Author Topic: MeraPahad.com Supports Anna Hajare - मेरा पहाड का अन्ना हजारे को समर्थन  (Read 20521 times)

Anil Arya / अनिल आर्य

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 1,547
  • Karma: +26/-0
कमेटी में वंशवाद: बाबा रामदेव
बतौर विशेषज्ञ पिता और पुत्र का होना बुरा नहीं : हजारे
अमर उजाला ब्यूरो/एजेंसी
नई दिल्ली/हरिद्वार। जन लोकपाल विधेयक के लिए बनाई गई कमेटी में दरारें नजर आ रही हैं। योग गुरु बाबा रामदेव ने कमेटी में शांति भूषण और उनके पुत्र प्रशांत भूषण दोनों को रखने पर ऐतराज जताया है। उन्होंने कहा कि कमेटी में वंशवाद अच्छा नहीं है। वहीं अन्ना हजारे ने योग गुरु के जवाब में कहा कि इसमें कोई बुराई नहीं है। हमें अनुभव और विशेषज्ञता चाहिए।
हरिद्वार में पतंजलि हर्बोवेद के लोकार्पण के बाद शनिवार को बाबा रामदेव ने कहा कि अन्ना उन्हें गुरु मानते हैं, किंतु कमेटी में नाम देते समय उनसे कोई सलाह नहीं की गई। उन्होंने कहा कि वह चाहते थे कि अन्ना भ्रष्टाचार के खिलाफ मिलकर लड़ाई लड़ें पर दुर्भाग्य से ऐसा नहीं हुआ। अन्ना ने रामदेव के इस बयान पर असहमति जताई है। नई दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि आप मेरे ऊपर कोई भी आरोप लगा सकते हैं। मैं गांधीजी के सिद्धांतों को मानने वाला शख्स हूं।
उन्होंने कहा कि एक ही परिवार के दो लोगों का कमेटी में शामिल होना कुछ भी गलत नहीं है। आंदोलन में शामिल अरविंद केजरीवाल ने कहा कि यह महज संयोग है कि दोनों पिता-पुत्र हैं लेकिन दोनों विशेषज्ञ हैं। वे बेहद अनुभवी और स्वतंत्र अधिवक्ता हैं। बाबा रामदेव की टिप्पणी पर अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने कहा कि निजी तौर पर वह कमेटी में शामिल नहीं होना चाहते।
फिलहाल वह खुद को कमेटी से बाहर नहीं कर रहे हैं लेकिन जरूरत पड़ी तो वह कमेटी से बाहर जाने को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि कई लोगों को इस पर आपत्ति हो सकती है कि एक ही परिवार के दो लोग पैनल में शामिल हैं।
जरूरत पड़ने पर कमेटी से बाहर जाने को भी तैयार हूं: प्रशांत भूषण- amarujala
SIR MUDATE OLE PADE .:(

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
दोस्तों,

  जहाँ सारा देश भ्रष्टाचार के खिलाफ अन्ना हजारे के मुहीम एक जुट खड़ा है, इस मुहीम में हम भी अन्ना हजारे के साथ है!

 
अगर इस देश से भ्रष्टाचार को मिटाना है तो सख्त लोकपाल बिल जो अन्ना की टीम द्वारा बनाया गया उसे लाना जरुरी है!




आप से भी अनुरोध है इस मुद्दे को जरुर समर्थन दे!


एम् एस मेहता

Mahi Mehta

  • Guest

अन्ना तुम संघर्ष करो...हम तुमारे साथ है!

भारत माता की जय................


