Author Topic: Today's Thought - पहाड़ के मुहावरों/कथाओं एवं लोक गीतों पर आधारित: आज का विचार  (Read 32535 times)

खीमसिंह रावत

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 801
  • Karma: +11/-0
उत्तरांचल जन्मभूमि गढ़ कुमाऊ माँ
नौ लाख कत्यूर छेना म्यार पहाड़मा
बागनाथ जागनाथ, बदरी केदार
तुमरा खुतो मे भागी अमृतधारा
गंगाजी कै देखिलियो  म्यार पहाड़मा

khim

Anubhav / अनुभव उपाध्याय

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 2,865
  • Karma: +27/-0
Bahut hi achha prayaas hai yeh. Keep up the Good work. 1 nivedan hai ki saath main Hindi Translation bhi kiya jaae.

हेम पन्त

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 4,326
  • Karma: +44/-1
पितर कि कमै, नातर लिजि..

बुजुर्गों/पुरखों द्वारा किये गये अच्छे-बुरे कर्मों का फल उनकी आने वाली पीढी को मिलता है

पंकज सिंह महर

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 7,401
  • Karma: +83/-0
अल्मोड़े की नन्दादेवी, सौरे की भगवती,
सबखिन दयालु होये, मै खिन लखपती।
नैनीताले की नन्दादेवी, सौरे की भगवती,
सबुहीं दयालु हुये, मैं हुणी लखवती॥

Anubhav / अनुभव उपाध्याय

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 2,865
  • Karma: +27/-0
Pankaj bhai saath main Hindi matlab bhi samjhaya kariye :)

अल्मोड़े की नन्दादेवी, सौरे की भगवती,
सबखिन दयालु होये, मै खिन लखपती।
नैनीताले की नन्दादेवी, सौरे की भगवती,
सबुहीं दयालु हुये, मैं हुणी लखवती॥

पंकज सिंह महर

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 7,401
  • Karma: +83/-0
स्कन्द पुराण में हिमालय को पॉच भौगोलिक क्षेत्रों में विभक्त किया गया है:-

खण्डाः पत्र्च हिमालयस्य कथिताः नैपालकूमाँचंलौ ।
केदारोऽथ जालन्धरोऽथ रूचिर काश्मीर संज्ञोऽन्तिमः ।।

(अर्थात हिमालय क्षेत्र में नेपाल ,कुर्मांचल (कुमाऊं) , केदारखण्ड़ (गढवाल), जालन्धर
(हिमाचल प्रदेश) और सुरम्य काश्मीर पॉच खण्ड है।)

पंकज सिंह महर

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 7,401
  • Karma: +83/-0
अपनी कृति कुमारसम्भव में कालीदास कहते हैं:

अस्युत्तरस्यां दिशि देवतात्मा हिमालयो नाम नगाधिराज:।
पूर्वापरौं तोयनिधी वगाह्य स्थित: पृथि इवमानदणड:।।

baldev joshi

  • Newbie
  • *
  • Posts: 4
  • Karma: +0/-0
सभी भाई बहनो को नमस्कर
आप लोगो लिखा धार्मिक और अन्य शास्क्रितिक बहुत खुशी लगा और सिक्ने को मिला और मे मन मे हमारे देबी देवता को जो पुजा करते उस मे भि कोहि ऎसा पुजा करते है जो देबि देवता हमे परिशान करे लेते हॆ यानि दोख कह्ते हॆ. हमरि भसा मे यह क
कैसा लगता है [/font]

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0


Din una Jana Raya
Jug -2 beete gaya
myar pahad ma bahina
Dukh mae raya

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
त्यर पहाड़ म्यर पहाड़
 हय दुखो डयर पहाड़
बुजर्गो ले जोड़ पहाड़
 राजनीति तोड़ पहाड़
ठेकेदारों ने फोड़ पहाड़

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22