाद भि राली.... .......) ..२
नेतागिरी को ठेक्का लियुंचा... लाख जोड्यावा लाख दया गाळी
ई जोनिम भी वीं जोनिम भी-- २ नेता छौं नेता हि रौलु मरी....
भज गोबिन्दम भज हरि....
कोरस ( भज गोबिन्दम भजो हरि.... हे प्रभु अब तू ही रक्षा करी....) ..२
खादी पैर-पैरी छाल़ा पड्यांन.... २ धारना हड़तालुन टुटिनि भटयूड...
कोरस (धारना हड़तालुन टुटिनि भटयूड .......) ..२
भाषण देकी जीब छणयेगे... गाळी सुण-सुणी फुटुनि कन्दुड
कुर्सिका खातिर मर-मिट जौलू - २ छौड़ी नि सकदू नेता गिरी....
भज गोबिन्दम भज हरि....
कोरस ( भज गोबिन्दम भजो हरि.... हे प्रभु अब तू ही रक्षा करी....) ..२
गरीबू कि सेवाकु बर्त लियूँ चा... २ नेता भि छौं ठेकदार भि छौंऊ....
कोरस (नेता भि छौं ठेकदार भि छौंऊ...........) ..२
ब्योला-ब्योल्यूँकू बऴद-भैंस्युकु... व्योपारी गलेदार भि छौंऊ
सबि कुछ छौं पर मनखि नि छौं मी -२ दयब्ता बणयूँ छौं घड़ेलु धरी...
भज गोबिन्दम भज हरि....
कोरस ( भज गोबिन्दम भजो हरि.... हे प्रभु अब तू ही रक्षा करी....) ..२
खेत खल्याण बंटुलू सबुमा... २ येकि पुंगूडी वेका नौंऊं....
कोरस (येकि पुंगूडी वेका नौंऊं...........) ..२
बेरोजगारू रोजगार दिलाणु... दारू चुआणू गौंऊं गौंऊं
राजनीति भनाणा छिन लोग - २ सुदि मुदि मेरु बदनाम करी....
भज गोबिन्दम भज हरि....
कोरस ( भज गोबिन्दम भजो हरि.... हे प्रभु अब तू ही रक्षा करी....) ..२
दारू नि प्येंदु.... मि हे राम राम...
रम्म रम्म रम्म रम्म --- २
शिकार नि खांदु..... सिरी-श्री......
नेता समाज सुधारक छौंऊं... भज गोबिन्दम भज हरि ...
कोरस ( भज गोबिन्दम भजो हरि.... हे प्रभु अब तू ही रक्षा करी....) . ४
हे प्रभु अब तू ही रक्षा करी
दारू नि प्येंदु.... मि हे राम राम...
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ
http://balkrishna-dhyani.blogspot.in/search/
http://www.merapahadforum.com/