We support Anna Hazare... Whole nation is with u Anna g

हेम पन्त

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 4,326
  • Karma: +44/-1
देहरादून, जागरण टीम: जन लोकपाल बिल के समर्थन और भ्रष्टाचार के विरोध में अनशन पर बैठने जा रहे अन्ना हजारे की दिल्ली में गिरफ्तारी को लेकर पूरे उत्तराखंड में जनाक्रोश फूट पड़ा है। लोगों ने भारी बारिश के बावजूद सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन किया, रैलियां निकाली। अनशन व केंद्र सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी भी की गई। देहरादून में लगभग दो दर्जन संगठनों ने अन्ना के समर्थन में रैलियां निकाली। योगगुरु बाबा रामदेव ने अन्ना हजारे के समर्थन में मंगलवार को एक दिन का सांकेतिक उपवास रखा। गढ़वाल व कुमाऊं में जगह-जगह विरोध प्रदर्शन हुए।

अन्ना की गिरफ्तारी से क्षुब्ध विभिन्न संगठनों ने राजधानी देहरादून में सचिवालय कूच किया व विधानसभा पर अनशन शुरू कर दिया। ऋषिकेश व मसूरी में केंद्र सरकार के रवैये को तानाशाही करार देते हुए अन्ना के समर्थन में प्रदर्शन किया गया। बार एसोसिएशन ने बुधवार को हड़ताल रख पैदल मार्च निकालने की घोषणा की है। हरिद्वार में बाबा रामदेव ने आज सांकेतिक उपवास रखा। उन्होंने बुधवार को दिल्ली जाकर अन्ना के साथ हुई पुलिस कार्रवाई के विरोध में राष्ट्रपति को ज्ञापन देने का ऐलान किया है। संतों ने भी अन्ना हजारे के समर्थन की घोषणा कर दी है जबकि शांतिकुंज में अन्ना के समर्थन में एक सभा हुई, जिसे शांतिकुंज के प्रमुख प्रणव पांड्या ने संबोधित किया।

गढ़वाल मंडल में गुस्साए लोगों ने जुलूस निकाल कर प्रदर्शन किया। साथ ही ऐलान किया कि यदि जल्द रिहाई न हुई तो अन्ना के समर्थन में जेल भरो आंदोलन शुरू किया जाएगा। कुमाऊं मंडल के सभी बड़े शहरों में विभिन्न राजनीतिक व सामाजिक संगठनों ने प्रदर्शन किया। बाद में राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा। उन्होंने केंद्र सरकार के इशारे पर की गई कार्रवाई को अलोकतांत्रिक बताया। ऊधम सिंह नगर के सितारगंज व काशीपुर में कैंडिल मार्च भी निकाला गया। प्रदर्शन में सैकड़ों लोग शामिल रहे। अल्मोड़ा, पिथौरागढ़, चंपावत व नैनीताल में लोगों ने जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भी भेजा।
Source - Dainik Jagran

हेम पन्त

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 4,326
  • Karma: +44/-1
द्वाराहाट: भ्रष्टाचार के खिलाफ व अन्ना हजारे के समर्थन में उक्रांद ने तहसील में धरना व उपवास किया। क्षेत्रीय लोगों ने भी नगर में जुलूस निकाला। उक्रांद ने तहसील में सभा कर भ्रष्टाचार का विरोध किया और अन्ना की गिरफ्तारी पर रोष जताया। उक्रांद नेताओं ने कहा कि जन लोकपाल बिल पर जल्द सकारात्मक कार्यवाही नहीं हुई, तो 30 अगस्त से जेल भरो कार्यक्रम शुरू किया जाएगा। इसके बाद राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन तहसीलदार को सौंपा। जिसमें उक्त मांग के अलावा देश के सर्वोच्च न्यायालयों, अन्य न्यायालयों व लोकायुक्त न्यायालयों में मामलों का त्वरित गति से निस्तारण करने की मांग की है। वहीं पूर्व सैनिक संगठन ने भी इस मामले पर 30 अगस्त से जेल भरो कार्यक्रम की चेतावनी दी है। कार्यक्रम में विधायक पुष्पेश त्रिपाठी, नगर पंचायत अध्यक्ष विनोद जोशी, कैलाश फुलारा, हेम रावत, भीम सिंह किरौला, कमला कैड़ा, लक्ष्मण सिंह किरौला, सुनील तिवारी, जगदीश रौतेला, नरेन्द्र अधिकारी, एमसी तिवारी, जीवन बोरा आदि कई लोग शामिल थे।

