Poll

क्या मोबाइल फ़ोन से पहाड़ की संस्कृति मे बदलाव आया है ?

Yes
48 (90.6%)
No
4 (7.5%)
Can't Say
1 (1.9%)

Total Members Voted: 53

Author Topic: Mobile Phone Side Effect In Pahad - पहाडो मे मोबाइल फ़ोन के साइड एफ्फेक्ट  (Read 11462 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
पहाडो मे मोबाइल फ़ोन के साइड एफ्फेक्ट


दोस्तो,

जैसे की आप जानते है की मोबाइल होने आधुनिक समय मे संचार का एव महत्वपूण यन्त्र है. लेकिन अभी आप ने सोचा है की मोबाइल फ़ोन आजकल पहाडो मे कई परिवारों मे झगडा कराने मे महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है.

मैंने कई घटनाये देखे है. जहाँ छोटी -२ बातो पर तुरुंत संचार होंने से झगडे हुए है..

क्या आप उक्त बात से सहमत है.

एम् एस मेहता  

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0

What would u say on this funny topic. ..???

Do u agree on this ?

हलिया

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 717
  • Karma: +12/-0
महाराज मेहता ज्यू, टोपिक त आफ़ूंले भलो शुरू करौ.  झगडा का बारा में त मैं एल के नि कै सकुनू लेकिन मोबाइल पहाड में आईं बटी क्या परिवर्तन ऐगो देखो एक बानगी ये डायलोग बटी:

एक महिला (हमारे एक फ़ौजी भाई की स्त्री जो कि नितांत अनपढ है) अपने पुत्र से: अरे पप्पू जरा अपने पप्पा को एक "मिस हांड तो" ।  ;D  :P



एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0

Raju Da,

Very correct.  I am sure you all must be receving must calls from your known people of UK.

Kisi ko phone karana hai to miss call de do.. ????

Lekin.. aaj kal k bawari shahu maa k waat laguni... 

अरे सुनो महराज.. इनर मैस फ़ोन आय न ... एन्ली शिकायत शुरू कर न.. .

बेचारी .. सासु को तो मोबाइल operate कारन न औन.



महाराज मेहता ज्यू, टोपिक त आफ़ूंले भलो शुरू करौ.  झगडा का बारा में त मैं एल के नि कै सकुनू लेकिन मोबाइल पहाड में आईं बटी क्या परिवर्तन ऐगो देखो एक बानगी ये डायलोग बटी:

एक महिला (हमारे एक फ़ौजी भाई की स्त्री जो कि नितांत अनपढ है) अपने पुत्र से: अरे पप्पू जरा अपने पप्पा को एक "मिस हांड तो" ।  ;D  :P




पंकज सिंह महर

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 7,401
  • Karma: +83/-0
मेहता जी,
          मोबाइल आने से झगडे होना तो माइनस प्वाइंट है, लेकिन मोबाइल के आने से लोगों में किसी भी सूचना का प्रेषण सुगम हो गया है, पहले किसी के हाथ जबाब भेजे जाते थे, फिर सूचना होती थी, लेकिन अब यह काफी सुगम हो गया है, जैसे किसी की मृत्यु हो तो तुरन्त सूचना सभी रिश्तेदारों को तुरन्त हो पाती है, मोबाइल के बिना यह संभव भी नही था. मोबाइल के प्लस प्वाइंट मेरी दृष्टि में ज्यादा है, खासकर आपदाग्रस्त पहाड़ों के लिये......

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0


मैंने कुछ ऐसी घटनाये देखी है जहाँ पर लोगो के संबंद टूट चुके है..

यह घटना कुछ समय पहले की है,  दो भाइयो के बीच मे झगडा हो.. दरअसल मे, छोटे भाई की दूसरे भाई की पत्नी से कुछ जमीन के बारे मे कहा सुनी हो गए.. गुस्से मे छोटे भाई ने कुछ गाली दे दी.. परुन्तु थोड़े देर मे इस गाली के लिए क्षमा भी माग  ली .. लेकिन उसकी भाभी ने तुरुंत दिल्ली फ़ोन किया मे तो मारी गयी .....

अब क्या इस भाई ने आव देखी ने ताव और सीधे भाई को फ़ोन लगाया और बचपन से आज तक के रिश्ते तोड़ दिए..

अगर मोबाइल न होता यह खबर दिल्ली तक गुस्से मे इतनी जल्दी तक नही पहुचती... जब की उसके भाई ने अपनी भाभी से कहा आप फ़ोन मत करो दिल्ली ..


एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0

महर जी इस पहलू मे कोई शक नही .. यह तो वरदान साबित हुवा है...

मेहता जी,
          मोबाइल आने से झगडे होना तो माइनस प्वाइंट है, लेकिन मोबाइल के आने से लोगों में किसी भी सूचना का प्रेषण सुगम हो गया है, पहले किसी के हाथ जबाब भेजे जाते थे, फिर सूचना होती थी, लेकिन अब यह काफी सुगम हो गया है, जैसे किसी की मृत्यु हो तो तुरन्त सूचना सभी रिश्तेदारों को तुरन्त हो पाती है, मोबाइल के बिना यह संभव भी नही था. मोबाइल के प्लस प्वाइंट मेरी दृष्टि में ज्यादा है, खासकर आपदाग्रस्त पहाड़ों के लिये......


पंकज सिंह महर

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 7,401
  • Karma: +83/-0
मेहता जी,
          उत्तराखण्ड जैसे आपदाग्रस्त एवं इसी दृष्टि से गंभीर रुप से संवेदनशील राज्य के लिये तो मोबाइल सेवा एक वरदान की ही तरह है। इस सेवा से लाभ यह हुआ है कि अब कहीं भी यदि आपदा आती है तो इसकी तुरन्त सूचना हो जाती है, जिससे फौरी राहत देना आसान हो जाता है, आस-पास भी खबर हो जाती है तो लोग राहत के लिये जुटने लग जाते हैं, व्यवहारिक रूप से देखा जाय तो मोबाइल सेवा के रह्ते आपदाओं में मृतकों की संख्या पूर्व के अपेक्षाकृत कम हुई है।
          जहां तक आपने झगड़े की बात की है तो यह तो अटल सत्य है कि विकास के साथ विनाश का भी चोली-दामन का साथ है, यदि दवा का इफेक्ट होता है तो साइड इफेक्ट भी होगा ही।

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0


और देखिये महर जी..

बहुवे तो मोबाइल होने से सुसुरल की हर बात मायके पास कर देती है. .. जिससे लोगो के मैत्र्कातापूर्ण सम्बंदो मे भी बदलाव आ रहे है..

मोबिल सेवा हम जैसे लोगो के लिए पहाड़ बहुत निहायत अच्छा है लेकिन लोगो थोड़ा सा इसे दुप्रयोग मे भी ला रहे है..

कहाँ वो दिन जब लोग चिट्टी का इन्तेजार करते थे अब.. जी भर बात कर सकते है.. बरसते ... मोबाइल मे पैसे होने चाहिए ... नही तो मिस कॉल..

 हा हा..हा.

BC LOHUMI

  • Newbie
  • *
  • Posts: 8
  • Karma: +1/-0
Good Morning Sawant Saheb,
Maine Hindi ka software to log kar diya lekin is par kaise kam karein. Zara bataiye to.
Thanks,
BCL

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22