Author Topic: Live Chat With Fauji Lalit Mohan Joshi(Famous Singer) On 08 May 2009 At 11:00AM  (Read 56009 times)

Risky Pathak

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 2,502
  • Karma: +51/-0
Lalit Jee Aapke dwara gaaya gyaa mera priy Geet hai..

"Nainital Ki Maaduli Hit Myera Dagada..."
and
"Me banu desho ko ek jwaan ho.. din raat dugn dugn badne runo.. Desh ki raksha lizi ladne runo. Me jwaan hu.. Me jwaan hu."

KAILASH PANDEY/THET PAHADI

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 938
  • Karma: +7/-1
joshi jyu, mera pahad team ke liye jo apne samay nikala uske liye bahut-bahut dhanyawaad aur aasha karta hu ki aap samay-samay par aakar hamara ishi tarah se margdarshan karte rahenge.

Jai Uttarakhand

Prakash Chand

  • Newbie
  • *
  • Posts: 3
  • Karma: +0/-0
Hello Lalit Bhai Namaskar kaise hain aap, Apko bahut badhaee jo apne sangeet ki duniya main itna naam kamaya, please isi tarah hamari sanskriti ko age bdhate rahiyega

Prakash Chand
Pithoragarh
9412909636

veeru_bisht

  • Newbie
  • *
  • Posts: 10
  • Karma: +0/-0
hello all uttrakhandi ppl any one here want ike talk wid m e

Risky Pathak

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 2,502
  • Karma: +51/-0
ललित मोहन जोशी जी की गीत माला 'मीठी तेरी बोली ' का एक कर्ण प्रिय गीत

ब्रह्मचारी छी मै कमु त्वीले बिगाडी
ब्रह्मचारी छी मै कमु त्वीले बिगाडी
दिन मेहन त्वील मेरी नींद उडाई
दिन मेहन त्वील मेरी नींद उडाई

९ मेहन ड्यूटी मीले कैसी निभायी
३ मेहन छुट्टी मीले कैसी बिताई 
ब्रह्मचारी छी मै कमु त्वीले बिगाडी
ब्रह्मचारी छी मै कमु त्वीले बिगाडी
दिन मेहन त्वील मेरी नींद उडाई
दिन मेहन त्वील मेरी नींद उडाई

डाकिया दाज्यू आई चिट्ठी नि लायी
याद आई जब ले तेरी आंसू बहाई
ब्रह्मचारी छी मै कमु त्वीले बिगाडी
ब्रह्मचारी छी मै कमु त्वीले बिगाडी
दिन मेहन त्वील मेरी नींद उडाई
दिन मेहन त्वील मेरी नींद उडाई

रुद्राक्ष की माला मेरी कि ले छुडाई
बरसो की तपस्या त्वीले पल में मिटाई
ब्रह्मचारी छी मै कमु त्वीले बिगाडी
ब्रह्मचारी छी मै कमु त्वीले बिगाडी
दिन मेहन त्वील मेरी नींद उडाई
दिन मेहन त्वील मेरी नींद उडाई

काम धंध के दिन छुट्टी मी उनो
२ मेहन छुट्टी मीले संग बितून
ब्रह्मचारी छी मै कमु त्वीले बिगाडी
ब्रह्मचारी छी मै कमु त्वीले बिगाडी
दिन मेहन त्वील मेरी नींद उडाई
दिन मेहन त्वील मेरी नींद उडाई

Risky Pathak

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 2,502
  • Karma: +51/-0
ललित मोहन जोशी जी की गीत माला 'मीठी तेरी बोली ' से 'गोल्ज्यू देवता' पर एक गीत|


हे देवा तू दैण है जाए देवा हो|
तू दैण है जाए देवा हो|
भूमि का भूमिया देवा हो|
भूमि का भूमिया देवा हो|

जय जय देवा चितई गोलू सुन मेरी पुकार
आस लगे बेर आयू तेरी दरबार
जय जय देवा चितई गोलू सुन मेरी पुकार
आस लगे बेर आयू तेरी दरबार

दाणा गोल्ज्यू , भंडारी गोल्ज्यू, चितई गोल्ज्यू किरपा राखे|

निर्धन कै तू धन दी छे, बाझँ कै दी संतान
४ धाम में छे त्येर नाम, हाथ जोड़ी करू परनाम
जय जय देवा चितई गोलू सुन मेरी पुकार
आस लगे बेर आयू तेरी दरबार
दाणा गोल्ज्यू , भंडारी गोल्ज्यू, चितई गोल्ज्यू किरपा राखे|