इधर अन्ना की गिरफ्तारी के विरोध तथा उनकी मुहिम के समर्थन में क्षेत्रीय लोगों ने नगर में जुलूस निकाला। यह जुलूस नगर से होते हुए तहसील पहुंचा, जहां धरना दिया गया। इस कार्यक्रम में व्यापार मंडल अध्यक्ष गिरीश भट्ट, दीप चंद्र जोशी, भूपेन्द्र कांडपाल, शंकर बिष्ट, हेम मठपाल, हरीश चंद्र, अनिल चौधरी व संजय पंत थे।

Source - Dainik Jagran

हेम पन्त

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 4,326
  • Karma: +44/-1
जागरण कार्यालय, टनकपुर: भ्रष्टाचार के खिलाफ समाजसेवी अन्ना हजारे के आंदोलन के समर्थन व उनकी गिरफ्तारी के विरोध में संयुक्त संघर्ष समिति ने केन्द्र सरकार के खिलाफ नगर में प्रदर्शन किया। समिति ने तहसीलदार के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम संबोधित ज्ञापन भेजा है।

हरेला क्लब की अगुवाई में संयुक्त संघर्ष समिति द्वारा समाजसेवी अन्ना द्वारा भ्रष्टाचार के खिलाफ चलाये जा रहे आंदोलन के समर्थन व मंगलवार को उनकी गिरफ्तारी के विरोध में केन्द्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने केन्द्र सरकार पर भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने एवं अन्ना के आंदोलन को रोकने की कार्रवाई का विरोध किया। पूर्णागिरि बार एसोसिएशन, नगर व्यापार मंडल, भारत स्वाभिमान ट्रस्ट, उक्रांद आदि संगठनों ने अन्ना को पूर्ण समर्थन देते हुए केन्द्र सरकार द्वारा उनकी गिरफ्तारी की कड़ी आलोचना की। पूर्णागिरि बार एसोसिएशन ने कार्य बहिष्कार एवं उक्रांद कार्यकर्ताओं ने तहसील में एक दिनी उपवास रखा। बाद में आंदोलनकारियों ने तहसील पहुंच राष्ट्रपति के नाम संबोधित ज्ञापन तहसीलदार वीएन शुक्ल को सौंपा। इसमें अन्ना हजारे की गिरफ्तारी को असंवैधानिक करार देते हुए उनकी गिरफ्तारी को शीघ्र रुकवाने की मांग की।

दैनिक जागरण की खबर

हेम पन्त

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 4,326
  • Karma: +44/-1
जागरण कार्यालय, चम्पावत: भ्रष्टाचार के खिलाफ जन लोकपाल बिल बनाने को लेकर समाजसेवी अन्ना हजारे के समर्थन में जनपद के लोग भी उतर चुके हैं। उन्होंने जिला मुख्यालय पर उपवास कर धरना दिया। देर शाम कलेक्ट्रेट में गिरफ्तारी दी गयी।

जिला मुख्यालय में समाज सेवी राजेन्द्र गहतोड़ी की अगवाई में बीडी फुलारा, लोकमणी पंत, हरीश पांडे, एनडी गड़कोटी, एनडी जोशी, मोहन शर्मा, अम्बादत्त फुलारा, हेम नरियाल, दीपक जोशी, राजू नरियाल, कमांडर त्रिलोक सिंह बोरा, विद्याधर जोशी, राजेन्द्र बोहरा, छात्र संघ अध्यक्ष प्रकाश बिनवाल, दान सिंह मेहता, हिमेश कलखुड़िया, शंकर पांडे, दीपक खर्कवाल, प्रकाश तिवारी, श्याम पांडे, प्रवीण बिष्ट, मनोज तड़ागी, मनोज जोशी ने पूरे दिन उपवास रखा। देर शाम कलेक्ट्रेट पहुंचकर एडीएम टीएस मर्तोलिया के सामने उन्होंने गिरफ्तारी दी। उ

