Author Topic: Government Jobs In Uttarakhand - सरकारी नौकरी  (Read 334069 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
Re: Government Jobs In Uttarakhand - सरकारी नौकरी
« Reply #50 on: April 23, 2016, 11:49:08 AM »
Wildlife Institute of India – WII Recruitment 2016 – 15 Project Fellow, Project Interns & Project Associate Vacancy – Last Date 09 May

WII Recruitment 2016

Wildlife Institute of India (WII) invites application for the the post of 15 Project Fellow, Project Interns & Project Associate on Contract Basic for National Mission on Himalayan Studies (NMHS) Project. Apply before 16 May 2016.

Advt. No. : WII/NMSHE/REC/2014

Job Details :

Post Name : Project Fellow
No. of Vacancy : 07 Posts
Pay Scale : Rs.16000/- (Per Month)
Post Name : Project Interns
No. of Vacancy : 05 Posts
Pay Scale : Rs. 200/- (Per Day)
Post Name : Project Associate
No. of Vacancy : 02 Posts
Pay Scale : Rs. 36000/- (Per Month)
Eligibility Criteria For WII Recruitment : 

Educational Qualification :
For Project Fellow : Post Graduate Degree in Wildife Sciences/ Zoology/ Forestry/ Environmental Sciences or Management/ Life Sciences/ Biodiversity and Conservation with a minimum of 60% aggregate marks from a recognized University.
For Project Interns : Graduate / Post Graduate Degree in Zoology /Life Sciences/ Forestry / Environmental Sciences or related fields from a recognized University
For Project Associate : Masters Degree in Veterinary Sciences from a recognized university OR Ph.D. in Wildlife Science /Zoology/ Environmental Science or Management or related subject.
Nationality : Indian
Age Limit :

For Project Fellow : 28 years
For Project Interns : 24 years
For Project Scientist : 40 years
Age Relaxation :

For SC/ST/OBC and Women candidates : 05 years
Job Location : Dehra Dun (Uttarakhand)

Application Fee : Candidates have to pay Rs. 500/- through Indian Postal Order/Bank Draft drawn in favour of the Director, Wildlife Institute of India, payable at Dehradun.

How to Apply WII Vacancy : Interested candidates may apply in prescribed application form along with self-attested copies of certificates of age, educational qualifications, experience and Indian Postal Order/Bank Draft send by Registered post/Speed post/By Hand to the Administrative Officer, Wildlife Institute of India, Chandrabani, Dehradun–248 001 (Uttarakhand) on or before 09.05.2016.

Important Dates to Remember :

Last Date for Submission of Application form : 09.05.2016
Important Links :

Detail Advertisement & Application form Link : http://www.wii.gov.in/images/images/documents/nmshe_human_wl_conflict_april_2016.pdf

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
Re: Government Jobs In Uttarakhand - सरकारी नौकरी
« Reply #51 on: April 23, 2016, 11:49:33 AM »
WII Recruitment – 07 Project Assistant, Project Associate & Project Scientist Vacancy – Last Date 09 May 2016

Wildlife Institute of India (WII) invites application for the the post of 07 Project Assistant, Project Associate & Project Scientist on Contract Basic for National Mission for Sustaining the Himalayan Ecosystem (NMSHE) Project. Apply before 09 May 2016.

Advt. No. : WII/NMSHE/REC/2014

Job Details :

Post Name : Project Assistant
No. of Vacancy : 05 Posts
Pay Scale : Rs. 8000/- (Per Month)
Post Name : Project Associate
No. of Vacancy : 01 Post
Pay Scale : Rs. 36000/- (Per Month)
Post Name : Project Scientist
No. of Vacancy : 01 Post
Pay Scale : Rs. 47500/- (Per Month)
Eligibility Criteria For WII Recruitment : 

Educational Qualification :
For Project Assistant : Graduate / Post graduate Degree in Wildlife Sciences/ Zoology/ Forestry/ Environmental Sciences or Management/ Life Sciences/ Biodiversity and Conservation with a minimum of 60% aggregate marks from a recognized University.
For Project Associate : Ph.D. in Life Sciences /Zoology/ Fisheries Science or related fields.
For Project Scientist : Ph.D in Wildlife Science/ Zoology / Botany/ Forestry / Life Science with ≥ 2 years experience in field research / conservation after submission of thesis OR Masters Degree in any of the above subjects with 60% aggregate marks from a recognized university
Nationality : Indian
Age Limit :

For Project Assistant : 24 years
For Project Associate : 40 years
For Project Scientist : 35 years
Age Relaxation :

For SC/ST/OBC and Women candidates : 05 years
Job Location : Dehra Dun (Uttarakhand)

Application Fee : candidates have to pay Rs. 500/- through Indian Postal Order/Bank Draft drawn in favour of the Director, Wildlife Institute of India, payable at Dehradun.

How to Apply WII Vacancy : Interested candidates may apply in prescribed application form along with self-attested copies of certificates of age, educational qualifications, experience and Indian Postal Order/Bank Draft send by Registered post/Speed post/By Hand to the Administrative Officer, Wildlife Institute of India, Chandrabani, Dehradun–248 001 (Uttarakhand) on or before 09.05.2016.

Important Dates to Remember :

Last Date for Submission of Application form : 09.05.2016
Important Links :

Detail Advertisement & Application form Link : http://www.wii.gov.in/images/images/documents/nmshe_climate_change_april_2016.pdf

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
Re: Government Jobs In Uttarakhand - सरकारी नौकरी
« Reply #52 on: April 23, 2016, 11:53:01 AM »
Uttarakhand Subordinate Service Selection Commission – UKSSSC Recruitment 2016 – 643 Assistant Accountant, Assistant Conductor, Junior Assistant & Various Vacancies – Last Date 30 April

UKSSSC Recruitment 2016

Uttarakhand Subordinate Service Selection Commission (UKSSSC) invites application for the post of 643 Assistant Accountant, Assistant Conductor, Junior Assistant & Various Vacancies. Apply Online before 30 April 2016.

