Author Topic: Tourism and Hospitality Industry Development & Marketing in Kumaon & Garhwal (  (Read 25556 times)

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,387
  • Karma: +22/-1
               Market Research On Outbound Tour Operators

                      आउटबाउंड टूर ऑपरेटरों के बारे में बाजार अन्वेषण (मार्केट  रिसर्च )

  ( Hospitality and Tourism  Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--116 ) 

                                  उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 116   

 

                                                              लेखक ::: भीष्म कुकरेती  (विपणन व विक्री प्रबंधन विशेषज्ञ )

किसी भी टूर ऑपरेटर को आउटबाउंड टूर ऑपरेटर /वितरक की आवश्यकता पड़ती है।  आउटबाउंड टूर ऑपरेटर या बाह्य क्षेत्रीय  वितरक के बारे में बाजार अन्वेषण /जानकारी हासिल करने  के निम्न तरीके हैं -

१- इंटरनेट द्वारा आउटबाउंड टूर  ऑपरेटर के बारे में जानकारी हासिल करना

२-टूर ऑपरेटर असोसिएसन से जानकारी हासिल करना

३ -टूर ऑपरेटर के दूतावास से जानकारी प्राप्त करना

४-ट्रैवल प्रदर्शनियों द्वारा

५-विदेशी पत्र -पत्रिकाओं से जानकारी प्राप्त करना

६-आउटबाउंड टूर  ऑपरेटर के वितरकों , सहयोगियों , भूतपूर्व अधिकारियों से जानकारी हासिल करना

Copyright @ Bhishma Kukreti  27/11//2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...

उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …


                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल

Market Research On Outbound Tour Operators for Marketing of Travel, Tourism and  Hospitality Industry Development  in Uttarakhand; Market Research On Outbound Tour Operators for Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Haridwar Garhwal, Uttarakhand; Market Research On Outbound Tour Operators for Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pauri Garhwal, Uttarakhand; Market Research On Outbound Tour Operators for Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Dehradun Garhwal, Uttarakhand; Market Research On Outbound Tour Operators for Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Uttarkashi Garhwal, Uttarakhand; Market Research On Outbound Tour Operators for Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Tehri Garhwal, Uttarakhand; Market Research On Outbound Tour Operators for Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Rudraprayag Garhwal, Uttarakhand; Market Research On Outbound Tour Operators for Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Chamoli Garhwal, Uttarakhand; Market Research On Outbound Tour Operators for Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Udham Singh Nagar Kumaon, Uttarakhand; Market Research On Outbound Tour Operators for Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Nainital Kumaon, Uttarakhand; Market Research On Outbound Tour Operators for Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Almora Kumaon, Uttarakhand; Market Research On Outbound Tour Operators for Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Champawat Kumaon, Uttarakhand; Market Research On Outbound Tour Operators for Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Bageshwar Kumaon, Uttarakhand; Market Research On Outbound Tour Operators for Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pithoragarh Kumaon, Uttarakhand;


                    स्वच्छ भारत ! स्वच्छ भारत ! बुद्धिमान भारत !


Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,387
  • Karma: +22/-1
                                      Operation Management for Tour Operator

                                             टूर ऑपरेटर व्यापार में कार्य संचालन प्रबंधन

                  ( Hospitality and Tourism  Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--117 ) 

                                  उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 117   

 

                                                              लेखक ::: भीष्म कुकरेती  (विपणन व विक्री प्रबंधन विशेषज्ञ )

 किसी भी टूर ऑपरेटर व्यापार में कार्य संचालन बहाव होता है (Work Flow ) टूर ऑपरेटर में मार्केटिंग /विपणन ; अकाउंटिंग प्रबंधन , औपरेसन प्रबंधन , स्टाफ प्रबंधन आदि का बहाव संचालन आवश्यक है

                           मार्केटिंग संचालन प्रबंधन

इनक्वारियों का एकत्रीकरण

इनक्वारियों को डाटाबेस में प्रविष्टि

ग्राहकों को ऑॅफर देना

सीट आदि का रिजर्वेसन

इटर्निटी व अन्य सूचना (ट्रिप का विवरण , दैनिक कार्य आदि ) ग्राहक समेत उनको भेजना जिनका इटर्निटी प्रबंधन , तयारी से  संबंध है

बिल बनाना

अग्रिम धनराशि लेना व अन्य भागीदारों /सहयोगियों /सप्लायरों को अग्रिम राशि पंहुचाना

टूर की तैयारी व निरीक्षण

समय समय पर कार्यानुसार ग्राहकों व सप्लायरों /सहयोगियों को वांछित सूचना प्रेसित करना  व सूचना प्राप्तिकरण

रिजर्वेसन आदि की सूचना का आदान -प्रदान

आने वाले समय हेतु इंटरनिटी नतैयार करना व सप्लायरों से निगोसिएसन

कैटलॉग , वेब साइट बनाना आदि

मार्केटिंग की तयारी

वितरकों से सम्पर्क व उनके साथ ट्रेड प्रदर्शनियों में भाग लेना

Copyright @ Bhishma Kukreti  28/11//2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...

उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …
                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल

Operation Management for Tour Operators in Marketing of Travel, Tourism and  Hospitality Industry Development  in Uttarakhand; Operation Management for Tour Operators in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Haridwar Garhwal, Uttarakhand; Operation Management for Tour Operators in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pauri Garhwal, Uttarakhand; Operation Management for Tour Operators in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Dehradun Garhwal, Uttarakhand; Operation Management for Tour Operators in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Uttarkashi Garhwal, Uttarakhand; Operation Management for Tour Operators in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Tehri Garhwal, Uttarakhand; Operation Management for Tour Operators in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Rudraprayag Garhwal, Uttarakhand; Operation Management for Tour Operators in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Chamoli Garhwal, Uttarakhand; Operation Management for Tour Operators in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Udham Singh Nagar Kumaon, Uttarakhand; Operation Management for Tour Operators in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Nainital Kumaon, Uttarakhand; Operation Management for Tour Operators in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Almora Kumaon, Uttarakhand; Operation Management for Tour Operators in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Champawat Kumaon, Uttarakhand; Operation Management for Tour Operators in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Bageshwar Kumaon, Uttarakhand; Operation Management for Tour Operators in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pithoragarh Kumaon, Uttarakhand;


                  स्वच्छ भारत ! स्वच्छ भारत ! बुद्धिमान भारत !


Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,387
  • Karma: +22/-1

                                        Accounting Procedures in Tour Operation Business

                         टूर औपरेसन व्यापार में अकाउंटिंग/लेखा -जोखा संचालन

                  ( Hospitality and Tourism  Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--118 ) 

                                  उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 118   

 

                                                              लेखक ::: भीष्म कुकरेती  (विपणन व विक्री प्रबंधन विशेषज्ञ )

                           टूर औपरेसन व्यापार में अकाउंटिंग संचालन

टूर औपरेटर अकाउंटिंग संचालन इस प्रकार करते हैं -

 १-आगमिक या इनकमिंग पेमेंट रोज लेखा -जोखा  व जानकारी

२- दी जाने वाले पेमेंट का लेखा जोखा

३- क्रेडिट कंट्रोल व पेमेंट प्राप्ति के माध्यमों/विभागों /पदासीन अधिकारियों पर नजर रखना

४- बिलिंग

५- रिसिबेबल बिल की चेकिंग

 ६-लाभ हानि लेखा जोखा

७- बैंकिंग आदि

Copyright @ Bhishma Kukreti  29/11//2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...

उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …
                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल

Marketing of Travel, Tourism and  Hospitality Industry Development  in Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Haridwar Garhwal, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pauri Garhwal, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Dehradun Garhwal, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Uttarkashi Garhwal, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Tehri Garhwal, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Rudraprayag Garhwal, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Chamoli Garhwal, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Udham Singh Nagar Kumaon, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Nainital Kumaon, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Almora Kumaon, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Champawat Kumaon, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Bageshwar Kumaon, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pithoragarh Kumaon, Uttarakhand;


                  स्वच्छ भारत ! स्वच्छ भारत ! बुद्धिमान भारत !

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,387
  • Karma: +22/-1
                                      Hospitality Management  -1

                                               आतिथ्य प्रबंधन -1

     ( Hospitality and Tourism  Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--119 ) 

                                  उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 119   

 

                                                              लेखक ::: भीष्म कुकरेती  (विपणन व विक्री प्रबंधन विशेषज्ञ )


                                    Hospitality Management Definition

                                               आतिथ्य प्रबंधन परिभाषा

  अभी भी आतिथ्य प्रबंधन की परिभाषा , आतिथ्य प्रबंधन की समझ व आतिथ्य प्रबंधन की प्रकृति  का ज्ञान व पढ़ाई अपने शैशव काल में ही है।  आज भी पर्यटन विशेषज्ञों से आतिथ्य प्रबंधन पर ध्यान देने की आवश्यकता की मांग की जाती है।

आतिथ्य प्रबंधन की वैचारिक दृष्टि से अध्ययन की अति आवश्यकता है।

Oxford Quick Reference Dictionary अनुसार अतिथियों या अनजानों का दोस्तों की तरह आवभगत व मनोरंजन करना !

