Author Topic: Pindari Glacier District Bageshwar Uttarakhand- पिण्डारी ग्लेशियर बागेश्वर  (Read 44073 times)

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
दोस्तों,   
वैसे तो पूरे उत्तराखंड में पर्यटन की आपर  सम्भावनायें हैं चाहे ये धार्मिक पर्यटन हो या अन्य पर्यटन। यहाँ पग-पग पर देव स्थल हैं। यहाँ हर पहाड़ अपने   आप में बहुत पर्यटन संजोये हुए है। आज हम बात कर रहे हैं 'पिण्डारी ग्लेशियर' की।  उत्तराखंड के बागेश्वर जिले का पिण्डारी ग्लेशियर जहाँ पर ना केवल देश अपितु विदेश से भी शैलानी हर साल हजारों की तादात में घूमने जाते हैं। मेरापहाड़ पोर्टल के कुछ सदस्य भी यहाँ कई बार घूम के आये हैं जिनमें से प्रमुख है प्रशांत जोशी जी। इस टोपिक में हम जानकारी देंगे पिंडारी ग्लेशियर एवं उसके आस-पास के स्थानों के बारे में और फोटो शेयर करेंगे पिण्डारी ग्लेशियर के।


The Pindari Glacier is a glacier found in the upper reaches of the Kumaon Himalayas, to the southeast of Nanda Devi, Nanda Kot. The glacier flows to the south for a short distance of about 3km and gives rise to the Pindari river which meets Alakananda at Karnaprayag in the Garhwal district.)  The trail to reach the glacier crosses the villages of Saung,   Loharkhet, over the Dhakuri pass, onto Khati village (the last   inhabhited village on the trail), Dwali, Phurkia and finally Zero Point,   Pindar, the end of the trail. Though most of the trail is along the   banks of the Pindari river you don't get to see the river till after   Khati. As one approached the Khati village you can be confused by the   sight of a river, that is not Pundari that is the Sundardunga flowing to   meet the Pindari at Khati, its origin the Maiktoli Glacier.
 The Pindari Glacier trail provides for a 90 km (56 mile) round-trip   trek that most people find comfortable to complete in five days.
 
(Source) http://en.wikipedia.org)


एम.एस.मेहता

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0

A Brief Information About Hiamalays
---------------------------------

हिमालय में हजारों छोटे-बड़े हिमनद है जो लगभग 3350 वर्ग किमी0 क्षेत्र में फैले है। कुछ विशेष हिम खण्डों का विवरण निम्नवत् है -
             
 
1.बनागी- यह नंदा देवी विशाल हिमखण्ड के निचले भाग में स्थित है जिससे ऋषि गंगा नदी बनती है।

2. बनकुण्ड- यह उत्तर-पश्चिमी गढ़वाल में स्थित है तथा इससे अमृत गंगा नदी   बनती है। बरमा- यह गढ़वाल में चमोली जिले के उत्तर में तथा कालापानी   हिमखण्ड के पश्चिम में 0.75 किमी0 लम्बा हिमखण्ड है।

3. भगीरथी खरक- यह केदारनाथ के पूर्व में स्थित हिमखण्ड है जहॉं से   मंदाकिनी नदी निकलती है। भृगुपंथ- यह गढ़वाल में उत्तरकाशी के उत्तर में   गंगोत्री हिमखण्ड को बनाता है।

4. बूढ़- यह 3 किमी0 लम्बा हिमखण्ड है जो गढ़वाल व कुमाऊँ की सीमा पर नन्दा देवी के निचले ढाल पर स्थित है।

5. बर्ला- यह पिंडारी हिमखण्ड के चारों ओर पश्चिमी ढाल पर झूलती घाटी में स्थित है।

6. चंगा बंग- यह नन्दा देवी पर्वत पर स्थित है तथा इससे ऋषि गंगा नदी निकलती है।

7. चतुरंगी- यह चौखम्भा पर्वत के निचले ढाल पर स्थित है।

8. चोर बामक- चमोली जिले के उत्तर पश्चिम में केदारनाथ के निचले ढाल पर स्थित है, जिसका पानी मंदाकिनी में मिलता है।

9. गंगोत्री- यह 26 किमी0 लम्बा तथा 4 किमी0 चौड़ा हिमखण्ड उत्तरकाशी के उत्तर में स्थित है।