Advt. No. : 04/2016

Job Details :

Name of the post : Group C

Assistant Accountant : 130 Posts
Assistant Social Welfare Officer : 16 Posts
Assistant Agriculture Officer Grade (III) : 169 Posts
PA & Stenographer : 18 Posts
Junior Assistant : 20 Posts
Draftsman : 13 Posts
Copy Assistant : 20 Posts
Hand Pump Mechanic : 11 Posts
Surveyor : 21 Posts
X-Ray Technician : 45 Posts
ECG Technician : 07 Posts
Photographer : 06 Posts
TV Technician : 02 Posts
Data Entry Operator : 05 Posts
Review Officer : 04 Posts
Assistant Review Officer : 06 Posts
Data Entry Operator : 05 Posts
Assistant Accountant : 01 Post
Assistant Conductor : 144 Posts
Total No. of Vacancies : 643 Posts

Eligibility Criteria for UKSSSC Recruitment :

Educational Qualification :
For Assistant Accountant : Candidates should have Degree in Commerce from a recognized University OR Post Graduate in Accountancy.
For Assistant Conductor : Intermediate with physics, Mathematics and English language or diploma in IT.
For Assistant Agriculture Officer : Candidates should have Degree in Agriculture from a recognized University.
For More post Please read official Notice carefully.
Nationality : Indian
Age Limit : 21 to 42 Years as on 01.07.2016
Job Location : Uttarakhand

Selection Process : The examination scheme for recruitment shall consist of  Written Test & Typing Test.

Application Fee: Candidates belongs to General & OBC category have to pay Rs.300/- and Rs.150/- for SC/ ST candidates of Uttarakhand. Fee can be paid through Challan in any branchs of Bank of Baroda OR Punjab National Bank OR Net Banking/Debit or Credit Card.

How to Apply UKSSSC Vacancy : Candidates are required to apply online through the website www.sssc.uk.gov.in from 26.02.2016 to 30.04.2016.

Important Dates to Remember :

Starting Date For Submission Of Online Application : 26.02.2016
Last Date For Submission Of Online Application : 30.04.2016
Last Date for Submission of Application fee by Online : 28.04.2016
Important Links :

Detail Advertisement Link : http://sssc.uk.gov.in/files/Vigyapti_570.pdf
Apply Online : http://www.sssc.uk.gov.in/
Click Here for Extended Date Notice : http://www.sarkariadda.in/wp-content/uploads/2015/11/UKSSSC-Recruitment-for-Accountant-Photographer-Conductor-Date.pdf

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,387
  • Karma: +22/-1
Re: Government Jobs In Uttarakhand - सरकारी नौकरी
« Reply #53 on: December 12, 2016, 05:08:12 PM »


AS बनने के लिए योग्यता नही योग्य बनने की  क्षमता महत्वपूर्ण है
-

( गढवाल भ्रातृ मंडल , मुंबई (रजिस्टर्ड ) की पहल –हर उत्तराखंडी IAS बन सकता है )
-
IAS/IRS/IFS कैसे बन सकते हैं श्रृंखला -2
-

-
 IAS बनने के लिए अभ्यार्थी की योग्यता से अधिक महत्वपूर्ण IAS बनने के लिए योग्यता अख्तियार करना अधिक आवश्यक है।
IAS बनने के लिए तन , मन , बौद्धिक  और अहम् सभी अंगों की सहायता से सांगोपांग तैयारी आवश्यक है।
IAS बनने के लिए आधारभूत योग्यता में नियमित रूप से निखार लाना आवश्यक होता है।
IAS बनने के लिए प्रश्नों के सटीक उत्तर लिखना अति आवश्यक है और सटीक उत्तर लिखने हेतु आदत बनाना आवश्यक है।  सटीक उत्तर की आदत हेतु हर पहलुओं में नियमित व वैज्ञानिक ढंग से तयारी आवश्यक है।
IAS  परीक्षा में बैठने वालों में सफलता का प्रतिशत केवल ०० . 2 प्रतिशत से कम होता है और कारण है की सफल अभ्यार्थी नियमित रूप से , वैज्ञानिक ढंग से तैयारी करते हैं।
 IAS बनने के लिए परीक्ष पत्र हल करने हेतु नियमित अभ्यास अति आवश्यक है।
IAS के लिए ध्यान केन्द्रीयकरण आवश्यक होता है।
IAS बनने के लिए तयारी ही आवश्यक नही होती है बल्कि नियमित तैयारी आवश्यक है।
IAS बनने के लिए परीक्षा पत्र देने हेतु तैयारी के लिए अपने को अनुकूल करना पड़ता है और सलाहकारों की सलाह को गम्भीरतापूर्वक लेना आवश्यक है।


