Author Topic: Tourism and Hospitality Industry Development & Marketing in Kumaon & Garhwal (  (Read 24165 times)

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,224
  • Karma: +22/-1
                                                   उत्तराखंड पर्यटन व आथित्य उद्यम विकास में ट्रैवेल एजेंटों की भूमिका

 

                                                     Role of Travel Agents in Promoting Uttarakhand Tourism and Hospitality Industries

 

                                (Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--50 )

                                                        उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 50   

                                                 उत्तराखंड पर्यटन व आथित्य उद्यम विकास में ट्रैवेल एजेंटों का विशेष महत्व है।

ट्रैवेल एजेंट  दूर के पर्यटकों व पर्यटक स्थल के मध्य एक महत्वपूर्ण कड़ी होते हैं।

ट्रैवेल एजेंट पर्यटक को पर्यटक स्थल के बारे में कई जानकारी देते हैं जो इंटरनेट अथवा अन्य विज्ञापनो से सुलभ नही होते हैं।

चूँकि ट्रैवेल एजेंट पर्यटक के निकट होते हैं तो ट्रैवेल एजेंट पर्यटक को किसी भी पर्यटक स्थल के बारे में  आत्म विश्वास बढ़ाने , उत्साहित करने या निरुत्साहित करने में अधिक सफल होता है।

ट्रैवेल एजेंट पर्यटक स्थल विपणन को सहायता देता है व विपणन के उद्येस्यों को पूरा करने में भागीदारी निभाते हैं।

ट्रैवेल एजेंट पर्यटक को उन व्यक्तिगत सेवाओं को देने में अधिक सफल होता है जिन्हे पर्यटक स्थल या आथित्य उद्यम विपणन विभाग देने में असमर्थ होता है।

ट्रैवेल एजेंट्स  डिमांड  कम (याने पर्यटक कम ) और सप्लाई अधिक (याने पर्यटक स्थल अधिक ) की स्थिति में कई तरह की भूमिका निभाते हैं। प्रेरित ट्रैवेल एजेंट्स ऐसी परिस्थति में पर्यटक स्थल के लिए एक अनिवार्यता बन जाते हैं।  जैसे हनी मून पर्यटकों को उत्तराखण्ड या हिमाचल की ओर रिझाने में ट्रेवल एजेंट्स एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

ट्रैवेल एजेंट्स पर्यटन मौसम को बढ़ाने में सहायक होते हैं।

ट्रैवेल एजेंट्स पर्यटक स्थल के विपणन व्यय में कटौती करने में भी सहायक होते  हैं .

 ट्रैवेल एजेंट्स मांग बढ़ाने में सहायक होते हैं।

रिमोट पर्यटक स्थल या जटिल पर्यटक स्थल के प्रोन्नति में ट्रैवेल एजेंट्स तो एक विशेष भूमिका निभाते हैं।

ट्रैवेल एजेंट्स पर्यटक स्थल विपणन विभाग को पर्यटकों की बदलती रूचि , आकांक्षाओं के बारे में समय समय पर सूचना देते हैं जो ग्राहक अन्वेषण में बहुत महत्वपूर्ण होते हैं।


Copyright @ Bhishma Kukreti  8  /4/2014

Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...


उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …

                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल
xx
                       

Role of Travel Agents in Promoting Uttarakhand Tourism and Hospitality Industries; Role of Travel Agents in Promoting Haridwar, Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industries; Role of Travel Agents in Promoting Dehradun Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industries; Role of Travel Agents in Promoting Uttarkashi Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industries; Role of Travel Agents in Promoting Tehri Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industries; Role of Travel Agents in Promoting Rudraprayag Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industries; Role of Travel Agents in Promoting Chamoli Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industries; Role of Travel Agents in Promoting Pauri Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industries; Role of Travel Agents in Promoting Udham Singh Nagar Kumaon, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industries; Role of Travel Agents in Promoting Nainital Kumaon, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industries; Role of Travel Agents in Promoting Almora Kumaon, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industries; Role of Travel Agents in Promoting Champawat Kumaon, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industries; Role of Travel Agents in Promoting Bageshwar Kumaon, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industries; Role of Travel Agents in Promoting Pithoragarh Kumaon, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industries;

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,224
  • Karma: +22/-1

                                                              ट्रेवल ऐजेंसी के मुख्य उत्तरदायित्व

                                   Important Functions of Travel Agency in context Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development

                                (Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--51 )
                                                        उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 51   

 
ट्रैवेल एजेंसी या ट्रैवेल एजेंट या ट्रैवेल ऑपरेटर  किसी भी पर्यटक -आथित्य उद्यम का एक अहम् हिस्सा होता है।
ट्रैवेल एजेंसी या ऑपरेटर के निम्न मुख्य कार्य या उत्तरदायित्व होते हैं ---------------


