Author Topic: Let Us be Effective Manager (Mangament Guru)-By Bi  (Read 20542 times)

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,345
  • Karma: +22/-1
Re: Let Us be Effective Manager (Mangament Guru)-By Bi
« Reply #30 on: January 03, 2012, 07:28:51 AM »
Mangament Guru -33     

प्रबंध शास्त्री - 33     


                                        इल्टन मायो: कार्य-संतुष्टि कु महान प्रबंधन  विचारक

                       Elton Mayo: Famous for The Hawthorne Experiments                                       





(Notes on General management Guru, , Notes on Managemnt Thinkers and Bright Management Practices,
 
Management Gurus, Marketing management Guru, Qaulity Mangement Guru, Operation Managemnt Guru,

Human Resourse Development Management Guru, )
 


                                     Bhishm Kukreti

                ऑस्ट्रेल्यौ वासिन्दा इल्टन मायो (१८८०-१९४९) न अडेलैड वि.वि मा मनोविज्ञान पौढ़ अर

फिर क्वीन्सलैंड वि.वि मा मनोविज्ञान, दर्शन शाश्त्र को प्रोफ़ेसर बौण. १९२३ मा इल्टन मयो

अमेरिका ऐ गे अर पेनिसिल्वेनिया वि.वि मा प्रोफ़ेसर बौण. इख मायो तैं  हावथोर्न कपड़ा मिल 

मा कुछ खोज कु मौक़ा मील (१९२४-१९२८) . यीं मिल मा मजदुरूं  टर्न ओवर २५० प्रतिशत छौ

जब की हौरी उद्योगों मा मजदूर टर्न ओवर मात्र चै प्रतिशत छौ ,

बाद मा मायो हार्वर्ड वि.वि मा प्रोफ़ेसर बि राई, अमेरिकी सरकार तैं उद्योगुं मा मजदूर

समस्याओं सलाहकार बि राई  , अर इल्टन मायो पैथराँ   ब्रिटेन मा बि सरकारों सलाहकार राई.   


इल्टन मायो न प्रोत्साहन, नेतृत्व, कार्य-संतुष्टि  आदि पर अप ण विचार देन जु आज बि कम आन्दन

*मजदूर संतुष्टि मा कामकाजी वतावरण महत्वपूर्ण होंद अर मजदुरूं स्वतन्त्रता भौत माने रखद

*एक हैंकाक विचार आदान-प्रदान, सहयोग से समूह मा एकता आन्द

* कार्य  संतुष्टि , उत्पादकता खुणि तनख्वा से जादा  सहयोग, अर गर्व की भावना महत्वपूर्ण होदन 



                                  Books by Elton Mayo

1- The Human Problems of an Industrial Civilization, 1946

2-The Second Problems of an Industrial Civilization , 1949


 
 

हैंको Management Guru का बारा मा फड़कि -34 मा बाँचो

Management Guru, management Thinkers Series to be continued.......

Copyright @ Bhishm Kukreti

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,345
  • Karma: +22/-1
Re: Let Us be Effective Manager (Mangament Guru)-By Bi
« Reply #31 on: January 03, 2012, 10:51:06 AM »


Mangament Guru -34     

प्रबंध शास्त्री - 34     



 

                                      डगलस मैकग्रेगोर :पूठों  पर डंडा  ('X ') अर पुल़े पुल़े क पटाणो ( 'य) 'सिद्धांत क बुबा जी 



                                       डगलस मैक्ग्रेगोर : 'X ' अर 'Y ' सिद्धांत  का प्रतिपादक

                                       Douglas Mcgregor: Famous For Theory X and Theory "Y''                         







(Notes on General management Guru, , Notes on Managemnt Thinkers and Bright Management Practices,

Management Gurus, Marketing management Guru, Qaulity Mangement Guru, Operation Managemnt Guru,
 
Human Resourse Development Management Guru, )



                                                   Bhishm Kukreti
                        डगलस  मैकग्रेगोर (१९०६-१९६४) क नाम महान प्रबंध विचारूं मा आन्द. मैकग्रेगोर हार्वर्ड वि.वि मा पढान्द  छौ.