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
June 5 ·
मेरी स्याणी दा छुचि स्याणी
(ये भी हथ्यानी वे भी लोफ्यानी मन की दासी लोभ की रानी .. २
कख जानी अर कख नि जानी स्याणी या मेरी स्याणी
कोरस बूढ़ेनदा की (स्याणी दा छुचि स्याणी)
कोरस बूढ़ेनदा की स्याणी निर्भे स्याणी) .... २
चौड़ी काखड़ीयु का झालू उन्द कभी (लिम्बा नारंगी डाली) ... २
कोरस डाली बे लिम्बा नारंगी डाली
चौड़ी काखड़ीयु का झालू उन्द कभी (लिम्बा नारंगी डाली) ... २
देख रे पलिंगु बिरानी बाड़ी मारी फालीयूँ माँ फाली
मेरी स्याणी या लोली स्याणी
कोरस बूढ़ेनदा की (स्याणी दा छुचि स्याणी )
कोरस बूढ़ेनदा की (स्याणी निर्भे स्याणी)
दौड़ी कफुल तिम्लों कु कभी (आम आरु का बागवान) ... २
कोरस बागवान बे आम आरु का बागवान
दौड़ी कफुल तिम्लों कु कभी (आम आरु का बागवान) ... २
चोडी फूल फूली बडियूं मां कभी कूटमुदियुं का बानू
मेरी स्याणी या लोली स्याणी
कोरस बूढ़ेनदा की (स्याणी दा छुचि स्याणी )
कोरस बूढ़ेनदा की (स्याणी निर्भे स्याणी)
जंद कौथिग माँ जवान बनी की (लांद जलका बलिकी) .. २
कोरस बलिकी बे लांद जलका बलिकी
जंद कौथिग माँ जवान बनी की (लांद जलका बलिकी) .. २
सोचुदु मेरी तिबारी डंडयाली माँ से नथुली नि झलकी
मेरी स्याणी या लोली स्याणी
कोरस बूढ़ेनदा की (स्याणी दा छुचि स्याणी )
कोरस बूढ़ेनदा की (स्याणी निर्भे स्याणी)
हाट बाजार खट्ई मीठेईयूं माँ (कुनेत चाट छोलो माँ) ... २
कोरस छोलो माँ रे कुनेत चाट छोलो माँ
हाट बाजार खट्ई मीठेईयूं माँ (कुनेत चाट छोलो माँ) ... २
जान्द पौणेई माँ ब्यो बारात माँ नया नया डोलो माँ
मेरी स्याणी या लोली स्याणी
कोरस बूढ़ेनदा की (स्याणी दा छुचि स्याणी )
कोरस बूढ़ेनदा की (स्याणी निर्भे स्याणी)
खासीला लगोटीयूँ की लोभ माँ कभी (कचमोली फिराक) ... २
कोरस : फिराक बे कचमोली फिराक
खासीला लगोटीयूँ की लोभ माँ कभी (कचमोली फिराक) ... २
जांद सुराक छनि मां रौलियों माँ कच्ची दारू की तुराक
मेरी स्याणी या लोली स्याणी
कोरस बूढ़ेनदा की (स्याणी दा छुचि स्याणी )
कोरस बूढ़ेनदा की (स्याणी निर्भे स्याणी)
(ये भी हथ्यानी वे भी लोफ्यानी मन की दासी लोभ की रानी .. २
कख जानी अर कख नि जानी स्याणी या मेरी स्याणी
कोरस बूढ़ेनदा की (स्याणी दा छुचि स्याणी)
कोरस बूढ़ेनदा की स्याणी निर्भे स्याणी) .... ४
मेरी सयानी दा छुचि स्याणी
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ
http://balkrishna-dhyani.blogspot.in/search/
http://www.merapahadforum.com/

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
सची .........त्यार ....सौ ..
सची .........त्यारा... सौ
तू दिख्यांदी जन जुनियाली .... २
सची त्यारा सौ ऊ
जब होदीन छुई रूपा की पहली त्यार नोऊ
ओ त्यारा,ओ त्यारा रूप देखि की
(लोग जली गेना बोल्या बणी गेना) .... २
तू दिखियंदी ...........................
फूल बिचारा डाली -डालीयुमा जलेण लगेन .. २
भौरा त्वे देखि -देखि की नौलेण लगेन .. २
नोलेण लगेन तेरी ज्योति देखिकी
फूल शर्मे गेना , भौंर भ्रमे गीनी
तू दिखियंदी ...........................
गोरी मुखुडी दिख्यांदी कनी जन उजियाली रांकी .. २
कनी लगन्दीन छुई भागियानी तेरी छुयाली आँखी.. २
तेरी छुयाली आँखी , तेरी आँखी देखिकी
बटोई फ़िरडी गेनी बाटू बिरडी गेनी
तू दिख्यांदी ...................................
बांदू मा बान्द त्वे मा सभी ल्गोंदीन माया .. २
चाँद ऊ मा चाँद बोल तिन क्या जादू काया .. २
तिन क्या जादू काया तेरी ज्वानी देखिक
हो तेरी ज्वानी देखि की
बुड्या खोल्ये गेना ज्वान बौले गेना -२
तू दिख्यांदी ..............................
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ
http://balkrishna-dhyani.blogspot.in/search/
http://www.merapahadforum.com/