जागीश्वर में छू जागनाथ, सारी दुनिया ल्थामी हात
बागीश्वर में छू बाघनाथ, पवित्र छू सरयू की घाट
जय जय देवा चितई गोलू सुन मेरी पुकार
आस लगे बेर आयू तेरी दरबार
दाणा गोल्ज्यू , भंडारी गोल्ज्यू, चितई गोल्ज्यू किरपा राखे|

दूनागिरी में छू दुर्गा माता, महा काली छू गंगोली हाट
पांखू थल में कोटगारी माता, चंडी का धाम बसी छू घाट
जय जय देवा चितई गोलू सुन मेरी पुकार
आस लगे बेर आयू तेरी दरबार
दाणा गोल्ज्यू , भंडारी गोल्ज्यू, चितई गोल्ज्यू किरपा राखे|

तेरी दरबार जो औनि देवा, उके मिल जानी तेरी मेवा
अन्याय के नाश करी छे, न्याय को छो यो तेरी दरबार
जय जय देवा चितई गोलू सुन मेरी पुकार
आस लगे बेर आयू तेरी दरबार
दाणा गोल्ज्यू , भंडारी गोल्ज्यू, चितई गोल्ज्यू किरपा राखे|

Risky Pathak

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 2,502
  • Karma: +51/-0
ललित मोहन जोशी जी की गीत माला 'दिल कैसी थामुला ' से एक गीत|

मन मेरो ने लागन त्येर बिना
परदेश मुलूक, परदेश मुलूक
मन मेरो ने लागन त्येर बिना
परदेश मुलूक, परदेश मुलूक

दिल मेरो नै लागनी सुवा हो, तेरी याद मै सतुनो
दे दिए मेरो प्यार, मै करुलो इंतज़ार
मै करुलो इंतज़ार सुवा हो
मन मेरो ने लागन त्येर बिना
परदेश मुलूक, परदेश मुलूक

सुवा हो कैसी है रे छे, सुवा बाटुली लगो छे
यो बात मै नी जान, दिन है रे धो काटन
दिन है रे धो काटन सुवा हो
मन मेरो ने लागन त्येर बिना
परदेश मुलूक, परदेश मुलूक

रात मै तू सैण आई, मेरी आख्नो में समाई
त्वीले सार नींद चुराई, क्वे सन्देश नि आई
क्वे सन्देश नि आई सुवा हो
मन मेरो ने लागन त्येर बिना
परदेश मुलूक, परदेश मुलूक

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0

Thanks Himanshu JI.



There was media coverage of this Live Chat on ETV Uttarakhand and UP on 8th May at 7:30 pm news. We thank ETV Uttar Pradesh & Uttarakhand for supporting our efforts.


ललित मोहन जोशी जी की गीत माला 'दिल कैसी थामुला ' से एक गीत|

मन मेरो ने लागन त्येर बिना
परदेश मुलूक, परदेश मुलूक
मन मेरो ने लागन त्येर बिना
परदेश मुलूक, परदेश मुलूक

दिल मेरो नै लागनी सुवा हो, तेरी याद मै सतुनो
दे दिए मेरो प्यार, मै करुलो इंतज़ार
मै करुलो इंतज़ार सुवा हो
मन मेरो ने लागन त्येर बिना
परदेश मुलूक, परदेश मुलूक

सुवा हो कैसी है रे छे, सुवा बाटुली लगो छे
यो बात मै नी जान, दिन है रे धो काटन
दिन है रे धो काटन सुवा हो
मन मेरो ने लागन त्येर बिना
परदेश मुलूक, परदेश मुलूक

रात मै तू सैण आई, मेरी आख्नो में समाई
त्वीले सार नींद चुराई, क्वे सन्देश नि आई
क्वे सन्देश नि आई सुवा हो
मन मेरो ने लागन त्येर बिना
परदेश मुलूक, परदेश मुलूक


Anubhav / अनुभव उपाध्याय

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 2,865
  • Karma: +27/-0
Sorry to post the pics late but was busy:

Lalit ji chatting karte hue:




Anubhav / अनुभव उपाध्याय

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 2,865
  • Karma: +27/-0

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22