Author Topic: Breaking News - तेज़ ख़बर  (Read 48332 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
Breaking News - तेज़ ख़बर
« on: October 09, 2007, 10:55:00 AM »

Dosto,

Here we will update you on various sensational news which are "breaking news " in nature". The news may be mostly Uttarakhand related or sometimes at national & international level.

M S Mehta


नोट- इस टोपिक के अन्तर्गत दिये जाने वाले समाचार प्रतिदिन विभिन्न समाचार पत्रो की साईटस से चयनित कर यहां पर प्रकाशित किये जाते हैं, इसलिये यह लाजमी है कि पहले पेज तथा अन्य पेजों में प्रकाशित समाचार अद्यतन नहीं होंगे। आप लोगों से अनुरोध है कि कृपया इस टोपिक के अन्तिम पेज को देखें, उसमें आपको उत्तराखण्ड से संबंधित ताजा समाचार मिलेंगें।
सादर,
मेरा पहाड़ टीम

Note: All the news under this topics are daily updated from various Newspaper sites, so it is but natural that news on various pages will not be latest. All are requested to view the last page of the topic for latest news.

Regards,
Mera Pahad Team

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
U''khand Cong attacks Nishank over fake certificates
 PTI | 10:08 PM,Aug 13,2011 Dehradun, Aug 13 (PTI) Accusing Uttarakhand Chief Minister Ramesh Pokhriyal Nishank of submitting wrong details related to his educational certificates and date of birth, the main Opposition Congress today demanded a probe by a high-level committee.The Leader of Opposition in the state assembly, Harak Singh Rawat submitted a memorandum to the state Governor Margaret Alva, requesting her to order a high-level probe into the case."Nishank has studied only upto tenth standard. The students of the state should get encouragement from the fact that a high school pass student became the chief minister of the state," he said.Rawat alleged that Nishank while filing his nomination papers in 2007 mentioned his high school passing year as 1977 but there was no dates mentioned in his subsequent educational certificates, including his graduation degree in Shastri from Sampurnanand Sanskrit University, MA degree in Garhwal University.The Chief Minister should also clarify the details of his honorary doctorate degree, Rawat said."There is a sharp contrast in the birth dates of the CM mentioned in his passport, income tax return, and his nomination paper, as it is 15 July, 1959 in the former case while in the latter it is 15th August, 1958," Rawat said, adding that the birth date mentioned in his official website and books is 15th August, 1959.The issue will be also taken up to the Chief Election Commission and would demand for the cancellation of his nomination, Rawat added.


http://ibnlive.in.com/generalnewsfeed/news/ukhand-cong-attacks-nishank-over-fake-certificates/787667.html


एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
Uttarakhand CM announces four new districts

Dehra Dun: Uttarakhand Chief Minister Ramesh Pokhriyal Nishank on Monday announced the creation of four more districts and plans to enact a law against corruption in the hill state.

 Addressing people after unfurling the tricolour here on the 65th Independence Day, Nishank said his government has decided to create four new districts -- Kotdwar, Yamunotri, Didihat and Ranikhet -- to provide smooth administration to the people living in these areas.

 
<ins><ins></ins></ins>
With the new announcement, the total number of districts in Uttarakhand would go up to 17 from the existing 13.

 While Kotdwar would be carved out from Pauri district and Yamunotri from Uttarkashi, Didihat would be created from Pithoragarh and Ranikhet from Almora district.

 Nishank said small administrative units were good in view of development and accessibility by people living in the areas and Uttarakhand was formed with the same purpose in 2000.

 He said his government has also decided to enact a law against corruption in the state and a bill regarding this would shortly be brought in the Vidhan Sabha.

 The Chief Minister also announced to increase the monthly pension of freedom fighters to Rs 11,100 from the existing Rs 6,000. He said Uttarakhand is the first state in the country to give such a big amount as monthly pension to freedom fighters.