डगलस का प्रोत्साहन का द्वी सिद्धांत आज बि चर्चित अर औचित्यपूर्ण छन



                                  सिद्धांत  एक्स या पूठों पर चटका /डंडा



       एक्स सिद्धांत की धारणा छन :

१- साधारण मनिख  काम पसंद नि करदो  अर जख तक ह्व़े साको काम तैं टाळदो च 

२- चूँकि मनिख काम नि करण चाँद त कम कराणो बान टैट/कठोर नियंत्रण, जोर- जबरदस्ती, दिशा बताण ,

अर डौर, डंड्याणे  की जरुरत होंद

३- अब जब कि आम  मनिख कम नि करण चाँद, दिशा की जरुरत वळ होंद त इन मनिख महत्वाकांक्षा हीन होंद


                                  सिद्धांत 'वाई' माने पूल़े क काम हूंद



                           सिद्धांत 'वाई' मा धारणा छन :

१- काम की इच्छा इनी होंद जन खिलण  या आराम करणे इच्छा. याने काम ही प्रोत्साहन को स्रोत्र छ

२-डंड , डौर ही से लोक काम करणो कोशिश नि करदन  बल्कण मा  स्व-दिशा अर स्व-नियंत्रण का तहत बि काम करदन

३-उदेश्य -प्रतिबद्धता को सम्बन्ध कार्यपूर्ति से मिलण वाळ इनाम /पुरूस्कार से च

४- जु वातावरण ठीक ह्वाऊ त मनिख सिखद बि च अर खिड  जुमेवारी बि लीन्दु   

५- लोकुं मा संस्थान की समस्या समाधान का वास्ता कल्पनाशीलता, उद्यम अर रचनाधर्मिता होंद च

६- आधुनिक उदोगुन मा , लोकु मा जथगा सामर्थ्य च  वांक पूरो प्रयोग नि होंद.       

 

                                               Books by  Douglas McGregor
 
1- The Human Side of Enterprise, 1960

2-Leadershipand Motivation, 1966

3- The Professional Manager , 1967 
 
 


हैंको Management Guru का बारा मा फड़कि -35 मा बाँचो

Management Guru, management Thinkers Series to be continued.......


Copyright @ Bhishm Kukreti

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,345
  • Karma: +22/-1
Re: Let Us be Effective Manager (Mangament Guru)-By Bi
« Reply #32 on: January 04, 2012, 09:27:00 AM »
Mangament Guru -35     

प्रबंध शास्त्री - 35                                                   




                                       हेनरी मिंट्ज बर्ग : प्रसिद्ध वहु विधाई प्रबंध शास्त्री

                     Henry Mintzberg: a Great Genralist




(Notes on General management Guru, , Notes on Managemnt Thinkers and Bright Management Practices,

 Management Gurus, Marketing management Guru, Qaulity Mangement Guru, Operation Managemnt Guru,

Human Resourse Development Management Guru, )
 


                                                 Bhishm Kukreti
      कनाडा  मा जन्म्यु (१९३९) हेनरी मिंट्जबर्ग को नाम प्रबंध विज्ञान का भौत सी फान्क्युं (शाखाएं) मा प्रसिद्ध च.

कनाडा मा रेलवे मा काम करणों बाद  हेनरी मिंट्जबर्ग मैक्कगिल्ल वि.वि मा प्रोफ़ेसर बौण.

   हेनरी मिंट्जबर्ग ण भौत सी प्रबंध फान्क्युं/शाखाओं   मा अपण सिद्धांत बतेन जन कि   :

                                   १- संस्थानु रूप /आकार

अ- सरल संस्थान

ब- मशीन जन संस्थान जख सौब काम  औपचारिक रूप याने फोर्मल इ हूंद.

स- केन्द्रीय प्रशासन केन्द्रित संस्थान  जख इकैयुं  मा  स्वतंत्रता बि होंद 

द- प्रोफेसनल संस्थान जन अस्पताल, विश्व विद्यालय

इ. मिसिनरी संस्थान जख उद्देश्य/मिसन  तैं सबे बड़ो मान मिल्द

                   २- प्रबंधक कन काम करदन : या पर बि हेनरी मिंट्जबर्ग ण ल्याख अर चर्चित ह्व़े

१- मैंनेजरूं  काम नियम, अनियम, अनियमित -योजनाबद्ध  अर नियमित-योजनाबद्ध सबि मिलैक हूंद