दृढ मानसिकता।/दृढ संकल्प से ही IAS बना जा सकता है
-

( गढवाल भ्रातृ मंडल , मुंबई (रजिस्टर्ड ) की पहल –हर उत्तराखंडी IAS बन सकता है )
-
IAS/IRS/IFS कैसे बन सकते हैं श्रृंखला -3
-
गढ़वाल भ्रातृ मण्डल हेतु प्रस्तुति - भीष्म कुकरेती
-
जी हाँ IAS बनने के लिए महत्वाकांक्षा , सपने , दिवास्वप्न पहली सीढ़ी है
किन्तु IAS बनने की महत्वाकांक्षा या स्वप्न पूरा करने के लिए दृढ संकल्प या ठोस मानसिकता अत्यंत व पहली शर्त है।
मानसिक दृढ़ता के बगैर IAS परीक्षाओं की तैयारी नही हो सकती है
शुरू शुरू में एक हफ्ते तक अपनी महत्वाकांक्षा "मुझे IAS बनना है ' को हर 48 मिनट बाद दोहराएं।
यदि IAS आकांक्षी  मजबूत मानसिकता का नही है तो अभ्यार्थी तैयारी के लिए कई बहाने ढूंढने लगता है और क्रमबद्ध तैयारी व पूर्ण तैयारी नही कर सकता है।
यदि IAS आकांक्षी  मानसिक रूप से मजबूत नही है तो  वह क्रमबद्ध व आवश्यक तैयारियों में गफलत कर सकता है।
मानसिक दृढ़ता से IAS महत्वाकांक्षी  अपने आप सकारात्मक विचारक बनने लगता है तैयारियों के लिए सही रास्ते पर चलने लगता है।
IAS आकांक्षी  के मजबूत मानसिकता होने से आकांक्षी के दिमाग में हर समय IAS बनने की तम्मना बनी रहती है
मानसिक रूप से कमजोर IAS आकांक्षी तैयारी से ऊबने /बोर होने लगता है किन्तु दृढ मानसिकता होते IAS आकांक्षी तैयारियों से ना तो ऊबता है और ना ही तैयारी वक्त सोता है
दृढ मानसिकता के चलते आकांक्षी की स्मरण शक्ति में स्वतः वृद्धि होती चली जाती है।
दृढ मानसिकता समयबद्धता की कदर करती है।
दृढ मानसिकता सक्रियता जगाती है।
दृढ़ मानसिकता नकारात्मक ऊर्जाओं को दूर करती है। व सकारात्मक ऊर्जा लाती है।

IAS अधिकारी बनने हेतु कुछ आधारभूत  आवश्यकताएं
-

( गढवाल भ्रातृ मंडल , मुंबई  की पहल –हर उत्तराखंडी IAS बन सकता है )
-
IAS/IRS/IFS कैसे बन सकते हैं श्रृंखला -4
-
गढ़वाल भ्रातृ मण्डल हेतु प्रस्तुति - भीष्म कुकरेती
-
 IAS अधिकारी बनने के लिए महत्वपूर्ण तैयारियां करनी पड़ती हैं और इसके ले कुछ मूलभूत आवश्यकताएं होती है

                              आंतरिक आवश्यकता याने दृढ़ आकांक्षा
-
  IAS बनने की तीन प्रकार की आकांक्षाएं होती हैं - फैशनेबल आकांक्षा याने दुनिया को देखकर इच्छा पालना , किसी के बोलने से आकांक्षा पालना और तीसरी तरह की महत्वाकांक्षा जो आंतरिक इच्छा होती है इस प्रकार की महत्वाकांक्षा में उद्देश्य में मानसिकता में  जीवन मरण का प्रश्न जैसा बन जाता है।
 IAS अधिकारी बनने की इच्छा दृढ़ संकल्प में तब्दील हकार आंतरिक आवश्यकता बहन जानी चाहिए। IAS बनने की इच्छा जब तक जीवन -मरण की इच्छा ना बन जाए तब तक इसे आंतरिक आवश्यकता नही कह सकते हैं। हर IAS आकांक्षार्थी को इच्छा को मानसिक आवश्यकता बनाना आवश्यक है 
-
                        पढ़ने में रूचि

 IAS व तत्संबंधी विषयों को पढ़ने में विशेष रूचि आवश्यक है।  टाल बराई के नाम पर पढ़ने से IAS नही बना जा सकता है।  चार पांच घण्टी की पढाई को रूचि के साथ किया जाना आवश्यक है।  पढ़ाई याने जोगध्यान के साथ पढ़ने को पढ़ाई में रूचि कहते हैं।
-
                             क्रमबद्ध पढ़ाई

 सभी विषयों की पढाई क्रमबद्ध तरीके से की जानी चाहिए और सभी विषयों में पारंगतता हासिल करना भी आवश्यक है।
परीक्षा आने के  रट्टा लगाने वाली शैली IAS की तैयारी में नही चलती है।
निरन्तर व क्रमबद्ध पढ़ाई ही IAS परीक्षा पास करने की मुख्य कुंजी है। 
-
                               मानसिक क्षमता

    IAS की तैयारी में मानसिक क्षमता ही कारगर सिद्ध होती है याने
अ -जो पढा वः याद रहे और उस पढाई को दूसरों को समझाने की क्षमता
ब -जो भी पढा उस पर अपने विचार देने की क्षमता
स -याद रखने की क्षमता
द - समझाने की भाषा की क्षमता     
-
             अन्य सहयोग
IAS की तैयारी में बाह्य सहयोग भी उतना आवश्यक है जितना आंतरिक दृढ़ इच्छा शक्ति -
क -परिवार , रिस्तेदारों का सभी तरह का समर्थन व सहयोग   
ख - यदि नौकरी है तो बॉस व सहयोगियों का समर्थन व सहयोग
ग -अध्यापकों , सफल प्रत्याशियों का समर्थन व समय समय पर समर्थन , प्रोत्साहन व सहयोग (सलाह अनुभव बाँटने आदि में )
घ -सभी तरह के मित्रों      समर्थन , प्रोत्साहन व सहयोग जैसे डिस्कसन आदि  में 
इस तरह के सहयोग आपके तनाव दूर करने में भी सहयोगी सिद्ध होते हैं।


 IAS परीक्षाएं प्रतियोगी परीक्षाएं हैं

-

( गढवाल भ्रातृ मंडल (स्थापना -1928 ) , मुंबई  की पहल –हर उत्तराखंडी IAS बन सकता है )
-
IAS/IRS/IFS कैसे बन सकते हैं श्रृंखला -5
-
गढ़वाल भ्रातृ मण्डल हेतु प्रस्तुति - भीष्म कुकरेती
-