                   यात्रियों /पर्यटकों को सूचना देना

ट्रैवेल एजेंसी या ट्रैवेल एजेंट का प्रथम उत्तरदायित्व पर्यटकों , ग्राहकों को समुचित , सही सूचना देना होता है।
ट्रैवेल एजेंसी या ट्रैवेल एजेंट को गंतव्य स्थान के बारे में समुचित ज्ञान होना आवश्यक है कि ग्राहकों को समुचित सूचना दी जा सके।
ट्रैवेल एजेंसी या ट्रैवेल एजेंट को ग्राहको के साथ बातचीत का  कलाविज्ञ या वाकपटु होना चाहिए जिससे कि संभावित ग्राहक को अपना ग्राहक बना सके।


                  ट्रेवल इंटनरीज बनाना

ट्रैवेल एजेंसी या ट्रैवेल एजेंट को ग्राहक के लिए ट्रैवेल टाइम टेबल बनाना एक बड़ा उत्तरदाइत्व है।

                       पर्यटन स्थल  विक्रेता  के साथ सूचनाओं का आदान प्रदान

पर्यटक को पर्यटक स्थल भ्रमण में कई सेवाओं और कई सेवा दाताओं की आवश्यकता होती है।  ट्रैवेल एजेंट ग्राहक को पर्यटन विक्रेता से जोड़ता ही नही अपितु कई सेवाओं का भी प्रबंध करता है। पर्यटन स्थल विक्रेता या विक्रेताओं के साथ सूचनाओं का आदान -प्रदान करना भी
ट्रैवेल एजेंसी या ट्रैवेल एजेंट का उत्तरदायित्व होता है।

                           पर्यटक हेतु योजना व बजेट

ट्रैवेल एजेंसी या ट्रैवेल एजेंट पर्यटक के लिए विभिन्न योजना बनाता है और बजेट बनाता है जिससे पर्यटक भ्रमण का सही चुनाव कर सके .

                                   टिकेटिंग

पर्यटक को पर्यटक स्थल भ्रमण के लिए थल , जल व नभ ट्रांसपोर्ट की आवश्यकता पड़ती है।  अतः ट्रैवेल एजेंसी या ट्रैवेल एजेंट को टिकेटिंग का प्रबंध करना पड़ता है।

                          विदेसी मुद्रा  का प्रबंध

यदि पर्यटक विदेस भ्रमण पर जा रहा है तो ट्रैवेल एजेंसी या ट्रैवेल एजेंट को विदेसी मुद्रा का समुचित इंतजाम करना पड़ता है।

                               बीमा या इन्सुएरेंस

पर्यटक के लिए ट्रैवेल एजेंसी या ट्रैवेल एजेंट को स्थिति अनुसार मेडिकल , जीवन बीमा का प्रबंध भी करना पड़ता है।

                 ट्रैवेल गाइड का इंतजाम आदि  सहायक सेवायें

ट्रैवेल एजेंसी या ट्रैवेल एजेंट को अन्य कई तरह की सहायक सेवाओं का इंतजाम करना पड़ता है।  जैसे -पासपोर्ट, वीसा , होटल बुकिंग, स्थानीय ट्रांसपोर्ट , टूरिस्ट गाइड आदि।
धार्मिक पर्यटन के लिए भी कई सहायक सेवाओं की आवश्यकता पूर्ति भी ट्रैवेल एजेंसी या ट्रैवेल एजेंट करते हैं।

Copyright @ Bhishma Kukreti  9/4/2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...


उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …

                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल
xx


Important Functions of Travel Agency in context Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Important Functions of Travel Agency in context Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Important Functions of Travel Agency in context Haridwar Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Important Functions of Travel Agency in context Dehradun Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Important Functions of Travel Agency in context Uttarkashi Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Important Functions of Travel Agency in context Tehri Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Import Functions of Travel Agency in context Chamoli Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Important Functions of Travel Agency in context Rudraprayag Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Important Functions of Travel Agency in context Pauri Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Import Functions of Travel Agency in context Kumaon, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Important Functions of Travel Agency in context Udham Singh Nagar Kumaon, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Import Functions of Travel Agency in context Nainital Kumaon, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Import Functions of Travel Agency in context Almora Kumaon, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Important  Functions of Travel Agency in context Champawat Kumaon, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Important Functions of Travel Agency in context Bageshwar Kumaon, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Important Functions of Travel Agency in context Pithoragarh Kumaon, Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development to be continued...


Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,224
  • Karma: +22/-1
                                           विभिन्न प्रकार  की  ट्रैवल एजेंसियां
                                  Different Types of Travel Agencies in context Uttarakhand Tourism Industry Development


                              (Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--52 ) 
                                                      उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 52   

        पर्यटन उद्यम एक बहुआयामी व्यापार है अतः ट्रैवल एजेंसियां भी अलग अलग प्रकार की होती हैं।

 माध्यम के हिसाब से निम्न  तरह की एजेंसियां होती हैं
केवल ऑफ लाइन ट्रैवल एजेंसियां
केवल ऑन  लाइन ट्रैवल एजेंसियां
ऑन लाइन -ऑफ लाइन दोनों माध्यमों के विशेषज्ञ एजेंसियां

                         आकार अनुसार ट्रैवल एजेंसियां

मानव शक्ति या टर्न ओवर के हिसाब से निम्न प्रकार की ट्रैवल एजेंसियां होती हैं -
लघु आकार की एजेंसियां
लघु -मध्यम आकार की ट्रैवल एजेंसियां
मध्यम आकार की ट्रैवल एजेंसियां
दीर्घाकार या कॉर्पोरेट ट्रैवल एजेंसियां

                    कार्यानुसार की ट्रैवल एजेंसियां

सभी प्रकार की ट्रैवल सेवायें देनी वाली एजेंसियां
केवल ट्रांसपोर्ट की टिकटिंग करने वाली एजेंसियां
डिस्काउंट के आधार वाली एजेंसियां
सरकारी  एजेंसियां



Copyright @ Bhishma Kukreti  10/4/2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...


उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …

                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल
xx

Different Types of Travel Agencies in context Uttarakhand Tourism Industry Development; Different Types of Travel Agencies in context Rudraprayag Garhwal, Uttarakhand Tourism Industry Development; Different Types of Travel Agencies in context Chamoli Garhwal, Uttarakhand Tourism Industry Development; Different Types of Travel Agencies in context Uttarkashi Garhwal, Uttarakhand Tourism Industry Development; Different Types of Travel Agencies in context Tehri Garhwal, Uttarakhand Tourism Industry Development; Different Types of Travel Agencies in context Pauri Garhwal, Uttarakhand Tourism Industry Development; Different Types of Travel Agencies in context Haridwar Garhwal, Uttarakhand Tourism Industry Development; Different Types of Travel Agencies in context Dehradun Garhwal, Uttarakhand Tourism Industry Development; Different Types of Travel Agencies in context Pithoragarh Kumaon, Uttarakhand Tourism Industry Development; Different Types of Travel Agencies in context Bageshwar Kumaon, Uttarakhand Tourism Industry Development; Different Types of Travel Agencies in context Champawat Kumaon, Uttarakhand Tourism Industry Development; Different Types of Travel Agencies in context Almora Kumaon, Uttarakhand Tourism Industry Development; Different Types of Travel Agencies in context Nainital Kumaon, Uttarakhand Tourism Industry Development; Different Types of Travel Agencies in context Udham Singh Nagar Kumaon, Uttarakhand Tourism Industry Development to be continued …

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,224
  • Karma: +22/-1
                                                     ट्रैवल एजेंसी व्यापार कैसे शुरू किया जाता है - भाग -1

                               How to Start Travel Agency in context Uttarakhand Tourism and Hospitality Development Part -1

                          (Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--54 ) 
                                                      उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 54   

ट्रैवल एजेंसी व्यापार शुरू करने के लिए निम्न कार्य आवश्यक हैं -
             
               अपने को जांच लें ( ट्रैवल एजेंसी व्यापारी के मुख्य गुण )


              Characteristics of a Travel Businessman


ट्रैवल एजेंसी व्यापार  अन्य व्यापार में आने से पहले अपने को जांच लें कि आप में अनुशासन है कि नहीं ?
आप अपनी भावनाओं पर काबू पा सकते हैं कि  नही ?
क्या आप में धैर्य है ?
क्या आप अपमान को पी सकते हैं ?
आप में व्यापार में कमी वेसी  सहने की शक्ति है कि  नही ?
क्या आप ट्रैवल एजेंसी के व्यापार से आनंद उठा पाएंगे कि  नहीं ?
क्या आप ट्रैवल एजेंसी व्यापार को गंभीरता पूर्वक लेंगे कि नहीं ?
क्या आप योजना बनाने व योजना में समयानुसार बदलाव लाएंगे कि नहीं ?
क्या आप रोज दुकान या कार्यालय जा पाएंगे कि नहीं ?
क्या आप ग्राहकों से वार्तालाप कर सकते हैं ? अथवा ऐसे कार्मिक रख सकेंगे कि वे ग्राहक से सही ढंग से वार्तालाप कर सकें ?
क्या आपके पास व्यापार में लगाने के लिए समुचित धन है ?
क्या आपको बैंक या अन्य स्रोत्रों से धन मिल सकता है ?
क्या आपके पास दूरदृष्टि है या आपके सलाहकार के पास दूरदृष्टि है ?
आप टूरिज्म ज्ञान प्राप्त कर पाएंगे ?
क्या आपके पास अनुभव है ?
यदि व्यापार का या टूरिज्म व्यापार का अनुभव नही है तो आपके पास कोई अनुभवी सलाहकार है ?
आप कठिन परिश्रम व स्मार्ट परिश्रम कर पाएंगे ?
क्या आपमें ऊर्जा व उत्साह है ?
क्या आप में साहस है ?
आप सकारत्मक रूप से सोचते हैं ?
क्या आप रचनाधर्मी हैं ? यदि नही तो रचनाधर्मी गुण अपना लेंगे ?
क्या आप जुमेवारी से भागते तो नहीं हैं ?

