Author Topic: Story Of Gweljyu/Golu Devta - ग्वेल्ज्यु या गोलू देवता की कथा  (Read 111291 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0

From - Film Golu Jiyu K Kripa

आरती- जय गोल ज्यू महाराज,
********************
'जय गोल ज्यू महाराज,
जय हो जय गोल ज्यू महाराज ..!
जय गोल ज्यू महाराज,
जय हो जय गोल ज्यू महाराज ..!!
ज्योत जगुनों तेरी...2
सुफल करिए काज....!
जय हो जय गोल ज्यू महाराज ..!!

कोरस :- (जय गोल ज्यू महाराज,
जय हो जय गोल ज्यू महाराज ..
ज्योति जगुनों तेरी...2
सुफल करिए काज....!
जय गोल ज्यू महाराज !!)

पाड़ी में बगन तू आछे ,
लुवे को पिटार में नादान,
(देवा लुवे को पीटार में नादान).
गोरी  घाट भाना पायो..2
पड़ी गयो गोरिया नाम..!
जय हो जय गोल ज्यू महाराज ..!!

कोरस :-
(जय हो जय गोल ज्यू महाराज ..
जय हो जय गोल ज्यू महाराज ..!!
ज्योति जलूनों तेरी...2
सुफल करिए काज....!
जय गोल ज्यू महाराज !!)

हरुआ,कलुवा भाई तेरो,
बड़ छेना जो दीवान..!
माता कालिंका तेरी...2
बाबू झालो राज़...!
जय हो जय गोल ज्यू महाराज ..!!

कोरस :-
(जय हो जय गोल ज्यू महाराज .
जय हो जय गोल ज्यू महाराज ..
ज्योति जलूनों तेरी...2
सुफल करिए काज....!
जय गोल ज्यू महाराज !!)

सुखिले लुकड़ टांक तेरो
कांठ का घोड़ में सवार !
(देवा काठ को घोड़ में सवार )
लुवे की लगाम हाथयू में..२
चाबुक छू हथियार...!!
जय हो जय गोल ज्यू महाराज ..!!

कोरस :-
(जय हो जय गोल ज्यू महाराज .
जय हो जय गोल ज्यू महाराज ..
ज्योति जलूनों तेरी...2
सुफल करिए काज....!
जय गोल ज्यू महाराज !!)

न्याय तेरो हूँ साची,
सब उनी तेरो द्वार,
(देवा सब उनी तेरो द्वार !)
जो मांखी तेरो नो ल्यूं ...२
लगे वीक नय्या पार !
जय गोल ज्यू महाराज !!

कोरस :-
(जय हो जय गोल ज्यू महाराज .
जय हो जय गोल ज्यू महाराज ..
ज्योति जलूनों तेरी...2
सुफल करिए काज....!
जय गोल ज्यू महाराज !!)

दूध, बतास और नारियल,
फूल चडनी तेरो द्वार,
(देवा फूल चडनी तेरो द्वार !)
प्रथम मंदीर चम्पावत..२
फिर चितई, घोड़ाखाल.!
जय गोल ज्यू महाराज !!

कोरस :-
(जय हो जय गोल ज्यू महाराज .
जय हो जय गोल ज्यू महाराज ..
ज्योति जलूनों तेरी...2
सुफल करिए काज....!
जय गोल ज्यू महाराज !!)'



       शुक्रिया !
  मनीष मेहता !
(सर्वाधिकार सुरक्षित )   
(फिल्म- गोल ज्यू की कृपा !!)


विनोद सिंह गढ़िया

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 1,676
  • Karma: +21/-0
उदेपुर के गोलू देवता को लाए थे हर सिंह कैड़ा
पृथ्वीराज चौहान के वंशज विंता निवासी हर सिंह कैड़ा लगभग चार सौ साल पहले उदय चंद नामक चंद शासक के           निर्देश पर चंपावत से गोलू देवता को स्फटिक लिंग के रूप में          अपनी पगड़ी पर रखकर चंपावत से यहां लाए थे। इसी के साथ गोलू मंदिर की स्थापना हुई और इस स्थान को उदेपुर के रूप में पहचान मिली। अब उदेपुर का पवित्र रमणीक स्थल हजारों लोगों की आस्था का केंद्र है।


सोमेश्वर और विंता की घाटी के मध्य अत्यधिक ऊंचाई और रमणीक स्थान पर बसे उदेपुर की स्थापना का इतिहास काफी रोमांचक है। जन श्रुतियों के अनुसार पृथ्वीराज चौहान के कुछ वंशज गगास घाटी के विंता क्षेत्र में बस गए। चार सौ साल पहले चंद राजाओं ने उन्हें अपनी सेना में शामिल किया। कड़े अनुशासन के कारण उन्हें कैड़ा उपनाम मिला। विंता निवासी हर सिंह कैड़ा अल्मोड़ा के राजा उदय चंद के सेनापति थे। एक दिन उदय चंद को उनके आराध्य गोलू देवता ने किसी ऐसे स्थान पर उनका मंदिर बनाने के निर्देश दिए, जहां सूर्यास्त और सूर्योदय की पहली किरण पहुंचती है। सेनापति हर सिंह कैड़ा ने इसके लिए विंता के ठीक ऊपर स्थित जगह सुझाई। इसी रात गोलू देवता ने हर सिंह कैड़ा को दर्शन देकर चंपावत जाने की हिदायत दी। कैड़ा वहां पहुंचे।  इसके बाद कैड़ा सोमेश्वर होते हुए लोद पहुंचे। उदेपुर में काली और लाकुड़ देवता के भी मंदिर हैं। भतौरा निवासी मोहन सिंह अधिकारी के अनुसार उदेपुर के गोलू देवता पहले कैड़ा के शरीर पर अवतरित होते थे, किंतु कैड़ा राजकाज में व्यस्त रहते थे, उनके आग्रह पर गोलू देवता ने कैड़ा की पुत्री के पुत्र बोरा जाति के युवक को डंगरिया बनाया। तब से गोलू देवता बोरा जाति में ही अवतरित होते हैं।


मोहन सिंह कैड़ा और एडवोकेट पूरन कैड़ा के अनुसार अल्मियां जाति के लोगों में हीत देवता का अवतरण होता है। अश्विन नवरात्र पर दस दिनों तक यहां निरंतर पूजा पाठ, जागर एवं अन्य कार्यक्रम होते हैं, जिसमें क्षेत्र के हजारों ग्रामीण शिरकत करते हैं। उदेपुर में अब वीर हर सिंह कैड़ा की भी पूजा होती है। चंद राजाओं ने पूजा के लिए झिझाड़ गांव के जोशी परिवार को भी यहां भेजा।

 श्रोत : अमर उजाला


एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1





एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22