Collins Concise English Dictionary अनुसार Hospitality का अर्थ है मेहमानो या अनजानों का दयालुता/कोमलता  के साथ स्वागत !

UK के हाइयर एज्युकेसन फंडिंग काउन्सिल फौर इंग्लैण्ड ने रिव्यू ऑफ हॉस्पिटैलिटी मैनजमेंट (1998 ) में Hospitality  आतिथ्य को परिभाषित करते हुआ लिखा,"  सेवा के संदर्भ में खाना -पीना  ठहरने की परवाह करने को आतिथ्य प्रबंधन कहते हैं। "

भीष्म कुकरेती (2006 , शैलवाणी ) के अनुसार आतिथ्य प्रबंधन वह उद्योग संबंधित मानवीय प्रबंधन है जो अतिथियों की पर्यटन आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर स्वागत , आवभगत , आदर , भोजन , पेय , मनोरंजन व  अन्य संबंधित सेवायें मुहय्या कराता है  और अतिथियों को मानसिक , भौतिक रूप से संतोष प्रदान कराता है ।

Copyright @ Bhishma Kukreti  30/11//2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...

उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …
                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल

Hospitality Management Definition & Marketing of Travel, Tourism and  Hospitality Industry Development  in Uttarakhand; Hospitality Management Definition & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Haridwar Garhwal, Uttarakhand; Hospitality Management Definition & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pauri Garhwal, Uttarakhand; Hospitality Management Definition & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Dehradun Garhwal, Uttarakhand; Hospitality Management Definition & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Uttarkashi Garhwal, Uttarakhand; Hospitality Management Definition & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Tehri Garhwal, Uttarakhand; Hospitality Management Definition & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Rudraprayag Garhwal, Uttarakhand; Hospitality Management Definition & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Chamoli Garhwal, Uttarakhand; Hospitality Management Definition & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Udham Singh Nagar Kumaon, Uttarakhand; Hospitality Management Definition & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Nainital Kumaon, Uttarakhand; Hospitality Management Definition & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Almora Kumaon, Uttarakhand; Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Champawat Kumaon, Uttarakhand; Hospitality Management Definition & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Bageshwar Kumaon, Uttarakhand; Hospitality Management Definition & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pithoragarh Kumaon, Uttarakhand;


               स्वच्छ भारत ! स्वच्छ भारत ! बुद्धिमान भारत !



Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,387
  • Karma: +22/-1
                     Major  Principle  Schools of Thoughts of Hospitality Management

                          आतिथ्य प्रबंधन के मुख्य वैचारिक सिद्धांत

                                  Hospitality Management  -2

                                               आतिथ्य प्रबंधन -2

     ( Hospitality and Tourism  Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--120 ) 

                                  उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 120   

 

                                                              लेखक ::: भीष्म कुकरेती  (विपणन व विक्री प्रबंधन विशेषज्ञ )

आतिथ्य प्रबंध कला , दर्शन शास्त्र व विज्ञान अभी नवांकुर अवस्था में है।  इसलिए अभी भी आतिथ्य प्रबंधन के नियम नही साधे गए हैं।

पीटर जोन्स (2004, Finding the Hospitality Industry), जौर्नल  ऑफ़ हॉस्पिटैलिटी, लेजर ,  स्पोर्ट …    ) ने विश्लेषण कर आतिथ्य हेतु निम्न वैचारिक सिद्धांत बताये जिन पर चर्चा होती रहती है।

आतिथ्य विज्ञान आदर्श रूप में - रसायन शास्त्र , भौतिक शास्त्र , वनस्पति शास्त्र के आधार पर पौष्टिकता , पौस्टिक तत्व , बर्तनों के आकर प्रकार , सेवा के लिए उपकरण जैसे विषयों  अन्वषणो में   विज्ञान को आधार बनाना

आतिथ्य प्रबंध विचारधारा -गुणात्मक व सांख्यिकीय दृष्टि से विपणन व उपभोग पर विचार

आतिथ्य अध्ययन - संख्यात्मक व गुणात्मक अन्वेषण

आतिथ्य संबंध - यह बिलकुल नई विचारधारा है जो संबंधों को उद्यम के अन्य पक्षों से अलग अध्ययन पर बल देता है।

आतिथ्य प्रणाली या व्यवस्था - यह सिद्धांत निश्चयवाद/प्रत्यक्षबाद  और निर्देशात्मक पक्ष के अन्वेषण का पक्षधर है

व्यवहारिक आतिथ्य - इस सिद्धांत आतिथ्य प्रबंधन में उद्योग जगत के व्यवहारिक पक्ष का पक्षधर है

Copyright @ Bhishma Kukreti  1/12//2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...

उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …
                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल

   Principle  Schools of Thoughts of Hospitality Management in Marketing of Travel, Tourism and  Hospitality Industry Development  in Uttarakhand; Principle  Schools of Thoughts of Hospitality Management in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Haridwar Garhwal, Uttarakhand; Principle  Schools of Thoughts of Hospitality Management in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pauri Garhwal, Uttarakhand; Principle  Schools of Thoughts of Hospitality Management in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Dehradun Garhwal, Uttarakhand; Principle  Schools of Thoughts of Hospitality Management in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Uttarkashi Garhwal, Uttarakhand; Principle  Schools of Thoughts of Hospitality Management in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Tehri Garhwal, Uttarakhand; Principle  Schools of Thoughts of Hospitality Management in Marketing of  Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Rudraprayag Garhwal, Uttarakhand; Principle  Schools of Thoughts of Hospitality Management in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Chamoli Garhwal, Uttarakhand; Principle  Schools of Thoughts of Hospitality Management in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Udham Singh Nagar Kumaon, Uttarakhand; Principle  Schools of Thoughts of Hospitality Management in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Nainital Kumaon, Uttarakhand; Principle  Schools of Thoughts of Hospitality Management in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Almora Kumaon, Uttarakhand; Principle  Schools of Thoughts of Hospitality Management in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Champawat Kumaon, Uttarakhand; Principle  Schools of Thoughts of Hospitality Management in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Bageshwar Kumaon, Uttarakhand; Principle  Schools of Thoughts of Hospitality Management in Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pithoragarh Kumaon, Uttarakhand;


                  स्वच्छ भारत ! स्वच्छ भारत ! बुद्धिमान भारत !

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,387
  • Karma: +22/-1
                                      Roots of Hospitality Management

                                          आतिथ्य कला मानव सभ्यता के साथ विकसित हुइ  !

                                              Hospitality Management  -3

                                                  आतिथ्य प्रबंधन -3

                                     ( Hospitality and Tourism  Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--121 ) 

                                         उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 121   

 

                                                                    लेखक ::: भीष्म कुकरेती  (विपणन व विक्री प्रबंधन विशेषज्ञ )

 

 आतिथ्य कला या प्रबंधन मानव सभ्यता के साथ ही विकसित हो गया था.

पत्थर युग , धातु युग के पुरात्व भी साक्ष्य हैं कि मानव आतिथ्य कला महत्व देता था और तभी तो उपकरणों व उपकरण रचनाकारों को एक समाज  से दूसरे समाज में प्रसार का अवसर मिला।  जिस समाज ने आतिथ्य को नही अपनाया वह समाज पीछे छूटता गया।

महाभारत में आतिथ्य व अतिथि के महत्व को कुशलता पूर्वक उल्लेख हुआ है।  भीष्म , द्रोणाचार्य सरीखे मेजवानो ने अपने अतिथितियों को अपने मरने की विधि तक बताई।

भारत में अतिथि देवो भवः की मान्यता अति प्राचीन काल से चली आ रही है।

धर्मशालों  प्रचलन अतिथियों की सेवा को प्रदर्शित करता है।

साधू , संतों , मंगतों को भोजन , ठहरने का स्थान व्यवस्था आतिथ्य कला का ही एक रूप है। 

पर्यटन , घूमना , घुम्मकड़ शब्द इंगित करते हैं कि आतिथ्य हर युग की एक आवश्यकता रही है।

प्राचीन काल में आतिथ्य कला सम्मान का रिस्ता इंगित करता है।

  आधुनिक काल में आतिथ्य ने नया रूप ले लिया है।

अरामबेर्री  (2004 ,The Host Get Lost ) ने ग्लोबलाइजेसन आदि को आधार बनाकर आतिथ्य प्रबंधन में आथित्य को नए कोण से विश्लेषित किया है  . अरामबर्री कहता है की आधुनिक शुरुवाती मेहमानबाजी के निम्न कोण थे -

१- आतिथ्य में अतिथि को रक्षा देना आवश्यक है

२- मेहमान को मेजवान को मेजवानी की कीमत चुकानी आवश्यक है।

३- अतिथि मेजवान का पारिवारिक सदस्य बन जाता है और मेहमान व मेजवान  व्यवहार उसी तरह जाते हैं।

अरामबेर्री  (2004 ,The Host Get Lost )कहते हैं कि अब मेहमान को सेवा डिलवरी होनी आवश्यक है और मेजवान केवल सेवा दाता रह गया है व सेवा के बदले मेजवान मेहमान से कीमत पाता है। अरामबेर्री  (2004 ,The Host Get Lost )के अनुसार अब अतिथि केवल एक ग्राहक है और मेजवान केवल एक सप्लायर !