२- मैंनेजर विशेषग्य अर गैर विशेषग्य होंद

३-मनेजर सौब जगा बिटेन सूचना लींद पण विश्वास सुणि बतुं पर करद

४- मैंनेजरूं  काम मा- वीरता, विविधता, अर खंडितता  होन्दन

५-प्रबंधकरण क काम विज्ञान से जादा कलाकारि /कौंळ  का हूंद

६- आजकर प्रबंधक को काम जादा जटिल हूणु च   

                                  ३- सूचना का प्रकार
हेनरी मिंट्जबर्ग ण तीन तरा का सूचना बठैन , मोनिटर , भैर बिटेन भितर आण वाळ सूचना अर भितर बिटेन भैर आण वाळी सूचना

                                     ४- निर्णय

 हेनरी मिंट्जबर्ग क बुलण च बल  निर्णय की जरोरत विशेष रूप से यूँ जगा मा पोडद :

अ-बदलाव ल़ाणे, बदलाव क शुरुवात,  बदलाव क टैम पर अनुकरण ,

ब- गडबडी टैम पर

स- संसाधनु बितरण

द- समझौता क बगत 

            रणनीति , योजना अर प्रयोजना

अ- विधि

आ- डाटा एकत्रीकरण  , संकलन

इ- मूल बातुं  ज्ञान,  , सामूहिकता अर प्रतिबद्धता

ई- रण नीति योजना को फल नी च बल्कण मा पवाण/ शुरुवात च


                   Books By Henry Mintzberg

1- The Nature of Mangerial Work, 1973

2-The Structuring of Organization : A Synthesis of the Research , 1979

3-Structures in Fives: Desgning Effective Organizations, 1983

4-Power in and Around Organizations, 1983

5-Mintzberg on Management: Inside our Strange World of Organizations, 1989

6- The Rise and Fall of Strategic Plnning , 1994

7-Stretegy Process: Concept , Contexts, Case, 1996

8- Mangers not MBAs, 2004

यांक अलावा अतः किताब और बि छपी गेन


Management Guru का बारा मा फड़कि -36 मा बाँचो
Management Guru, management Thinkers Series to be continued.......


Copyright @ Bhishm Kukreti

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,345
  • Karma: +22/-1
Re: Let Us be Effective Manager (Mangament Guru)-By Bi
« Reply #33 on: January 05, 2012, 03:16:41 AM »

Mangament Guru -36     

प्रबंध शास्त्री - 36                                                   

                                          इकुजीरो नोनाका; ज्ञान को निर्माण को धड्वे   

                          Ikujiro Nonaka : Famous for Knowledge Management                                 



(Notes on General management Guru, , Notes on Managemnt Thinkers and Bright Management Practices,
 
Management Gurus, Marketing management Guru, Qaulity Mangement Guru, Operation Managemnt Guru,

Human Resourse Development Management Guru, )
 


                                                    Bhishm Kukreti

    इकुजीरो (१९३५) क जनम जापान मा ह्व़े जख वैन हितोत्सूबाशी वि.वि मा पढाई अर पैथराँ 

कैलिफोर्निया वि वि मा पढ़ाणो अमेरिका आई.



  इकुजीरो नोनाका अर हिरोताका न ज्ञान पर संसार तैं कथगा इ  नया विचार दिने .



                   द्वी तरां ज्ञान

१- स्पष्ट या भैरो ज्ञान : इकुजीरो नोनाका अर हिरोताका को मानण च बल पश्चमी ज्ञान औपचारिक, संदेहहीन,

सिस्टेमेटिक , वैज्ञानिक ढंग को होंद. अर जादातर डाटाउन पर निर्भर होंद

२- भीतरी ज्ञान  :   दुनिया क पूरबी खंड को ज्ञान अंतर्मन निर्भर, अनुपौचारिक, अस्पष्ट , होंद

दुयूं क मानण च बल द्वी ज्ञान एक हांका क सहायक छन जन कुंजी अर ताळउ

                       SECI मॉडल


इकुजीरो नोनाका अर हिरोताका न ज्ञान प्रबंधन क बारा मा एक मॉडल दे जो ज्ञान प्राप्ति अर ज्ञान तैं काम मा

ल़ाणो बान  भौत इ प्रिसद्ध मॉडल च

१-सामाजिकीकरण (socialization )

२-वाह्यीकरण (Externalization ) 

३- जुड़ण, मेल करण  (combination ) 

४- अंतरिकीकरण (Internalization )

         



                        Books by Ikujiro Nonaka

1- The Knowledge -Creating Company: how japanese Companies Create The Dynamics of Innovation

(with Hirotaka Takeuchi), 1995

Management Guru का बारा मा फड़कि -37 मा बाँचो
Management Guru, management Thinkers Series to be continued.......