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
न उकाल न उन्दार
न उकाल न उन्दार सीधू सैणु धार धार
गौ कू बाटू मेरा गौ कू बाटू
ऐ जाणू कभी मठु माठु मठु माठु ..... २
भला लोग भलु समाज गोऊ पिठाई कू रिवाज
खोली खोलियो म गणेश
(मोरी नारेयण बिराजे मेरा गोऊ मा) ..... २
देवी दय्बतो का थान
धरम करम पुण्य दान
छोटू बडो सबो मान
(पोणु दय्बता समान मेरा गोऊ मा)..... २
न उकाल न उन्दार सीधू सैणु धार धार
गौ कू बाटू मेरा गौ कू बाटू
ऐ जाणू कभी मठु माठु मठु माठु ..... २
बन खेती हो खल्याँ
मिल बाटी होंदी धानं
कुई फोजी कोई किसान
(एक जि इकि प्राण मेरा गोऊ मा)..... २
सेरा ओखाड्यु मा नाज
वन हरयाली कु राज
बाडी सगोड्यु मा साग
(जख तक तारकजी मेरा गोऊ मा)..... २
न उकाल न उन्दार सीधू सैणु धार धार
गौ कू बाटू मेरा गौ कू बाटू
ऐ जाणू कभी मठु माठु मठु माठु ..... २
नोला मागरियो को पानी
छ्खी अमृत जनि
लेनी पेनी पीनी खानि
(राखी मन मा न सयानी मेरा गोऊ मा)..... २
गौड़ी भैस्यु का खरग
घ्यु दूधो का छरग
म्यारो रोतेलो मुलुक
(मकु एखि छ स्वर्ग मेरा गोऊ मा)..... २
न उकाल न उन्दार सीधू सैणु धार धार
गौ कू बाटू मेरा गौ कू बाटू
ऐ जाणू कभी मठु माठु मठु माठु ..... २
कोथीग बिरेना की देर
बेटी ब्वारी कोथिगेर
दानं नचाद गितेर
(जवान माया का स्वदेर मेरा गौ मा).... २
काफल बुरांश का बोण
काकू हिलाश की धोन्
मीठी बोली मीठी भाषा
(लिजा ऍच समलोंण मेरा गौ मा).... २
न उकाल न उन्दार सीधू सैणु धार धार
गौ कू बाटू मेरा गौ कू बाटू
ऐ जाणू कभी मठु माठु मठु माठु ..... २
न उकाल न उन्दार
उत्तराखंडी भाषा को बढ़वा देने के लिये चल चित्र के निचे गीत लिखा है बस उत्तराखंड मनोरंजन तुम थै कंण लग जी?
बालकृष्ण डी ध्यानी
देवभूमि बद्री-केदारनाथ
http://balkrishna-dhyani.blogspot.in/search/
http://www.merapahadforum.com/

CrazyUK_Films

  • Newbie
  • *
  • Posts: 6
  • Karma: +0/-0
Guyz,
Mera apna ek youtube channel he: CRAZYUK FILMS https://www.youtube.com/channel/UC4KkiHy6UmUUdN6V1G3Qt7g           
Me apne channel pe bohot mehnat kar rha hun. Please have a look at this some of the best Garhwali Songs produced by my channel CrazyUK Films

SURBHI -  https://www.youtube.com/watch?v=WO-51r6-E54
Nakhryali soni - https://www.youtube.com/watch?v=Hanp8vjE2nU

Please share genuine comments about the video.
If you like it, please subscribe and Like the songs which made you enjoy. Thank you
Also, share your views to make my channel better.

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22