 आम परीक्षा के चरित्र और प्रतियोगी परीक्षा के चरित्र में जमीन आसमान का अंतर होता है।  दोनों परीक्षाओं में चारित्रिक अंतर के अतिरिक्त अन्य अंतर भी होते हैं।
प्रत्येक प्रतियोगी परीक्षा जैसे ० IAS परीक्षाओं व बैंक ऑफिसर परीक्षाओं के स्वरूप व चरित्र में विशेष अंतर होता है और दोनों सामान्य परीक्षाओं जैसे BA , MA , MSc की परीक्षाओं से भिन्न होती हैं।
 प्रतियोगी परीक्षा देने के लिए अभ्यार्थी को पद परीक्षा के चरित्र व स्वरूप अनुसार बदलना आवश्यक है।
सामान्य डिग्री की परीक्षाओं में पास होने की मुख्य शर्त होती है और बोर्ड या विश्वविद्यालय के लिए कितने परीक्षार्थी पास करने है की कोई शर्त नही होती हैं किन्तु IAS परीक्षा के रिजल्ट में कितने पद (पदों की संख्या ) चाहिए महत्वपूर्ण है।  याने यदि सरकार को 200  IAS चाहिए तो केवल 200 परीक्षार्थियों को ही IAS परीक्षा में पास किया जाएगा ना कि 201 परीक्षार्थी।
इसीलिए प्रतियोगी परीक्षाओं में हर परीक्षार्थी दूसरे परीक्षार्थी से प्रतियोगिता करता है। 
-
               चुनावी चरित्र

आम परीक्षाओं में परीक्षार्थी का चुनाव नही किया जाता किन्तु प्रतियोगी परीक्षाओं (Competitive Exams ) में परीक्षार्थियों में से चुनाव किया जाता है कि कौन अब्बल है।  यही विशेष चरित्र आम परीक्षा व IAS परीक्षा को अलग क्र डालता है।
हर प्रतियोगी परीक्षा का सेलेक्सन पद्धति अलग अलग होती है अत: यह आवश्यक हो की परीक्षार्थी हर प्रतियोगी परीक्षा के चरित्र को समझे। 
-
            मिले जुले विषय
सामान्य परीक्षाएं या राज्य स्तर की परीक्षाओं और IAS स्तर की परीक्षाओं में मुख्य अंतर एकल विषयी परीक्षा व बहुआयामी परीक्षा का अंतर है जिसे IAS आकांक्षी को समझना आवश्यक है और इसमें पढ़ने व समझने की पद्धति में बदलाव आवश्यक हो जता है।
-
          अखिल भारतीय स्वरूप
आम परीक्षा या विश्वविद्यालयी परीक्षा में स्थानीयता महत्वपूर्ण होता है किन्तु  IAS परीक्षा का स्वरूप पूर्णतया अखिल भारतीय होता है जिसे समझना आवश्यक है। 
-
                   प्रश्नों के उत्तर में अंतर
सामान्य परीक्षाओं में प्रश्न व उत्तर सपाट किस्म के होते हैं किन्तु IAS के प्रश्न कुछ विशेष तरह से पूछे जाते हैं जिन्हें समझना आवश्यक होता है  .
-
IAS अभ्यार्थियों को IAS परीक्षा प्रश्नों के चरित्र को समझना आवश्यक है और इसके लिए पुराने प्रश्न पत्र का ज्ञान आवश्यक है और परीक्षार्थी को IAS परीक्षा चरित्र अनुसार आपने को ढालकर तयारी करनी आवश्यक है

-
Objectives of UPSC Exams

   UPSC परीक्षाओं के उद्देश्य
-

( गढवाल भ्रातृ मंडल (स्थापना -1928 ) , मुंबई  की पहल –हर उत्तराखंडी IAS बन सकता है )
-
IAS/IRS/IFS कैसे बन सकते हैं श्रृंखला -6
-
गढ़वाल भ्रातृ मण्डल हेतु प्रस्तुति - भीष्म कुकरेती
-
 IAS बनने के लिए अभ्यार्थी को UPSC परीक्षाएं पास करनी होती हैं और UPSC परीक्षाओं के प्रश्नों का विशेष चरित्र होता है। UPSC परीक्षाओं का उद्देश्य होता है कि सरकार अभ्यार्थी को निम्न गुणों वाले अधिकारी मिल सकें यानेUPSC परीक्षायेन अभ्यार्थी में  निम्न गुणों की पूछताछ करतीं हैं -
   -
                             स्पष्ट विचार या मस्तिष्क की स्पष्टता

 UPSC परीक्षाओं के प्रश्न व उनके वैकल्पिक उत्तर इतने जटिल होते हैं कि यदि परीक्षार्थी का स्पष्ट विचार या ठोस सोच या मस्तिष्क की स्पस्टता न हो तो परीक्षार्थी सही उत्तर नही दे सकता। UPSC परीक्षाओं का पहला उद्देश्य है कि स्पस्ट मस्तिष्क वाले व्यक्तियों को खोज जाय ।   
-                 
                                               गतिशील व सक्रिय मस्तिष्क

 प्रशासक को बड़े बड़े व शीघ्र निर्णय लेने पड़ते हैं इसके लिए यह आवश्यक है कि IAS ऐसा व्यक्ति हो जिसमे सही व शीघ्र सोचने का गुण  हो। UPSC परीक्षाओं के प्रश्न गतिशील मस्तिष्क की भी खोज करते हैं।
-
                                   साफ़ (धूमिलरहित ) स्मृति
IAS आदि अधिकारियों को निर्णय लेते वक्त स्मृति पर निर्भर करना होता है और इसलिए IAS अधिकारियों की साफ़ साफ़ स्मृति होना आवश्यक है। UPSC परीक्षाओं के प्रश्न पत्रों के प्रश्न साफ़ स्मृति के परीक्षार्थियों को साफ पहचान जाते हैं।

-
                               एकाग्र ध्यान का गुण

 IAS अधिकारी में एक विशेष  गुण आवश्यक है और वह गुण है ध्यान एकाग्रता का। UPSC परीक्षाओं के प्रश्न पत्रों के उत्तर परीक्षार्थी के ध्यान एकाग्रता के गुणों को पहचान जाते हैं

-
                                 निर्णय लेने के क्षमता
IAS या अन्य उच्च अधिकारियों को हर समय निर्णय लेने पड़ते हैं। UPSC परीक्षाओं के प्रश्न पत्र परीक्षार्थियों में निर्णय लेने की क्षमताओं को पहचानते हैं