हेम पन्त

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 4,326
  • Karma: +44/-1
जागरण कार्यालय, बागेश्वर: दिल्ली में अन्ना हजारे व उनके समर्थकों की गिरफ्तारी के विरोध में मंगलवार को दर्जनों समर्थकों ने तहसील मुख्यालय में प्रदर्शन किया। 31 समर्थकों ने गिरफ्तारी दी।

तहसील मुख्यालय में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि केंद्र सरकार सत्ता मद में चूर है तथा वह जनता के संवैधानिक अधिकारों का भी हनन कर रही है। भ्रष्टाचार के मामले में सभी राजनैतिक दलों का दोहरा चरित्र उजागर हो गया है। पहले स्वामी रामदेव समर्थकों पर केंद्र सरकार ने बर्बरता पूर्वक लाठीचार्ज कर आंदोलन को कुचलने का षडयंत्र रचा गया। अब अन्ना समर्थकों के आंदोलन को भी कांग्रेस कुचलना चाहती है। जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। आंदोलन को पतंजलि योग समिति व टनकपुर- बागेश्वर रेल मार्ग संघर्ष समिति ने भी समर्थन दिया।

हेम पन्त

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 4,326
  • Karma: +44/-1
हरिद्वार, जागरण प्रतिनिधि। अन्ना की गिरफ्तारी के विरोध में बाबा रामदेव के समर्थकों ने बहादराबाद में मार्च निकाला। साथ ही भारत स्वाभिमान ट्रस्ट के कार्यकर्ताओं ने बीस अगस्त को भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ विशाल मार्च निकालने का ऐलान किया है। इस मार्च का नेतृत्व बाबा रामदेव स्वयं करेंगे।

मार्च पतंजलि योगपीठ से हरकी पैड़ी तक निकाला जायेगा। अंत में सभी कार्यकर्ता हरकी पैड़ी पर गंगा जल लेकर राष्ट्ररक्षा का संकल्प लेंगे। साथ ही यहां से कलश में गंगा जल भर कर अपने-अपने क्षेत्रों में भी ले जायेंगे, जहां राष्ट्र रक्षा के लिए बाकी के लोगों को गंगाजल की शपथ दिलाने की योजना है। यह जानकारी स्वतंत्रता दिवस पर पत्रकारों से बातचीत के दौरान योगगुरु बाबा रामदेव ने दी। इस अवसर पर उनके साथ आचार्य बालकृष्ण भी मौजूद थे। बाद बाबा रामदेव ने राष्ट्रीय ध्वज भी फहराया।

उधर, ट्रस्ट की ओर से उनके मंड प्रभारी राजेन्द्र त्यागी ने दावा किया कि इसमें करीब दस हजार कार्यकर्ता भाग लेंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार लोकतंत्र का गला घोंटने पर उतारु हो गयी है। शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन कर रहे देश भक्तों को जेल में भर रही है। निर्दोष लोगों पर कार्रवाई कर रही है। इससे साबित होता है कि केंद्र सरकार अपनी कमियों को छुपाने के लिए दमनकारी नीतियों पर उतारु हो गयी है। लेकिन, देश की जनता इस दमन का बदला जरुरी लेगी।

सत्ता परिवर्तन कर इस सरकार को उखाड़ फेंक दिया जाएगा। बाबा रामदेव की अगुवायी में देश की जनता जागरुक हो रही है। अन्ना के समर्थन में हुए मार्च में सैकड़ों कार्यकर्ता शामिल हुए। इसमें आशीष, रचना मिश्रा, केपी सैनी, विजयपाल चौहान आदि शामिल थे। दूसरी ओर भ्रष्टाचार के खिलाफ अपने अभियान को जारी रखते हुए बाबा रामदेव ने 20 अगस्त को विशाल मार्च निकालने का ऐलान किया है।

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22