 Nishank also announced to provide a health insurance cover under Atal health insurance scheme to all one crore citizens of the hill state.


http://zeenews.india.com/news/uttarakhand/uttarakhand-cm-announces-four-new-districts_726353.html

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1
जंगली मशरूम ने बुझा दिया जगदीश के घर का चिराग
=========================

गणेश पाण्डेय, दन्यां: इसे किस्मत का खेल कहें या नियति का क्रूर मजाक। किसी हंसते खेलते परिवार के चार बच्चे अकाल मृत्यु के ग्रास बन गये। उन अभागे माता पिता की करूण कहानी बयां नहीं की जा सकती जिन्होंने तीन दिनों के भीतर बारी बारी से अपने जिगर के चार टुकड़ों को आंखें मूदते स्वयं देखा और लाख चाहने के बाद भी सिर्फ हाथों को मलने के सिवा कुछ नहीं कर पाये।



जंगली मशरूम की सब्जी काल बन कर आयेगी ऐसा किसी ने सपने में भी नहीं सोचा होगा। विकास खंड धौलादेवी से लगे गांव बुग्गीशाला निवासी जगदीश राम के दो पुत्र और दो पुत्रियों की मौत से हर कोई स्तब्ध रह गया है। 4 से 13 वर्ष की उम्र के बच्चों की एक एक कर हुई अकाल मौत से माता पिता अर्ध बेहोशी की हालत में हैं। 16 अगस्त को जंगली मशरूम की सब्जी खाने से जगदीश राम के 6 वर्षीय पुत्र रवि अत्यधिक उल्टियां होने लगी और उसकी मौत हो गई। दूसरे दिन परिवार अन्य 4 बच्चों की हालत भी बिगड़ गई। वह उन्हें बेस चिकित्सालय में ले गया।


 जहां मीरा 13 वर्ष और नितिन साढ़े तीन वर्ष की मौत हो गई। दो पुत्रियां चंद्र कला और दीक्षा बेहोशी की हालत में भर्ती थी। आज दीक्षा 9 वर्ष की भी मौत हो गई जबकि चंद्रकला अब स्वस्थ्य होकर घर वापस आ गई है। परिवार के पांच पाल्यों में से चार के अकस्मात अवसान हो जाने से माता पिता बदहवास हालत में पहुंच गये हैं। एक ही परिवार की इस करूण कहानी सुन कर सभी स्तब्ध हैं।
   
http://in.jagran.yahoo.com/news/local/uttranchal/4_5_6314361.html

adhikari harish dhoura

  • Newbie
  • *
  • Posts: 39
  • Karma: +2/-0
Re: Breaking News - तेज़ ख़बर
« Reply #4 on: August 20, 2011, 10:34:16 PM »
तिरंगे के साथ वंदेमातरम् के नारों से गूंजा अल्मोड़ा
Aug 20, 09:33 pm

जागरण कार्यालय, अल्मोड़ा: जनलोकपाल विधेयक को लागू करने की मांग को लेकर अनशन पर बैठे अन्ना हजारे के समर्थन में शनिवार को युवकों ने मोटरसाइकिल रैली निकाली। हाथों में तिरंगा लिए वंदेमातरम्, अन्ना तुम संघर्ष करो, हम तुम्हारे साथ हैं व अन्ना नहीं आंधी है, देश का दूसरा गांधी है, के नारे के साथ गजब का उत्साह व जोश को देखने को मिला।

चौघानपाटा में अन्ना फैंस क्लब का धरना जारी रहा। धरने में महिलाएं, बुजुर्ग, बच्चे व युवा वर्ग शामिल था। पूर्व सैनिक पुनर्वास एवं विकास संस्था ने अन्ना के समर्थन में सड़कों पर उतरने की बात कही। महिला समिति अल्मोड़ा ने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ रहे अन्ना के समर्थन में प्रदर्शन किया। महिला कल्याण संस्था ने तयशुदा कार्यक्रम के अनुसार अभियान चलाया।

सोमेश्वर: भ्रष्टाचार के खिलाफ अन्ना हजारे की मुहिम को खुला समर्थन देते हुए अनेक संगठनों ने जुलूस प्रदर्शन कर प्रधानमंत्री व राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा। जनसंगठनों ने शीघ्र जनलोकपाल बिल पारित करने की मांग की है। राजकीय महाविद्यालय, जीआईसी, जीजीआईसी के छात्रों ने रैली भी निकाली।

