Author Topic: Breaking News - तेज़ ख़बर  (Read 48104 times)

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1
Re: Breaking News - तेज़ ख़बर
« Reply #10 on: September 06, 2011, 09:34:04 PM »
ये क्या खबर मिली सुबह सुबह,अच्छा देवभूमि उत्तराखंड,देखा ये देवभूमि भी नहीं चाहती हैं की इस पड़े भ्रस्टाचारियों और पापियों के कदम

adhikari harish dhoura

  • Newbie
  • *
  • Posts: 39
  • Karma: +2/-0
Re: Breaking News - तेज़ ख़बर
« Reply #11 on: September 06, 2011, 09:59:24 PM »
देहरादून, जागरण संवाददाता: अपनी दून पुलिस को आरोपियों के साथ मित्रता निभानी अच्छी तरह से आती है। ऐसा ही कुछ सोमवार रात घंटाघर पर स्कूटी सवार युवती के अपहरण के प्रयास के मामले में हुआ। पुलिस ने गिरफ्तार रईसजादों के विरुद्ध ना अपहरण के प्रयास का मुकदमा किया और ना ही उनके नशे में होने का जिक्र। पुलिस ने मामूली छेड़छाड़ के आरोप में मुकदमा दर्ज किया। जिससे आरोपियों को जमानत मिल गई। हालांकि, बेल बांड न भरने के चलते फिलहाल बालिग आरोपी को जेल भेजा दिया गया, जबकि नाबालिग को जमानत पर रिहा कर दिया गया।

बता दें कि, सोमवार की रात घंटाघर पर सरेबाजार सफारी सवार नशे में धुत युवकों ने स्कूटी सवार खुड़बुड़ा निवासी युवती के अपहरण का प्रयास किया था। पुलिस ने चकराता रोड पर दोनों आरोपी दबोच लिए। दोनों मूल रूप से हरियाणा के निवासी थे व देहरादून के मांडूवाला में एक निजी हॉस्टल में रहते थे। एक आरोपी नंदा की चौकी स्थित एक इंस्टीट्यूट में बीटेक का छात्र है, जबकि दूसरा पब्लिक स्कूल का 11वीं का छात्र। युवती द्वारा आरोपियों के विरुद्ध अपहरण का प्रयास व छेड़छाड़ की तहरीर दी गई। आरोपी नशे में बुरी तरह से धुत थे। उनका मेडिकल भी कराया गया।

मंगलवार सुबह पुलिस के 'खेल' ने हर किसी को हैरत में डाल दिया। अपहरण के प्रयास के बजाए पुलिस ने महज छेड़छाड़ की धारा में मुकदमा दर्ज किया। पुलिस ने बालिग आरोपी को सीजेएम कोर्ट, जबकि नाबालिग को किशोर न्यायालय में पेश किया। जहां से उन्हें जमानत मिल गई। इस संबंध में अधिवक्ता राजीव कुमार गुप्ता ने बताया कि मामला संगीन है और इसमें आइपीसी की धारा-364 व 511 के अंतर्गत मुकदमा होना चाहिए था, लेकिन पुलिस ने धारा-354 का मुकदमा किया।

कोर्ट परिसर में भी 'दोस्ती'

पुलिस ने कचहरी परिसर में भी आरोपियों से दोस्ती निभाई। जब आरोपी को न्यायिक हिरासत में जेल भेजने का आदेश कोर्ट ने दिया तो पुलिस ने उसे परिजनों के पास बाहर ले जाकर छोड़ दिया। काफी देर वे बतियाते रहे। इस दौरान कोर्ट मुहर्रिर ने पुलिसकर्मियों को फटकार लगाकर आरोपी को जेल ले जाने को कहा। पर पुलिसकर्मी तब भी नहीं माने। वे उसे बाइक पर बैठा ले गए और गेट के समीप बाइक रोक दी। वहां परिजनों ने आरोपी को पांच सौ रुपये का नोट दिया और बात करने लगे। इसके बाद पुलिस उसे जेल ले गई।

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1
पायलेट बाबा के आश्रम पर पुलिस का छापा



  उत्तरकाशी, जागरण कार्यालय : पुलिस को सूचना दिए बिना विदेशियों को ठहराने के मामले में हरिद्वार स्थित बाबा रामदेव से जुड़े योगग्राम के बाद अब उत्तरकाशी स्थित पायलेट बाबा का आश्रम भी विवादों में घेरे में है। गुरुवार को पुलिस ने आश्रम में छापा मारकर दस विदेशी युवतियों की मौजूदगी दर्ज की। पुलिस ने उनके वीजा और दूसरे कागजात की भी जांच की है। उत्तरकाशी के पुलिस अधीक्षक सदानंद दाते ने बताया कि इस संबंध आश्रम को नोटिस भेजने की तैयारी की जा रही है।