वी स्मिथ (2001 ) में ट्राइबल /एथनिक टूरिज्म में चार H के सिद्धांत को प्रतिपादित किया

Habitat -रहने का तरीका

History -इतिहास

Heritage -संस्कृति

Handicraft -हस्तकला

याने की अब आतिथ्य कला के अवयव बदल गए हैं और शायद भविष्य  आतिथ्य अवयव नए रूप में सामने आएँगी ही।

अब पर्यटक की चाहत , आकांक्षा आतिथ्य प्रबंधन को प्रभावित करती है ना कि मेजवान की इच्छा !

अब निम्न अन्य अवयव जुड़ गए हैं -

Habitat -रहने का तरीका

History -इतिहास

Heritage -संस्कृति
Handicraft -हस्तकला

आतिथ्य सेवा

अतिथि व मेजवान का संवाद या सूचनाओं का आदान प्रदान व कॉन्ट्रैक्ट

Copyright @ Bhishma Kukreti  2/12//2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...

उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …
                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल


Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,387
  • Karma: +22/-1
                                International Dimension in Hospitality Management

                                           आतिथ्य प्रबंधन में अंतर्राष्ट्रीय आयाम

                                              Hospitality Management  -4

                                                  आतिथ्य प्रबंधन -4

                                     ( Hospitality and Tourism  Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--122 ) 

                                         उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 122   

 

                                                                    लेखक ::: भीष्म कुकरेती  (विपणन व विक्री प्रबंधन विशेषज्ञ )

 

जिन उत्तराखंडियों का जन्म उत्तराखंड में हुआ और उन्होंने पिछले पचास साल में उत्तराखंड के पर्यटन के परिवर्तन को अनुभव  तो वे बता सकेंगे कि अब उत्तराखंड में आतिथ्य उद्यम जटिल हो गया।  क्योंकि अब सदूर गाँव की चाय की दुकानदारी को अंतर्राष्ट्रीय परिवेश प्रभावित कर रहा है।  याद किया जाय कि पचास साल पहले गुमखाल में मोटर रुकी , यात्री उतरे और दो या चार होटलों में से एक होटल को आलू गुटका और परांठे के लिए चुन लिया और चाय पी और बस में बैठ गए।  ग्राहक और पर्यटन दुकानदार के संबंध में सरलता थी।  फिर सतपुली में उड़द की दाल व भात अथवा मच्छी झोळ व भात तक ग्राहक सेवा सीमित थी। अब पर्यटन प्रोडक्टों की भरमार होने व प्रवासियों /वासियों के बच्चों का देस विदेश के अलग अलग शहरों में वसने के कारण पर्यटकों के एक ही परिवार में अलग अलग मांग के कारण पर्यटन उद्यम में जटिलता आ गयी है।

        उत्तराखंड के आम गाँव  पर्यटक तीन चार साल में सामूहिक पूजा हेतु देस -विदेशों से सपरिवार आने लगे हैं।  गाँव के सामूहिक भोज में भी अंतरास्ट्रीय आयाम का प्रभाव साफ़ साफ़ दिखता है और सामूहिक जलपान ,  भोज में अब कॉन्टिनेंटल फ़ूड , चाइनीज क्यूज़ीन   पकने लगा है।  बहुत से परिवार अपने गाँव में निवास करने से कतराते हैं और पूजा के दिन सुबह आते हैं व शाम को ऋषिकेश , कोटद्वार आदि को चले जाते हैं।

      धार्मिक स्थलों में भी अब अंतरास्ट्रीय आयाम का प्रभाव साफ़ साफ़ दिखता है। विदेशियों व स्वदेसियों के कारण शराब व मानशाहारी भोज्य पदार्थ की बिक्री धार्मिक स्थलों पर खुलेआम (चोरी से याने सरकारी नियमों के विपरीत ) होती है।

एक देस का दूसरे देस से व्यापारिक लेन देन सरल है जिसमे अंतरास्ट्रीय नियम व दो देशों के बीच करार अनुसार व्यापार हो जाता है।  किन्तु आतिथ्य अब जटिलतम पर्बन्धनो में गिना जाता है। एक होटल का उदाहरण ले तो हम पाएंगे कि इसमें होटल के कर्मचारियों के संस्कृति , होटल स्थल , स्थानीय सरकारें , स्थल पर उपलब्ध वस्तुएं व विभिन्न ग्राहकों के सामाजिक , सांस्कृतिक व व्यक्तिगत आदत , चाहत -इच्छाएं आदि आतिथ्य उद्यमों को प्रभावित कर उद्यम को जटिल बनाते हैं।

अतः आतिथ्य प्रबंधन की रणनीति बनाते समय अंतरास्ट्रीय प्रभावकारी कारकों का ध्यान रखना आवश्यक है।

Copyright @ Bhishma Kukreti  3/12//2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...

उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …
                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल


International Dimension in Hospitality Management  & Marketing of Travel, Tourism and  Hospitality Industry Development  in Uttarakhand; International Dimension in Hospitality Management  & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Haridwar Garhwal, Uttarakhand; International Dimension in Hospitality Management  & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pauri Garhwal, Uttarakhand; International Dimension in Hospitality Management  & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Dehradun Garhwal, Uttarakhand; International Dimension in Hospitality Management  & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Uttarkashi Garhwal, Uttarakhand; International Dimension in Hospitality Management  & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Tehri Garhwal, Uttarakhand; International Dimension in Hospitality Management  & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Rudraprayag Garhwal, Uttarakhand; International Dimension in Hospitality Management  & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Chamoli Garhwal, Uttarakhand; International Dimension in Hospitality Management  & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Udham Singh Nagar Kumaon, Uttarakhand; International Dimension in Hospitality Management  & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Nainital Kumaon, Uttarakhand; International Dimension in Hospitality Management  & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Almora Kumaon, Uttarakhand; International Dimension in Hospitality Management  & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Champawat Kumaon, Uttarakhand; International Dimension in Hospitality Management  & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Bageshwar Kumaon, Uttarakhand; International Dimension in Hospitality Management  & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pithoragarh Kumaon, Uttarakhand;


    स्वच्छ भारत ! स्वच्छ भारत ! बुद्धिमान भारत !



Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,387
  • Karma: +22/-1
                              Culture and the Challenges of International Hospitality Management 

                                       अंतर्राष्ट्रीय आतिथ्य प्रबंधन की संस्कृति विषयक चुनौतियां

                                                        Hospitality Management  -5

                                                  आतिथ्य प्रबंधन -5

                                     ( Hospitality and Tourism  Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--123 ) 

                                         उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 123   

 

                                                                    लेखक ::: भीष्म कुकरेती  (विपणन व विक्री प्रबंधन विशेषज्ञ )

 

संस्कृति कई जटिल प्रावधानों से प्रभावित होती है जैसे धर्म ,  ,भूगर्व , कृषि , तापमान आदि संस्कृति के आयाम बनाते हैं।  भिन्न भिन्न संस्कृति के कारण अंतरराष्ट्रीय आतिथ्य प्रबंधन के सामने कई चुनौतियां हैं।

आतिथ्य प्रबंधकों को निम्न सांस्कृतिक विभिन्नताएं , विविधताओं , रूपताओं समझना होगा -

१-अलग अलग संवाद , संचार के रूप

२-विरोधाभाषों  के समय विरोधाभाषों से व्यवहार करने के अलग अलग सांस्कृतिक सोच व तरीके

३- कार्य पूर्ण करने के तरीकों में विभिन्नता

४-निर्णय लने की शैली में विभिन्नताएं

५- किसी बात को सामने लेन के तरीकों में विभिन्नताएं

६-ज्ञान प्राप्ति शैली में अनेकता या भिन्नताएं

७- व्यक्तिगत गन जो कभी कभी संस्कृति से मेल नही खाते

अलग संस्कृतियों में उपरोक्त अनेकताओं कारण आतिथ्य प्रबंधन आम प्रबंध शास्त्र के नियमों या सिद्धांतो से नही चल सकता है अपितु  आतिथ्य , अतिथि व मेजवान के विभिन्नताओं को मढे नजर रखकर आतिथ्य प्रबंधन  सिद्धांतों को नए ढंग से प्रतिपादित करना आवश्यक है।

                               

 

Copyright @ Bhishma Kukreti  54/12//2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...

उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …
                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल

Culture and the Challenges of International Hospitality Management  Marketing of Travel, Tourism and  Hospitality Industry Development  in Uttarakhand; Culture and the Challenges of International Hospitality Management  Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Haridwar Garhwal, Uttarakhand; Culture and the Challenges of International Hospitality Management  Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pauri Garhwal, Uttarakhand; Culture and the Challenges of International Hospitality Management  Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Dehradun Garhwal, Uttarakhand; Culture and the Challenges of International Hospitality Management  Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Uttarkashi Garhwal, Uttarakhand; Culture and the Challenges of International Hospitality Management  Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Tehri Garhwal, Uttarakhand; Culture and the Challenges of International Hospitality Management  Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Rudraprayag Garhwal, Uttarakhand; Culture and the Challenges of International Hospitality Management  Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Chamoli Garhwal, Uttarakhand; Culture and the Challenges of International Hospitality Management  Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Udham Singh Nagar Kumaon, Uttarakhand; Culture and the Challenges of International Hospitality Management  Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Nainital Kumaon, Uttarakhand; Culture and the Challenges of International Hospitality Management  Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Almora Kumaon, Uttarakhand; Culture and the Challenges of International Hospitality Management  Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Champawat Kumaon, Uttarakhand; Culture and the Challenges of International Hospitality Management  Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Bageshwar Kumaon, Uttarakhand; Culture and the Challenges of International Hospitality Management  Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pithoragarh Kumaon, Uttarakhand;