10. कफनी- यह 5 किमी0 लम्बा व 2.5 किमी0 चौड़ा हिमखण्ड गढ़वाल व कुमाऊँ की सीमा पर नन्दादेवी के दक्षिण पश्चिमी ढाल पर स्थित है।

11. कागभुसंड- यह 4 किमी0 लम्बा हिमखण्ड चमोली जिले के उत्तर में स्थित है।

12. कालापानी- यह 5 किमी0 लम्बा तथा 1 किमी0 चौड़ा हिमखण्ड चमोली के उत्तर में स्थित है।

13.कामत- यह उत्तर पश्चिमी गढ़वाल में कामत पर्वत के मध्य स्थित है।

14.कंकुल खाल- यह चमोली के उत्तर-पश्चिम में स्थित हिमखण्ड है।

15.खत्लिंग- यह 1.5 किमी0 लम्बा हिमखण्ड टिहरी के उत्तरी भाग में स्थित है।

16.कीर्ति बामक- यह उत्तर-मध्य गढ़वाल में स्थित है।

17. लाल माटी- यह 0.7 किमी0 लम्बा हिमखण्ड मण्डल घाटी के ऊपरी भाग में स्थित है।

18. मांडा- यह उत्तरी-मध्य गढ़वाल में स्थित है।

19. मेरू- यह उत्तरकाशी के उत्तर में निचली पहाड़ियों पर स्थित है।

20. मिलम- यह उत्तर-पश्चिमी गढ़वाल के दक्षिणी ढाल पर स्थित है।

21. मृगथुनी- यह 6 किमी लम्बा हिमखण्ड नन्दा देवी पर्वतमाला के निचले भाग में स्थित है।

22. नन्दा देवी (उत्तर)- यह नन्दा देवी पर्वतमाला पर स्थित छोटा हिमखण्ड है।

23. नीति- यह गढ़वाल में नीति-पास के दक्षिणी ढाल पर छोटा हिमखण्ड है।

24. पनवाली- यह उत्तर-पश्चिमी गढ़वाल के दक्षिणी ढाल पर स्थित हिमखण्ड है।

25. पिंडारी
- यह गढ़वाल-कुमाऊँ सीमा के उत्तरी भाग पर स्थित विशाल हिमखण्ड है।


26. पुरबी-कामत- यह उत्तर-पश्चिमी गढ़वाल के उश हिमालय पर स्थित है।

27. रायकाना- यह उत्तर-पश्चिमी गढ़वाल के दक्षिणी ढाल पर स्थित है।

28. रक्त्रवर्ण- यह उत्तर-मध्य गढ़वाल के चौखम्भा पर्वतमाला पर स्थित है।

29. रमानी- यह चमोली के ऊपरी ऋषि-गंगा जलागम में स्थित छोटा हिमखण्ड है।

30. रतबन- यह उत्तर-पश्चिमी गढ़वाल में रतबन चोटी के आधार पर स्थित हिमखण्ड है।


31. ऋषि- यह नन्दादेवी पर्वत माला के ढाल पर स्थित छोटा हिमखण्ड है।32. सतोपंथ- यह गढ़वाल में केदारनाथ क्षेत्र में स्थित हिमखण्ड है।

33. सुखराम- यह उत्तर-पश्चिमी गढ़वाल में मुख्य हिमालय के दक्षिणी भाग पर स्थित हिमखण्ड है।

34. त्रिषूल- यह गढ़वाल में ऊपरी ऋषि गंगा की घाटी में स्थित छोटा हिमखण्ड है।

35. उत्तरी पैकाना- यह उत्तरी गढ़वाल के कामत पर्वतमाला पर स्थित हिमखण्ड है।

36. वसूकी- यह गढ़वाल में मंदाकिनी नदी के स्रोत के पास स्थित एक छोटा हिमखण्ड है।


(Source Wikipeida)


एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0

      Pindari Glacier   
       
    The     Pindari Glacier, in the Bageshwar district, falls in the Kumaon Himalayas and     has lured mountaineers and trekkers since the last century. It is one of the     most easily accessible of all the Himalayan glaciers. Pindari's rugged beauty     offers a breathtaking sight, especially for the trekker who is in love with     nature in all its pristine glory. The Pindari Glacier is an unsurpassable and     an exhilarating experience.
   