पुलिस के अनुसार बुधवार को गोमुख से लौट रहे अप्रवासी भारतीय मनिंदर जीत सिंह और दीप शरण रास्ते में सैंज स्थित पायलेट बाबा के आश्रम में ठहरना चाहते थे। दोनों पर्यटकों का आरोप है कि इस संबंध में पूछताछ करने पर आश्रम के लोगों ने उनसे अभद्रता की। दोनों का दावा है कि उन्हें आश्रम में कुछ विदेशी युवतियां भी नजर आई। इस पर दोनों अप्रवासी वहां से निकल सीधे उत्तरकाशी के पुलिस अधीक्षक से मिले और उन्हें समूची जानकारी दी।
http://in.jagran.yahoo.com/news/local/uttranchal/4_5_8179239.html

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
भाजपा ने की उत्तराखंड में नेतृत्व परिवर्तन की तैयारी

नई दिल्ली [जागरण ब्यूरो]। उत्तराखंड के आगामी विधानसभा चुनाव में अपनी डूबती नैया को बचाने के लिए भाजपा आलाकमान एक बार फिर भुवन चंद्र खंडूड़ी को नेतृत्व सौंप सकता है।
 राज्य में हाल में हुए पार्टी के अंदरूनी सर्वे में स्थिति और ज्यादा बिगड़ने के संकेत मिलने के बाद आलाकमान ने मुख्यमंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक को हटाने पर गंभीरता से विचार कर रही है। मामले की कमान पार्टी अध्यक्ष नितिन गडकरी ने खुद संभाल ली है।
 भाजपा के केंद्रीय संसदीय बोर्ड की गुरुवार शाम हुई आपात बैठक के दौरान उत्तराखंड में नेतृत्व परिवर्तन को लेकर अलग-अलग मत रहे। कुछ नेताओं का कहना था कि चुनाव को इतना कम समय रहने पर नेतृत्व परिवर्तन करने से ज्यादा लाभ नहीं होगा।
 राज्य में निशंक सरकार के खिलाफ बढ़ रही शिकायतें व जनता में गिर रही साख पर भी चर्चा हुई। दरअसल विधानसभा चुनाव को लेकर पार्टी के अंदरूनी सर्वे ने आलाकमान की नींद उड़ा दी है।
 सूत्रों के अनुसार इसमें पार्टी के खाते में मात्र सात सीटें दिखाई गई हैं। इसमें मुख्यमंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक की सीट भी खतरे में थी। लगभग छह माह पहले भी पार्टी ने एक अंदरूनी सर्वे कराया था, जिसमें पार्टी के लिए नौ सीटों की संभावना जताई गई थी। इसके बाद ही प्रदेश के तीनों बड़े नेताओं में एकता की कोशिश की गई थी। उस समय भी पार्टी का एक वर्ग निशंक को हटाए जाने के पक्ष में था, लेकिन पार्टी नेतृत्व ने निशंक को ही बरकरार रखने का फैसला करते हुए तीनों नेताओं ने नेतृत्व में चुनाव लड़ने का फैसला किया था। तब से हालात काफी बदल गए हैं।
 गडकरी की काफी कोशिशों के बाद भी निशंक सरकार के कामकाज में सुधार नहीं हो सका। उलटे जनता की भावनाओं को देखते हुए पूर्व मुख्यमंत्री भुवनचंद्र खंडूड़ी के विरोध ने भी परेशानियां बढ़ाई। पार्टी के अंदरूनी समीकरणों में पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी व खंडूड़ी के एक साथ आने से भी हालात बदले।
सूत्रों के अनुसार राज्य में नेतृत्व परिवर्तन में निशंक को भी विश्वास में लिया जाएगा। गडकरी एक-दो दिन में निशंक से सारी बात करने के बाद ही फैसले को अंतिम रूप देंगे। पार्टी राज्य में सरकार के साथ संगठन में बदलाव का विचार कर रही है

http://in.jagran.yahoo.com/news/national/politics/Change-guard-Uttaranchal-soon-Nitin_5_2_8183255.html

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1
बस खाई में गिरी, 7 की मौत, सात घायल