-
                       सजग व सतर्क व्यक्तित्व
IAS को सजग व सतर्क होना आवश्यक है और  UPSC परीक्षाओं का उद्देश्य सजग व सक्रिय व्यक्ति को शोध करना ही है
-
                    मौलिक सोच
IAS अधिकारी की सोच में मौलिकता होना जरूरी है और  UPSC परीक्षाएं मौलिक सोच वाले व्यक्तियों की खोज करती हैं

-
                                         विश्लेषण करने में प्रवीण
                     
IAS अधिकारियों में विश्लेषण करने की क्षमता होनी जरूरी है और UPSC परीक्षाओं से सरकार विश्लेषण करने के क्षमता वालों को खोज लेती  है 
-
                 कम्युनिकेशन स्किल
IAS में सूचनाओं के आदान प्रदान व समझाने की अकूत क्षमता होनी चाहिए।  सीके लिए व्यक्ति में भाषा पर पकड़ होनी चाहिए और UPSC परीक्षाओं के प्रश्न पत्र परीक्षार्थी की भाषा पर पकड़ की जाँच भी करते हैं

-
                     Master of All याने  भण्डार
IAS को सभी  तरह के ज्ञान आवश्यक हैं इसीलिए UPSC परीक्षाओं के प्रश्न पत्र सामान्य परीक्षाओं से अलग होते हैं।

-
                  सत्य निष्ठा
IAS अभ्यार्थी की सत्य निष्ठ गुणों की जाँच लिखित व साक्षात्कार द्वारा की जाती है

-
                        साक्षात्कार
साक्षात्कार द्वारा अभ्यार्थी /परीक्षार्थी के कई गुण /अवगुणों का पता लगाया जाता है।  व्यक्तित्व की पहचान साक्षात्कार से होती है। 
-
शेष IAS/IPS/IFS/IRS कैसे बन सकते हैं श्रृंखला -  7 में.....
-
-
कृपया इस लेख व " हर उत्तराखंडी IAS बन सकता है" आशय को कम से कम 7  लोगों तक पँहुचाइये प्लीज !
-
I
--
 

IAS परीक्षा में परीक्षार्थी असफल क्यों होते हैं ?
-

( गढवाल भ्रातृ मंडल (स्थापना -1928 ) , मुंबई  की पहल –हर उत्तराखंडी IAS बन सकता है )
-
IAS/IRS/IFS कैसे बन सकते हैं श्रृंखला -7
-
गढ़वाल भ्रातृ मण्डल हेतु प्रस्तुति - भीष्म कुकरेती
-

यदि आप सरकारी सांख्यकी को पढेंगे तो पाएंगे कि साढ़े चार  लाख परीक्षार्थियों के UPSC /IAS परीक्षा फार्म भरने या 2 से 2. 5 लाख परीक्षार्थियों के परीक्षाओं में बैठने के बाद केवल 1000 के करीब परीक्षार्थी ही सफल होते हैं। 


 Year/Details   2007-08   2008-09   2009-10   2010-11
Prelims Applied   333680   325433   409110   497187*
Prelims Appeared   161469   167035   193091   NA
Mains Applied   9158   11669   11894   11984
Mains Appeared   8886   11330   11516   NA
Interviewed   1883   2136   2281   NA
Selected   638   791   875   920
(एक ब्लॉग से )
इसका कारण यह नही कि IAS अदि परीक्षाएं कठिन होती हैं अपितु निम्न कारण मुख्य कारण हैं -
१- 40 -50 % फ़ार्म भरने के बाद परीक्षा में बैठते ही नही हैं
 २-आधे से अधिक परीक्षार्थी कोई तैयारी नही करते हैं और केवल परीक्षा में बैठने की गरज से बैठ जाते हैं।
३- अनुसूचित /जनजाति के लिए अटेम्प्ट की कोई सीमा नही होती है तो परीक्षार्थी अटेम्प्ट करते जाते हैं
४-पिछड़े वर्ग के लिए अटेम्प्ट अवसर 7 हैं तो बिना तयारी के परीक्षा में बैठने वाले बहुत होते हैं
५- कुछ परीक्षार्थियों की ठीक से नही हो पाती है फिर भी परीक्षा में बैठ जाते हैं
६-कुछ बिना तयारी के केवल अनुभव प्राप्त करने के लिए परीक्षाओं में बैठ जाते हैं
इस कारण समाज में गलतफहमी फैली है कि IAS /UPSC परीक्षा कठिन है। 



-
शेष IAS/IPS/IFS/IRS कैसे बन सकते हैं श्रृंखला -  में..... 8
-
-
कृपया इस लेख व " हर उत्तराखंडी IAS बन सकता है" आशय को कम से कम 7  लोगों तक पँहुचाइये प्लीज !
-

--
 





Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,387
  • Karma: +22/-1
Re: Government Jobs In Uttarakhand - सरकारी नौकरी
« Reply #54 on: December 13, 2016, 11:13:41 AM »
Dear all
 
Have a Good day.
                   
The following job details / Employment news for the period 10TH TO 16TH Dec. 2016 along with links are forwarded for information & necessary help to the needy people.
 
Please share the information with others also.
 
With thanks
 
B S Bisht
INDIRAPURAM
PauriGarhwal@yahoogroups.com
 
Employment News This Week
http://recruitmentresult.com/ employment-news-this-week/
Employment News This Week (10th-16th Dec 2016)
Organization Name
Name of Posts
No. of Posts
Last Date
More Details
UP Health Department
Health Worker
5628
30th December 2016
Get Details
UPPCL
Asst/Stenographer
2585
Different
Get Details
LIC
Agent/Adviser
1101
Different
Get Details
MPRRDA
Financial Advisor & Others
106
29th Dec.2016
Get Details
MHRD
Section Officer & Others
29
15th January 2017
Get Details
North 24 Parganas
Counselor & Others
90
Different
Get Details
Station Workshop
TCM & Others

31st December, 2016
Get Details
ISRO
Scientist / Engineer

26th December 2016
Get Details
SBI
Various
109
Different
Get Details
Odisha Police
Constables
521
4th January 2017
Get Details
Indian Navy
Sailors