 

Copyright @ Bhishm Kukreti

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,345
  • Karma: +22/-1
Re: Let Us be Effective Manager (Mangament Guru)-By Bi
« Reply #34 on: January 06, 2012, 08:33:43 AM »
Mangament Guru -37
प्रबंध शास्त्री - 37     

                           केनइची ओमाए : जापानी ब्यापार कला को प्रसारक

                Kenichi Ohmae : Famous For The Art Of Japanese Business

 

 (Notes on General management Guru, , Notes on Managemnt Thinkers and Bright Management Practices,

Management Gurus, Marketing management Guru, Qaulity Mangement Guru, Operation Managemnt Guru,

Human Resourse Development Management Guru, )



                            Bhishm Kukreti


केन इची को जनम १९४३ मा जापान मा ह्व़े, इखी केन इची न बी.एस. अर टोकियो इंस्टीच्यूट  ऑफ़ टेक्नौलोजी बिटेन

एम्.एस. कार.मसासुसेट इंस्टीच्यूट बिटेन नुक्लियर इंजीनियरिंग क डिग्री ल़े

पैल हिताची मा काम कार फिर मक्किंसी कंसल्टिंग कम्पनी मा भागीदार बौण .

केन इची न अपण किताबुं माध्यम से  जापानी प्रबंधन सिधांत को बड़ो प्रचार कार


                             तीन क  सिधांत (3  C )                     

 केन इची ओमाए ण बताई की रंनेती कारुं तैं टीक क पर ध्यान दीं चएंद

१-कोर्पोरेसन (कम्पनी )

२- कस्टमर (गाहक)

३- कम्पिटिटर्स (प्रतिस्पर्धी ) 


                   M आकार कु समाज

केन इची ओमाए क मनण च बल धीरे धीरे मिड्डल क्लास ख़तम ह्व़े जाल अर

सिर्फ द्वीई क्लास रै जाला अति धनि (UPPER CLASS )अर तौळी क्लास (LOWER CLASS ) .

शिक्षा होण पर बि लोअर क्लास वाळ  अळगो क्लास मा ग आई नि सकदन 


                   Books by Kenichi Ohmae
1- The Mind of Strategist, 1982

2-Japanese Business : Obstacles and Opportunities, 1983

3-Traid Power: The Coming Shape of Global Competition, 1985

4-the Borderless World : Power and Straegy in the Interlinked Economy, 1990

5- The End of the Nation State: The Rise of Regional Economics, 1995

 

Management Guru का बारा मा फड़कि -38 मा बाँचो
Management Guru, management Thinkers Series to be continued.......



Copyright @ Bhishm Kukreti

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,345
  • Karma: +22/-1
Re: Let Us be Effective Manager (Mangament Guru)-By Bi
« Reply #35 on: January 07, 2012, 07:38:12 AM »
Mangament Guru -39
प्रबंध शास्त्री - 39     

                                          रोबर्ट ओवेन : मानव संसाधन प्रबंधन कु पार्वाण     

 

                            Robert Owen: Pioneer of Personnel management

 

 (Notes on General management Guru, , Notes on Managemnt Thinkers and Bright Management Practices,
 
Management Gurus, Marketing management Guru, Qaulity Mangement Guru, Operation Managemnt Guru,

Human Resourse Development Management Guru, )
 

                                Bhishm Kukreti
 
 
रोबेर्ट ओवेन ( १७७१-१८५८) क जनम इंग्लॅण्ड मा  ह्व़े छौ .रोबेर्ट उनीस साल मा एक

टेक्स टाइल कम्पनी क भागिदार बणिगे छौ. रोबेर्ट न फैक्टरयुं  मा कथगा इ मजदूर भलाई

सम्बन्धी काम शुरू करीन . मानव संसाधन विकास कि साली शुरुवात रोबेर्ट न धौरी 

काम क समय तैं कम करण , वै टैम पर बल मजदूरी आम बाट छे. रोबेर्ट न बच्चों



 काम करने उमर काम से कम दस साल करी. इनी म्ज्दूरून कि छंटनि, काम मा इनाम,

तनख्वा आदि मा भौत स सुधार करीन जु ओं समौ मा क्रन्तिकारी कदम छया 

 
 
 

              Book by  Robert Owen
 

The New View of Society

 
 
Management Guru का बारा मा फड़कि -40 मा बाँचो

 

Management Guru, management Thinkers Series to be continued.......