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1
                     4:15 नहीं 11 बजे फरार हुए कैदी!ये है उत्तराखंड की पुलिस

कैदी फरारी प्रकरण में जेल प्रशासन के दावों की पोल 24 घंटे में ही खुलती नजर आ रही है। प्रारंभिक पड़ताल में जो तथ्य पुलिस को मिले वो चौंकाने वाले हैं। ऐसे में जेल प्रशासन की कहानी कई सवाल खड़े कर रही है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, मंगलवार को जेल परिसर स्थित (जेल की मेन बाउंड्री से बाहर) में भंडारा था। यहां काम करने के लिए सुबह 7:45 बजे 13 कैदियों को बाहर निकाला गया था।
 इसके बाद 10:45 बजे इन सभी को अंदर कर दिया गया। इसके बाद 11 बजे पांच कैदी फिर बाहर निकाले गए। जब दोपहर तीन बजे ये कैदी भीतर आए तो संख्या महज तीन थी। पुलिस की मानें तो दो कैदी रवि और सलीम भंडारे में काम करने के बहाने बाहर आए और मंदिर के पास की दीवार फांदकर भाग गए। चूंकि, यह दीवार सिर्फ पांच-छह फीट की है और पीछे सूखी नदी है। जिसका लाभ उठाकर वे भाग निकले।


पुलिस सूत्रों के मुताबिक, जेल के मेन गेट पर 11 और पांच कैदियों को दो वक्त पर बाहर निकालने का जिक्र तो है, लेकिन उनके नाम दर्ज नहीं हैं। कैदियों के नाम दर्ज न होना मिलीभगत का इशारा कर रहा है। बहरहाल, अब पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि सुबह 11 बजे के बाद जेल अफसरों ने फोन के जरिए किन नंबरों पर संपर्क किया। उनकी मोबाइल लोकेशन कहां-कहां रही। बुधवार को ईद की छुट्टी की वजह से न तो कॉल डिटेल मिल पाई न ही लोकेशन।
दस घंटे बाद पहुंचे आइजी जेल


कैदी सुबह 11 बजे फरार हो गए और आइजी जेल भाष्करानंद जोशी दस घंटे के बाद जेल पहुंचे। उनसे पूर्व पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच चुके थे। ऐसे में जेल अधिकारी घटना की संवेदनशीलता पर कितने गंभीर हैं, इसका अंदाजा लगाया जा सकता है।
http://in.jagran.yahoo.com/news/local/uttranchal/4_5_8140450.html



सब साले मिले हुए हैं पुलिस भी और कैदी भी पुलिस ही चोर और चोर ही पुलिस

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,904
  • Karma: +76/-0
15 killed as bus falls into river in Uttarakhand

Dehradun, Sep 4 (PTI) At least 15 people were killed and eight were missing when a bus today fell into a swollen Tons river in the hilly Tyuni Market area near here.District Magistrate Dehra Dun Sachin Kurve said 15 bodies have been recovered and 12 injured people have been rushed to nearby hospitals.   The bus was on its way from Katiyal area to Dehradun when it fell into the river as the driver was negotiating a sharp turn.Senior police and administrative officials are supervising rescue operation."As of now, the bus has not been located," Kurve said.Tons is a tributary of Yamuna river and Tyuni Market is located in the hilly Chakrata area in Dehradun district.     A search is on to find out the eight missing persons."As of now we believe there are still 8 persons who are missing in the accident," Kurve said

http://ibnlive.in.com/generalnewsfeed/news/15-killed-as-bus-falls-into-river-in-uttarakhand/811447.html

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1
Re: Breaking News - तेज़ ख़बर
« Reply #7 on: September 04, 2011, 07:50:39 AM »
उत्तराखड: बस नदी में गिरी, 15 की मौत


 

