Author Topic: VOCABULARY OF KUMAONI-GARHWALI WORDS-कुमाऊंनी-गढ़वाली शब्द भण्डार  (Read 96702 times)

Bhishma Kukreti

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 18,042
  • Karma: +22/-1
Garhwali vocabulary
Garhwali Words less in use 
Collected by Mahesha Nand
Internet Presentation- Bhishma Kukreti

ज्यूंदा राला यि सब्द
अंदळि लगंण--- छोटे बच्चे का हठ पूर्वक अपनी माँ या किसी प्रिय जन के साथ, जहां वह जा रही/ रहा है वहां आने की जिद करते पीछे-पीछे चलना।
जाबर----अत्यन्त घना जंगल
अंदSचुंद--- गहरा अंधेरा
अवरु--- जो वस्तु घट रही हो
अमल्यटु--- अदसूखा
अंत्यूं--- खाने की किसी मनचाही वस्तु के लिए आतुर व्यक्ति
ऐरंण---- कठोर पत्थर जिसमें लोहार लोहा पीटता है
कुस्ड़ु--- काठ का संकरा व छोटा वर्तन (इस वर्तन में अधिकांश नमक रखा जाता था)
उगळथ्य---- स्वयं ही किसी काम को करने हेतु उद्धत्त व्यक्ति
उगळछांण--- किसी वर्तन या कपड़े को पानी में भिगाने छोड़ देना ताकि वह आसानी से धोया जा सके।
उत्यड़ु----रास्ते पर चलते समय लगने वाली ठोकर
कक्वड़ा, कंकोणा, बिगरैला-- मीठा करेला
कांकर---- किसी हथियार की धार का टूट जाना या मुड़ जाना
काकर--- कमरे के भीतरी भाग की छत
कंळमंळ---- बहला फुसला कर
पिंपरि--- फूल सहित बहुत छोटी ककड़ी
Garhwali Dictionary

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
From :Risky Pathak
 
facebook

कुमाउँनी के अंतर्गत कई उपबोलियां है पर मूलतः कुमाउँनी को दो वर्गों में विभाजित किया है: पूर्वी कुमाउँनी एवं पश्चिमी कुमाउँनी।
तुलना के कुछ बिंदु इस प्रकार है
१. पूर्वी कु. में जहां कुछ शब्द "न" से अंत होते है, प. कु. में वो "ण" से अंत होते है।
जैसे
पु. - प.
पानि - पाणि (पानी)
स्यैनि - स्यैणि (स्त्री)
बैनि - बैणि (बहिन)
२. इसके विपरीत अगर पू. कु. में कुछ शब्द "ण" से अंत होते है तो प.कु. में वो "न" से अंत हो जाते है।
जैसे
पू. - प.
घुण - घुन (घुटना)
काण - कान (एक आँख वाला)
भाण - भान (बर्तन)
3. पूर्वी कुमाउँनी में अंतिम व्यंजन "ल" है तो प. कु. में तो "ल" अलोप हो जाता है।
जैसे
पू. - प.
बेलि - बेई (बीता हुआ कल)
भोल - भो (आने वाला कल)
देलि - देइ (दहलीज)
बिरालु - बिराउ (बिल्ली)
डाल - डाव (ओले)
आप लोग इन उदाहरणों से देखें कि आप की उपबोली पू.कु. वर्ग में है या प. कु. वर्ग में या मिश्रित है।

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
Jogasingh Kaira कुछ विशेषण

असल , आलसी, इतरू, ईमानदर उजड़ू
ऊज्जड असगव अनाड़ी अकलमन्द.
अक्खड़ अकडू अवल अलछ्णि अतरी
अय्याश अलबलू उमरदार अदान अड्मोडि
अघोरी अनपढ़ अणकसे औत औतरी
अग्घोरी अपाडी अवल कलाकार कठू
कंजर काल कल्लर कणकट किस्साण
कंजूस किस्मतवाल कौतिकी कुकुर
कांण काल करमकोडी कारवारी कारीगर
कायर कुभगि कड़क किभलक कंगाल
कंगाली खौट-खौट ख्वट खबरी खुसमीजाज खौस्या खरा खास ..

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
Vinod Pandit
 

ताव (/ˈtɑːv/) is a polysemous word. Below are some frequently used meanings:
1. ताव: lock
उदाहरणार्थ : दुकान में ताव लगा दे हो.
2. ताव: paper sheet
उदाहरणार्थ:उल म्यर कॉपी में हे द्वि ताव फाड़ हाली.
3. ताव: pomposity
उदाहरणार्थ:देख कतुक ताव दिखूना त पुलिस वाल.
4. ताव: skewer
उदाहरणार्थ:पुरि पकोने ता ताव ला धे.
5. ताव: scorched
उदाहरणार्थ: आंच कम करो , भात ताव लाग् जाल.
6. ताव: underneath
उदाहरणार्थ: भकारा ताव मुस छे .