MCopyright @ Bhishm Kukreti

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,345
  • Karma: +22/-1
Re: Let Us be Effective Manager (Mangament Guru)-By Bi
« Reply #36 on: January 08, 2012, 05:21:48 AM »
Mangament Guru -40
प्रबंध शास्त्री - 40     

               

                    रिचर्ड टेन्नर पास्कल : प्रबन्धन मा बद्लौ ,चपलता अर जटिलता 

                   
                Ruchard Tanner  Pascale: Master of change, Agile and Complexity in Management     



 (Notes on General management Guru, , Notes on Managemnt Thinkers and Bright Management Practices,

Management Gurus, Marketing management Guru, Qaulity Mangement Guru, Operation Managemnt Guru,

Human Resourse Development Management Guru, )


                                               Bhishm Kukreti                       


             रिचर्ड टेन्नर  पास्कल कु जनम  १९३८ मा ह्व़े. रिचर्ड की पढे हार्वर्ड वि.वि  मा ह्व़े . रिचर्ड टेन्नर पास्कल न होंडा क अध्ययन से जापानी प्रबंधन की खास विशेषताओं

क बयार दे .



                             जापानी प्रबंधन क सात
     

१- रणनीति (Strategy )

२-बुणोट (Structure )

३-रीति/पद्धति (System )

४- तरीका/भौण (Style )

५- बुद्धि/कौंळ (Skill )

६-कामकाजी (Staff )

७- मूल्य/लक्ष्य (Superordinate Goals )



                                  अनेकार्यता अर अस्पष्ट परिस्थिति

         
              रिचर्ड टेन्नर पास्कल न बोली बल प्रबन्धकुं तैं अस्पष्ट अर अनेकारी परिस्थित्युं दगड सामना करण पोडद अर

यू परिस्थित्युं से तर्क अर भावनात्मक स्तर पर निर्णय ल़ीण इ पड़दन



                            चपलता

१- संस्थान मा प्रतिश्पर्धा क बान चपलता जरूरी च. 

२-चपलता संस्थान मा रौंद ना की संस्थानौ काम मा

३- संस्थान मा  शक्ति, पछ्याणक , विरोध/स्पर्धा अर सिखणो आपस मा समन्वय होण चएंद

४-  संस्थान मा रणनीति  क संकल्प / इच्छा अर चपलता  संस्थान का सिधांत/नियम, मूल्य अर आचरण पर निर्भर करद

५- चपलता संस्थान क खास संस्था गत सिधान्तु पर निर्भर करद



                         जटिलता, अव्यवस्था अर जाणी द्याओ



रिचर्ड टेन्नर पास्कल न प्रबंधन मा जटिलता अर अव्यवस्था से कन सामना करे जन चएंद पर स्पस्ट सिधांत दुनिया क समणी

धरेन                   

              Books by Richard Tanner Pasclae
1- Managing on the Edge: How Successful Companies Use Conflict to Staye Ahead,1990

2-The Art Of Japanese Managemegt ( With Anthony Athos) , 1982




Management Guru का बारा मा फड़कि -41 मा बाँचो

 

Management Guru, management Thinkers Series to be continued.......

Copyright @ Bhishm Kukreti

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,345
  • Karma: +22/-1
Re: Let Us be Effective Manager (Mangament Guru)-By Bi
« Reply #37 on: January 08, 2012, 08:12:29 AM »
Mangament Guru -41
प्रबंध शास्त्री - 41

                       

                         टॉम पीटर्स : सिरमौरी इन्तजामौ/ श्रेष्ठ  प्रबंधन को  जणगरु   

                                                         

                      Tom Peters : The Guru as Performer                         



 

(Notes on General management Guru, , Notes on Managemnt Thinkers and Bright Management Practices,


Management Gurus, Marketing management Guru, Qaulity Mangement Guru, Operation Managemnt Guru,

Human Resourse Development Management Guru, )


                                Bhishm Kukreti


१९४२ मा जनम्युं, स्टेनफोर्ड  कु पीएच.डी.,  मैक केन्सी  भागीदार,  टॉम पीटर को नाम प्रबंध विज्ञान मा सबसे जादा एकी किताब