  देहरादून। उत्तराखड के देहरादून के पास स्थित पर्वतीय त्यूनी बाजार क्षेत्र में आज एक बस के टोंस नदी में गिर जाने से उसमें सवार कम से कम 15 लोगों की मौत हो गई जबकि आठ अन्य लापता हैं।
 देहरादून के जिलाधिकारी सचिन कुर्वे ने बताया कि 15 शव निकाल लिए गए हैं जबकि 12 घायलों को पास के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।
 यह दुर्घटना उस समय हुई जब कतियाल क्षेत्र से देहरादून जा रही बस के चालक ने एक तीव्र मोड़ पर वाहन से अपना नियंत्रण खो दिया।
 पुलिस और प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी राहत एवं अभियान की निगरानी कर रहे हैं। कुर्वे ने कहा कि अभी तक बस का पता नहीं चल पाया है।
 टोंस यमुना की सहायक नदी है तथा त्यूनी बाजार देहरादून जिले के पहाड़ी चकराता क्षेत्र में स्थित है। आठ लापता लोगों की तलाश के लिए अभियान जारी है।



http://in.jagran.yahoo.com/news/national/mishap/15-killed-bus-falls-river-Uttarakhand_5_23_8156277.html

Anil Arya / अनिल आर्य

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 1,547
  • Karma: +26/-0
Re: Breaking News - तेज़ ख़बर
« Reply #8 on: September 04, 2011, 07:57:28 AM »
बहुत दुःख भरा समाचार है :( :o

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1
            बाल-बाल बचे मुख्यमंत्री

मंगलवार को मुख्यमंत्री की हवाई यात्रा काफी परेशानियों से भरी रही। पौड़ी जिले के चौरा पहुंचे मुख्यमंत्री के हेलीकाफ्टर ने सुबह रिस्ती के लिए उड़ान भरी, लेकिन घने कोहरे के कारण हेलीकाफ्टर दो घाटियों के बीच फंस गया। इमरजेंसी सायरन बजने के बाद पायलट ने हेलीकाफ्टर वापस मोड़कर रासी स्टेडियम में उतारा। उधर, देवप्रयाग में भी 132 केवी विद्युत लाइन के कारण मुख्यमंत्री का हेलीकाफ्टर की लैंडिंग नहीं हो पाई।

 मंगलवार सुबह मुख्यमंत्री थलीसैण ब्लॉक में हुए मैक्स हादसे के घायलों का हालचाल जानने पौड़ी के लिए रवाना हुए। हेलीकाफ्टर ने सुबह पहले तिरपालीसैण के पास चौरा में लैंडिंग की। इसके बाद मुख्यमंत्री ने रिस्ती की ओर उड़ान भरी, लेकिन हेलीकाफ्टर घने कोहरे में दो घाटियों के बीच फंस गया। हेलीकाफ्टर के इमरजेंसी सायरन बजने लगे। जिसके बाद पायलट ने सूझबूझ का परिचय देते हुए हेलीकाफ्टर वापस मोड़ा और फिर पौड़ी के रासी स्टेडियम में लैंडिंग की। मुख्यमंत्री डा. निशंक ने कहा कि भगवान की कृपा से वे आज बाल-बाल बच गये। पायलट ने सूझबूझ से हेलीकाप्टर सुरक्षित बचाया।



उधर, मुख्यमंत्री का देवप्रयाग में हुए सड़क हादसे के घटनास्थल पर पहुंचने का भी कार्यक्रम तय था। जिसके लिए राजकीय महाविद्यालय देवप्रयाग के खेल मैदान में हेलीकाफ्टर की लैंडिंग होनी थी। सीएम के आने की सूचना मिलने पर जिलाधिकारी राधिका झा, एसपी राजीव स्वरूप समेत तमाम प्रशासनिक अमला महाविद्यालय मैदान पर तैनात हो गया। साथ ही, स्थानीय लोगों की भी खासी भीड़ मैदान में जमा हो गई। मुख्यमंत्री का हेलीकाफ्टर महाविद्यालय के ऊपर काफी देर तक मंडराता रहा, लेकिन लैंडिंग नहीं हो पाई।

http://in.jagran.yahoo.com/news/local/uttranchal/4_5_8168168.html

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22