Author Topic: Connecting Lines Of Uttarakhand Songs - उत्तराखंडी गीतों के जोड़  (Read 21893 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
प्रयाग पाण्डे

खुकुरी को म्याना , जोगी बैठी ध्याना |
च्याल वालौं का च्याला. जीरौं , फकतों की जाना |
कैकी करूँ मनवसी , कैकी अभिमाना |
नानछिना की पिरीति की त्वे नि रूनी फामा |
करी गेछे वो खडयूँणी रुख डावा चाणा |

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
" बाकरै की खुटि ,
आपण जोभन देखि , आफि रैछै फुटि "।

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
जौंल्या मुरुली का शोर लगा है ओ
लागि कुत्क्याली....
 

( बाजा है तो दुःख साझा है मितज्यु )

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
i चंदी गड़ी बन्दी
कैकी सुवा ह्वेली इन, लगुती सी लफन्दी

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
Anil Karki added 3 new photos.
September 22 at 8:52am ·

नैनताल की नन्दा देवी झांकरका सैम
मेरि छु हैंसणि बाणी लोग खानी भैम

अनुवाद -
नैनीताल में नन्दा देवी और झांकर अल्मोड़े के भगवान सैम
मेरी तो हंसते रहने की आदत है तुम क्यों करते हो वहम

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
पारा भीड़ा कांकड़ मारो ,शीशै की गोली लै ,
म्योर जन्म त्वीलै हालो , तौ मीठी बोली लै।

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,899
  • Karma: +76/-0
ये उच्ची-उच्ची डाडीं काठी
ये गैरि गैरि रौत्येली धाटी
न जावा न जावा छोडी़ की अपडि जल्म भूमी माटी
बोल्यु माना ,बोल्यु माना बोल्यु माना
सैतीं पाल्यी सयाणु कैकी ,जाणा छां मुख्ख मोडी़ की
कख मिललु यनु सुख यनु चैन
ब्वै की कुछली छोडी़ की
रिती -रिवाज मुल्क छोड़णा छां
तुम कै सुख का बाना
बोल्यु माना बोल्यु माना बोल्यु माना
अपडू छोडी बिरणा पैथर
कब तक भजणा रैल्या छोरो
झूटा सुपिन्यों का खातिर
अफु थै कब तक ठगणा रैल्या छोरो
इखी मिल जालु सभी सुख तुम थैं
जरा मन मा त ठाना
बोल्यु माना बोल्यु माना बोल्यु माना
जल्म लियुं च जैं धरती मा ,कर्ज चुकाण पडलु तुम थै
मां का दूदा सौं देणू छौ ,बोडि की औण पडलु तुम थैं
तुमारू बाटू हेरणा छिन ये
यूं बाटो बिसरयां ना
बोल्यु माना बोल्यु माना बोल्यु माना
काफल बेडू तिमला हिंसर
युकुं स्वाद भूली न जै तू
अपडा़ पहाडी़ मयलु पराण राखी पविञ,
मैलु न कै तू
क्येकु लगदिन ये बडुली-पराज
खुद क्या होन्दी भूल्यां ना
बोल्यु माना बोल्यु माना बोल्यु माना

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22