व्यापारी में उपरोक्त गुण आवश्यक हैं अतः ट्रैवल एजेंसी व्यापार में इन गुणो को अपनाना आवश्यक है।



Copyright @ Bhishma Kukreti  13/4/2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...


उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …

                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल
xx

How to Start Travel Agency in context Uttarakhand Tourism and Hospitality Development; How to Start Travel Agency in context Haridwar Garhwal Uttarakhand Tourism and Hospitality Development; How to Start Travel Agency in context Dehradun Garhwal Uttarakhand Tourism and Hospitality Development; How to Start Travel Agency in context Uttarkashi Garhwal Uttarakhand Tourism and Hospitality Development; How to Start Travel Agency in context Tehri Garhwal Uttarakhand Tourism and Hospitality Development; How to Start Travel Agency in context Rudraprayag Garhwal Uttarakhand Tourism and Hospitality Development; How to Start Travel Agency in context Chamoli Garhwal Uttarakhand Tourism and Hospitality Development; How to Start Travel Agency in context Pauri Garhwal Uttarakhand Tourism and Hospitality Development; How to Start Travel Agency in context Udham Singh Nagar Kumaon  Uttarakhand Tourism and Hospitality Development; How to Start Travel Agency in context Nainital Kumaon  Uttarakhand Tourism and Hospitality Development; How to Start Travel Agency in context Almora Kumaon  Uttarakhand Tourism and Hospitality Development; How to Start Travel Agency in context Champawat Kumaon  Uttarakhand Tourism and Hospitality Development; How to Start Travel Agency in context Bageshwar Kumaon  Uttarakhand Tourism and Hospitality Development; How to Start Travel Agency in context Pithoragarh Kumaon  Uttarakhand Tourism and Hospitality Development;



Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,224
  • Karma: +22/-1

                                                        ट्रैवल एजेंसी खोलने के कुछ मुख्य सूत्र


                                                ट्रैवल एजेंसी व्यापार कैसे शुरू किया जाता है - भाग -2

                               How to Start Travel Agency in context Uttarakhand Tourism and Hospitality Development Part -2



                         (Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--55 ) 
                                                      उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 55   


                                                  ट्रैवल एजेंसी खोलने के कुछ मुख्य सूत्र



१- पर्यटन उद्यम को अच्छी तरह से समझना - ट्रैवल एजेंसी व्यापार में जाने से पहले पर्यटन उद्यम की आंतरिक स्थिति के बारे में ज्ञान आवश्यक है जैसे अलग अलग प्रकार के पर्यटन ; बुकिंग , ग्रुप बुकिंग , होटल , वैकेसन टूरिज्म , धार्मिक पर्यटन , जलवायु  स्थानीय पर्यटन पर प्रभाव , ग्राहकों की इच्छाएं आदि।
 २-अपने व्यापार का निर्णय - ट्रैवल एजेंसी में कौन सा क्षेत्र चुनना है के बारे में निर्णय लेना आवश्यक है।
३- किसी बड़ी ट्रैवल एजेंसी की डीलरशिप /फ्रैंचाइजी - ट्रैवल एजेंसी में किसी एक एक बड़ी ट्रैवल एजेंसी या अनेक एजेंसियों की डीलरशिप भी ली जा सकती है।
 ४-किसी पर्यटक स्थल या होटल की मार्केटिंग डिस्ट्रीब्युसन - किसी पर्यटक स्थल या होटल की मार्केटिंग डिस्ट्रीब्युसन भी लिया जा सकता है।
५-व्यापार के लिए  सभी आवश्यकताओं का चयन कीजिये।
 ६-उचित स्थान का निर्णय भी लिया जाना आवश्यक है। कार्यालय हेतु सभी आवश्यकताएं
७- सरकारी व गैरसरकारी लाइसेंसों का प्रबंध - ट्रैवल एजेंसी खोलने के लिए सभी तरह के सरकारी लाइसेन्स या अन्य फोर्मलिटीज पूरी की जानी चाहिए।
८- मानव शक्ति  - मानव शक्ति का उचित प्रबंध होना चाहिए। संस्थान को कितने कार्मिक चाहिए  आकलन व किस प्रकार के प्रशिक्षण चाहिए की पूरी जानकारी हो जानी चाहिए।
९-धन संशाधन -व्यापर के लिए कितना धन की आवश्यकता होगी व धन कहाँ से आएगा का भी आकलन आवश्यक है।
 १०- विपणन व प्रचार रणनीति पर गहन विचार व उन्हें लागु करने की कार्यनीति बनानी आवश्यक है
११- लघु व दीर्घ समय के के लिए नीति निर्धारण व्यापर में आने से पहले हो जाना चाहिए।
Copyright @ Bhishma Kukreti  20/4/2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...


उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …

                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल
xx

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,224
  • Karma: +22/-1

                                                      ट्रैवल एजेंसी हेतु कार्यालय व अन्य योजनाओं का प्रारूप

                                                      Land and Planning Issues of Travel Agency

                                                         ट्रैवल एजेंसी व्यापार कैसे शुरू किया जाता है - भाग -3
                               How to Start Travel Agency in context Uttarakhand Tourism and Hospitality Development Part -3



                         (Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--56 ) 
                                                      उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 56   
  कार्यालय में समुचुत जगह होनी चाहिए जहां ग्राहक  साथ सार्थक सुचना आदान प्रदान हो सके।
स्टेसन के समीप ट्रैवल एजेंसियां एक टेबल से भी काम चला लेती हैं किन्तु स्टेसन से दूर  एजेंसियों के पास ग्राहकों के लिए प्रतीक्षा स्थान व वार्तालाप हेतु उचित स्थान होना चाहिए।
स्टाफ  संख्या व रिकॉर्ड रखने के लिए समुचित प्रबंध होना चाहिए।
 प्वाइंट ऑफ पब्लिसिटी याने लगाने का इंतजाम आवश्यक है।
कम्प्यूटर , इंटरनेट , प्रिंटिंग आदि का प्रबंध भी आवश्यक है।
ट्रैवल एजेंसी के आकर व ग्राहकों के अनुसार कार्यालय की प्रीमियम नेस होनी चाहिए और उसी के हिसाब से फर्नीचर आदि होना चाहिए।
कार या अन्य वेहिकल पार्किंग की जगह का भी प्रबंध आवश्यक है।
कार्यालय का वातावरण ग्राहक अनुसार ही होना चाहिए।
इसी तरह कार्यालय से बाहर का वातावरण भी ग्राहकानुसार होना चाहिए।
ट्रैवल एजेंसी कार्यालय  मेन रोड से निकट ही होना चाहिए।
Copyright @ Bhishma Kukreti  25/4/2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...


उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …

                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल
xx
               

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,224
  • Karma: +22/-1

                                                 ट्रैवल एजेंसियों के लिए कुछ अनिवार्य लाइसेंस आवश्यकताएं

                                                       ट्रैवल एजेंसी व्यापार कैसे शुरू किया जाता है - भाग -4
                               How to Start Travel Agency in context Uttarakhand Tourism and Hospitality Development Part -4



                         (Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--57 ) 
                                                      उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 57   

ट्रैवल एजेंसी व्यापारी को निम्न लाइसेंसों की आवश्यकता पड़ती। है
  १-नगरपालिका या ग्राम पंचायत के आवश्यक रजिस्ट्रेसन लाइसेंस
 २-शॉप ऐंड इस्टैब्लिशमेंट जैसे लाइसेंस
३- वैट टैक्स रजिस्ट्रेसन  राज्य व केंद्रीय टैक्स संबंधी रजिस्ट्रेसन
४-IATA व ASATA की सदस्यता
 ५-साइन बोर्ड लगाने का लाइसेंस अथवा रोड साइड नियमों का पालन हेतु आवश्यक फॉर्मुलिटी
६- म्युनिसिपैलिटी , जिला या राज्य सरकार के गुमास्ता या कर्मिक भर्ती नियमो के लिए आवश्यक शर्तों का पालन
७- यदि संस्थान बड़ा है तो प्रोविडेंट फंड , फेमिली पेंसन , ESIC , कर्मिकों के जीवन बीमा , कार्यालय बीमा आदि यदि आवश्यक हों तो लाइसेंस या अन्य सरकारी रजिस्ट्रेसन
८- इनकम टैक्स , सेल्स टैक्स , सर्विस टैक्स आदि के लाइसेंस/रजिस्ट्रेसन  आदि
८- करेंसी एक्सचेंज के लिए आवश्यक रजिस्ट्रेसन , लाइसेंस आदि
उपरोक्त नियमों व अन्य जरूरी सरकारी अथवा गैरसरकारी लाइसेंस /रिजिस्ट्रेसन का प्रबंध होना चाहिए

Copyright @ Bhishma Kukreti  27/4/2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...


उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …

                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल
xx

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,224
  • Karma: +22/-1

                                                       ट्रैवल एजेंसी के लिए बैंक लोन लेने के लिए प्रोजेक्ट रिपोर्ट
                                                  Project Report for Bank Loan for a Travel Agency Business

                                                      ट्रैवल एजेंसी व्यापार का सुचारु रूप से संपादन  - भाग -6
                                Business Management of Travel Agency  in context Uttarakhand Tourism and Hospitality Development Part -6



                         (Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--59 ) 
                                                      उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 59   


ट्रैवल एजेंसी के लिए बैंक लोन हेतु प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनानी आवश्यक होती हैं।  किसी भी प्रोजेक्ट रिपोर्ट के लिए निम्न सूचनाएं आवश्यक होती हैं -
१- भूमिका या Introductory Note -इसमें ट्रैवल व्यापार की भूमिका ट्रैवल एजेंसी , ट्रैवल व्यापार के बारे में संक्षेप में वर्णन होता है। यह व्यापार क्योंकर लाभदायी व्यापर है पर ध्यान केंद्रित किया जाता है।
२- संक्षिप्त में प्रोजेक्ट रिपोर्ट के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां
३- मालिक , भागीदार अथवा निदेशकों के बारे में जानकारियां - नाम , शिक्षा , अनुभव आदि
४- ट्रैवल एजेंसी का वर्तमान व्यापार की जानकारी व भविष्य की संभावनाएं . इस खंड में विषय विवरण व अंकों दोनों का प्रयोग किया जाता है।
५-प्रबंधकों व कर्मिकों के बारे में जानकारियां
६-इंफ्रास्ट्रक्चर व उपकरणों के बारे में आवश्यक जानकारियां
 ७-ट्रैवल व्यापार के ग्राहकों के बारे में जानकारियां
८-संभावित ग्राहकों के बारे में जानकारियां
 ९-व्यापर कैसे किया जाएगा के बारे में जानकारियां
१०- किस किस एजेंसी से टाइ -अप  हुआ की जानकारियां और भविष्य में किनसे टाई -अप किया जाएगा की जानकारी
११- बैंक लोन के अलावा वित्तीय सहायता कहाँ से ली गई है की जानकारी
१२-बैंक लोन से कौन से कार्य सिद्ध होंगे
१३- बैलेंस शीट
१४- लॉस ऐंड प्रॉफिट स्टेटमेंट  (वर्तमान व भविष्य )
१५- फंड फ्लो स्टेटमेंट व चार्ट
१६-चीफ रेसीओज स्टेटमेंट्स
१७- ब्रेक इवन स्टेटमेंट
१८- निष्कर्ष
अधिकतर बैंक लोन /ऋण लेने के लिए अनुभवी सलाहकारों की सहायता ली जाती है

Copyright @ Bhishma Kukreti  2/5/2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...


उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …

                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल
xx

Project Report for Bank Loan for a Travel Agency Business in context Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Project Report for Bank Loan for a Travel Agency Business in context Kotdwara Garhwal , Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Project Report for Bank Loan for a Travel Agency Business in context  Pauri Garhwal , Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Project Report for Bank Loan for a Travel Agency Business in context  Chamoli Garhwal , Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Project Report for Bank Loan for a Travel Agency Business in context  Rudraprayag Garhwal , Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Project Report for Bank Loan for a Travel Agency Business in context  Tehri Garhwal , Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Project Report for Bank Loan for a Travel Agency Business in context  Uttarkashi Garhwal , Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Project Report for Bank Loan for a Travel Agency Business in context  Dehradun Garhwal , Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Project Report for Bank Loan for a Travel Agency Business in context  Haridwar Garhwal , Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Project Report for Bank Loan for a Travel Agency Business in context  Pithoragarh Kumaon  , Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Project Report for Bank Loan for a Travel Agency Business in context Bageshwar  Kumaon  , Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Project Report for Bank Loan for a Travel Agency Business in context  Champawat Kumaon  , Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Project Report for Bank Loan for a Travel Agency Business in context  Almora Kumaon  , Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Project Report for Bank Loan for a Travel Agency Business in context  Nainital Kumaon  , Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development; Project Report for Bank Loan for a Travel Agency Business in context  Udham Singh Nagar Kumaon  , Uttarakhand Tourism and Hospitality Industry Development;

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,224
  • Karma: +22/-1

                                                               ट्रैवल एजेंसी में वित्तीय व संसधान प्रबंधन

                                                       Financial issues in Travel Agency Business

                                                      ट्रैवल एजेंसी व्यापार का सुचारु रूप से संपादन  - भाग -5
                                Business Management of Travel Agency  in context Uttarakhand Tourism and Hospitality Development Part -5



                         (Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--58 ) 
                                                      उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 58   

                                                                        लेखक : भीष्म कुकरेती  (विपणन व विक्री प्रबंधन विशेषज्ञ ) 
 