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
Vinod Pandit
April 15 at 7:42pm

Some Similarities between Kumaoni & English
1)
कुमाउनी शब्द : च्यून (/tʃ jʊn / )
अर्थ : ठुड्डी
उदाहरणार्थ : सीढ़ी बै घुरि गौ और उक च्यून फुट ग्यो.
English Word : Chin (/tʃɪn/)
Meaning : the part of a person's face below their mouth
eg. : To keep the helmet in position, fasten the strap beneath the chin.
2)
कुमाउनी शब्द : अलोप (/əl ɔːp/)
अर्थ : गायब होना, गुम हो जाना
उदाहरणार्थ : खिमदा रत्ते बै जां अलोप छन आज?
English Word : Elope (/iˈləʊp/)
Meaning : to leave home secretly in order to get married without the permission of your parents:
eg. : She eloped with a businessman

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
By Jagdish Negi from Facebook कुमाउनी शब्द -संपदा Group
 
कुमाऊनी शब्दकोष ~
कुछ कुमाऊँनी क्रिया शब्द
( एक प्रयास न्यूनताओं पर सुधार आपेक्षित )
१. अलबलाट :- जल्दीबाजी
२. इतराट :- ओछापन
३. कचकचाट :- व्यर्थ बोलना
४. कुकाट :- बहुत ज्यादा बोलना
५. खितखिताट :- जोर से हँसना
६. चिचाट :- डर कर चिल्लाना
७. चिङचिङाट :- व्यर्थ का क्रोध
८. छलबलाट :- इतराना
९. टिटाट। :- जोर-जोर से रोना
१०. टपटपाट :- लगातार टपकना/कुछ खाने की लगातार इच्छा होना

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
१०. टपटपाट :- लगातार टपकना/कुछ खाने की लगातार इच्छा होना
११. तरतराट :- लगातार एक धारा के रूप में बहना
१२. थरथराट :- डर/कमजोरी के कारण पाँव काँपना
१३. दल्दिराट :- दरिद्रता प्रकट करना
१४. धकधकाट :- डरना
१५. नौराट :- कराहना
१६. बलबलाट :- उच्छृखलता
१७. बिलबिलाट :- दर्द के कारण रोना
१८. भिभाट :- जोर-जोर से रोना
१९. भुभाट :- जोर की आवाज
२०. मचमचाट :- मन्द स्वर में लगातार बोलना
२१. मणमणाट :- लगातार बोलना
२२. सकपकाट :- घबराजाना
२३. सकसकाट :- अधिक रोने के कारण साँस लेने में दिक्कत होना
२४. सुसाट :- हवा चलने की आवाज
२५. लटपटाट :- समय बर्बाद करना
२६. लरबराट। :- हङबङी

By - Jagdish Negi

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
Chhaya Ghildiyal
April 27 at 4:18pm
हिंदी /कुमाऊंनी में महीनों के नाम ......
हिंदी .........कुमाऊंनी .......समय अवधि
चैत्र .......... चैत..........मार्च---अप्रैल
वैशाख ........वैसाख......अप्रैल---मई
ज्येष्ठ.......... जेठ...........मई---जून
आषाड़.......आसाड़.........जून----जुलाई
श्रावन........सावन/सौंण......जुलाई .--अगस्त
आश्विन ........आसन........ अगस्त ----सितंबर
भाद्रपक्ष.......भादों..........सितंबर ---अक्टूबर
कार्तिक.........कातिक ........अक्टूबर ----नवंबर
अग्रहण.....अगहन..........नवंबर ----दिसंबर
पौष...........पूस............दिसंबर ---'जनवरी
मार्गशीष.......माघ..........जनवरी ---फरवरी
फाल्गुन ..........फागुन /फाग......फरवरी ....मार्च

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
 जड़ कंजड़ = गड़े मुर्दे
छेद भेद = हर बात की जानकारी

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
Chhaya Ghildiyal
April 25 at 2:58pm
कुमाऊंनी में एक ही क्रिया के लिए अलग अलग परिस्थिति के अनुसार अलग अलग शब्द का प्रयोग किया जाता है .....जैसे .......मारना...
1...यदि किसी को लाठी से मारना हो तो......एक कटक लगे दे.....कटकाना
2...यदि चाबुक से मारना हो तो....एक सटक लगे दे...सटकाना
3...यदि मुक्का मारना हो तो ...एक फचैक लगे दे....फचकाना
4....यदि मुठ्ठी से मारना हो तो .... एक गदक लगे दे...गदकाना.....
 

https://www.facebook.com/groups/526732624147430/

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22