'इन सर्च ऑफ़ एक्सेलेंस (बोब वाटरमैन क  दगड ) बान जादा लिए जान्द हालाँकि वैक द सर्कल ऑफ़ इन्नोवेसन बि उठ्गा इ महत्वपूर्ण च


                    इन सर्च ऑफ़ एक्सेलेंट का आठ सिद्धांत


१- सिरमौरी/श्रेष्ठ  कम्पनी अपण संस्थान मा लाल फीताशाही  तैं जगा नि दीन्दी

२- सिरमौरी /श्रेष्ठ कम्पनी गाह्कुं  भौत नजीक रौंदी 

३-मनिखों से उत्पादकता बढ़ाण मा विश्वास करदी

४-सिरमौरी/श्रेष्ठ कम्पन्युं   मा इंटरप्रिनियुवर शिप पर जोर हुंद अर इंटरप्रिनुइय्रर सुचन मा स्वतंत्र होन्दन

५-सामूहिक मूल्यों पर जोर

६-कोर बिजिनेस पर ध्यान

७- सिरमौरी संस्थान मा प्रशासन जटिल नि होंद बल्कण मा सरल होंद

८- सिरमौरी/श्रेष्ठ कम्प्न्युं म लचीलापन होंद


                               इन्नोवेसन  सर्कल

 नव निर्माण पर बि पीटर का भौत इ बढिया सिद्धांत बताये छं


                         पीटर एक कामयाब वक्ता


अपण सिधान्तुं तैं जगा जगा पसराणो (प्रसारित)  बान टॉम पीटर्स  तैं भौत स कोंफेरेंसुं मा भाग ल़ीण 

पोडद अर आज पीटर्स दुनया का सबसे बढिया वक्ताओं मा मने जान्द जो स्टेज से दर्शकुं तैं आकर्षित  करण मा उस्ताद च



                  Books by Tom Peters



1- Thriving on Chaos:  Handbook for a Management Revolution,1989

2- Liberation Management, 1994

3-The TomPeter Seminars, 1994

4-The Persuit of Wow: Everybody guides to Topsy Turvey Times, 1997

5-The Circle of Innovation: You cant sink Your Way to greatness , 1997

6-In Search of Excellence: Lessions from America's Best run Companies, (with Bob Waterman) 1995

7-Passion for Excellence: The Leadership difference, 1986




Management Guru का बारा मा फड़कि -42 मा बाँचो

 

Management Guru, management Thinkers Series to be continued.......

Copyright @ Bhishm Kukreti

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,345
  • Karma: +22/-1
Re: Let Us be Effective Manager (Mangament Guru)-By Bi
« Reply #38 on: January 10, 2012, 03:42:19 AM »

Mangament Guru -42

प्रबंध शास्त्री - 42


                               माइकल पोर्टर : ब्यापार अर कम्पन्युं  मा रण नीति क विचारक
                         

                                  Machael Porter : The Guru to tell What is Strategy



(Notes on General management Guru, , Notes on Managemnt Thinkers and Bright Management Practices,


Management Gurus, Marketing management Guru, Qaulity Mangement Guru, Operation Managemnt Guru,
 
Human Resourse Development Management Guru, )


                                        Bhishm Kukreti

   माइकल पोर्टर क जनम अमेरिका मा  १९४७ मा ह्व़े. प्रबंधन की पढे हार्वर्ड मा ह्व़े. पोर्टर की अपणी कंसलटेंसी  कम्पनी च. जब सन १९८०  मा माइकल पोर्टर की किताब ' Competitiv Stretigy ' छप त माइकल पोर्टर को नाम ब्यौपार अर प्रबंधन रण  नीति करों मा ह्वेई.

 पोर्टर की किताबुं मा कति सिद्धांत मिल्दन जन की

१- द्वी तरां ब्यापारिक काम : अ- प्राथमिक काम :  जु कच्चो माल तैं बदलिक नयो माल म बदल्दन  ब- द्वितीयक काम : खरीदी, मानव संसाधन, इन्फ्रास्ट्रक्चर आदि

२- पांच शक्ति :