नैनबाग, जागरण कार्यालय : सामने से आ रहे वाहन को पास देते समय मोड़ पर सड़क धंसने से एक बस खाई में जा गिरी। हादसे में सात लोगों की मौत हो गई, जबकि सात घायल हो गए। बस में कुल 15 लोग सवार थे। इनमें से एक को मामूली चोट आई है। घायलों को मसूरी और देहरादून के अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। राज्यपाल माग्र्रेट आल्वा और मुख्यमंत्री बीसी खंडूड़ी ने हादसे में मारे गए लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त की। मुख्यमंत्री ने प्रशासन को मृतक आश्रितों और घायलों की मदद के निर्देश भी दिए।
घटनाक्रम के अनुसार सोमवार को पूर्वाह्न नैनबाग से थत्यूड़ जा रही बस संख्या यूए 07 के. 2355 बंगार के निकट सामने से आ रहे वाहन को पास देने के लिए मोड़ पर जैसे ही किनारे की ओर हुई, तभी सड़क का किनारा धंस गया और बस खाई में जा गिरी। इससे बस में सवार अनूप (29) पुत्र सत्ये सिंह निवासी ग्राम टटोर नैनबाग, नरेश (30)पुत्र गुरुदयाल सिंह निवासी कोड़ी पंतवाड़ी, भूरा (26) पुत्र भगीरथू निवासी ललोटना थत्यूड़, किशन लाल (55) पुत्र चूईयां ग्राम तेवा थत्यूड़,  लुदू्र (40) पुत्र संकरू ग्राम कोटाई परोड़ी थत्यूड़ की मौके पर ही मौत हो गई। लाल बचन (55) निवासी गाजीपुर बनारस उत्तरप्रदेश और संतराम (30) पुत्र अमीचंद ग्राम ललोटना थत्यूड़ ने  अस्पताल ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया। इसके अलावा सुभाष नौटियाल पुत्र वासबानंद ग्राम नकोट, घनश्याम पुत्र महानंद निवासी मसरास, वाहन चालक सुरजन सिंह पुत्र मदन सिंह ग्राम मैर नैनबाग, बृजलाल पुत्र भटूराम ग्राम खैराड़ नैनबाग, पिंकी ग्राम ललोटना, मोहना ग्राम फिडोगी थत्यूड़, जगमोहन (38) पुत्र गुलाब सिंह कुदाऊं गांव निवासी गंभीर रूप से घायल हो गये। प्राथमिक उपचार देने के बाद घायलों को मसूरी व देहरादून रैफर किया गया है।





http://in.jagran.yahoo.com/news/local/uttranchal/4_5_8202388.html

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1
कुमाऊं के आधा दर्जन यात्री घायल
===================



हल्द्वानी: पीलीभीत के मझोला तथा सितारगंज में शुक्रवार को हुए विवाद की भेंट उत्तराखंड परिवहन निगम की आधा दर्जन बसें चढ़ गईं। तोड़फोड़ व पथराव में कुमाऊं के आधा दर्जन यात्रियों के घायल होने की खबर है। बिलासपुर में हुई तोड़फोड़ में तीन बसों को नुकसान हुआ है तथा दो बसों के चालक जख्मी हो गए हैं।

 परिवहन निगम नैनीताल परिक्षेत्र के महाप्रबंधक मुकुल पंत ने बताया कि पीलीभीत के मझोली में हुए विवाद में भीड़ ने बरेली से खटीमा आ रहीं उत्तराखंड परिवहन निगम की करीब आधा दर्जन बसों में तोड़फोड़ की। इसमें बस में सवार कुमाऊं के आधा दर्जन यात्री घायल हो गए। इसके अलावा सितारगंज में हुए विवाद में बिलासपुर के पास कुमाऊं परिवहन निगम की बसों में तोड़फोड़ की गई।


 इसमें दो बसों के चालक घायल हो गए हैं। इन्हें स्थानीय अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। श्री पंत ने बताया कि रुद्रपुर डिपो की 4, काठगोदाम डिपो की केंद्र सरकार प्रदत्त जेएनयूआरएम की एक बस के अलावा काशीपुर व रुद्रपुर डिपो की एक-एक बसों को नुकसान पहुंचा है।


 इधर हल्द्वानी डिपो के एआरएम डबराल ने बताया कि उनके डिपो की चार बसों को नुकसान पहुंचा है। चालक-परिचालक से संपर्क न हो पाने के कारण असली वस्तु स्थिति पता नहीं चल पा रही है।
http://in.jagran.yahoo.com/news/local/uttranchal/4_5_8224639.html