                  स्वच्छ भारत ! स्वच्छ भारत ! बुद्धिमान भारत !

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,387
  • Karma: +22/-1
                                    Cultural Shocks in Hospitality Management

                                             आतिथ्य प्रबंधन में सांस्कृतिक झटके /आघात

                                                 Hospitality Management  -6

                                                  आतिथ्य प्रबंधन -6

                                     ( Hospitality and Tourism  Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--124 ) 

                                         उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 124   

 

                                                                    लेखक ::: भीष्म कुकरेती  (विपणन व विक्री प्रबंधन विशेषज्ञ )

सांस्कृतिक अनेकताओं , व्यवहार विविधताओं , सामाजिक विभिन्नताओं से भरे होने के कारण आतिथ्य प्रबंधन में अतिथि , मेजवान व सहयोगियों को कई झटके (Shocks ) लगते हैं।

जब श्री मोरार जी देसाई भारत के प्रधान मंत्री थे और वे रूस की यात्रा पर गए हुए थे।  रात्रि को रूस के प्रधान मंत्री ने श्री देसाई के सम्मान में का रात्रि भोज रखा था।  श्री मोरार जी देसाई रात्रि भोजन सूरज ढलने से  पहले ही खा लेते थे।  सहयोगियों के समझाने पर भी श्री मोरार जी देसाई ने सूरज ढलने से पहले ही रात्रि भोजन लिया। यह सासंकृतिक धक्का /आघात सभी के लिए था।

अभी अभी भारत के प्रधान मंत्री नवरात्रों के समय अमेरिका गए तो वे उपवास पर थे और अमेरिकी वासियों के लिए एक तरह का आतिथ्य झटका ही था।

पर्यटक हो , मेजवान हो , आतिथ्य सहभागी हो या पर्यटक स्थल का समाज हो उन्हें हर समय किसी ना किसी रूप में सांस्कृतिक धक्का , झटका या आघात लगता ही रहता है।

सांस्कृतिक आघात के निम्न मुख्य चिन्ह पाये जाते हैं -

 १-अकेलेपन की अनुभूति

२-मानसिक उतावलापन

३- चिंता

४-कार्य संपादन अथवा कार्य फल में संतुष्टि गिरावट

५- मानसिक तनाव

६-असहायपन की अनुभूति



Copyright @ Bhishma Kukreti  6/12//2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...

उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …
                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल


Cultural Shocks in Hospitality Management & Marketing of Travel, Tourism and  Hospitality Industry Development  in Uttarakhand; Cultural Shocks in Hospitality Management & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Haridwar Garhwal, Uttarakhand; Cultural Shocks in Hospitality Management & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pauri Garhwal, Uttarakhand; Cultural Shocks in Hospitality Management & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Dehradun Garhwal, Uttarakhand; Cultural Shocks in Hospitality Management & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Uttarkashi Garhwal, Uttarakhand; Cultural Shocks in Hospitality Management & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Tehri Garhwal, Uttarakhand; Cultural Shocks in Hospitality Management & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Rudraprayag Garhwal, Uttarakhand; Cultural Shocks in Hospitality Management & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Chamoli Garhwal, Uttarakhand; Cultural Shocks in Hospitality Management & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Udham Singh Nagar Kumaon, Uttarakhand; Cultural Shocks in Hospitality Management & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Nainital Kumaon, Uttarakhand; Cultural Shocks in Hospitality Management & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Almora Kumaon, Uttarakhand; Cultural Shocks in Hospitality Management & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Champawat Kumaon, Uttarakhand; Cultural Shocks in Hospitality Management & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Bageshwar Kumaon, Uttarakhand; Cultural Shocks in Hospitality Management & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pithoragarh Kumaon, Uttarakhand;


      स्वच्छ भारत ! स्वच्छ भारत ! बुद्धिमान भारत !


Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,387
  • Karma: +22/-1
                                   Difference between Product Marketing and Hospitality (Service ) Marketing

                                         वस्तु विपणन व आतिथ्य (सेवा ) विपणन में अंतर

                                        Hospitality Management  -7

                                                  आतिथ्य प्रबंधन -7

                                     ( Hospitality and Tourism  Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--125 ) 

                                         उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 125   

 

                                                                    लेखक ::: भीष्म कुकरेती  (विपणन व विक्री प्रबंधन विशेषज्ञ )

आतिथ्य विपणन वस्तु याने प्रोडक्ट विपणन से भिन्न है इसलिए आज के जटिल समय में विपणन कर्ता सेवा /आतिथ्य विपणन को प्रोडक्ट मार्केटिंग से अलग ढंग से विचारते ,  विश्लेषित करते हैं।

आतिथ्य और प्रोडक्ट /वस्तु विपणन में निम्न अंतर हैं -

सेवा के चरित्र

 १-सेवा का तौल नही हो सकता है - सेवा को पांच इन्द्रियां नाप नही सकती हैं और केवल अनुभव ही  किया सकता है।  उदाहरणार्थ जब तक ग्राहक चोटीवाले भोजनालय में भोजन नही खायेगा तब  ग्राहककह नही सकता कि भोजन कैसे था।

२-ग्राहक की अलिप्तता / अभिन्नता या ग्राहक की सेवा में भागीदारी - सेवा  ग्राहक भी कहीं ना कहीं लिप्त होता है। ग्राहक व सेवा दाता एक साथ होते हैं।  सेवा उत्पादन भी ग्राहक के सामने हो सकता है  ग्राहक उत्पादन का अहम हिस्सा हो सकता है।  अन्य ग्राहकों की उपस्थिति सेवा अनुभव को प्रभावित करते हैं जैसे पहाड़ों की बसों में एक यात्री द्वारा उलटी करना अन्य यात्रियों को प्रभावित करते हैं और अन्य ग्राहकों के आनंद को प्रभावित करते हैं।

३- सेवा में विभिन्नता - स्थान , समय , सेवा दाता के वर्ण -वर्ग व अतिथि के वर्ण -वर्ग में बदलाव से हर समय सेवा व सेवा अनुभव परिवर्तनीय है। जैसे यदि किसी होटल में अचानक अधिक ग्राहक आ जायँ तो ग्राहक सेवा प्रभावित होती है।

४-सेवा का भण्डारीकरण नही हो सकता है - सेवा  कार्यकाल बहुत ही कम है और उसे भण्डारीकृत नही किया जा सकता है।  माना कि कोई वेटर अपने ग्राहक को संतुष्ट करने में होशियार है तो भी उस वेटर से  बारह घंटे से अधिक काम नही लिया जा सकता है। उस वेटर की सेवा को बारह घंटे से अधिक तक भण्डारीकृत नही किया जा सकता है।

Copyright @ Bhishma Kukreti  7/12//2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...

उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …
                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल

Difference between Product Marketing and Hospitality (Service ) Marketing & Marketing of Travel, Tourism and  Hospitality Industry Development  in Uttarakhand; Difference between Product Marketing and Hospitality (Service ) Marketing & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Haridwar Garhwal, Uttarakhand; Difference between Product Marketing and Hospitality (Service ) Marketing & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pauri Garhwal, Uttarakhand; Difference between Product Marketing and Hospitality (Service ) Marketing & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Dehradun Garhwal, Uttarakhand; Difference between Product Marketing and Hospitality (Service ) Marketing & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Uttarkashi Garhwal, Uttarakhand; Difference between Product Marketing and Hospitality (Service ) Marketing & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Tehri Garhwal, Uttarakhand; Difference between Product Marketing and Hospitality (Service ) Marketing & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Rudraprayag Garhwal, Uttarakhand; Difference between Product Marketing and Hospitality (Service ) Marketing & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Chamoli Garhwal, Uttarakhand; Difference between Product Marketing and Hospitality (Service ) Marketing & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Udham Singh Nagar Kumaon, Uttarakhand; Difference between Product Marketing and Hospitality (Service ) Marketing & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Nainital Kumaon, Uttarakhand; Difference between Product Marketing and Hospitality (Service ) Marketing & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Almora Kumaon, Uttarakhand; Difference between Product Marketing and Hospitality (Service ) Marketing & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Champawat Kumaon, Uttarakhand; Difference between Product Marketing and Hospitality (Service ) Marketing & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development  in Bageshwar Kumaon, Uttarakhand; Difference between Product Marketing and Hospitality (Service ) Marketing & Marketing of Travel, Tourism and Hospitality Industry Development in Pithoragarh Kumaon, Uttarakhand

     स्वच्छ भारत ! स्वच्छ भारत ! बुद्धिमान भारत !



 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22