कोई भी व्यापार हो उसे शुरू करने व जब तक लाभ की स्थिति न आ जाय तब तक वित्तीय सहायता की आवश्यकता होती है।  लाभ कमाने के बाद भी वित्तीय प्रबंधन आवश्यक है।
       ट्रेवल एजेंसी व्यापार शुरू करने के लिए निम्न तरह से वित्तीय सहायता  जाती है -
१- अपनी बचत से
 २-माता -पिता द्वारा देय संसाधन
३- दोस्त , रिस्तेदारो से वित्तीय सहायता या ऋण
४- व्यक्तिगत शाहकारों से कम या भारी व्याज पर कर्ज रूप में (शार्ट टर्म या लौंग टर्म लोन/ऋण  )
५- ऐसी भागीदारी व्यापार में प्रवेश करना जिसमे वित्तीय संसाधन जुटाने का कर्तव्य दूसरे भागीदारों का होता है।
६-सप्लायरों द्वारा कर्ज रूप में वित्तीय संसाधन जुटाना
 ७-अराष्ट्रीय कृत सहकारी बैंकों से वित्तीय सहायता
८- अराष्ट्रीय कृत अन्य बैंकों से शार्ट टर्म या लौंग टर्म लोन/ऋण
९- राष्ट्रीय कृत बैंकों से शार्ट टर्म या लौंग टर्म लोन/ऋण
 १०-केंद्रीय सरकार या राज्य या स्थानीय सरकारों द्वारा घोषित वित्तीय संस्थानों से शार्ट टर्म या लौंग टर्म लोन/ऋण
प्रत्येक वित्तीय ऋण पर व्याज या अन्य अनुग्रह अवश्य होते हैं अतः वित्तीय ऋण या सहायता लेते वक्त व्याज व ऋण चुकाने के समय आदि का  सही विश्लेषण होना आवश्यक है।
राज्य या केंद्रीय स्तर पर सब्सिडी का भी आकलन आवश्यक है।

Copyright @ Bhishma Kukreti  1/5/2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...


उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …

                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल
xx

Financial issues in Travel Agency Business; Financial issues in Travel Agency Business in context Uttarakhand Tourism Development; Financial issues in Travel Agency Business in context Pauri Garhwal Uttarakhand Tourism Development; Financial issues in Travel Agency Business in context Chamoli and Rudraprayag Garhwal Uttarakhand Tourism Development; Financial issues in Travel Agency Business in context Tehri Garhwal Uttarakhand Tourism Development; Financial issues in Travel Agency Business in context Uttarkashi Garhwal Uttarakhand Tourism Development; Financial issues in Travel Agency Business in context Dehradun Garhwal Uttarakhand Tourism Development; Financial issues in Travel Agency Business in context Haridwar Garhwal Uttarakhand Tourism Development; Financial issues in Travel Agency Business in context Udham Singh Nagar Kumaon Uttarakhand Tourism Development; Financial issues in Travel Agency Business in context Nainital Kumaon, Uttarakhand Tourism Development; Financial issues in Travel Agency Business in context Almora Kumaon, Uttarakhand Tourism Development; Financial issues in Travel Agency Business in context Pithoragarh Kumaon, Uttarakhand Tourism Development; Financial issues in Travel Agency Business in context Champawat Kumaon, Uttarakhand Tourism Development; Financial issues in Travel Agency Business in context Bageshwar Kumaon, Uttarakhand Tourism Development to be continued…

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,224
  • Karma: +22/-1
                                    बदलते सांसारिक स्वरूप में ट्रैवल एजेंसी की नई भूमिका
                                           Role of  Travel Agency in Changing World

                                                     ट्रैवल एजेंसी व्यापार का सुचारु रूप से संपादन  - भाग -7
                                Business Management of Travel Agency  in context Uttarakhand Tourism and Hospitality Development Part -7



                         (Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series--60 ) 
                                                      उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन -भाग 60   


