Author Topic: Marriages Customs Of Uttarakhand - उत्तराखंड के वैवाहिक रीति रिवाज  (Read 83818 times)






पंडिज्यू/Pandit Jyu

  • Full Member
  • ***
  • Posts: 111
  • Karma: +2/-0

विवाह में ये रिवाज़ है कि एक पत्थर पर  एक सिक्का रखा जाता है, जिसे वधु अपने चरणों द्वारा गिराती है|


Harish Rawat

  • Jr. Member
  • **
  • Posts: 72
  • Karma: +2/-0
gaon ki yaad taja ho gai in pic ko dekh kar ......
....

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,892
  • Karma: +76/-0


आचव - यानी फेरे

पहाड़ी शादी में खासतौर से कुमाउनी शादी में! सात फेरे लेते समय दुल्हन एक पत्थर पर रखे सिक्के को पाँव से गिराती है जिसको दुल्हे ने खोज कर लाना होता है!


Devbhoomi,Uttarakhand

  • MeraPahad Team
  • Hero Member
  • *****
  • Posts: 13,047
  • Karma: +59/-1


आचव - यानी फेरे

पहाड़ी शादी में खासतौर से कुमाउनी शादी में! सात फेरे लेते समय दुल्हन एक पत्थर पर रखे सिक्के को पाँव से गिराती है जिसको दुल्हे ने खोज कर लाना होता है!




mehta ji ye sikkhe ko panv se giraane ka riwaaj Garhwali shadi main bhi hota hai !

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,892
  • Karma: +76/-0

This is also part of marriage customs. It is called "Nishan Pooja" worship of Flag. This is done before departure of marriage for bride and while retuning.


 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22