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1
खाना बना जहर, 266 बीमार

सुल्तानपुर पट्टी: विवाह समारोह का खाना लोगों के लिए मुसीबत बन गया। भोजन करने के बाद बच्चों व महिलाओं समेत 266 लोग बीमार हो गए। 67 मरीजों को सरकारी अस्पतालों में भर्ती कराया गया और 91 का घरों पर इलाज चल रहा है। साथ ही बुखार से पीड़ित 108 रोगियों की ब्लड स्लाइड परीक्षण के लिए भेजी गई हैं। सीएमओ, एसडीएम, कोतवाल ने घटनास्थल का दौरा कर मामले की जानकारी ली।
सुल्तानपुर पट्टी के मोहल्ला श्यामनगर में मेहंदी हसन की शादी थी। समारोह में उड़द-चावल आदि बनाया गया था। खाना खाने से किसी को तत्काल कोई परेशानी नहीं हुई, लेकिन सोमवार सुबह जब लोग उठे तो उन्हें उल्टी-दस्त की शिकायत होने लगी। देखते-देखते बीमार लोगों की संख्या 266 तक पहुंच गई। इनमें 67 लोगों को काशीपुर, बाजपुर व स्वार के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

91 रोगियों का उपचार घरों पर ही चल रहा है। चिकित्सकों के मुताबिक फूड प्वाइजनिंग से लोग बीमार हुए हैं। उन्होंने पानी भी दूषित बताया। घटना की सूचना मिलने पर सीएमओ डॉ. आरएस असवाल, एसडीएम एसएस जंगपांगी व सीएमएस डॉ. केके शर्मा ने मरीजों का हाल जाना।


एसडीएम ने बीमार लोगों के बयान दर्ज किए। बुखार से पीड़ित 108 लोगों की ब्लड स्लाइड परीक्षण के लिए भेजी गई हैं। उधर, प्रशासनिक अधिकारियों ने भोजन व पानी के सैंपल की जांच बाजपुर के फूड इंस्पेक्टर को सौंप दी है। स्वास्थ्य विभाग की टीम भी जांच में जुट गई है।
   

http://in.jagran.yahoo.com/news/local/uttranchal/4_5_8337820.html

Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1
थम नहीं रहा मौतों का सिलसिला


अज्ञात बीमारी की चपेट में आए पाबौ ब्लाक के पांच गांवों में मृतकों की तादाद बढ़ती जा रही है। रविवार सुबह सिवाल गांव में एक पुरुष और एक महिला ने भी दम तोड़। अब तक कुल दस लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। दूसरी ओर जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों की संख्या  बढ़कर 18 हो गई है। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एमएस बोहरा ने बताया कि भर्ती मरीजों की हालत में सुधार है।
रविवार सुबह सिवाल गांव की कादम्बरी पत्‍‌नी रूप सिंह और लालन सिंह की मौत हो गई। शनिवार को तीन लोग दम तोड़ चुके हैं। इसी के साथ मरने वालों की कुल संख्या दस तक पहुंच गई है। डिप्टी सीएमओ के डी शर्मा के नेतृत्व में प्रभावित गांवों में गई टीम ने शनिवार देर रात पांच और मरीजों को जिला चिकित्सालय भेजा। अब जिला चिकित्सालय में भर्ती बीमारों की संख्या 18 हो गई है।


दूसरी ओर शनिवार तक असमंजस में पड़े डाक्टर अब बीमारी का कारण सुअर का मांस खाना मान रहे हैं। जिला चिकित्सालय में मरीजों का इलाज कर रहे डा. मुकेश सुंदरियाल ने बताया कि भले ही जांच में अभी तक किसी बीमारी की पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन यह सुअर के मांस से होने वाली बीमारी के ही लक्षण है। सुअर के मांस में एक वर्म होता है  यह वर्म रक्त कणिकाओं को नुकसान पहुंचाते हैं। उन्होंने कहा कि भर्ती मरीजों के स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है।
निशंक ने किया प्रभावित गांवों का दौरा


पौड़ी : पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमेश पोखरियाल 'निशंक' रविवार को जिला चिकित्सालय पहुंचे और भर्ती मरीजों के हालचाल पूछे। इसके बाद उन्होंने अपने गांव पिनानी समेत पांचों प्रभावित गांवों का दौरा किया और मृतक परिजनों को सांत्वना दी।


