Author Topic: Connecting Lines Of Uttarakhand Songs - उत्तराखंडी गीतों के जोड़  (Read 22974 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0


गोस्वामी जी यह. प्रसिद्ध गाना .

रुप्सा रु मोती
jod to bhagnoliyo ke sunsne me anand aata hai/
aaj ki bhagam bhag wali jindagi me vo luphat kaha se uthaya ja sakata hai/
Delhi me holi ke akhari din (chharari) ko 3pm baje se lal quila ground me pahadi kauthik lagata tha, usame jhora, bhagnola aadi dekhe aur sunane ko milata tha/

ek jod esa bhi suna-
haliya hal bay chham chham boy dhan
paili khani chuha panchhi phir khaye kisan/

ek aam jod sunte hai-
datule ki dhar, datule ki dhar
aauni ganaga mele tari kai ni lago tar
dagad me me ni khan, dide mike nyar

bhagnolo ke jod yani panth usi tarah hai jaise kabbali/

khim 


Mukesh Joshi

  • Moderator
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 789
  • Karma: +18/-1
स्वर सुरेश वाडेकर ,सुषमा श्रेष्ट  फ़िल्म फियोली
अपडी तो शर्मीली आंखू द्य्खनी दया जरा इना त दयखा
तुमथे देखि शर्म च आड्डी तुम्हरी समड्डी शर्म आड्डी
पेली तुम जरा उन्ना त देखा . हो ,ओ ..........

कब तके शर्माड्डी लुक्डी राली बियोली   
कभी त आलू बसंत कभी त हेसली फ्योली
.रुखा डंडा व्हे जाला हैरा  पेली  तुम.........
छोड़ा देखना  छन  लोग , हाथ  यनु खीचा
 हमरा गोऊ मा रिवाज सर्माणु को नीचा .
दूर दानियू का पार लिज्वा हम सनी
चला उड्डी जोला पंछी बंनी डालीयू का तुक बाणोला घोल ,
सुख सुख होलु जन भी देखा .हो ..हो  ओ ..............

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0

Great Mukesh Ji.. .. Exclusive informatoin.

स्वर सुरेश वाडेकर ,सुषमा श्रेष्ट  फ़िल्म फियोली
अपडी तो शर्मीली आंखू द्य्खनी दया जरा इना त दयखा
तुमथे देखि शर्म च आड्डी तुम्हरी समड्डी शर्म आड्डी
पेली तुम जरा उन्ना त देखा . हो ,ओ ..........

कब तके शर्माड्डी लुक्डी राली बियोली   
कभी त आलू बसंत कभी त हेसली फ्योली
.रुखा डंडा व्हे जाला हैरा  पेली  तुम.........
छोड़ा देखना  छन  लोग , हाथ  यनु खीचा
 हमरा गोऊ मा रिवाज सर्माणु को नीचा .
दूर दानियू का पार लिज्वा हम सनी
चला उड्डी जोला पंछी बंनी डालीयू का तुक बाणोला घोल ,
सुख सुख होलु जन भी देखा .हो ..हो  ओ ..............

Mukesh Joshi

  • Moderator
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 789
  • Karma: +18/-1
अनिल बिष्ट जी का सुपरहिट गाना...

वर्सा को टैर भानु, वर्सा को टैर
मैंल पैलि बोल्यु थ्यो प्यारि, बी. टी. सी. न केर

एजा हे भानुमती पाबौं बजार....वर्सा नही मर्सा मतलब चोलाई ( चुह ) का टेर (पेड़ )

वर्सा नही मर्सा मतलब चोलाई ( चुह ) का टेर (पेड़ )

Mukesh Joshi

  • Moderator
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 789
  • Karma: +18/-1
सुतरा की दोली बल सुतरा की दोली, बल सुतरा की दोली
मुखडी  बथे दे छोरी गोरी छे के सावली

Mukesh Joshi

  • Moderator
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 789
  • Karma: +18/-1
माछी को रगत दीपा माछी को रगता
तू मेरी जोगियंन होली मे तेरो भगता
हे दीपा हिट दिपुलू सारा सरी
उत्तरेनी कोथिका हे दीपा ..

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0

Excellent Joshi JI.. This one of the oldest Jhod (connecting line).

माछी को रगत दीपा माछी को रगता
तू मेरी जोगियंन होली मे तेरो भगता
हे दीपा हिट दिपुलू सारा सरी
उत्तरेनी कोथिका हे दीपा ..

खीमसिंह रावत

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 801
  • Karma: +11/-0
पठ, तुकबंदी यानि जोड़ के बिना पहाडी गीतों में वो आनंद कहाँ / गीतों में निरंतरता बनाये रखने के लिए जोडो का प्रयोग होता है / हमारे जोडो की एक बिशेषता यह है कि एक ही जोड़ के पहले मुखड़े को कोई भी गीतकार अपने गीतों में कर सकता है / जैसे
माछी क रगता, तू मेरी जोग्याणा हाली मै तेरो भगता/
दातुले कि धारा,
तिमिली को पाता,
तिले धरो बोला,
ओसाई को रेटा,
लूण भरो दूँण,

इतियादी - इतियादी
khim

हेम पन्त

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 4,326
  • Karma: +44/-1
की कुनू कैबैर, कैथे कूनू ,को सुणोलो, की कूनू कैबेर
कलेजी दी बैर, पराया आपण नै हुना, कलेजी दी बैर.........

हेम पन्त

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 4,326
  • Karma: +44/-1
हम लोग बचपन में यह गाना गाते थे..

हरिया रुमाल छ, पीली मिठै छ.
किलै रुंछि ब्यौलि, ब्यौलो सिपै छ...

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22