आज ग्लोबलाइजेसन के कारण लोगों  पर्यटन वृद्धि , ग्राहकों के सामने असंख्य विकल्पों के खुलने , तकनीक विकास व  ग्राहकों के पास सुलभ धन आने से ट्रैवल एजेंसी व्यापार में भी आमूल -चूल परिवर्तन आ गए हैं।
निम्न परिवर्तन ट्रैवल एजेंसी व्यापार  प्रभावित कर रहे हैं -
१-  सभी देशों में शिक्षा हेतु विद्यार्थियों का विदेशों में शिक्षा प्राप्ति करने से ट्रैवल एजेंसी केवल टिकेट बुकिंग  व्यापार तक सीमित नही रह गया है अपितु अब ट्रैवल एजेंसियों की भूमिका सलाहकार की भी बनती जा रही है एयर ट्रैवल एजेंसियों के लिए कई अन्य व्यापारिक विकल्प भी खुल गए हैं।
२-ग्लोबलिाजेसन से एक देस से दूसरे देस में नौकरी हेतु आवाजाही बढ़ा है और उसी तेजी से ट्रैवल एजेंसियों की नई भूमिका भी स्थापित हुयी है। 
३- अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सभी देशों ने पर्यटन को मुख्य व्यापार बनाना शुरू किया है अतः ट्रैवल एजेंसियों के लिए नई भूमिकायें  भी रचित हुयी हैं।
४- भारत में राज्य ही नही जिला स्तर पर पर्यटन को विकसित करने की होड़ शुरू हो गई है और ट्रैवल एजेंसियों के लिए नए नए व्यापार स्रोत्र खुलने के साथ जटिलता भी बढ़ी हैं।  नए ज्ञान के लिए ट्रैवल एजेंसियों को सदा तत्पर रहने की आवश्यकता भी पड़ गई हैं।
५- अंतर्राष्ट्रीय व राष्ट्रीय स्तर पर नए नए ट्रैवल डेस्टिनेसन्स रचे /बनाये जा रहे हैं और ट्रैवल एजेंसियों को नए वातवरण हेतु अपने को तैयार करना पड़ रहा है।
६-ट्रांस्पोर्टसन/परिवहन  में नए नए माध्यमों में वृद्धि ट्रैवल एजेंसी व्यापार को हर समय प्रभावित कर रहे हैं।
७-पर्यटकों के रहने के लिए नए प्रकार के निवास (होटल ) आदि भी ट्रैवल एजेंसी व्यापार को प्रभावित कर रहे हैं।
८- पर्यटकों के खान -पान के नए ढंग  पुराने प्रचलित ढंग भी ट्रैवल एजेंसी व्यापार को प्रभावित कर रहे हैं।
९-धार्मिक पर्यटन अब नई दिशाओं की ओर अग्रसर हो रहा जो ट्रैवल एजेंसियों के कार्य में जटिलता ला रहा है।
१०- पर्यटकों का ज्ञान  माध्यमों में सुलभता , वृद्धि व ज्ञान अब बढ़ा है जिससे ट्रैवल एजेंसियों के कार्य शैली में भी परिवर्तन आ रहा है।
११- संचार -प्रसार की नई नई तकनीक आने से (जैसे इंटरनेट व मोबाइल फोन ) व ट्रैवल में नई तकनीक आने से ट्रैवल एजेंसियों के लिए अब प्रतियोगिता नए स्वरूप में आ रही है जिसके लिए ट्रैवल एजेंसियों की भूमिका भी बदल रही है।
१२- उपरोक्त कारणों व अन्य कारणों से ग्राहकों की रूचि में नित नए बदलाव आ रहे है अतः ट्रैवल एजेंसी व्यापार में सजगता का स्थान कहीं अधिक हो गया है
१४- लाभ प्राप्ति के तरीकों में भी बदलाव आ रहे है जो ट्रैवल एजेंसी व्यापार को प्रभावित कर रहा है
१५- पेमेंट प्राप्ति के कई माध्यम बदल रहे हैं
 १६-डॉलर भाव आदि में रोज बदलाव आने से भी ट्रैवल एजेंसी प्रभावित होती हैं
 अब परिवर्तन अधिक तेजी से हो रहा है अतः ट्रैवल एजेंसियों को भी उसी तेजी से अपनी भूमिका भी बदलने की आवश्यकता है।

Copyright @ Bhishma Kukreti  4/5/2014


Contact ID bckukreti@gmail.com

Tourism and Hospitality Marketing Management for Garhwal, Kumaon and Hardwar series to be continued ...


उत्तराखंड में पर्यटन व आतिथ्य विपणन प्रबंधन श्रृंखला जारी …

                                    References

1 -भीष्म कुकरेती, 2006  -2007  , उत्तरांचल में  पर्यटन विपणन परिकल्पना , शैलवाणी (150  अंकों में ) , कोटद्वार , गढ़वाल
xx

Role of Travel Agency in Changing World; Role of Travel Agency in Changing World in context with Bhabhar Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Development ; Role of Travel Agency in Changing World in context with Pauri Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Development ; Role of Travel Agency in Changing World in context with Rudraprayag Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Development ; Role of Travel Agency in Changing World in context with Chamoli Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Development ; Role of Travel Agency in Changing World in context with Tehri Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Development ; Role of Travel Agency in Changing World in context with Uttarkashi Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Development Role of Travel Agency in Changing World in context with Dehradun Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Development ; Role of Travel Agency in Changing World in context with Haridwar Garhwal, Uttarakhand Tourism and Hospitality Development ; Role of Travel Agency in Changing World in context with Udham Singh Nagar Kumaon , Uttarakhand Tourism and Hospitality Development ; Role of Travel Agency in Changing World in context with Nainital Kumaon , Uttarakhand Tourism and Hospitality Development ; Role of Travel Agency in Changing World in context with Almora Kumaon , Uttarakhand Tourism and Hospitality Development ; Role of Travel Agency in Changing World in context with Champawat Kumaon , Uttarakhand Tourism and Hospitality Development ; Role of Travel Agency in Changing World in context with Bageshwar Kumaon , Uttarakhand Tourism and Hospitality Development ; Role of Travel Agency in Changing World in context with Pithoragarh Kumaon , Uttarakhand Tourism and Hospitality Development ;

 

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22