    It lies between the Nanda Devi and Nandakot peaks and terminates at an altitude     of 3627 m. The Glacier is 5 km long, the snout is about 6 m high and 2.5 m wide     and above the snout, the glacier extends for about 3 km in length and 300 -     400 m in width, between an altitudinal range of about 3600 m to 5000 m. The     Pindari Glacier is located in the Pindar Valley between longitudes 79° 13'-80°02'     E and latitudes 30° 15' N. It occupies an area of 339.39 sq km.
   
    The valley is drained by the Pindar river that emerges from the Pindari Glacier.     The river, in its initial course, flows through sedimentary rocks. Further to     the south, it meanders through quarts schist. Granite is found in abundance     in this area. The Pindar river has cut a gorge in thick glacial deposits up     to nearly 10 km, resulting in the formation of spacious glacial terraces spread     on both sides of the gorge. Further down, from Phurkia up to Khati, places enroute     to the Pindari Glacier, one comes across numerous waterfalls, hanging valleys     and tremendous rolls cliffs as the one of at Dwali. One has to go by road up     to Saung which can be accessed from Almora, Bageshwar and Kathgodam and thereafter     one has to trek 45 km up to zero point (Pindari Glacier). The colour of Pindari     Glacier is very white and at some places, spots of light blue and brown may     also be seen.
   
    Trek
    Base Camp Saung
    Saung to Loharkhet 3 km trek,
    Lohaekhet to Dhakuri 11 km,
    Dhakuri to Khati 8 km,
    Khati to Dwali 11 km,
    Dwali to Phurkia 7 km,
    Phurkia to Pindari Glacier 5 km.   

    By Road
      Saung to Bageshwar 36 km.
      Saung to Almora 109 km.
      Saung to Kathgodam 199 km.   

    Duration : 11 Nights / 12 Days
    Destination Covered : Delhi - Kathgodam - Saung - Loharkhet - Dhakuri     - Khati - Phurkia - Dwali - Khati - Dhakuri - Saung - Kathgodam - Delhi
   
    Day 1 : Arrive in Delhi : Check into your choice of hotel, preferably     in Central Delhi
   
    Day 2 : Take the overnight train from Old Delhi railway station to Kathgodam     (Train No. 5013, Departure-22:40 hrs IST)
   
    Day 3 : Arrive at Kathgodam 06:30 hrs. Received by Wayfarer escort and     transferred to waiting vehicle after brief rest. Drive to Ranikhet (94 kms,     3 hrs). Check in at Wayfarer Solitaire.
   
    Day 4 : After breakfast drive to Saung(125 kms, 4 hrs) through Kausani     and Bageshwar. Reach Saung by afternoon and trek to Wayfarer camp beyond Loharkhet     (5kms, 1600mts). Halt for the night
   
    Day 5 : Trek from Loharkhet to Dhakuri (2680 mts, 11 kms) Overnight stay     at Wayfarer camp
   
    Day 6 : Trek from Dhakuri to Khati.... Easy walk (2210 mts, 8 kms). Overnight     stay at Wayfarer camp
   
    Day 7 : Trek from Khati to Phurkia past Dwali along the Pindari river     (3110 mts, 18 kms) Overnight stay
   
    Day 8 : Visit Zero Point (3353 mts, 8 kms). Trek back from Zero point     to Dwali.
   
    Day 9 : Trek back from Dwali to Khati (2210 mts, 11kms).
   
    Day 10 : Trek back from Khati to Dhakuri (2621 mts, 18 kms)
   
    Day 11 : Trek from Dhakuri to Saung (15 kms) arrive by afternoon, well     in time to take a transport to Vijaypur (64 kms, 2 hrs) past Bageshwar and check     in at Wayfarer Retreat for the night
   
    Day 12 : After breakfast drive to Kathgodam (210 kms, 6 hrs). Take the     night train to Delhi (Train No.5014, Departure : 20:40 hrs IST). The train reaches     Delhi the next morning 05:00 hrs.

http://www.uttaranchaltourism.in/pindari-glacier.html


एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0

एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
Saung - the roadhead for the treks to the Pindari, Kaphni and Sunderdhunga Glacier


एम.एस. मेहता /M S Mehta 9910532720

  • Core Team
  • Hero Member
  • *******
  • Posts: 40,912
  • Karma: +76/-0
The long trudge up to Dhakuri Pass

 

Sitemap 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22