Author Topic: Achhari-Machhri Play-पर्वतीय लोक कला मंच प्रस्तुत करता है नाटक "आछरी-माछरी"  (Read 6128 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0

Dosto,

Parvatiya Kala  Manch is presenting a play "Aachari-Machari" based on the novel of Hari Suman Bisht on 21 May 2011 (Saturday).The details is given below:

पर्वतीय लोक कला मंच प्रस्तुत करता है हरिसुमन बिष्ट के उपन्यास पर आधारित नाटक "आछरी-माछरी"
 
निर्देशक : गंगादत्त भट , नाट्य रूपांतर : श्री हेम पंत
 
 स्थान : प्यारे लाल भवन, गांधी मेमोरियल हॉल (आई.टी.ओ. के पास)
 
 दिनाँक : 21 मई 2011 (शनिवार) को सायं 6 बजे।
 
 प्रवेश निशुल्क (स्थान पहले आओ पहले पाओ) के आधार पर

Hope you will attend the program.

More Information at http://plkm.merapahad.in


Regards,

M S Mehta


एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0

I am sure maximum people will come to see the Pahadi Play.

Entry is Free.


umeshpant

  • Newbie
  • *
  • Posts: 18
  • Karma: +1/-0

This is a good play by parwatiya lok kala manch, request to all please enjoy the play

 :)

पंकज सिंह महर

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 7,401
  • Karma: +83/-0
पर्वतीय लोक कला मंच समय-समय पर उत्तराखण्ड से संबंधित नाटकों का मंचन कर उत्तराखण्ड की नाट्य परंपरा का निर्वाह करता आ रहा है। इससे पहले "कगार की आग"  नाटक के द्वारा उत्तराखण्ड की महिला की दुर्दशा को व्यक्त किया गया था। मैं पर्वतीय लोक कला मंच के सभी पदाधिकारियों को धन्यवाद देते हुये, दिल्ली में रह रहे सभी प्रवासी उत्तराखण्डियों से अनुरोध करुंगा कि वे इस नाटक को देखने जरुर जांय।

umeshpant

  • Newbie
  • *
  • Posts: 18
  • Karma: +1/-0
मेहता साहब ४-५ निमंतरण कार्ड भेज दिया महाराज !!!!! धन्यवाद


Himalayan Warrior /पहाड़ी योद्धा

  • Sr. Member
  • ****
  • Posts: 353
  • Karma: +2/-0

Very Good news. I will definitely join the programme.

I appreciate the effort of Parvateey Kala Manch to sustain the culture of uttarkahnd through plays.

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0

मैंने कगार की आग नाटक देखी थी जिसमे पर्वतीय कला मंच के कलाकारों ने बहुत ही बेहतर अभिनय किया था! 

सराहनीय बात है. पर्वतीय कला मंच समय-२ पर अलग-२ नाटको का आयोजन कर पहाड़ी कला, संस्क्रती को बचाए रखने में प्रयासरत है !

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0

Today -

पर्वतीय लोक कला मंच प्रस्तुत करता है हरिसुमन बिष्ट के उपन्यास पर आधारित नाटक “आछरी-माछरी”

निर्देशक : गंगादत्त भट , नाट्य रूपांतर : श्री हेम पंत

स्थान : प्यारे लाल भवन, गांधी मेमोरियल हॉल (आई.टी.ओ. के पास)

दिनाँक : 21 मई 2011 (शनिवार) को सायं 6 बजे।

प्रवेश निशुल्क (स्थान पहले आओ पहले पाओ) के आधार पर

http://plkm.merapahad.in/achhri-machhri-on-21st-may/

हेम पन्त

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 4,326
  • Karma: +44/-1
I also enjoyed this play last night at Pyare Lal Bhawan. Great performance by all members especially  by Manoj Chandola ji (Visambar), Mamta ji (Chandra), Bhawna ji (Aachhri)....

I didnot have my camera with me. Can somebody share some photos here?

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22