19th Dec. 2016
Get Details
ITBP
Sub Inspector
16
1st February 2017
Get Details
DRDO
Scientist ‘F’

23rd Dec. 2016
Get Details
Goa PSC
Junior Scale Officer & Others
13
15th December 2017
Get Details
HSSC
Laboratory Assistant & Others
937
12th Dec. 2016
Get Details
DRDO RAC
Scientist ‘F’

24th December 2016
Get Details
MSCWB
Assistant Engineer & Others
80
03rd January 2017
Get Details
Telangana Postal Circle
Postman/ Mailguard & Others
08
2nd Jan. 2017
Get Details
India Post Office
Various
52
Different
Get Details
DGQA
Multi Tasking Staff
05
23rd Dec. 2016
Get Details
HQ Central Air Command
LDC & Others
22
15th December 2016
Get Details
Sports Authority of India
Various
176
Different
Get Details
WBPDCL
Officer, Engineer & Manager
46
26th December 2016
Get Details
AIIMS Delhi
Stenography. Aspirants
23
15th December 2016
Get Details
Konkan Railway Corporation Limited
Chief Engineer post
-
5th January 2017
Get Details
Maharashtra Police
Law Officer
34
21st Dec. 2016
Get Details
RPRC Bhubaneswar
SRF and JRF posts
-
16th December, 2016
Get Details
Manipur PSC
Steno, Driver & Others
14
16th December 2016
Get Details
BEL Bangalore
Engineers and Manager
-
Different
Get Details
Kolkata City NUHM Society
Pharmacists and MO
145
19th December 2016
Get Details
GPSSB
Deputy Secretary
87
14th December 2016
Get Details
Air India
Customer Agent & Others
112
16th December 2016
Get Details
MPPSC
Various
190
08th January 2017
Get Details
West Central Railway
GDCE & Others
526
Different
Get Details
SIDBI Bank
Chief Treasury Officer & Others

16th Dec. 2016
Get Details
CGCRI
Project Assistant-I & Others

23rd December 2016
Get Details
SIC Kolkata
Associate Professor

10th January 2017
Get Details
ESIC Gujarat
Senior Resident
08
27th & 28th December 2016
Get Details
ALL THE BEST
 

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,387
  • Karma: +22/-1
Re: Government Jobs In Uttarakhand - सरकारी नौकरी
« Reply #55 on: December 13, 2016, 06:42:38 PM »
क्या IAS पाठ्यक्रम  अत्याधिक कठिन हैं ?
-

( गढवाल भ्रातृ मंडल (स्थापना -1928 ) , मुंबई  की पहल –"हर उत्तराखंडी IAS बन सकता है" )
-
IAS/IRS/IFS कैसे बन सकते हैं श्रृंखला -8
-
गढ़वाल भ्रातृ मण्डल हेतु प्रस्तुति - भीष्म कुकरेती
-

कठिनता के कई आयाम होते हैं।  कई कोण होते हैं।  IAS (UPSC ) परीक्षाओं बारे  भ्रान्ति है कि IAS (UPSC ) परीक्षाएं अति कठिन होती हैं।  लेकिन यह भ्रान्ति है भारतीय सरकार सामान्य नागरिक को IAS /IRS/IFS /IFS बनाती है ना कि महामानवों को।
वास्तव में 95 प्रतिशत परीक्षार्थी क्रमगत , निरन्तर व गतिशील पढाई नही करते हैं असफल होते हैं  भ्रान्ति फैला दी जाती है कि IAS (UPSC ) परीक्षाएं पास करना महामानवों  कार्य है।
१-  IAS (UPSC ) परीक्षा हेतु न्यूनतम योग्यता ग्रेजुएसन है और परीक्षार्थी को छूट है कि वह  च्वाइस के  चुने।
२-  IAS (UPSC ) परीक्षा स्तर ग्रेजुएट से कुछ अधिक व पोस्ट ग्रेजुएट से कुछ कम ही होता है याने  IAS (UPSC ) परीक्षा स्तर कोई दूसरे ब्रह्मांड  नही अपितु विश्वविद्यालय शिक्षा  निकट ही होता है
 ३- IAS/ RS/IFS /IFS उच्च पद हैं तो कुछ  परीक्षर्थी के स्तर में असाधारण स्तर होना लाजमी है
४- पाठ्यक्रम कठिन तभी लगता है  जब परीक्षार्थी ग्रेजुएसन से अलग ही विषय चुना जाय।
५- पाठ्यक्रम कठिन तभी लगता है  जब परीक्षार्थी परीक्षा में या IAS बनने में अधिक में अधिक रूचि न ले।
६- रट्टा मारने की पुरानी आदत  कारण पाठ्यक्रम कठिन लगता है
७- यदि IAS (UPSC ) परीक्षा की तुलना राज्य स्तर से की जाय तो  IAS (UPSC ) परीक्षा कठिन लगती है
 ८- IAS (UPSC ) परीक्षा को सम्पूर्णता  हिसाब से  देखकर अपितु परीक्षा नम्बर एक व परीक्षा  दृष्टि से देखने से  IAS (UPSC ) परीक्षा पाठ्यक्रम कठिन लगता है।
क्रमगत , निरन्तर व दिल से /जनून  से यदि पढ़ाई की जाय तो  IAS (UPSC ) परीक्षा पाठ्यक्रम सरल लगने लगता है.
 IAS (UPSC ) परीक्षा वास्तव में प्रतियोगी परीक्षा अतः  IAS (UPSC ) परीक्षा में पास तभी हो सकते हैं  आप दूसरों से आगे हों।

-
शेष IAS/IPS/IFS/IRS कैसे बन सकते हैं श्रृंखला -  में..... 9
-
-
कृपया इस लेख व " हर उत्तराखंडी IAS बन सकता है" आशय को कम से कम 7  लोगों तक पँहुचाइये प्लीज !
-
IAS Exams, IAS Exam preparation, UPSC exams, How I can be IAS , Rules of IAS exams, Characteristics of IAS exam, How will I success IAS exam, Are UPSC Exams Hard ? 

