Author Topic: Kumaoni Khadi Holi Exclusive Collection-कुमाऊंनी खड़ी होली संग्रह, अल्मोड़ा से  (Read 43549 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
[JUSTIFY]Dosto,

जैसा की मेरापहाड़ फोरम के माध्यम से हम उत्तराखंड की सांस्कृतिक विरासत को वचाये रखने के लिए प्रयासरत है. इस मंच से हम उत्तराखंड के सांस्कृतिक, भौगौलिक, लोक संगीत, पर्यटन, विकास के मुद्दे और अन्य विषयों पर पाठकों से समय-२ जानकारी देते आ रहे हैं. आशा है नयी पीढ़ी अपनी जड़ों से जुड़ेगी और अपनी संस्कृति का प्रचार प्रसार करेगी.

होली के बारे में हमें मेरापहाड़ में पहले से काफी जानकारी आपको इस टॉपिक के माध्यम से चुके हैं, जहाँ पर हमारे सदस्यों ने उत्तराखंड के कुमाऊ क्षेत्र में गाये जाने वाली खड़ी और बैठ होली के बोल लिखे है -

लिंक -  http://www.merapahadforum.com/culture-of-uttarakhand/kumauni-holi/300

इस टॉपिक में हम कुछ विशेष और अति लोकप्रिय होली के बारे में जानकारी देंगे, आशा आपको ये होली गीत पसंद आयेंगी.  तो लीजिये यह पहली खड़ी होली.

तो लीजिये यह पहली खड़ी होली!

सिद्धि को दाता, विघ्न विनाशन,
होली खेलें, गिरिजापति नन्दन ।२।
गौरी को नन्दन, मूषा को वाहन ।२।
होली खेलें, गिरिजापति नन्दन ।२। सिद्धि...
लाओ भवानी अक्षत चन्दन।२।
तिलक लगाओ गिरजापति नन्दन,
होली खेलें गिरजापति नन्दन ।२। सिद्धि....
लाओ भवानी पुष्प की माला ।२।
गले पहनाओ गिरजापति नन्दन,
होली खेलें गिरजापति नन्दन ।२। सिद्धि....
लाओ भवानी, लड्डू वन थाली ।२।
भोग लगाओ, गिरजापति नन्दन,
होली खेलें गिरजापति नन्दन ।२। सिद्धि....
गज मोतियन से चौक पुराऊं ।२।
होली खेलें गिरजापति नन्दन ।२। सिद्धि....
ताल बजाये अंचन-कंचन ।२।
डमरु बजावें शम्भु विभूषन,
होली खेलें गिरजापति नन्दन ।२। सिद्धि...


एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
मथुरा में खेले एक घडी

 मथुरा में खेले एक घडी, मथुरा में खेले एक घडी,

 काहे के हाथ में डमरू बिराजे!
 काहे के हाथ के लाल छड़ी,!! मथुरा में खेले एक घडी,
 राधा के हाथ में डमरू विराजे!
 कृष्ण के हाथ में लाल छड़ी!मथुरा में खेले एक घडी,
 काहे के सर में मुकुट विराजे!
 काहे के सिर में है पगड़ी! मथुरा में खेले एक घडी,
 राधा के सिर में मुकुट विराजे!
 कृष्ण के सिर में है पगड़ी! मथुरा में खेले एक घडी..२
 काहे के सिर पर मोतियन लड़ी,
 कहे के हाथ में मंजीरा सोहे!
 काहे के हाथ के ताल खड़ी! मथुरा में खेले एक घडी,
 राधा के हाथ में मंजीरा सोहे!
 कृष्ण के हाथ के ताल खड़ी! मथुरा में खेले एक घडी,
 मथुरा में खेले एक घडी,
 मथुरा में खेले एक घडी,


 Note : कॉपी राईट मेरापहाड़फोरम
 विना अनुमति और साईट के लिंक बिना कृपया अपने ब्लॉग और साईट पर पोस्ट न करे 

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
बलमा घर आयो फागुन में
बलमा घर आयो फागुन में -२
 जबसे पिया परदेश सिधारे,
 आम लगावे बागन में, बलमा घर…
 चैत मास में वन फल पाके,
 आम जी पाके सावन में, बलमा घर…
 गऊ को गोबर आंगन लिपायो,
 आये पिया में हर्ष भई,
 मंगल काज करावन में, बलमा घर…
 प्रिय बिन बसन रहे सब मैले,
 चोली चादर भिजावन में, बलमा घर…
 भोजन पान बानये मन से,
 लड्डू पेड़ा लावन में, बलमा घर…
 सुन्दर तेल फुलेल लगायो,
 स्योनिषश्रृंगार करावन में, बलमा घर…
 बसन आभूषण साज सजाये,
 लागि रही पहिरावन में, बलमा घर…