कम्प्न्युं तैं यूँ तीन बथों पर ध्यान दीण चयेंद

          अ- लागत का नेता

          ब- वैशिष्ठय  का नेता

          स- ध्यान

 पाँच शक्ति  छन जु कम्प्न्युं तैं प्रभावित करदन 

          क- ग्राहकुं  शक्ति ज्वा कीमत अर मार्जिन तैं प्रभावित करदी

           ख- सप्लायरूं ताक्ग्त

           ग- बजार मा नकल की तागत

           घ- प्रतिस्प्रधियूँ / प्रतियोगीयूँ तागत

          ज्ञं  - बजार मा नै प्रवेशार्थी

- देश का चार कोण जु कम्पन्युं तैं नेता बणान्दन

१- राष्ट्रीय वौधिक, श्रम शक्ति अर इन्फ्रास्ट्रक्चर जु प्रतिस्पर्धा क जान छन

२- देश मा स्थानीय मांग

३- देश हौरी तत्संबंधी उद्यम अर सहायक उद्योग . कच्चो मा का  सप्लाई क उद्योग

४- कम्पनी की अपणी रण नीति अर प्रतियोगीयुं स्तिथि अर देस की स्थिति   

 

                                      Books by Michael Poret

 
 
 

1- Compettetive  Strategy: The The Techniques for Analysing Industris and Companies, 1980
 
2- cCses in competitive Strategy, 1983

3-Competitive  Advantages: Creating and Sustaining Supirior Performance, 1985
 
4-The Competitive Advantage of Nations, 1998

5- Competition in Global Industries, 1986                           



Management Guru का बारा मा फड़कि -43 मा बाँचो

 

Management Guru, management Thinkers Series to be continued.......

Copyright @ Bhishm Kukreti

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,345
  • Karma: +22/-1
Re: Let Us be Effective Manager (Mangament Guru)-By Bi
« Reply #39 on: January 11, 2012, 08:35:10 AM »
Mangement Guru- 43

प्रबंधन गुरु - 43   

 

                                            सी.के प्रहलाद : आतंरिक प्रतियोगिक गुण  अर नै रण नीति क जणगरु 

 

                                          C.K Prahlad : Famous for Core Competency and New Straegy 

 


(Notes on General management Guru, , Notes on Managemnt Thinkers and Bright Management Practices,Management Gurus, Marketing management Guru, Human Resourse Development Management Guru, Qaulity Mangement Guru, Operation Managemnt Guru, )
 

 

                                                                                 Bhishm Kukreti

 

सी.के.प्रहलाद को जनम भारत मा १९४१ मा ह्व़े . इंजीनियर अर आई.आई.एम् को एम्.बि.ये. न हार्वर्ड वी.वी से पीएच.ड़ी कार अर भात सा नामी प्रबंधन संस्थानु मा पढ़ाणा  रौंद, भौत सी व्यापारिक कम्पन्युं क सलाहकार बि च प्रहलाद.
 
                                                                          भोळ क बान प्रतिस्पर्धी बणण
 

 प्रहलाद अर हैमल की किताब 'कम्पिटिंग फॉर फ्यूचर ' न प्रबंधन दुनिया णा तहलका मचाई. प्रहलाद अर हैमल को बुलण छौ बल प्रतिस्पर्धा भोळ कु  बान होंद णा की आजौ बान .

 

                                                                           आतंरिक प्रतियोगिक गुण

आतंरिक प्रतियोगिक गुण , वा  योग्यता , सक्यात होंद  ज्वा  भौत सी तकनिकुं  मा समन्वय स्थापित  करद अर , संस्थान को  उत्पाद, बाजार अर रिजल्ट तैं सर्वोच्च  पद पर ल़ी जांदी
 
 

                                              प्रहलादौ   हौरी ख़ास बात
 * भौत स बाजारों पर ध्यान , नया उत्पादन का बारा मा सम्वेदनशील, मूल्य (प्राइस ) वस्तु का बीच का संबंधों तैं उलटा  कारो, ग्राग्कू क पार्वाण/नेता बौणो  , से संस्थान मा कल्पनाशीलता औंदी

*सफल वस्तु मा क्वी नयी क्रिया जुड़ण, कै नयो रूप, बिलकुल इ नयो सिद्धांत की वस्तु तैं नव निर्माण बुल्दन

 

                                          Key Book by C.K.Prahlad and Hamel
 

Competing for the Future , 1994

 

बकै हैंको   Mangement Guru  का बारा मा फड़की 44 मा बाँचो .....
 
Notes on General management Guru, , Notes on Managemnt Thinkers and Bright Management Practices,Management Gurus, Marketing management Guru, Qaulity Mangement Guru, Operation Managemnt Guru,
 
Human Resourse Development Management Guru to be continued ......in part 44

 

 Copyright@ Bhishm Kukreti

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22