--
 


Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,387
  • Karma: +22/-1
Re: Government Jobs In Uttarakhand - सरकारी नौकरी
« Reply #56 on: December 14, 2016, 05:37:29 PM »

Is UPSC Exam Hard ?

IAS परीक्षा के लिए कितना परिश्रम चाहिए  ?
-

( गढवाल भ्रातृ मंडल (स्थापना -1928 ) , मुंबई  की पहल –हर उत्तराखंडी IAS बन सकता है )
-
IAS/IRS/IFS कैसे बन सकते हैं श्रृंखला -9
-
गढ़वाल भ्रातृ मण्डल हेतु प्रस्तुति - भीष्म कुकरेती
-
अधिसंख्य  परीक्षार्थी , व अभिभावक व सामान्य लोग IAS परीक्षाओं को अति कठिन नाम दे देते हैं और परीक्षार्थी के मन में जटिलता पैदा कर  देते हैं।
चूँकि IAS Exams प्रतियोगी व अखिल भारतीय स्तर की परीक्षाएं हैं अतः  IAS परीक्षाएं अन्य परीक्षाओं से विशेष बन जाती हैं।
यह सही है कि IAS /UPSC परीक्षाओं हेतु तैयारी के लिए मेहनत /परिश्रम /Hard Work की अति आवश्यकता है।
पण्डित व स्वयंकई IAS अधिकारियों का कहना है कि यदि  निरन्तर , क्रमबद्ध व जनून के साथ पढाई की जाय तो शुरू के एक साल तक प्रतिदिन  5 -6 घण्टे अध्ययन के लये काफी हैं। 
याद  रहे की एक ही विषय पर केवल एक सही लेखक की पुस्तक पढ़ना तर्कसंगत है ना कि एक  विषय के लिए ५ -६ लेखकों की किताबें पढ़कर मस्तिष्क को कन्फ्यूज करना।
एक विषय के लिए सभी लेखकों की किताबें व सामान्य ज्ञान बढाने के लिए 5 -6 अखबार रोज पढ़ना वास्तव में मस्तिष्क को बोझ देना है।  कम , ठोस (ध्यान केंद्रित कर ) व याद रखने वाली पढाई से IAS बना जा सकता है ना कि 15 घण्टों में कन्फ्यूजिंग पढ़ाई से।
एक विषय में दो से अधिक लेखकों की किताबें वास्तव में अवैज्ञानिक , प्रतिउत्पादक (Counter Productive ) ही सिद्ध होती हैं। 
IAS /UPSC परीक्षा हेतु कम पढिये किन्तु जो पढा जाय वह अच्छी तरह पढ़ा जाय सिद्धांत काम आता है
परिश्रम भी निरन्तर और क्रमबद्ध तरीके (वैज्ञानिक तरीके ) से ही होना चाहिए।
IAS परीक्षा की तैयारी के साथ साथ शारीरिक अभ्यास (Exercise ), योग , मनोरंजन भी उतना ही आवश्यक है जितना कि   परिश्रम।




-
शेष IAS/IPS/IFS/IRS कैसे बन सकते हैं श्रृंखला - 10  में...
-
-
कृपया इस लेख व " हर उत्तराखंडी IAS बन सकता है" आशय को कम से कम 7  लोगों तक पँहुचाइये प्लीज !
-
IAS Exams, IAS Exam preparation, UPSC exams, How I can be IAS , Rules of IAS exams, Characteristics of IAS exam, How will I success IAS exam,Is UPSC Exam Hard ?
--
 


Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,387
  • Karma: +22/-1
Re: Government Jobs In Uttarakhand - सरकारी नौकरी
« Reply #57 on: December 17, 2016, 06:21:54 PM »
Preparation for IAS Exam, UPSC exams
Not necessary University toppers
क्या  विश्वविद्यालयी फर्स्ट क्लास ही IAS बन सकते हैं ?

-

( गढवाल भ्रातृ मंडल (स्थापना -1928 ) , मुंबई  की पहल –हर उत्तराखंडी IAS बन सकता है )
-
IAS/IRS/IFS कैसे बन सकते हैं श्रृंखला -11
-
गढ़वाल भ्रातृ मण्डल हेतु प्रस्तुति - भीष्म कुकरेती
-

समाज में कुछ गलतफहमी  , भ्रांती , कन्फ्यूजन फैला हुआ है कि IAS/IPS/IFS/IRS (UPSC ) परीक्षा में विश्वविद्यालय में फर्स्ट क्लास पास छात्र ही सफल होते हैं।  यदि प्रशासन को विश्वविद्यालय से  फर्स्ट क्लास पास छात्रों को IAS/IPS/IFS/IRS सेवा में लेना होता तो फिर UPSC /लोक सेवा परीक्षा ही नही होतीं।
IAS/IPS/IFS/IRS (UPSC ) परीक्षा का उद्देश्य प्रशासनिक योग्यता वाले अभ्यार्थियों को चुनना है ना कि विश्वविद्यालय के फर्स्ट क्लास छात्रों को।
महान अकबर एक कुशल प्रशासक थे  और वह बिलकुल अनपढ़ थे।
अतः IAS/IPS/IFS/IRS (UPSC ) परीक्षा में बैठते समय इस बात की चिंता नही करनी चाहिए कि आपने ग्रेजुयेसन या पोस्ट ग्रेजुयेसन किस डिवीजन से पास किया है।
आपको तो IAS/IPS/IFS/IRS (UPSC ) परीक्षा की सफलतापूर्वक तैयारी करनी है ना कि  विश्वविद्यालय में डिवीजन की ।
यह आवश्यक नही कि आप फर्स्ट डिवीजन से पास हुए हों और आपने IAS/IPS/IFS/IRS (UPSC ) परीक्षा की क्रमगत व निरन्तर रूप से तैयारी नही की तो आप सफल होंगे। 
IAS/IPS/IFS/IRS (UPSC ) परीक्षा की तैयारी IAS/IPS/IFS/IRS (UPSC ) परीक्षा के अनुरूप ही की जानी चाहिए।
-
शेष IAS/IPS/IFS/IRS कैसे बन सकते हैं श्रृंखला -12   में.....
-
-
कृपया इस लेख व " हर उत्तराखंडी IAS बन सकता है" आशय को कम से कम 7  लोगों तक पँहुचाइये प्लीज !
-
IAS Exams, IAS Exam preparation, UPSC exams, How I can be IAS , Rules of IAS exams, Characteristics of IAS exam, How will I success IAS exam, S UPSC Exam Hard ?