रविवार को डा. निशंक ने पौड़ी के मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एमएस बोहरा से बीमारी की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि बेस अस्पताल श्रीनगर व पौड़ी के चिकित्सक संयुक्त रूप से कार्य कर बीमारी का पता लगाएं। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि वे इस संबंध में दून व दिल्ली के चिकित्सकों के साथ भी बातचीत करेंगे।
http://in.jagran.yahoo.com/news/local/uttranchal/4_5_8362483.html

हेम पन्त

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 4,326
  • Karma: +44/-1
बिजली की सुरक्षा तथा चोरी रोकने जैसे महत्वपूर्ण यंत्र बनाने वाली हरियाणा में ब्लैकलिस्टेट कंपनी को उत्तराखंड में खरीद के आर्डर दिए जा रहे हैं। इस कंपनी को ब्लैकलिस्टेड घोषित करने की सूचना उत्तराखंड ऊर्जा निगम को भी दी गई थी। सूचना मिलने के बाद इस कंपनी को लाखों रुपये के दो आर्डर दिए जा चुके हैं।

ऊर्जा निगम हरियाणा ने आधुनिक यंत्र उद्योग कंपनी को 2010 में तीन साल के लिए ब्लैकलिस्टेड घोषित करते हुए उत्तराखंड समेत दूसरे राज्यों को इसकी सूचना भेज दी थी। इसके बाद उत्तराखंड ऊर्जा निगम ने इस कंपनी को दो आर्डर दिए हैं। पहला आर्डर 13 दिसंबर 2010 को 15.93 लाख का दिया गया, उसके बाद दूसरा आर्डर 27 मई 2011 को 12.25 लाख का दिया गया है।

आधुनिक यंत्र उद्योग को दिसंबर 2010 में 33 केवी पिल्फर रजिस्टेंट मीटरिंग क्यूबिकल्स का आर्डर दिया गया था। पिल्फर रजिस्टेंट के 18 नगों की प्रति नग 87500 रुपये की दर से कुल कीमत 15.93 लाख रुपये का आर्डर दिया गया। उसके बाद मई 2011 में 11 केवी पिल्फर रजिस्टेंट मीटरिंग क्यूबिकल्स के 50 नग खरीदने का दूसरा आर्डर दिया गया। 11 केवी पिल्फर रजिस्टेंट की प्रति नग कीमत 24300 रुपये है। 50 नगों की कुल कीमत 12.25 लाख रुपये हुई।

जानकारों के अनुसार पिल्फर रजिस्टेंट मीटरिंग क्यूबिकल्स का उपयोग 75 किलोवाट से अधिक के मीटरों में किया जाता है। यह मीटरों की सुरक्षा तथा बिजली चोरी पर नियंत्रण के लिए उपयोग में लाया जाता है। सवाल यह उठ रहा है कि यदि बड़े संस्थानों में लगने वाले इस महत्वपूर्ण यंत्र को दूसरे राज्य में ब्लैकलिस्टेड कंपनी से खरीदा जाएगा तो उसकी गुणवत्ता पर कैसे भरोसा किया जा सकता है।

इस संबंध में ऊर्जा निगम के एमडी एके जैन से पूछने पर उन्होंने बताया कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने बताया कि दोनों खरीद के मामले उनके कार्यकाल से पहले के हैं। श्री जैन ने कहा कि इसके बावजूद वह अधिकारियों से इस खरीद के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे।

श्रोत - http://in.jagran.yahoo.com/news/local/uttranchal/4_5_8365137.html

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
Re: Breaking News - तेज़ ख़बर
« Reply #19 on: October 20, 2011, 03:55:14 AM »
जंगली सुअर खाने से 11 की मौत, मजिस्ट्रेट जांच के आदेश

उत्तराखंड के पौड़ी गढवाल जिले में जंगली सुअर खाने से 11 लोगों की मौत हो गई जबकि 60 अन्य बीमार हो गये.

राज्य सरकार ने इस मामले में मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिये हैं.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने गुरुवार को कहा, ‘‘मुख्यमंत्री बीसी खंडूरी ने इस घटना के मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिये हैं.’’

पिनानी गांव के एक खेत में नौ अक्तूबर को एक जंगली सुअर मरा पड़ा मिला था जिसे खाने से 11 लोगों की मौत हो गई जबकि 60 अन्य बीमार हो गये.

मुख्यमंत्री ने मरने वालों के परिजनों को एक - एक लाख रूपये का मुआवजा देने की घोषणा की है

http://www.samaylive.com/

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22