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
शिव के मन माहि बसे काशी
शिव के मन माहि बसे काशी -२
 आधी काशी में बामन बनिया,
 आधी काशी में सन्यासी, शिव के मन
 काही करन को बामन बनिया,
 काही करन को सन्यासी, शिव के मन…
 पूजा करन को बामन बनिया,
 सेवा करन को सन्यासी, शिव के मन…
 काही को पूजे बामन बनिया,
 काही को पूजे सन्यासी, शिव के मन…
 देवी को पूजे बामन बनिया,
 शिव को पूजे सन्यासी, शिव के मन…
 क्या इच्छा पूजे बामन बनिया,
 क्या इच्छा पूजे सन्यासी, शिव के मन…
 नव सिद्धि पूजे बामन बनिया,
 अष्ट सिद्धि पूजे सन्यासी, शिव के मन…


copyright www.merapahadforum.com

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0

This is the Holi about Sita Maata


हाँ हाँ जी हाँ, सीता वन में अकेली कैसे रही है
 कैसे रही दिन रात, सीता वन में…
 हाँ हाँ जी हाँ, सीता रंग महल को छोड़ चली है
 वन में कुटिया बनाई, सीता वन में…
 हाँ हाँ जी हाँ, सीता षटरस भोजन छोड‌ चली है
 वन में कन्दमूल फल खाई, सीता वन में…
 हाँ हाँ जी हाँ, सीता तेल फुलेल को छोडि चली है
 वन में धूल रमाई, सीता वन में…
 हाँ हाँ जी हाँ, सीता कंदकारो छोड़ चली है
 कंटक चरण चलाई, सीता वन में
 कैसे रही दिन रात, सीता वन में।

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
मोहन - कृष्ण पर यह होली
मत मारो मोहन मोको पिचकारी

मत मारो मोहन मोको पिचकारी
फूटे गागर भीज चूनर !
अडियो भीजे फुलकारी, मत मारो मोहन मोको पिचकारी
होले चलू छलके गगरी, मत मारो मोहन मोको पिचकारी
मै जो कहू कोई ग्वाल बात है!
आपु हो कृष्ण गिरधारी! मत मारो मोहन मोको पिचकारी
सासु खयारी नन्द घतेरू!
बूढ़ लो ससुरा दे गारी ! मत मारो मोहन मोको पिचकारी
दूजो कहे कोई ग्वाल बाल है!
चरण कमल की बलिहारी, !मत मारो मोहन मोको पिचकारी

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0

 आज अयोध्या में भई बधाई

 आज अयोध्या में भई बधाई!
 राम लक्षिमन  दोनों भाई! आज अयोध्या में भई बधाई
 घर पर दीपक जागन लागे!
 गाणिकादिक सब मंगल गयी! आज अयोध्या में भई बधाई
 इन्द्रादिक सब देखन आये!
 आये नारद बीन बजाई ! आज अयोध्या में भई बधाई
 
 

(copyright merapahadforum.com) 

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0

Holi Dedicated to Lord Shiva


  शिव  शंकर खेलत है होरी. साथ लिए गौर गोरी!  शिव शंकर०...
 अंग विभूत गले रुंड माला,
 कानन नगन की जोड़ी,...     शिव शंकर०...
 एक ओर से शिव शंकर चले,
 एक ओर से खेलत है गारी... शिव शंकर०...
 आप तो डमरू बजाये,
 नाचे पारवती गारी! शिव शंकर०...
 बाजत है मृदंग, ढप झांझर,
 बजट बीनन की जोड़ी.. शिव शंकर०...





एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0

 जल कैसे भारू जमुना गहरी
 ठाडी भारू रजा राम की देखे!
 बैठी भारू भीजे चुनरी! जल कैसे भारू जमुना गहरी
 धीरे चालू घर साश बुरी है!
 धमकि चलु छलके गगरी ... जल कैसे भारू जमुना गहरी
 गोदी पर बालक सिर पर गागर!
 पर्वत से उतरी गोरी .. जल कैसे भारू जमुना गहरी


 

हलिया

  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 717
  • Karma: +12/-0
कुमांउनी होली

भलो भलो जनम लियो श्याम राधिका भलो जनम लियो मथुरा में...2
कौन पुरी में जनम लियो है,
कौन पुरी में वास राधिका.... भलो जनम......
मथुरा पुरी में जनम लियो है,
गोकुल कीजो वास राधिका..... भलो जनम......
भलो भलो जनम लियो श्याम राधिका भलो जनम लियो मथुरा में...2
काहे के कोख में जनम लियो है,
कौन पिलाये दूध राधिका.. भलो जनम......
देवकि कोख में जनम लियो है
यशोदा पिलाये दूध राधिका... भलो जनम......
भलो भलो जनम लियो श्याम राधिका भलो जनम लियो मथुरा में...2
काहे के वंश में जनम लियो है
काहे के लाल कहाय राधिका... भलो जनम......
बसुदेव वंश में जनम लियो है
नंद के लाल कहाय राधिका...  भलो जनम......
भलो भलो जनम लियो श्याम राधिका भलो जनम लियो मथुरा में...2
बाल ही लीला करत है कन्हैया,
दधि माखन को खाय राधिका..... भलो जनम......
भलो भलो जनम लियो श्याम राधिका भलो जनम लियो मथुरा में  -2

------

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22