--
 


Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,387
  • Karma: +22/-1
Re: Government Jobs In Uttarakhand - सरकारी नौकरी
« Reply #58 on: December 18, 2016, 07:05:08 PM »
Preparation for IAS Exam, UPSC exams

-
क्या पारिवारिक पृष्ठभूमि IAS बनने में कठिनाई उत्पन करती है ?
-

( गढवाल भ्रातृ मंडल (स्थापना -1928 ) , मुंबई  की पहल –हर उत्तराखंडी IAS बन सकता है )
-
IAS/IRS/IFS कैसे बन सकते हैं श्रृंखला -12
-
गढ़वाल भ्रातृ मण्डल हेतु प्रस्तुति - भीष्म कुकरेती
-

जिस तरह  IAS बनने हेतुअंग्रेजी ज्ञान के बारे में भ्रांतियां फैली हैं उसी तरह पारिवारिक पृष्ठभूमि के बारे में भी आकांक्षियों के मन में सन्देह पैदा करता है।   पारिवारिक या  पृष्ठभूमि के बारे में अनावश्यक सन्देह पैदा कर दिया गया है। 
IAS /UPSC परीक्षा में सफलता हेतु पारिवारिक पृष्ठभूमि नही किन्तु IAS /UPSC परीक्षा के लिए सही तरीके की तैयारी की आवश्यकता होती है।  उत्तराखण्ड ने कई IAS /IRS /अथवा सेना अधिकारी दिए हैं और अधिसंख्य में पारिवारिक पृष्ठभूमि का कोई हाथ नही रहा है अपितु अभ्यार्थी की  अपनी सही तैयारी रही है।  ग्रामीण पृष्ठ भूमि का भी IAS /UPSC परीक्षा में सफल /असफल होने हेतु कोई संबन्ध नही है।
हाँ परिवार , रिस्तेदारों व समाज से परीक्षा हेतु संसाधन , निरन्तर प्रोत्साहन , व अन्य सहायता आवश्यक हैं।
-
शेष IAS/IPS/IFS/IRS कैसे बन सकते हैं श्रृंखला -13  में.....
-
-
कृपया इस लेख व " हर उत्तराखंडी IAS बन सकता है" आशय को कम से कम 7  लोगों तक पँहुचाइये प्लीज !
-
IAS Exams, IAS Exam preparation, UPSC exams, How I can be IAS , Rules of IAS exams, Characteristics of IAS exam, How will I success IAS exam, S UPSC Exam Hard ?Family background and IAS/UPSC Exams

--
 


Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,387
  • Karma: +22/-1
Re: Government Jobs In Uttarakhand - सरकारी नौकरी
« Reply #59 on: December 19, 2016, 07:49:15 PM »

Coaching Class and Preparation for IAS Exam, UPSC exams
-

IAS (UPSC ) परीक्षा में कोचिंग क्लास का महत्व

-


( गढवाल भ्रातृ मंडल (स्थापना -1928 ) , मुंबई  की पहल –हर उत्तराखंडी IAS बन सकता है )
-
IAS/IRS/IFS कैसे बन सकते हैं श्रृंखला -13
-
गढ़वाल भ्रातृ मण्डल हेतु प्रस्तुति - भीष्म कुकरेती
-

 जब से भारत सरकार ने IAS (UPSC ) परीक्षा में परीक्षा माध्यम हिंदी या स्थानीय भाषा को स्थान दिया है IAS (UPSC ) परीक्षार्थियों की संख्या बढ़ी है और कोचिंग क्लासों की संख्या भी बढ़ी है।
कोचिंग क्लास से IAS (UPSC ) परीक्षा में सहायता लेने वाले परीक्षार्थी निम्न प्रकार के हैं -
१- जिन्होंने तय कर लिया है कि IAS (UPSC ) परीक्षा में कोचिंग क्लास बेकार है।
२- जिन्होंने तय कर लिया है कि IAS (UPSC ) परीक्षा में कोचिंग क्लासकी सहायत आवश्यक है।
३-जो तय ही नही कर पाते कि  IAS (UPSC ) परीक्षा में कोचिंग क्लास आवश्यक हैं या नही दुविधाग्रस्त परीक्षार्थी
४-जो कोचिंग क्लास ज्वाइन करना चाहते हैं किन्तु किन्ही कारण वस जैसे ग्रामीण स्थल में निवास के कारण कोचीन क्लास से पढ़ाई नही कर पाते
५- जो चाहते हुए भी अर्थाभाव के कारण IAS (UPSC ) परीक्षा में कोचिंग क्लास से सहायता नही ले पाते हैं
६- जो ऑन लाइन कोचीन क्लास को बेहतर विकल्प मानते हैं

-
शेष क्या IAS/IPS/IFS/IRS परीक्षा हेतु कोचिंग क्लास आवश्यक है  ? पढिये IAS/IPS/IFS/IRS कैसे बन सकते हैं श्रृंखला -14  में.....
-
-
कृपया इस लेख व " हर उत्तराखंडी IAS बन सकता है" आशय को कम से कम 7  लोगों तक पँहुचाइये प्लीज !
-
IAS Exams, IAS Exam preparation, UPSC exams, How I can be IAS , Rules of IAS exams, Characteristics of IAS exam, How will I success IAS exam, S UPSC Exam Hard ?Family background and IAS/UPSC Exams, Coaching Class
--
 


 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22